2023 में प्रधान मंत्री जन धन खाता कैसे खोलें।

Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana in Hindi : प्रधान मंत्री जन धन योजना के बारे में आज हम इसलिए बात कर रहे हैं, क्योकि यह योजना आम मानस से जुडी हुई है। और जैसा की हमारी इस वेबसाइट का उद्देश्य आम मानस को कमाई के स्रोतों और अपनी Kamai को कैसे सुरक्षित रखे, इत्यादि विषयों से अवगत कराना है। चूँकि कमाई और धन  में कुछ खास फर्क न होने के कारण इस योजना के बारे में लिखने को हम प्रेरित हुए हैं।

चूँकि यह योजना वित्तीय समावेशन मिशन से जुड़ी हुई एक योजना है और इसका लक्ष्य अधिक से अधिक लोगों को बैंकिंग प्रणाली यानिकी औपचारिक वित्तीय प्रणाली से जोड़ना है। इसलिए यहाँ पर इस योजना के बारे में लोगों को जानकारी देना अति आवश्यक हो जाता है।

प्रधान मंत्री जन धन योजना की जानकारी
Pradhan Mantri-Jan-Dhan-Yojana

प्रधान मंत्री जन धन योजना क्या है :

दोस्तों जन धन योजना भारत सरकार द्वारा उसके नागरिको के लिए संचालित एक योजना है। इस योजना की शुरुआत देश के वर्तमान प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने 28 अगस्त 2014 को की थी। इसलिए इस योजना को प्रधानमंत्री जन धन योजना के नाम से भी जाना जाता है। इस योजना का प्रमुख उद्देश्य भारतवर्ष में वित्तीय समावेशन करने से है ।

वित्तीय समावेशन से हमारा तात्पर्य समाज के दबे कुचले, वंचित, कम आय वाले वर्ग तक वित्तीय सुविधाए जैसे बचत जमा खाता, रकम भेजना प्राप्त करना, ऋण, बीमा, पेंशन इत्यादि सेवाएँ सस्ते दरों पर उपलब्ध कराने से है। इस योजना की घोषणा सर्वप्रथम भारत के वर्तमान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने, अपने कार्यकाल के प्रथम स्वंत्रता दिवस समारोह में 15 अगस्त 2014 को की थी।

योजना का उद्देश्य (Objectives of Prdhan Mantri Jan Dhan Yojana in Hindi):

जैसा की हम उपर्युक्त वाक्य में पहले ही बता चुके हैं की इस योजना का उद्देश्य वंचित और कम आय वाले वर्ग के लोगो को सस्ती दरों पर वित्तीय सुविधाए उपलब्ध कराना है। जिससे लोगो को उनके जरुरत के मुताबिक आसानी से ऋण, बीमा इत्यादि मिल सके। और लोगो में बढती असुरक्षा की भावना को कुछ हद तक कम किया जा सके।

एक आम आदमी की तब बड़ी सहायता हों जाती है साहब, जब परिवार का कोई सदस्य दुर्घटनाग्रस्त हो और अस्पताल में भर्ती हो और बीमा कंपनी द्वारा उसको 1 लाख की सहायता मिल जाए। एक आम आदमी की तब भी बड़ी सहायता हों जाती है, जब कोई गरीब किसी ऐसे काम करने के बारे में सोच रहा हों। जिसमे 10 से 15 हज़ार का खर्चा आ रहा हो, और बैंक कहे की हम आपको ऋण देने के लिए तैयार हैं।

और एक आम आदमी को तब भी बड़ा अच्छा लगता है साहब, जब कोई बैंक कहे की हम आपका खाता शून्य बैलेंस के साथ खोलने को तैयार हैं। इन्ही सब बातो को ध्यान में रखते हुए और उन वंचित कम आय वाले लोगो को देश की अर्थव्यवस्था के साथ जोड़ने के उद्देश्य हेतु सरकार ने इस योजना की शुरुआत की है।

योजना के अंतर्गत खाता खोलने के फायदे (Benefits to open account under PMJDY in Hindi):

  1. वो लोग जिन्होंने 26 जनवरी 2015 तक अपने बैंक खाते इस योजना के अंतर्गत खोल लिए हैं। उनको रूपये 1 लाख का दुर्घटनाग्रस्त बीमा, और रूपये 30000 का जीवन बीमा मिलेगा ।
  2. प्रत्येक खाता धारक को शून्य बैलेंस के साथ खाता खुलवाने की स्वंत्रता है। इसका अभिप्राय यह है की यदि आपकी जेब में एक रुपया भी नहीं है तब भी आप प्रधान मंत्री जन धन योजना के अंतर्गत अपना बैंक का खाता खुलवा सकते हैं।
  3. प्रत्येक खाता धारक को RuPay नामक एक डेबिट कार्ड अर्थात एटीएम कार्ड दिया जायेगा। जिससे खाता धारक अपने खाते से पैसे बिना बैंक के चक्कर काटे निकाल सके।
  4. प्रत्येक खाताधारक को रूपये 1 लाख तक का दुर्घटनाग्रस्त बीमा दिया जायेगा।
  5. खाता खुलवाने के छह महीने के उपरान्त प्रत्येक खाताधारक को प्रधान मंत्री जन धन योजना के अंतर्गत रूपये 5000 तक का ओवरड्राफ्ट दिया जायेगा। वह क्रिया जिसमे बैंक खाताधारको को उनके खाते में पड़ी रकम से अधिक रकम देने को तैयार रहते हैं, ओवरड्राफ्ट कहलाती है । मतलब यह है की यदि आपके खाते में 5000 रूपये पड़े हैं। और आपको 10000 रूपये की जरुरत है तो इस जन धन योजना के अंतर्गत बैंक आपको 5000 रूपये आपके खाते से और 5000 रूपये ओवरड्राफ्ट के रूप में दे सकता है। वर्तमान में इस लिमिट को बढ़ाकर 10000 रूपये कर दिया गया है।
  6. कोई भी खाताधारक, अपने मोबाइल फ़ोन द्वारा अपना अकाउंट बैलेंस चेक और पैसे भी भेज सकता है

जैसा की हर योजना के साथ होता आया है, कुछ लोग तारीफ करते हैं तो कुछ आलोचना। इसलिए  इस योजना के भी आलोचनात्मक तथ्य हों सकते हैं। लेकिन उनका आम आदमी के साथ कोई सरोकार नहीं है यही कारण है की हम उनको यहाँ पर सम्मिलित नहीं कर रहे हैं।

प्रधान मंत्री जन धन योजना में खाता कैसे खोलें

How to open an account under PMJDY in Hindi :

 इस योजना के अंतर्गत खाता खुलवाने के लिए आपको अपनी एक प्रमाणिक पहचान पत्र के साथ नीचे दिए गए किसी भी बैंक या बैंक की शाखा में जाना होता है।

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक जो इस योजना के तहत खाता खुलवा रहे है। उन बैंको की सूची निम्न है।

  • स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया
  • यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया
  • ओरिएण्टल बैंक ऑफ़ कॉमर्स
  • इंडियन बैंक
  • पंजाब नेशनल बैंक
  • बैंक ऑफ़ बड़ोदा
  • कारपोरेशन बैंक
  • बैंक ऑफ़ इंडिया

निजी क्षेत्र के बैंक जो इस योजना के तहत खाता खुलवाते हैं। उनकी सूची निम्न है।

  • आईसीआईसीआई बैंक
  •  एचडी एफसी बैंक
  • एक्सिस बैंक
  • एस बैंक
  •  फ़ेडरल बैंक
  •  indusind बैंक
  • ING Vysya बैंक
  •  कोटक महिंद्रा बैंक
  •  कर्नाटका बैंक

इस सम्बन्ध में और अधिक जानकारी के लिए आप चाहें तो इस योजना की अधिकारिक वेबसाइट पर भी विजिट कर सकते हैं। और यहाँ से जन धन योजना के अंतर्गत खाता खोलने के लिए आवश्यक फॉर्म भी हिंदी एवं अंग्रेजी भाषाओँ में डाउनलोड कर सकते हैं ।

खाता खोलने के लिए आवश्यक दस्तावेज

इस योजना को सफल बनाने हेतु सरकार द्वारा बैंको में खाता खोलने और खुलवाने की प्रक्रिया को सरल बनाने हेतु हाल ही में कुछ फेरबदल किये गए । अब आपको अपना बैंक खाता खोलने के लिए भिन्न भिन्न प्रकार के दस्तावेजो की जरुरत नहीं है। नीचे वर्णित दस्तावेजो में से कोई भी एक दस्तावेज आपके पास हों तो आप इस योजना के अंतर्गत अपना खाता खोल सकते हैं। लेकिन खाता खुलवाने जाते वक़्त अपनी दो पासपोर्ट साइज़ फोटोग्राफ ले जाना न भूलें।

  • भारतीय निर्वाचन आयोग द्वारा जारी किया गया वोटर आईडी कार्ड अर्थात मतदाता पहचान पत्र।
    आधार कार्ड । यदि आपने अपना आधार कार्ड बनाने के लिए आवेदन किया हुआ है। उसकी स्तिथि जानने के लिए यहाँ क्लिक करें। 
  • ग्राम प्रधान या गांव के सरपंच द्वारा जारी किया गया पत्र । फोटो सहित।
  • किसी सरकारी संगठन में कार्यरत अधिकारी से जारी किया गया पहचान पत्र।

उपर्युक्त में से कोई भी दस्तावेज न होने पर बैंक की ओर से कोई कर्मचारी जमीनी हकीकत पता करने के लिए आपके घर भेजा जा सकता है। और यदि बैंक को लगता है की आप खाता खुलवाने के योग्य हैं। तब बैंक आपका 12 महीनो के लिए एक अस्थायी प्रधान मंत्री जन धन योजना खाता खोलेगा। और इन 12 महीनो के अन्दर आपको अपने अस्थायी खाते को स्थायी खाते में बदलने के लिए एक वैध दस्तावेज बैंक में जमा कराना होगा।

इस योजना की अधिकारिक वेबसाइट के मुताबिक अब तक इस योजना के तहत 35.16 करोड़ खाते खुल चुके हैं । और इनमें लगभग 95382.14 करोड़ रूपये बैलेंस भी जमा हुआ है।

यह भी पढ़ें: