Petrol Pump Business – How to start in India

Petrol Pump Business – How to start in India

जहाँ तक Petrol Pump Business अर्थात पेट्रोल पंप खोलकर उसमे पेट्रोल एवं डीजल बेचने के व्यवसाय की बात है यह बिज़नेस समाज के हर वर्ग में बेहद विख्यात है कहने का आशय यह है की पेट्रोल पंप खोलकर ईधन बेचने का अर्थात Petrol Pump business एक ऐसा बिज़नेस है जिसका सपना समाज के हर वर्ग से जुड़ा व्यक्ति देखता है क्योंकि इस व्यवसाय में जोखिमों की कमी के चलते एवं इससे होने वाली कमाई हर उद्यमी को इसकी ओर आकर्षित करती है | कुछ विशेष व्यवसायों जिन्हें अधिकतर लाभ कमाई करने के बिज़नेस के तौर पर जाना जाता है उन व्यवसायों में से एक व्यवसाय Petrol Pump Business यानिकी पेट्रोल पंप खोलकर ईधन बेचने का काम भी है | लेकिन चूँकि इस प्रकार का यह व्यवसाय उन गिने चुने व्यवसायों की लिस्ट में सम्मिलित है जिनकी लाभ कमाई करने की क्षमता अधिक है, इसलिए इस बिज़नेस के लिए लाइसेंस लेना उद्यमियों के लिए हमेशा एक चुनौती रही है | पेट्रोल पंप खोलने हेतु लाइसेंस लेने को एक जटिल प्रक्रिया के रूप में देखा गया है जिसमे उद्यमियों को सम्बंधित आयल मार्केटिंग कंपनियों द्वारा जारी किये गए दिशानिर्देशों का अनुसरण करना होता है |

petrol pump -business starting process hindi

Petrol Pump Business क्या है?

शहरी क्षेत्रों में निवासित व्यक्ति जब भी अपनी नज़र उठाते होंगे तो उन्हें सड़कों पर विभिन्न वाहनों, दुपहिये, तिपहिये और चार पहियों की कतारें नज़र आती होंगी जी हाँ दोस्तों वर्तमान में कोई भी शहर, नगर चाहे वह छोटा हो या बड़ा हो हर जगह सड़कों पर वाहनों का बोलबाला है | पहले की तुलना में इनकी तीव्र गति से हो रही बढ़ोत्तरी का कारण शायद लोगों की जीवनशैली एवं कमाई में हो रहे सुधार हैं खैर कारण जो भी हों लेकिन सच्चाई यह है की सड़क पर साइकिल एवं बैटरी से चलने वाले वाहनों को छोड़कर, बाकी सभी वाहनों को चलाने के लिए ईधन अर्थात डीजल या पेट्रोल की आवश्यकता होती है | और वाहन धारकों द्वारा अपनी इसी आवश्यकता के वशीभूत होकर एक ऐसे स्थान का रुख किया जाता है जहाँ सड़क के किनारे पेट्रोल एवं डीजल बिक रहा होता है, इसी सड़क किनारे उपलब्ध स्थान को पेट्रोल पंप कहा जाता है और चूँकि ईधन बेचकर पेट्रोल पंप खोलने वाले व्यक्ति की कमाई हो रही होती है इसलिए व्यवसायिक तौर पर इस प्रक्रिया को Petrol Pump Business कहा जा सकता है |

Market Potential in Petrol Pump Business Hindi:

भारत वर्ष में हमेशा से ईधन क्षेत्र अर्थात Fuel Sector प्रमुख औद्योगिक क्षेत्रों में से एक रहा है, यह औद्योगिक क्षेत्र अन्य सभी औद्योगिक क्षेत्रों के निर्णय लेने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है | एक आंकड़े के मुताबिक बीते वर्ष 2016 में भारत में ईधन की खपत में लगभग 10.7% का इजाफा अर्थात वृद्धि हुई जो की बीते कुछ वर्षों का सबसे उच्चतम स्तर था | जहाँ पहले आयल मार्केटिंग कंपनियां इंडियन आयल कारपोरेशन लिमिटेड, भारत पेट्रोलियम कारपोरेशन लिमिटेड, हिन्दुस्तान पेट्रोलियम कारपोरेशन लिमिटेड इत्यादि ईधन क्षेत्र का नेतृत्व कर रही थी लेकिन वर्तमान में ये सभी कंपनिया रिलायंस पेट्रोलियम लिमिटेड, ESSAR Petrol Pump इत्यादि से चुनौतियाँ झेल रही हैं | इन्ही कंपनियों ने पेट्रोल डीजल की कीमतों को मार्किट की कीमत से जोड़ने का बीड़ा उठाया जिसका लगभग सभी क्षेत्रों ने स्वागत किया अर्थात इनके इस कदम को सभी ने एक स्वागत योग्य कदम बताया | यद्यपि ईधन तो हर छोटे बड़े क्षेत्र में उपयोग में लाया जाता है, लेकिन इसकी खपत मेट्रो शहरों में अन्य के मुकाबले अधिक होती है इसलिए हर कंपनी का प्रयास मेट्रो शहरों में अपने अधिक से अधिक पेट्रोल पंप स्थापित करने का होता है |

पेट्रोल पंप खोलने अर्थात लाइसेंसिंग के लिए Eligibility:

यद्यपि हम उपर्युक्त वाक्य में भी इसका जिक्र कर चुके हैं की Petrol Pump Business के लिए लाइसेंसिंग लेना एक जटिल प्रक्रिया है लेकिन समय के साथ इस प्रक्रिया को सरल एवं सुरक्षित करने के प्रयास किये जाते रहे हैं | इसलिए हम यहाँ पर उस eligibility criteria  का वर्णन करेंगे जो वर्तमान में चालित है लेकिन यह समय समय पर बदलती रहती है | इसलिए कोई भी उद्यमी जो Petrol Pump Business करना चाहता हो को सर्वप्रथम स्थापित पात्रता मापदंडों को चेक करना होगा और यदि उद्यमी इन पात्रता मापदंडों की कसौटी पर खरा उतरता हो तो ही उसको दूसरे स्टेप की ओर कदम बढ़ाना चाहिए |

पात्रता मापदंड (Eligibility Criteria):

  • आवेदक कर्ता को भारतीय नागरिक एवं भारतीय निवासी होना आवश्यक है |
  • CC2 श्रेणी के अंतर्गत स्वतन्त्रता सेनानी को छोड़कर अन्य व्यक्तिगत आवेदक कर्ता की उम्र 21 वर्ष से 55 वर्ष के बीच होनी चाहिए |
  • ग्रामीण रिटेल आउटलेट के लिए आवेदक कर्ता की कम से कम शैक्षणिक योग्यता 10+2 होना जरुरी है इसके अलावा CC1 और CC2 श्रेणियों के लिए यह कम से कम शैक्षणिक योग्यता 10th पास है |
  • रेगुलर रिटेल आउटलेट के लिए आवेदक कर्ता की कम से कम शैक्षणिक योग्यता स्नातक होना जरुरी है और CC1 और CC2 श्रेणियों के लिए यह कम से कम शैक्षणिक योग्यता 10+2 पास है |
  • स्वतन्त्रता सेनानियों पर कम से कम शैक्षणिक योग्यता वाला मापदंड लागू नहीं होगा |

CC1, CC2 श्रेणी क्या है?

Petrol Pump Licensing प्रक्रिया में CC1 एवं CC2 दो आरक्षण की श्रेणियां हैं | अर्थात आरक्षित श्रेणियों को आयल मार्केटिंग कंपनियों ने दो भागों CC1 एवं CC2 में विभक्त किया गया है | CC1 श्रेणी में रक्षा कर्मी, पैरा मिलिट्री कर्मचारी/ केन्द्रीय राज्य सरकार के अधीन सार्वजनिक क्षेत्र में कार्य करने वाले कर्मचारी इत्यादि को रखा गया है, वहीँ CC2 श्रेणी में शारीरिक रूप से विकलांग व्यक्तियों, खेल में उत्कृष्ट व्यक्ति एवं स्वतन्त्रता सेनानियों को रखा गया है |

पेट्रोल पंप खोलने के लिए कम से कम पैसों की आवश्यकता:

जहाँ तक पेट्रोल पंप खोलने में लगने वाले कम से कम निवेश यानिकी पैसों की बात है तो वह इस बात पर निर्भर करेगा की व्यक्ति कौन से Petrol Pump Business यानिकी रूरल रिटेल आउटलेट के लिए आवेदन करना चाह रहा है या फिर रेगुलर रिटेल आउटलेट के लिए जहाँ तक रेगुलर रिटेल आउटलेट के लिए कम से कम 25 लाख फण्ड की आवश्यकता हो सकती है वहीँ रूरल रिटेल आउटलेट के लिए कम से कम 12 लाख फण्ड की आवश्यकता हो सकती है | और यह फण्ड किस किस रूप में स्वीकृत किया जा सकता है उसका उल्लेख निम्नवत है |

  • आवेदक कर्ता के बचत खाते में उपलब्ध फण्ड |
  • बैंकों, डाकघर एवं अन्य वित्तीय संस्थानों या कंपनियों में जमा किया हुआ फण्ड | आवेदक कर्ता को साक्ष्य के तौर पर पास बुक, अकाउंट स्टेटमेंट, जमा रसीद इत्यादि देनी होती है |
  • नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट के तहत निवेश किया गया फण्ड |
  • बांड एवं डीमैट अकाउंट में किसी लिस्टेड कंपनी के शेयर |
  • म्यूच्यूअल फण्ड |
  • बांड, म्यूच्यूअल फण्ड एवं शेयर की कुल प्रमाणित वैल्यू का केवल 60% ही कंसीडर किया जायेगा |
  • चालू खाते में उपलब्ध पैसे को कंसीडर नहीं किया जायेगा |
  • कैश, ज्वेलरी एवं अन्य साधनों को बिना स्वामित्व सबूत के कंसीडर नहीं किया जायेगा |

पेट्रोल पंप की लाइसेंस के लिए आवेदन कर रहे आवेदक कर्ता को उपर्युक्त सभी डिटेल्स आवेदन फॉर्म के रूप में भरकर उस पर समबन्धित जरुरी दस्तावेज संग्लन या अपलोड करने होंगे | उपर्युक्त दिया गया अमाउंट 12 लाख एवं 25 लाख केवल पात्रता मापदंड का निर्णय लेने के लिए है वास्तविक पूंजी मामले मामले के आधार पर अंतरित हो सकती है |

Petrol Pump Business के लिए जमीन की आवश्यकत:

Petrol Pump Business के लिए उद्यमी के पास अपनी जमीन होना या एक लम्बी अवधि के लिए पट्टे पर ली गई जमीन होना आवश्यक है | इसलिए पेट्रोल पंप डीलरों का चयन करते समय जमीन एक महत्वपूर्ण योगदान निभाती है अर्थात आयल मार्केटिंग कंपनियों के सामने पेट्रोल पंप डीलरों के चयन में जमीन एक मुख्य मापदंड के तौर पर उभरकर सामने आती है | इसलिए आवेदनकर्ता को उसके पास जमीन उपलब्ध है के साक्ष्य के तौर पर खसरा, खतौनी या इसके समकक्ष अन्य कोई राजस्व दस्तावेज/भूमि के स्वामित्व की अधिकारिक पुष्टि का प्रमाण पत्र, पंजीकृत बिक्रीनामा, पंजीकृत दान विलेख, पंजीकृत पट्टानामा एवं स्वामित्व के अन्य प्रकारों के दस्तावेज में से कोई भी दस्तावेज जमा करना पड़ सकता है | Petrol Pump Business नामक इस लेख में हमारा रेगुलर रिटेल आउटलेट से अभिप्राय ऐसे पेट्रोल पंप से है जिनकी लोकेशन हाईवे जैसे नेशनल हाईवे, स्टेट हाईवे और शहरी/ अर्द्ध शहरी एरिया में हो | इसके अलावा रूरल रिटेल आउटलेट से तात्पर्य ऐसी लोकेशन से है जो ग्रामीण एरिया से समबन्धित हो लेकिन वह स्टेट हाईवे या नेशनल हाईवे में न हो |

पेट्रोल पंप लाइसेंस के लिए फीस:

पेट्रोल पंप की फीस का निर्धारण करने के लिए OMCs ने आवेदकों को दो भागों निगम स्वामित्व ‘’A’’ CC Site एवं डीलर का स्वामित्व ‘’B’’ DC site में विभक्त किया है | इसलिए निगम स्वामित्व के लिए यह फीस वर्तमान में MS (मोटर स्पीड) के लिए 48 रूपये प्रति किलोलीटर एवं HSD (हाई स्पीड डीजल ) के लिए 41 रूपये प्रति किलोलीटर है |

दूसरी स्थिति अर्थात डीलर का स्वामित्व के लिए MS (मोटर स्पीड) में यह फीस 18 रूपये प्रति किलोलीटर एवं HSD (हाई स्पीड डीजल) में 16 रूपये प्रति किलोलीटर है |

Application Fees to open Petrol Pump:

Petrol pump business शुरू करने के लिए उद्यमी को लाइसेंस की आवश्यकता होती है और लाइसेंस के लिए उद्यमी को आवेदन करना पड़ता है और आवेदन करते समय आवेदक कर्ता को कुछ निर्धारित शुल्क अर्थात फीस का भुगतान करना होता है | रूरल रिटेल आउटलेट के लिए ओएमसी द्वारा 100 रूपये आवेदन शुल्क निर्धारित किया गया है, जबकि रेगुलर रिटेल आउटलेट के लिए यह 1000 रूपये निर्धारित है इसके अलावा अनुसूचित जाति/जनजाति के आवेदनकर्ता इस एप्लीकेशन फीस में 50% तक की राहत पा सकते हैं | कोई भी आवेदनकर्ता डिमांड ड्राफ्ट के माध्यम से एप्लीकेशन फीस का भुगतान कर सकता है और यह फीस refundable नहीं होगी एक व्यक्ति केवल एक ही लोकेशन के लिए आवेदन कर सकता है |

Non Refundable Fixed Fee:

  • यदि साईट जहाँ पर पेट्रोल पंप लगना है petrol pump business करने वाले व्यक्ति अर्थात डीलर के स्वामित्व वाली और कंपनी द्वारा पट्टे पर ली गई हो तो रूरल रिटेल आउटलेट के लिए Non Refundable Fixed Fee 5 लाख होगी और रेगुलर रिटेल आउटलेट के लिए यह यह फीस 15 लाख रूपये होगी |
  • निगम स्वामित्व वाली साइटों की स्थिति में रूरल रिटेल आउटलेट के लिए 10 लाख रूपये एवं रेगुलर रिटेल आउटलेट के लिए 30 लाख रूपये Non Refundable fixed fee का प्रावधान किया गया है |
  • आवेदक कर्ता को आवेदन के साथ रूरल रिटेल आउटलेट के लिए पचास हज़ार रूपये एवं रेगुलर रिटेल आउटलेट के लिए 5 लाख रूपये Initial down payment के तौर पर देने पड़ सकते हैं |
  • अयोग्य/असफल आवेदकों को आवेदन अस्वीकृति के 60 दिनों के अन्दर अन्दर पैसे वापस करने का प्रावधान है |

पेट्रोल पंप डीलरशिप के लिए कैसे अप्लाई करे

अक्सर होता क्या है की जब भी किसी आयल मार्केटिंग कंपनी को किसी विशेष लोकेशन में अपना पेट्रोल पंप स्थापित करना होता है तो वह कंपनी अपना विज्ञापन प्रकाशित करती है यह अख़बार, टेलीविज़न, रेडियो, अधिकारिक वेबसाइट इत्यादि पर प्रकाशित की जा सकती हैं | आयल मार्केटिंग कंपनी द्वारा प्रकाशित विज्ञापन को देखते हुए यदि किसी व्यक्ति जो अपना Petrol Pump Business शुरू करना चाहता है, को लगता है की वह इसके लिए पात्रता रखता है तो वह उस विज्ञापन में दी गई अंतिम तिथि से पहले आवेदन कर सकता है | इसके अलावा कुछ ऐसी आयल मार्केटिंग कंपनिया भी हैं जिन्होंने अपनी अधिकारिक वेबसाइट में फ्रैंचाइज़ी इन्क्वारी फॉर्म दे रखा है, इसलिए Petrol pump business करने के इच्छुक व्यक्ति चाहें तो विभिन्न आयल मार्केटिंग कंपनियों के अधिकारिक वेबसाइट पर जाकर फ्रैंचाइज़ी इन्क्वारी फॉर्म भर सकते हैं | नीचे हम कुछ अधिकारिक वेबसाइट का लिंक दे रहे हैं जहाँ उद्यमी एप्लीकेशन फॉर्म भर सकते हैं |

इंडियन आयल कारपोरेशन लिमिटेड की डीलरशिप के लिए यहाँ क्लिक करें |

ESSAR  पेट्रोल पंप की डीलरशिप के लिए यहाँ क्लिक करें |
हिंदुस्तान पेट्रोलियम की डीलरशिप के लिए यहाँ क्लिक करें |
भारत पेट्रोलियम की डीलरशिप के लिए यहाँ क्लिक करें |
Petrol Pump Business से समबन्धी हमने लगभग सभी प्रकार की जानकारी खास तौर पर लाइसेंस से समबन्धित जानकारी मुहैया कराने की इस लेख में कोशिश की है | लेकिन Petrol Pump Business करने की सोच रहे उद्यमी को ध्यान रखना चाहिए की आयल मार्केटिंग कंपनियां समय समय पर इन प्रक्रियाओं में फेरबदल करती रहती हैं इसलिए व्यक्ति को इनकी आधिकारिक वेबसाइट पर अवश्य विजिट करना चाहिए |

Comments

  1. By Jitender singh

    Reply

  2. By Ambujeshvishwakarma

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: