बेड और ब्रेकफास्ट बिज़नेस कैसे शुरू करें How to start Bed and Breakfast Business.

बेड और ब्रेकफास्ट बिज़नेस से इंडिया में शायद बेहद कम लोग ही अवगत होंगे हालांकि जो लोग ऐसे शहरों में रहते हैं जहाँ टूरिज्म के विकल्प हैं अर्थात वो लोग जो पर्यटक स्थलों से सम्बंधित हों, वो शायद इस बिज़नेस के बारे में थोड़ा बहुत जानकारी अवश्य रखते होंगे | हालांकि पर्यटकों के भ्रमण एवं उनके  इस विजिट को यादगार बनाने में होटल एवं अन्य पूरक आवासों का अहम योगदान होता है होटल एवं अन्य आवास अपने द्वारा ऑफर की जाने वाली सेवाओं के माध्यम से पर्यटक के उस विजिट को यादगार बना सकते हैं |  पर्यटकों को विश्वस्तरीय मानकों के अनुरूप आरामदायक आवास में रहने की सुविधा उपलब्ध कराने और मेट्रो शहरों एवं पर्यटक स्थलों पर पूरक आवास के विकल्प उपलब्ध कराने  के लक्ष्य को ध्यान में रखकर भारत सरकार के पर्यटन मंत्रालय ने Bed and Breakfast Scheme की शुरुआत की है | इसलिए आज हम इस लेख के माध्यम से बेड और ब्रेकफास्ट बिज़नेस शुरू करने की प्रक्रियाओं के बारे में जानेगें, इससे पहले की हम इस विषय को आगे बढ़ाएं सबसे पहले यह जान लेते हैं की Bed and Breakfast Business है क्या?

बेड और ब्रेकफास्ट

बेड और ब्रेकफास्ट बिज़नेस क्या है? (What is Bed and Breakfast Business in Hindi):

एक बेड और ब्रेकफास्ट (B&B)  से आशय एक छोटी अस्थायी आवास फर्म से लगाया जा सकता है | यह फर्म अपने ग्राहकों को रात भर रुकने ठहरने की सुविधा एवं नाश्ता प्रदान करती है | आम तौर पर बेड और ब्रेकफास्ट घर अपने ग्राहकों, पर्यटकों को आवास एवं नाश्ते के अलावा अन्य कोई सुविधा प्रदान नहीं करती हैं | इस प्रकार का यह व्यापार एक ऐसे निजी घर में खोला जा सकता है जिसमे वाणज्यिक उपयोग के लिए दस से कम बेडरूम हों और यह घर किसी पर्यटक स्थल पर होना चाहिए या अर्थात ऐसे शहर में जहाँ पर्यटकों का आना जाना लगा रहता हो | उद्यमी की अपनी पसंद के मुताबिक इसे माध्यमिक आय के स्रोत के तौर पर या मुख्य व्यवसाय के तौर पर भी शुरू किया जा सकता है |

बेड और ब्रेकफास्ट बिज़नेस शुरू करने में अनुमानित खर्चा:

चूँकि इसमें घर अपना होता है इसलिए उद्यमी इसे बेहद कम निवेश के साथ शुरू कर सकता है | घर तो अपना होता ही है इसके अलावा उद्यमी चाहे तो लेबर कास्ट बचाने के लिए पर्यटकों के लिए खुद ही नाश्ता बना सकता है | इस व्यापार में उद्यमी के मुख्य ग्राहक के तौर पर पर्यटक होते हैं जो वहां घूमने आए होते हैं इसलिए वे एक रात ठहरकर दूसरी सुबह अपने अगले गंतव्य को निकाल पड़ते हैं इसलिए आमतौर पर साधारण नाश्ता भी काफी रहता है | हालांकि कई शहरों जहाँ पर्यटकों का आना जाना अधिक रहता है वहां कई प्रकार के बेड और ब्रेकफास्ट घर हैं जो अपने ग्राहकों को कई कमरों की सेवाएँ प्रदान करते हैं | लेकिन उद्यमी इस बिज़नेस को अपनी क्षमता के अनुसार 1 लाख से 15 लाख रूपये तक खर्च करके शुरू कर सकता है इस बिज़नेस में फर्नीचर की खरीद पर लगने वाला खर्चा मुख्य खर्चा होगा |

बेड और ब्रेकफास्ट बिज़नेस कैसे शुरू करें (How to start Bed and Breakfast business in India):

इंडिया में बेड और ब्रेकफास्ट बिज़नेस शुरू करने के लिए इच्छुक उद्यमी को अनेकों कदम उठाने पड़ सकते हैं जिनका वर्णन हम निम्नवत करेंगे |

  1. व्यापार की उपयुक्त योजना बनायें (Make a suitable business plan):

बेड और ब्रेकफास्ट बिज़नेस शुरू करने से पहले उद्यमी को उस व्यापार सम्बन्धी लाभ एवं हानियों के बारे में जान लेना चाहिए | अपने व्यापार की योजना बनाते समय उद्यमी को कानूनी मुद्दों, आवश्यक नकदी एवं अन्य सुविधाओं, मार्केटिंग प्लान इत्यादि को भी अपने बिज़नेस प्लान का हिस्सा बनाना होता है |  हालाँकि यह व्यापार बिना योजना बनाये भी शुरू किया जा सकता है लेकिन बिना योजना के यह व्यापार करने से उद्यमी के पैर इस बिज़नेस में जमने के कम चांस होते हैं जबकि एक अच्छा बिज़नेस प्लान उद्यमी को इस व्यवसाय में पैर जमाने में मदद करेगा |

  1. वित्त की व्यवस्था करें (Finance Arrangement):

बेड और ब्रेकफास्ट बिज़नेस स्टार्ट करने से पहले उद्यमी को एक बात का ध्यान अवश्य रखना होगा की वह चाहे अपने घर में जैसे भी रहता हो, लेकिन B&B के लिए उसे अपने घर को तैयार करना होगा | जब तक उसका घर अतिथियों के लिए तैयार नहीं होगा उद्यमी तब तक इस व्यापार से एक रुपया नहीं कमा सकता | अतिथियों के लिए अपने घर को तैयार करने के लिए उद्यमी को खर्चा करना पड़ेगा घर के नवीनीकरण के लिए उद्यमी को नकद राशि की आवश्यकता हो सकती है | बेडरूम के नवीनीकरण के लिए उद्यमी को मेहमानों के लिए नए बेड, गद्दे, तकिए, तौलिए और भी बहुत कुछ खरीदने की आवश्यकता हो सकती है इसलिए उद्यमी को वित्त की व्यवस्था करने की आवश्यकता होती है | यहाँ तक की यदि उद्यमी फर्नीचर खरीदने की बजाय घर में मौजूद फर्नीचर से ही काम चलाना चाहता हो तो तब भी उसे स्थानीय कानूनों के मुताबिक रसोईघर में नए उपकरण स्थापित करने पड़ सकते हैं | इसके अलावा घर में मौजूद पूल को सार्वजनिक मानदंडों में अपग्रेड एवं अग्नि सुरक्षा उपकरण भी शामिल करने पड़ सकते हैं | इन सब उपर्युक्त व्यवस्थाओं के बाद ही उद्यमी अपना बेड और ब्रेकफास्ट बिज़नेस शुरू कर पाने में सक्षम हो पायेगा | और इन सब व्यवस्थाओं को करने के लिए उद्यमी को वित्त की व्यवस्था करने की आवश्यकता होती है |

  1. पर्यटन मंत्रालय से स्वीकृति लेना (Approval from Ministry of Tourism):

इस बिज़नेस को उद्यमी अपने घर से ही शुरू कर रहा होता है इसलिए उसे बिज़नेस लोकेशन इत्यादि के चयन की आवश्यकता नहीं होती है | और इसमें उद्यमी को अपने बिज़नेस को पर्यटन मंत्रालय की Bed and Breakfast Scheme के अंतर्गत रजिस्टर कराना होता है | देश में सभी बेड और ब्रेकफास्ट को पर्यटन मंत्रालय की स्वीकृति मिलना अनिवार्य है अर्थात वही उद्यमी यह काम कर सकता है जिसे पर्यटन मंत्रालय द्वारा अप्रूवल प्राप्त हो | व्यापार की इस अवधारणा को भारत सरकार द्वारा प्रमोट किया जा रहा है और देश में पर्यटन को आकर्षित करने के लिए सरकार ने बेड और ब्रेकफास्ट को दो वर्गों में वर्गीकृत किया है | इसमें एक वर्ग का नाम Gold एवं दूसरे का नाम Silver है | B&B को पर्यटन मंत्रालय से स्वीकृति मिल जाने के बाद इन्हें पहले से निर्धारित मानदंडों के आधार पर गोल्ड या सिल्वर के रूप में वर्गीकृत किया जा सकता है |

  1. अपने व्यापार के अनुकूल लोगों से सम्पर्क करें :

प्रत्येक व्यापार के लिए उसकी प्रकृति के आधार पर अनुकूल लोग अलग अलग होते हैं लेकिन यहाँ पर ट्रेवल और हॉस्पिटैलिटी उद्योग से समबन्धित एसोसिएशन में शामिल होना व्यापार के लिहाज से अच्छा हो सकता है | अपने बेड और ब्रेकफास्ट बिज़नेस से अधिक कमाई करने के लिए उद्यमी ट्रेवल और हॉस्पिटैलिटी उद्योगों के साथ सौदा कर सकता है | ताकि वे उद्यमी के वहां पर्यटकों को भेजते रहें | इसके अलावा हॉस्पिटैलिटी क्षेत्र से जुड़े लोगों के साथ नेटवर्क बनाना भी इस बिज़नेस के लिए एक अच्छी बात हो सकती है | क्योंकि वे लोग लोगों  को उद्यमी के बिज़नेस के बारे में बताने में सहायक होते हैं |

बेड और ब्रेकफास्ट रजिस्ट्रेशन के लिए अप्लाई कैसे करें?

बेड और ब्रेकफास्ट बिज़नेस रजिस्ट्रेशन के लिए उद्यमी को भारत सरकार के पर्यटन मंत्रालय द्वारा निर्धारित एक फॉर्म भरना होता है | यह फॉर्म उद्यमी को पर्यटन मंत्रालय की वेबसाइट या फिर इसके क्षेत्रीय कार्यालय में मिल जायेगा | इस निर्धारित किये गए फॉर्म में उद्यमी को स्थापना का नाम, उस श्रेणी का नाम जिसके अंतर्गत आवेदन किया जा रहा हो, स्थापना का डाक पता, कांटेक्ट डिटेल, स्थापना की एअरपोर्ट से दूरी, रेलवे स्टेशन से दूरी, सिटी सेण्टर से दूरी, नजदीकी मुख्य शोपिंग सेण्टर, नजदीकी बस स्टेशन, स्थापना का एरिया स्क्वायर मीटर में, स्थापना के मालिक के पिछले जीवन सम्बन्धी पुलिस विभाग से क्लेअरेंस, कमरों की संख्या, एरिया एवं प्रकार, लॉबी, डाइनिंग स्पेस, पार्किंग सुविधा, अग्नि सुरक्षा उपकरणों की डिटेल, बिल्डिंग की अन्दर बाहर की फोटोग्राफ, आवेदन शुल्क की डिटेल इत्यादि भरनी होती है | इस निर्धारित फॉर्म को भरकर, डिमांड ड्राफ्ट एवं इसके साथ सेल्फ attested दस्तावेज संग्लन करके  उद्यमी अलग अलग राज्यों में स्थित पर्यटन मंत्रालय के क्षेत्रीय कार्यालयों के पते पर भेज सकता है जिनकी लिस्ट इस अधिकारिक वेबसाइट पर दी गई है |

कौन रजिस्टर कर सकता है कितनी होगी फीस:

बेड और ब्रेकफास्ट बिज़नेस को रजिस्टर करने के लिए सिर्फ वही प्रॉपर्टी ओनर आवेदन कर सकते हैं जिनकी प्रॉपर्टी कानून के नियमानुसार रजिस्टर्ड है | कहने का आशय यह है की ऐसी जमीन जिसकी रजिस्ट्री हुई है चाहे वह आवेदनकर्ता की खुद हो या लीज पर ली हुई हो बेड और ब्रेकफास्ट बिज़नेस रजिस्टर के योग्य मानी जायेगी | सरकार ने इन्हें दो वर्गों में वर्गीकृत किया हुआ है इसलिए रजिस्ट्रेशन भी वर्गों के आधार पर ही किये जाते हैं इसमें सिल्वर श्रेणी के अंतर्गत अपने बिज़नेस को रजिस्टर करने के लिए रूपये 3000 शुल्क निर्धारित किया गया है और गोल्ड श्रेणी के लिए यह शुल्क रूपये 5000 है | इस शुल्क का भुगतान Pay & Account Officer, Ministry Of Tourism, New Delhi के नाम से डिमांड ड्राफ्ट के माध्यम से किया जा सकता है | पर्यटन मंत्रालय की इस योजना के तहत एक व्यक्ति कम से कम एक कमरा एवं अधिक से अधिक 6 कमरे किराये पर दे सकता है | बेड और ब्रेकफास्ट बिज़नेस के लिए मिलने वाला लाइसेंस केवल दो वर्षों के लिए वैध होता है इसलिए इसे हर दो साल में रिन्यू कराना पड़ता है |

बेड और ब्रेकफास्ट बिज़नेस में कमाई कैसे होगी :

जैसे ही उद्यमी के बेड और ब्रेकफास्ट में कोई पर्यटक ठहरने के लिए आता है उद्यमी द्वारा उस पर्यटक से पैसे लिए जाते हैं | और उद्यमी द्वारा कितने पैसे लिए जायेंगे यह सब पर्यटकों को दी जाने वाली फैसिलिटी पर निर्भर करता है वर्तमान में B&B Owner अलग अलग फैसिलिटी के मुताबिक ग्राहकों से 2200 से 7500 रूपये तक किराया ले रहे हैं | कहने का आशय यह है की मिलने वाला किराया मिलने वाली सुविधाओं पर निर्भर करती है | इस तरह का व्यापार करने वाले कई लोग पर्यटकों को मुफ्त वाई फाई की सुविधा, लांड्री, ट्रांसपोर्ट इत्यादि की सुविधा देते हैं जिसके कारण उनके कमरों का किराया अन्य कमरों से महंगा होता है |

अन्य लेख भी पढ़ें:

ट्रेवल एजेंसी की जिम्मेदारियां एवं कमाई के स्रोत

परिवहन सम्बन्धी व्यापार शुरू करने के लिए आईडिया

ट्रेवल एजेंसी कैसे शुरू करें?

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

One thought on “बेड और ब्रेकफास्ट बिज़नेस कैसे शुरू करें How to start Bed and Breakfast Business.

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *