वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट (ODOP Scheme)  के फायदे, चयनित उत्पाद और जिलों की लिस्ट।

वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट ODOP Scheme की शुरुआत 2018 में की गई थी। इस योजना की शुरुआतसर्वप्रथम उत्तर प्रदेश सरकार ने आदिवासी कला और शिल्प उत्पादों को प्रोत्साहित एवं पुनर्जीवित करने के उद्देश्य से की थी । लेकिन वर्तमान में उत्तर प्रदेश के अलावा कई अन्य राज्यों में भी ODOP Scheme यानिकी ‘’एक जिला एक उत्पाद’’ वाली यह योजना चल रही है।

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा 2018 में ‘’वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट’’ नामक इस योजना को 25000 करोड़ रूपये के बजट से शुरू किया गया था। इस बजट को एक जिले में एक उत्पाद को विशेष तौर पर प्रोत्साहित करने, उसका विकास करने, कला और शिल्प को पुनर्जीवित करने में खर्च करने का प्रावधान किया गया।

इस योजना के तहत जो जिला जिस वस्तु के लिए प्रसिद्ध था, वहां पर उन्हें फिर से पुनर्जीवित करके जिले में उद्योगों का विस्तार करना शामिल है। ODOP Scheme के तहत सरकार की कोशिश ऐसे उद्यमी जो एक जिला एक उत्पाद में शामिल उत्पाद के निर्माण से जुड़े हैं।

उन्हें बैंकों से ऋण दिलाना, उन्हें उनके उत्पाद का उचित मूल्य निर्धारण में मदद करना, और वैश्विक स्तर पर प्रतिस्पर्धा के लिए तकनिकी एवं कौशल में सुधार हेतु प्रशिक्षण प्राप्त कराना है।

ODOP Scheme हर जिले में ऐसे उत्पादों के निर्माण की और उद्यमियों को प्रोत्साहित करती है, जिसके उत्पादन में कभी वह जिला अग्रणी रहा हो। जैसे उत्तर प्रदेश का कन्नौज इत्र बनाने के लिए प्रसिद्ध है, तो वहाँ पर इत्र बनाने वाले उद्यमियों को प्रोत्साहित किया जाएगा।

ODOP Scheme
ODOP Scheme

वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट ODOP Scheme क्या है   

सबसे पहले ODOP Scheme का शुभारम्भ उत्तर प्रदेश की सरकार द्वारा 24 जनवरी 2018 को किया गया था। इस योजना की सफलता को देखते हुए बाद में केंद्र सरकार द्वारा भी इस योजना को अपनाया गया। और अब इस योजना को खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय द्वारा शुरू किया गया है। इस योजना का उद्देश्य प्रत्येक जिले में एक ऐसे प्रोडक्ट के विनिर्माण को प्रोत्साहित करना है, जिसमें वह जिला विशेषज्ञता रखता हो।

कहने का आशय यह है की एक जिला एक उत्पाद योजना के तहत राज्य सरकार द्वारा राज्य के प्रत्येक जिले में एक ऐसे उत्पाद की पहचान करनी होती है, जिसमें वह जिला विशेषज्ञता रखता हो।

उसके बाद उस जिले में उस विशेष वस्तु के विनिर्माण को प्रोत्साहित करने के लिए उद्यमियों को ऋण की सुविधा, प्रतिस्पर्धी मार्किट में प्रोडक्ट की गुणवत्ता को सुधारने की तकनीक और कौशल प्रदान करने के लिए प्रशिक्षण, मार्किट प्रदान करने में मदद करना इत्यादि शामिल हैं।

ओडीओपी के लिए क्या मानदंड हैं

राज्य सरकार द्वारा विभिन्न मानदंडों के आधार पर जिले में वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट की पहचान करनी होती है।

  • उस विशेष प्रोडक्ट को बनाने में कच्चे माल की उपलब्धता का आकलन करने के लिए, जिले की कुल कृषि उपज के सापेक्ष ओडीओपी उत्पादन का क्या प्रतिशत है ।
  • उत्पाद की प्रकृति खराब होने वाली है या नहीं।
  • अन्य जिलों की तुलना में उस जिले में ODOP की कितनी उपस्थिति है।
  • वह जिला उस ODOP के लिए कितना प्रसिद्ध है।
  • उस खास जिले में उस खास प्रोडक्ट का प्रसंस्करण कितना है।
  • ओडीओपी के उत्पादन और प्रसंस्करण में उस खास जिले में कितने उद्यमी और कर्मचारी कार्यरत हैं।
  • उस खास प्रोडक्ट की विपणन की क्या स्थिति है।
  • उस जिले में ODOP Scheme के तहत तय किये जाने वाले प्रोडक्ट के प्रसंस्करण हेतु इंफ्रास्ट्रक्चर की क्या स्थिति है।       

वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट योजना से क्या फायदे होंगे  

ODOP Scheme के जिले को कई फायदे होंगे, इनमें से कुछ प्रमुख फायदे इस प्रकार से हैं।

पूँजी निवेश बढ़ेगा –

ऐसे मौजूदा उद्यम जो उस प्रोडक्ट का निर्माण कर रहे होंगे, जो ODOP Scheme के तहत उस विशेष जिले के लिए चयन किया गया हो उन्हें पूँजी निवेश के माध्यम से समर्थन किया जाएगा । जिले में उन उद्यमों को वरीयता दी जाएगी जो ओडीओपी उत्पादों के विनिर्माण, प्रसंस्करण का काम कर रहे हों। दूसरी ओर नई इकाइयों को भी तभी सहायता प्रदान की जाएगी जब वे ओडीओपी उत्पादों का व्यवसाय कर रहे हों।

मार्केटिंग और ब्रांडिंग का इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित होगा-

जिले में उस विशेष उत्पाद के लिए मार्केटिंग और ब्रांडिंग हेतु इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार करने पर जोर दिया जाएगा। यदि कोई ऐसा प्रोडक्ट है जिसके लिए राज्य या क्षेत्रीय स्तर पर पहले से ब्रांडिंग एवं मार्केटिंग इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार है, तो ODOP Scheme के तहत ऐसे उत्पाद को बढ़ावा देने में भी सहायता प्रदान की जाएगी।

सब्सिडी प्रदान की जाती है –

जिले की विशेष पहचान बनाने के लिए ऐसे उद्यमी जो ओडीओपी प्रोडक्ट के विनिर्माण या प्रसंस्करण इकाई शुरू करते हैं। उन्हें माइक्रो फ़ूड प्रोसेसिंग इंटरप्राइजेज योजना के तहत क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी प्रदान करने का प्रावधान किया गया है। यह सब्सिडी कुल परियोजना लागत का 35% तक हो सकती है।

क्रेडिट लिंक्ड ग्रांट करने का प्रावधान –

ODOP Scheme के तहत शामिल उत्पादों का विनिर्माण और प्रसंस्करण करने में जुटे स्वयं सहायता समूह, निर्माता सहकारी समितियों इत्यादि को उनके अच्छे ढंग से सञ्चालन सोर्टिंग, ग्रेडिंग, स्टोरेज, प्रोसेसिंग पैकेजिंग के लिए 35% क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी देने का प्रावधान किया गया है।

इसके अलावा खाद्य प्रसंस्करण में शामिल ODOP Product के लिए स्वयं सहायता समूहों को रूपये 40000 सीड कैपिटल के तौर पर भी दिए जाने का प्रावधान किया गया है। इस पूँजी का इस्तेमाल कार्यशील पूँजी और आवश्यक छोटे उपकरणों को खरीदने में भी किया जा सकता है।

प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है –

ओडीओपी उत्पादों से सम्बंधित विशेष प्रशिक्षण जिसमें परिसर में स्वच्छता बनाये रखना, उत्पादों और कच्चे माल का भण्डारण करना, पैकेजिंग और नए प्रोडक्ट को कैसे विकसित किया जा सकता है। इत्यादि बातों को सिखाया जाता है।

इसके अलावा उद्यमिता विकास, उद्यम का सञ्चालन करना, मार्केटिंग और ब्रांडिंग, बही खातों का प्रबंध करना, FSSAI मानकों का अनुसरण करना, बिजनेस रजिस्ट्रेशन, टैक्स रजिस्ट्रेशन, उद्यम आधार रजिस्ट्रेशन जैसे कई महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है।

ODOP Scheme के तहत चयनित किये गए प्रसिद्ध उत्पाद   

प्रेस सूचना ब्यूरो के मुताबिक भारत के 27 राज्यों के लगभग 103 डिस्ट्रिक्ट में 106 प्रोडक्ट का चयन किया गया है। ODOP Scheme के तहत आने वाले उत्पादों की सूची काफी व्यापक है, यही कारण है की इसमें कई प्रकार के उत्पाद शामिल हैं।

ODOP Product List in Hindi    

देश भर में 103 जिलों में चयनित 106 प्रोडक्ट की लिस्ट इस प्रकार से है।

सीरियल नंबरराज्य का नामजिले का नामप्रोडक्ट का नामवर्गीकरण
1आंध्र प्रदेशचित्तूरसृकलाष्टि, कलमकारीहेंडीक्राफ्ट
2आंध्र प्रदेशगुंटूरमिर्चकृषि
3आंध्र प्रदेशविशाखापत्तनमअरकू कॉफ़ीकृषि
4आंध्र प्रदेशपूर्वी गोदावरीकोयर, कोयर से जुड़े उत्पादN/A
5आंध्र प्रदेशश्री पोट्टी श्रीरामुलु नेल्लोरउदयगिरी वुडेन कटलरीहेंडीक्राफ्ट
6आंध्र प्रदेशश्रीकुल्लमफार्मास्यूटिकल प्रोडक्ट्सN/A
7अरुणांचल प्रदेशपश्चिमी सियांग और निचली दिबांग घाटीअरुणांचली संतराकृषि
8असमसोनितपुरतेजपुर लीचीकृषि
9असमकारबी अनालोंगअदरककृषि
10असमकामरूपमुगा सिल्कहेंडीक्राफ्ट
11असमडिब्रूगढ़आसामी चायकृषि
12बिहारभागलपुरभागलपुर सिल्कहेंडीक्राफ्ट
13बिहारसीतामढ़ीसिक्की ग्रास प्रोडक्टहेंडीक्राफ्ट
14बिहारमुज्ज़फरपुरशाही लीचीकृषि
15छत्तीसगढ़बस्तरबस्तर आयरन क्राफ्टहेंडीक्राफ्ट
16गोवादक्षिण गोवाफेनीविनिर्माण
17गोवाउत्तरी गोवाकाजूकृषि
18गुजरातछोटा उदयपुरसंखेडा फर्नीचरहेंडीक्राफ्ट
19गुजरातसुरेंद्रनगरतन्गालिया शालहेंडीक्राफ्ट
20गुजरातजामनगरजामनगरी बंधनीहेंडीक्राफ्ट
21गुजरातबहरुचकेमिकलN/A
22गुजरातआणंदडेरीकृषि
23हरियाणाफरीदाबादवाहनों के पुर्जे , उपकरणविनिर्माण
24हरियाणापानीपतहैंडलूम और टेक्सटाइलN/A
25हिमांचल प्रदेशकाँगड़ाकाँगड़ा पेंटिंगहेंडीक्राफ्ट
26हिमांचल प्रदेशकाँगड़ाकाँगड़ा चायकृषि
27हिमांचल प्रदेशकुल्लूशॉलहेंडीक्राफ्ट
28हिमांचल प्रदेशकिन्नौरहिमांचली खुबानी का तेलविनिर्माण
29हिमांचल प्रदेशसोलनमशरुमकृषि
30जम्मू एंड कश्मीरकुपवाड़ाअखरोटकृषि
31जम्मू एंड कश्मीरबडगामकानी शॉलहेंडीक्राफ्ट
32जम्मू एंड कश्मीरकिश्तवाड़केसरकृषि
33जम्मू एंड कश्मीरपुलवामापेन्सिलविनिर्माण
34जम्मू एंड कश्मीरश्रीनगरपापियर माचीN/A
35कर्णाटकहावेरीब्यादगी मिर्चकृषि
36कर्नाटकचिक्काबालपुरबंगलोरी गुलाबी प्याजकृषि
37कर्नाटकचित्रदुर्गाएलईडी लाइटN/A
38कर्नाटककोप्पलप्लास्टिक और इलेक्ट्रॉनिक खिलौनेN/A
39कर्नाटकरामनगरचन्नापटना खिलौनेहेंडीक्राफ्ट
40कर्नाटकम्यसुरुएकीकृत सर्किट बोर्डN/A
41कर्नाटकगुलबर्गासोलर पैनल, इन्वर्टर, कैपासिटरविनिर्माण
42कर्नाटकबंगलरु ग्रामीणमशीन टूल्सविनिर्माण
43केरलवायनाडवायनाड रोबुस्ता कॉफ़ीकृषि
44केरलकन्नूरमानसूनी मालाबार अरेबिका कॉफीकृषि
45केरलकोझीकोड़ेमालाबार काली मिर्चकृषि
46केरलइद्दुकीमरयूर गुड़कृषि
47केरलएर्नाकुलमवज़हकुलम अनानासकृषि
48केरलअलपुझाकोयर उत्पादहेंडीक्राफ्ट
49लद्दाखलेहसमुद्री हिरन का सींगN/A
50लद्दाखकारगिलपश्मीना शॉलविनिर्माण
51मध्य प्रदेशइंदौरचमड़े के खिलौनेहेंडीक्राफ्ट
52महाराष्ट्रकोल्हापुरकोल्हापुरी चप्पलहेंडीक्राफ्ट
53महारष्ट्रसोलापुरसोलापुर टेरी तौलियाहेंडीक्राफ्ट
54महाराष्ट्रनासिकनाशिक घाटी वाइनविनिर्मित
55महाराष्ट्रसतारामहाबलेश्वर स्ट्रॉबेरीकृषि
56महाराष्ट्रसांगलीहल्दीकृषि
57महाराष्ट्ररतनगिरीअलफोंसो आमकृषि
58महाराष्ट्रपुणेपुरंधर अंजीरकृषि
59महाराष्ट्रजलगाँवकेलेकृषि
60मणिपुरपूर्वी/पश्चिमी  इम्फालवांगखेई फीहेंडीक्राफ्ट
61मेघालयपश्चिम जयंतिया हिल्सहल्दीकृषि
62मेघालयऋ भोईअन्नानासकृषि
63मिजोरमसियाहमिज़ो मिर्चकृषि
64नागालैंडकोहिमानागा मिर्चाकृषि
65ओडिशाकोरापुटकोटपैड हैंडलूम फैब्रिकहेंडीक्राफ्ट
66ओडिशागंजामगंजम केवड़ा रूहकृषि
67ओडिशाकंधमालहल्दीकृषि
68ओडिशासुंदरगढ़स्टीलN/A
69पंजाबपटियालाफुलकारीहेंडीक्राफ्ट
70पंजाबजालंधरखेल के सामानविनिर्मित
71पंजाबलुधियानारेडीमेड गारमेंटविनिर्मित
72पंजाबफतेहगढ़ साहिबरी-रोल्ड स्टील सिल्लियांN/A
73राजस्थानजयपुरब्लू पोएट्रीहेंडीक्राफ्ट
74राजस्थाननागौरमरखना मार्बल्सप्राकृतिक संसाधन
75सिक्किमउत्तर जिलाबड़ी इलायचीकृषि
76तमिलनाडुकांचीपुरमकांचीपुरम सिल्कहेंडीक्राफ्ट
77तमिलनाडुकोयम्बटूरकोयंबटूर वेट ग्राइंडरविनिर्मित
78तमिलनाडुतिरुचिरापल्लीचमड़ाविनिर्मित
79तमिलनाडुसालेमसालेम सिल्कहेंडीक्राफ्ट
80तमिलनाडुनिलगिरीनिलिगिरी चायकृषि
81तमिलनाडुदिंडीगुलडिंडीगुल तालेविनिर्मित
82तमिलनाडुडिंडीगुललहसुनकृषि
83तमिलनाडुधरमपुरीऑटोN/A
84तमिलनाडुवेल्लोरचमड़ा क्लस्टरN/A
85तमिलनाडुथिरूवल्लूरऔद्यौगिक टूल और पम्प /मोटरN/A
86तमिलनाडुविरुध्नगरशिवकाशी पटाखेN/A
87तेलंगानावारंगलदरीहेंडीक्राफ्ट
88तेलंगानाआदिलाबादखिलौने, पेंटिंग और फर्नीचरहेंडीक्राफ्ट
89त्रिपुराकई जिले (सिपाहिजला, पश्चिम त्रिपुरा, धलाई उत्तर त्रिपुरा)क्वीन अन्नानासकृषि
90उत्तर प्रदेशआजमगढ़ब्लैक पॉटरीहेंडीक्राफ्ट
91उत्तर प्रदेशभादोनीकारपेटहेंडीक्राफ्ट
92उत्तर प्रदेशबुलन्दशहरसिरेमिक उत्पादविनिर्मित
93उत्तर प्रदेशफिरोजाबादकांच का बना सामानविनिर्मित
94उत्तर प्रदेशगाजीपुरजूट वॉल हैंगिंगहेंडीक्राफ्ट
95उत्तर प्रदेशकन्नौजइत्र परफ्यूमविनिर्मित
96उत्तर प्रदेशलखनऊजरी – जरदोजीहेंडीक्राफ्ट
97उत्तर प्रदेशलखनऊचिकनकारीहेंडीक्राफ्ट
98उत्तर प्रदेशमिर्जापुरकारपेटहेंडीक्राफ्ट
99उत्तर प्रदेशमुरादाबादधातु से बना क्राफ्टहेंडीक्राफ्ट
100उत्तर प्रदेशसहारनपुरलकड़ी से बना क्राफ्टहेंडीक्राफ्ट
101उत्तर प्रदेशकानपूर नगरचमड़े से निर्मित सामानहेंडीक्राफ्ट
102उत्तर प्रदेशफरुखाबादटेक्सटाइल प्रिंटिंगहेंडीक्राफ्ट
103उत्तर प्रदेशवाराणसीसिल्क उत्पादहेंडीक्राफ्ट
104उत्तर प्रदेशमेरठकैंचीविनिर्मित
105उत्तराखंडदेहरादूनवेलनेस सेण्टरसर्विस
106पश्चिम बंगालदार्जिलिंगचायकृषि

यह भी पढ़ें