Aadhaar Enrollment Facility Center से कमाई करने का मौका |

Aadhaar Enrollment Facility Center से कमाई करने का मौका |

यद्यपि अभी यह सिर्फ एक खबर है की सार्वजनिक क्षेत्र अर्थात पब्लिक सेक्टर के बैंकों को सरकार ने बैंकों के सरकारी परिसर में Aadhaar Enrollment Facility Center खोलने को निर्देशित किया है | यद्यपि सरकार ने तो बैंकों को ही इस तरह का यह सेंटर चलाने की जिम्मेदारी सौंपी थी, लेकिन बैंकों द्वारा  सरकार को इसकी वजह से बैंकिंग क्रियाओं में आने वाले व्यवधान से अवगत कराया गया और इसके चलते सार्वजनिक बैंकों ने प्रस्ताव रखा की क्यों न Aadhaar Enrollment Facility Center को आउटसोर्स अर्थात थर्ड पार्टी को सौंप दिया जाय | कहा यह जा रहा है की इस प्रस्ताव को सरकार एवं आधार कार्ड से समबन्धित विभाग यूआईडीएआई (UIDAI) दोनों की मंजूरी मिल गई है | और इस मंजूरी के मिलने के कारण आम जनता के पास बैंकों के साथ बिज़नेस करके अपनी कमाई करने का मौका हाथ लगा है | इसलिए Kamai Tips नामक श्रेणी में आज हम सरकारी यानिकी पब्लिक सेक्टर के बैंकों के परिसर में खोले जाने वाले Aadhaar Enrollment Facility Center के बारे में जानने की कोशिश करेंगे, ताकि इच्छुक उद्यमी इस खबर का अनुसरण करके बैंकों के साथ बिज़नेस करके अपनी कमाई कर पाने में सक्षम हो सके |

Aadhaar-Enrollment-Facility-Center

Aadhaar Enrollment Facility Center क्या है

चूँकि वर्तमान में हर प्रकार की सरकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिए आधार कार्ड को जरुरी बना दिया गया है ताकि दशकों से चले आ रहे भ्रष्टाचार पर कुछ लगाम लगाई जा सके | इसलिए जिस सेंटर या केंद्र में आधार कार्ड बनाने या नामांकन का कार्य किया जाता है उसे हम Aadhaar Enrollment Facility Center कह सकते हैं | आधार कार्ड बनाने या नामांकन करने की प्रक्रिया एक ऐसी प्रक्रिया है जो निरंतर चलती रहती है क्योंकि इंडिया जैसे विशालकाय देश जहाँ एक आंकड़े के मुताबिक प्रति मिनट 34 लोगों का जन्म अर्थात एक दिन में लगभग 49481 लोगों का जन्म होता है को नए आधार कार्ड की आवश्यकता हो सकती है, वहीँ लोगों के रहन सहन के पते में, बच्चे की उम्र पांच साल से ऊपर हो जाने पर, नाम, जन्मतिथि, इत्यादि डिटेल्स गलत होने पर इन्हें ठीक करने के लिए हमेशा Aadhaar Enrollment Facility Center की आवश्यकता होती है | कहने का आशय यह है की ऐसा परिसर या स्थान जहाँ आधार कार्ड बनने एवं उसकी डिटेल्स को ठीक करने के लिए नामांकन इत्यादि किया जाता है उसे Aadhaar Enrollment Facility Center कहते हैं |

आधार एनरोलमेंट फैसिलिटी सेंटर से कैसे होगी कमाई:

जैसा की हम उपर्युक्त वाक्य में बता चुके हैं की भारत सरकार द्वारा ऐसे केंद्र स्थापित करने एवं उनके संचालन की जिम्मेदारी भी सरकारी बैंकों को दी थी, लेकिन बैंकों ने इसके चलते बैंकिंग सुविधाओं में व्यवधान का हवाला देकर सरकार एवं यूआईडीएआई ( UIDAI)  दोनों को इसे आउटसोर्स कराने को मना लिया गया | कहा यह जा रहा है की सरकारी परिसर में Aadhaar Enrollment Facility Center खोलने के लिए बैंकों द्वारा उद्यमी को बैंक के ही परिसर में जगह भी उपलब्ध कराई जाएगी, लेकिन अभी भी इसकी अधिकारिक पुष्टी होनी बाकी है और जहाँ तक उद्यमी की इस बिज़नेस से कमाई का सवाल है |  वह समबन्धित बैंक एवं उद्यमी के बीच होने वाले एग्रीमेंट पर निर्भर करेगा यानिकी हर महीने बैंक की तरफ से Aadhaar Enrollment Facility Center चलाने वाले उद्यमी को एक निश्चित राशि प्रदान की जाएगी जो उसकी स्थायी कमाई का मुख्य स्रोत होगा |

उद्यमी को कैसे आवेदन और कितना इन्वेस्टमेंट करना होगा:

जहाँ तक आधार एनरोलमेंट फैसिलिटी सेंटर के लिए आवेदन का सवाल है इसके लिए बैंकों द्वारा आवेदन मांगे जायेंगे, इसलिए इच्छुक उद्यमी को चाहिए की वह विभिन्न बैंक की वेबसाइटों एवं समाचार पत्रों का अनुसरण करता रहे ताकि जब भी बैंकों द्वारा आवेदन मांगे जाएँ उद्यमी आवेदन कर सके | और इस बिज़नेस अर्थात बैंक के परिसर में Aadhaar Enrollment Facility Center खोलने में लगभग रूपये दो लाख तक का इन्वेस्टमेंट लग सकता है | जहाँ तक भारत सरकार के इस फैसले का सवाल है वह यह इसलिए लिया गया ताकि आधार कार्ड के नामांकन एवं अपडेशन के नाम पर हो रही वसूली पर लगाम एवं बायोमेट्रिक डिटेल्‍स की सुरक्षा को सुनिश्चित किया जा सके जिस पर वर्तमान में खतरा नज़र आ रहा है | यद्यपि सरकार द्वारा बैंकों को अभी उसके सारे ब्रांचों में नहीं बल्कि दस ब्रांचों में से किसी एक ब्रांच में Aadhaar Enrollment Facility Center खोलने के लिए निर्देशित किया गया है इसलिए बैंकों के अलावा पोस्ट ऑफिस परिसर में भी इस तरह की फैसिलिटी के खुलने के आसार लगाये जा रहे हैं | इससे पहले भी यूआईडीएआई ( UIDAI)  द्वारा सभी प्राइवेट सेंटर को सरकारी परिसर में शिफ्ट कराने की अंतिम तारीख 31 जुलाई मुकर्रर की गई थी जिसमे सभी प्राइवेट सेंटर को जिला कलेक्टरेट्स, जिला परिषद् कार्यालय या नगरपालिका कार्यालय में शिफ्ट होना था लेकिन इस बार यह निर्देश सिर्फ बैंकों को जारी हुआ है की उन्हें हर दस शाखाओं में से किसी एक शाखा पर Aadhaar Enrollment Facility Center खोलना ही होगा |

Comments

  1. By Mohd imran

    Reply

  2. By Mohd imran

    Reply

    • By neeraj sharma

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: