वेब होस्टिंग बिजनेस कैसे शुरू करें? How to Start a Web Hosting Business.

Web Hosting Business की महत्वता का अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है की वर्तमान में हर छोटे बड़े बिजनेस के लिए उसकी ऑनलाइन उपस्थिति कितनी महत्वपूर्ण हो गई है। कहने का आशय यह है की वर्तमान में हर छोटा मोटा व्यापारी भी अपने उत्पाद या सेवा को ऑनलाइन प्रमोट करने के लिए लालायित रहता है। यही कारण है की उसे अपनी ऑनलाइन उपस्थिति बनाने के लिए स्वयं की वेबसाइट बनानी होती है। और जैसा की हम सबको विदित है की खुद की वेबसाइट स्थापित करने के लिए डोमेन नाम एवं वेब होस्टिंग की आवश्यकता होती है। बिजनेस इकाइयों के अलावा भारत में लाखों की संख्या में ब्लॉगर हैं जो अपने ब्लॉग के माध्यम से लोगों को सूचनाएँ एवं जानकारियां प्रदान करते रहते हैं। इन्हें भी Web Hosting की नितांत आवश्यकता होती रहती है। चूँकि आज का युग इन्टरनेट का युग है इसलिए हर तरह के लोग अपनी ऑनलाइन उपस्थिति बनाने के लिए तैयार हैं चाहे वे कोई कलाकार हों, खिलाड़ी हों, सेलेब्रिटी हों, बिजनेसमैन हों, राजनेता हो, राजनैतिक पार्टी हो या फिर कोई पेशेवर व्यक्ति सभी चाहते हैं की वे इन्टरनेट से अधिक से अधिक लाभ प्राप्त कर पायें। यही कारण है की आज हम Web Hosting Business के बारे में वार्तालाप कर रहे हैं।

Web hosting business

 Web Hosting Business कौन शुरू कर सकता है?

Web hosting Business ही क्या कोई भी व्यक्ति कुछ भी बिजनेस शुरू कर सकता है हर किसी को कोई भी वैधानिक बिजनेस शुरू करने की पूर्ण रूप से स्वतंत्रता है। लेकिन जैसा की हम सब अच्छी तरह से जानते हैं की अलग अलग बिजनेस शुरू करने के लिए उसके आकार प्रकार के आधार पर अलग अलग निवेश एवं अलग अलग कौशल की आवश्यकता होती है। यद्यपि शुरूआती दौर में Web Hosting Business शुरू करने में बहुत अधिक कैपिटल की आवश्यकता तो नहीं होती है लेकिन वेब डेवलपमेंट से जुड़े कौशल की आवश्यकता अवश्य होती है। इसलिए एक ऐसा व्यक्ति जिसे वेब डेवलपमेंट का काम आता हो वह इस बिजनेस को आसानी से शुरू कर सकता है। लेकिन यदि उद्यमी चाहता है की वह खुद के सर्वर खरीदकर उनकी मेंटेनेंस इत्यादि खुद न करे तो वह वेब होस्टिंग का Reseller Business शुरू कर सकता है। बहुत सारे ऑनलाइन प्लेटफॉर्म जैसे Godaddy, Reseller club इत्यादि उद्यमी को अपना Reseller Account बनाने की फैसिलिटी प्रदान करते हैं। कहने का अभिप्राय यह है की इन होस्टिंग प्रोवाइडर से उद्यमी Reseller Business करने के लिए सर्वर खरीद सकता है। और खुद के ब्रांड के तहत स्वयं के द्वारा कीमत निर्धारित करके होस्टिंग बेच सकता है। चूँकि इस बिजनेस को कुछ हज़ार रूपये खर्च करके शुरू किया जा सकता है इसलिए यह भी ऑनलाइन पैसे कमाने के बेहतरीन विकल्पों में से एक है। तो आइये आगे हम स्टेप बाई स्टेप जानने की कोशिश करते हैं की कैसे कोई व्यक्ति खुद का Web Hosting Business शुरू कर सकता है।

वेब होस्टिंग बिजनेस कैसे शुरू करें? (How to start a Web Hosting Business)

छोटे बजट से Web Hosting Business शुरू करने के लिए उद्यमी को Reseller Hosting का चुनाव करना चाहिए और रीसेलर होस्टिंग का चुनाव करते समय इस बात का विशेष ध्यान रखा जाना चाहिए की उसके डाटा सेण्टर कहाँ कहाँ स्थित हैं। इस प्रक्रिया के तहत उद्यमी पूरा सर्वर खरीद सकता है और अपने ग्राहकों को वेब होस्टिंग अपने द्वारा निर्धारित कीमत पर बेच सकता है। कहने का आशय यह है की उद्यमी खुद का पैकेज एवं कीमत निर्धारित करके अपने ग्राहकों को वेब होस्टिंग अपने ब्रांड के तहत बेच सकता है।

1.वेब होस्टिंग ब्रांड स्थापित करें

जैसा की हम उपर्युक्त वाक्य में भी बता चुके हैं की Reseller Hosting में उद्यमी अपने ब्रांड के नाम से अपने ग्राहकों को वेब होस्टिंग बेच सकता है। इसलिए खुद का Web Hosting Business शुरू करने के लिए उद्यमी को सर्वप्रथम अपने वेब होस्टिंग ब्रांड को परिभाषित करने की आवश्यकता होती है । अर्थात उद्यमी को अपना ब्रांड नाम, लोगो इत्यादि निर्धारित करने की आवश्यकता होती है ताकि वह उसी नाम के तहत अपने ग्राहकों को वेब होस्टिंग बेच सके। उद्यमी जो खुद की वेब होस्टिंग कंपनी शुरू करना चाहता हो उसे यह भी पता होना चाहिए की उसकी होस्टिंग ग्राहकों के लिए दूसरों की तुलना में बेहतर कैसे हो सकती हैं? उद्यमी को चाहिए की वह अपने बाजार, ग्राहकों एवं ब्रांडिंग के बारे में सटीक तौर पर पता लगाये और हर किसी को अपना उत्पाद बेचने की कोशिश न करें। क्योंकि यदि उद्यमी बिना अपनी टारगेट ग्राहकों का पता लगाये होस्टिंग बेचने की कोशिश करेगा तो परिणाम बिक्री में कम ही तब्दील हो पाएंगे और उद्यमी थका हुआ सा महसूस कर सकता है। इसलिए उद्यमी को चाहिए की वह अपनी उर्जा सही समय पर, सही दिशा में, सही ग्राहकों पर खर्च करे। ताकि वह अपने काम में थकान नहीं बल्कि स्फूर्ति एवं आनंद का एहसास कर सके। जब उद्यमी अपना ब्रांड निर्धारित कर रहा हो तो उसे निम्न बातों का ध्यान रखना चाहिए।

  • उद्यमी को पता होना चाहिए की उसका टारगेट बाजार या ग्राहक कौन हैं, तभी उसे ब्रांड नाम इत्यादि पर आगे बढ़ना चाहिए।
  • उद्यमी के ब्रांड या कंपनी का नाम क्या होगा? हो सके तो उद्यमी को छोटा एवं जल्दी याद होने वाला नाम सेलेक्ट करना चाहिए। लेकिन उससे पहले यह भी अवश्य देख लेना चाहिए की उस नाम का डोमेन उसे आसानी से मिल जाय। इसलिए हो सके तो ब्रांड नाम सेलेक्ट करते ही डोमेन नाम खरीद लें और अगर उस नाम का डोमेन नाम नहीं मिल रहा हो तो फिर उद्यमी अपने ब्रांड के नाम में कुछ बदलाव कर सकता है।
  • उद्यमी को यह योजना भी बनानी होगी की कैसे वह अपने Web Hosting Business को अन्य से अलग एवं यूनिक बनाता है।
  • इसके अलावा शुरूआती दौर में उद्यमी किस तरह की होस्टिंग अपने ग्राहकों को प्रदान करना चाहता है। इनमें शेयर्ड होस्टिंग, रिसेलर होस्टिंग, VPS Hosting, Dedicated Server इत्यादि प्रमुख हैं। यद्यपि अधिकतर लोग शेयर्ड होस्टिंग से ही अपने व्यापार की शुरुआत करते हैं।

2. Reseller Hosting Partner का चयन करें

Web Hosting Business शुरू करने के इच्छुक व्यक्ति ने यदि स्वयं के ब्रांड को परिभाषित एवं स्थापित कर दिया हो तो अब अगला कदम Reseller Hosting Partner का चुनाव करने का होना चाहिए। इसके लिए उद्यमी को एक ऐसे पार्टनर का चुनाव करना होता है जिसका डाटा सेण्टर उस भौगौलिक क्षेत्र में मौजूद हो जहाँ वह अपने ग्राहकों को वेब होस्टिंग बेचना चाह रहा हो। हालांकि इस तरह का बिजनेस करने वाले सर्वप्रथम पार्टनर द्वारा ऑफर की जाने वाली कीमतों को देखते हैं लेकिन हमारा मानना है की कीमत के साथ साथ उद्यमी को Reseller Hosting Partner द्वारा प्रदान किये जाने वाली विशेषताओं पर भी ध्यान देना बेहद आवश्यक है। जैसे कुछ प्रमुख कम्पनियां निम्न विशेषताओं के साथ अपने पार्टनर को मेम्बरशिप प्रदान करती हैं।

  • उद्यमी अपने ब्रांड के तहत वेब होस्टिंग बेच सकता है। उद्यमी को आम तौर पर अमेरिका सर्वर, इंग्लैंड सर्वर एवं इंडिया सर्वर का चयन करने का विकल्प दिया जाता है।
  • उद्यमी अपना पैकेज एवं कीमत निर्धारित कर सकता है।
  • उद्यमी चाहे तो और Sub Reseller Add कर सकता है।
  • किसी प्रकार का कोई सेटअप शुल्क नहीं लिया जाता है।
  • प्रीमियम नेटवर्क प्रोवाइडर 99.9% तक अपटाइम।
  • हार्डवेयर फेलियर की स्थिति में 24×7 कस्टमर सपोर्ट।
  • होस्टिंग बाजार में अच्छी रेपुटेशन के साथ उपयोगकर्ताओं के अच्छे रिव्यू होने चाहिए।  

3. अपनी वेबसाइट, बिलिंग सिस्टम एवं सपोर्ट चैनल स्थापित करें  :

अब यदि उद्यमी ने Dedicated Server या फिर White Label Reseller Hosting के लिए किसी कंपनी से पार्टनरशिप कर ली हो और उसके प्लान खरीद लिए हों तो अब उद्यमी का अगला कदम खुद की वेबसाइट, बिलिंग सिस्टम एवं सपोर्ट चैनल स्थापित करने का होना चाहिए। हालांकि इस प्रक्रिया के तहत उद्यमी से सम्बंधित एवं उसके ग्राहकों से सम्बन्धित सभी प्रकार की समस्याओं की सुनवाई एवं निराकरण Reseller Hosting Provider Company द्वारा ही किया जाता है। लेकिन चूँकि उद्यमी यहाँ पर खुद के ब्रांड के तहत वे होस्टिंग बेच रहा होता है इसलिए उसे खुद के ब्रांड के नाम से वेबसाइट, बिलिंग सिस्टम एवं सपोर्ट चैनल स्थापित करने की आवश्यकता होती है। जहाँ तक बिलिंग सिस्टम का सवाल है उद्यमी को पेमेंट मेथड प्रदान करने की आवश्यकता होती है जिनका इस्तेमाल करके ग्राहक उद्यमी को भुगतान कर सकते हैं। अपने ग्राहकों को ऑनलाइन पेमेंट की फैसिलिटी प्रदान करने के लिए उद्यमी को पेमेंट गेटवे की आवश्यकता हो सकती है और ऑनलाइन बिल जनरेट करने के लिए किसी बिलिंग मैनेजमेंटसॉफ्टवेर की आवश्यकता हो सकती है। शुरूआती दौर में उद्यमी चाहे तो केवल ईमेल सपोर्ट एवं व्हाट्सएप्प सपोर्ट ही अपने ग्राहकों को प्रदान कर सकता है।

4. Web Hosting Business के लिए ग्राहक खोजें

अब जब उद्यमी ने Web Hosting Business शुरू करने सम्बन्धी सभी गतिविधियाँ पूर्ण कर ली हों और उनका सफलतापूर्वक परीक्षण भी कर लिया हो तो अब उद्यमी का अगला कदम वेब होस्टिंग के लिए ग्राहकों को खोजने का होना चाहिए। शुरूआती दौर में उद्यमी अपने जान पहचान, नाते रिश्तेदारों, दोस्तों, परिवार वालों इत्यादि से शुरू कर सकता है। जैसा की हम सबको पता है की किसी के मुहँ से निकली तारीफ बिजनेस के लिए कितनी असरकारक होती है लेकिन लोगों के मुहँ से अपने बिजनेस की तारीफ निकलवाना कोई आसान काम बिलकुल भी नहीं है। इसलिए उद्यमी को सुनिश्चित क्लारना होगा की हर ग्राहक उद्यमी की सेवा से संतुष्ट एवं खुश होकर जाए। एक बार जब उद्यमी अपने निजी नेटवर्क को अपने बिजनेस के लिए इस्तेमाल कर लेता है तो उसके बाद उद्यमी ऑनलाइन विज्ञापन जैसे फेसबुक एवं गूगल में विज्ञापन देकर नए ग्राहक खोज सकता है। इसके अलावा उद्यमी बैनर एडवरटाईजमेंट, न्यूज़पेपर विज्ञापन, मैगज़ीन विज्ञापन इत्यादि के माध्यम से भी नए ग्राहक पाने की कोशिश कर सकता है।

5. बिजनेस ग्रो और विस्तार करें

ग्राहक वृद्धि होने का एकतरफा मतलब बिलकुल नहीं होता की बिजनेस बढ़ता ही जायेगा क्योंकि ग्राहक वृद्धि के आधार पर यदि उद्यमी साधनों में वृद्धि नहीं करेगा तो हो सकता है की उसे मौजूदा ग्राहक भी खोने पड़ जाएँ। इसलिए ग्राहक वृद्धि के आधार पर साधनों में भी वृद्धि करना बेहद आवश्यक है। उदाहरण के लिए माना किसी सर्वर की क्षमता लगभग पचास यूजर का भार सहन करने का है लेकिन यदि उद्यमी के पास साठ ग्राहक होते हैं तो उसे तुरंत एक नया सर्वर और खरीदकर बाकी वेबसाइट उसमें माइग्रेट कर देनी चाहिए। अगर ऐसा नहीं होगा तो डाउनटाइम इत्यादि की समस्याएं शुरू होंगी जिसके कारण जो मौजूदा ग्राहक हैं उन्हें भी परेशानी होगी और उद्यमी अपने सारे ग्राहक खोने के लिए जिम्मेदार होगा। इसलिए Web Hosting Business कर रहे उद्यमी को ग्राहकों की वृद्धि के आधार पर ही साधनों में भी वृद्धि करनी होगी। उद्यमी चाहे तो अपने ग्राहकों को खुश रखने के लिए निम्न युक्तियों का भी अनुसरण कर सकता है।

  • उद्यमी को चाहिए की चाहे वह किसी भी आर्थिक परिस्थिति में हो लेकिन उसे अपने ग्राहकों के लिए हमेशा उचित समाधान के साथ सामने आना पड़ेगा।
  • अपने बिजनेस से जुड़ी समस्याओं जैसे डाउनटाइम, स्पीड इत्यादि के प्रति ओपन एवं ईमानदार रहें डाउनटाइम के बारे में हमेशा ग्राहकों को सूचित करने की कोशिश करें। और यदि आपकी गलती है तो इसे स्वीकार करें न की ग्राहकों के सामने कोई बहाने बनायें । ध्यान रहे ग्राहकों को समाधान पसंद आते हैं न की बहाने ।
  • कितना भी कठिन समय क्यों न हो हमेशा सही ही करें।
  • ध्यान रहे मेंटेनेंस इत्यादि के लिए डाउनटाइम भी जरुरी है इसलिए उचित डाउनटाइम तय करें और सर्विस लेवल एग्रीमेंट एवं रिफंड पालिसी भी तय करें। 

Web hosting Business कर रहे उद्यमी को पूरी सक्रियता के साथ अपने ग्राहकों के विचारों को सुनना चाहिए और जानने की कोशिश करनी चाहिए की वे उसके बिजनेस के बारे में क्या पसंद और क्या नापसंद करते हैं। और वेब होस्टिंग सर्विस प्रदान करने के दौरान आने वाली समस्याओं पर भी ध्यान देकर उनका समाधान करते रहें।  

यह भी पढ़ें

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *