PVC Cable Manufacturing Business की जानकारी.

PVC Cable से हमारा आशय एक ऐसी केबल से है जिसे polymerization of vinyl chloride से बनाया जाता है यह एक रस्सी की आकृति की होती है जिसे अन्दर दो या दो से अधिक तार हो सकते हैं जो केबल के अन्दर एक दुसरे से लिपटे हुए, बंधे हुए हो सकते हैं | तारों और केबल को गैर संचालन करने वाली प्लास्टिक सामग्री के अंतर्गत सुरक्षा के तौर पर PVC या पोलीथिन में समाहित किया जाता है ताकि आस पास के वातावरण में सुरक्षा प्रदान हो सके | जहाँ तक PVC cable की बात है इनका विद्युत् शक्ति के संचरण और वितरण में अहम योगदान है इस प्रकार की यह केबल सबस्टेशन, डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम, औद्योगिक प्रतिष्ठानों, हाउस वायरिंग, स्ट्रीट लाइटिंग में उपयोग के लिए उपयुक्त मानी जाती हैं | पीवीसी से इंसुलेटेड किये हुए तार एवं केबल विद्युत् वितरण के लिए सर्वोत्तम मानी गई हैं | इसलिए इनकी मांग हर समय औद्योगिक एवं घरेलू उपयोग के लिए बनी रहती है PVC Cable manufacturing Business को उद्यमी लघु उद्योग एवं मध्यम उद्योग के तौर पर शुरू कर सकता है |

PVC-Cable-Manufacturing

PVC Cable manufacturing Business kya hai:

Polyvinyl Chloride (PVC) इंसुलेटेड केबल का उपयोग विभिन्न प्रकार के अनुप्रयोगों जैसे फिक्स्ड वायरिंग से लेकर फ्लेक्सिबल इंस्टालेशन तक किया जाता है | इस प्रकार की यह केबल कई आकार रंग एवं कंडक्टर सामग्री में बनाई जाती है पीवीसी एक थर्मो प्लास्टिक बहुलक होता है | पीवीसी में ऐसे गुण विद्यमान होते हैं जो इसे निम्न एवं उच्च तापमान दोनों के अनुकुल बनाते हैं | पीवीसी इन्सुलेशन का इस्तेमाल इसके अच्छे इन्सुलेट गुणों के कारण होता है इसलिए कम और मध्यम वोल्टेज केबल्स और कम आवृत्ति इन्सुलेशन आवश्यकताओं के लिए इसे सबसे उपयुक्त माना गया है। जहाँ तक PVC Cable के उपयोग की बात है उसका जिक्र हम उपर्युक्त वाक्य में कर ही चुके हैं की विद्युत् उर्जा को संचरित एवं वितरित करने में इसका बहुतायत अर्थात व्यापक तौर पर उपयोग होता है, जब किसी उद्यमी द्वारा इन्ही आवश्यकताओं को ध्यान में रखकर PVC Cable बनाने का काम किया जाता है तो उसके द्वारा किया जाने वाला यह बिज़नेस PVC Cable Manufacturing business कहलाता है |

Market Potential in PVC Cable Making:

बिजली के तारों एवं पीवीसी केबल की बात करें तो हम पाएंगे की भारतवर्ष में इनकी चक्रवृद्धि वार्षिक वृद्धि दर 2015 से 2019 के समयकाल में 16 से 18% आंकी गई है | भारत में अनुमान लगाये जा रहे हैं की सबसे पहले घरों में उपयोग की जाने वाली केबल की मांग आने वाले वर्षों में बढ़ेगी इसका मुख्य कारण यह भी है की सरकार सभी इलाकों में बिजली देने को प्रयासरत है | इसके अलावा प्रधान मंत्री आवास योजना के अंतर्गत सरकार का लक्ष्य सभी लोगों को सस्ते मकान उपलब्ध कराने का है, जिसके लिए नए मकान तैयार करने की आवश्यकता होगी और इन नए मकानों को बनाते वक्त PVC Cable के उपयोग को नज़र अंदाज़ नहीं किया जा सकता | इन सब गतिविधियों के अलावा इमारतों, मकानों के पुनरुद्धार की प्रक्रियाएं भी वर्ष भर चलती रहती हैं जिसके चलते लोग Short Circuit से बचने के लिए पुरानी केबल की जगह नई केबल उपयोग में लाते हैं |  इसके अलावा कुछ और औद्योगिक क्षेत्र जैसे कोयला एवं कोलेरीज़, बिजली बोर्ड, रेलवे, सभी प्रकार के बिजली स्टेशन, विमानन उद्योग और आवास बोर्ड/कॉलोनिजर इत्यादि इस PVC Cable के थोक खरीदार हैं |

आवश्यक मशीनरी एवं उपकरण:

PVC Cable manufacturing Business में प्रयुक्त होने वाली मशीनरी एवं उपकरणों की लिस्ट निम्नवत है |

  • वायर कोटिंग मशीन, कुलिंग Trough, आटोमेटिक तापमान नियंत्रक, मोटर एवं अन्य उपकरणों के साथ पीवीसी Extruder जिनकी कीमत लगभग 8 लाख रूपये तक हो सकती है |
  • तार को सीधा करने का उपकरण (Wire straightening equipment) जिसकी कीमत 5 लाख के आस पास हो सकती है |
  • केबल में निर्माणकर्ता का नाम छापने वाली मशीन (Cable Printing Machine) जिसकी कीमत 70000 से 2 लाख तक हो सकती है |
  • coil winding और तार की लम्बाई मापने की मशीन जिसकी कीमत 30-40 हज़ार की हो सकती है |
  • Extrusion डाई एवं नोज़ल जिनकी कीमत 20-25 हज़ार हो सकती है |

PVC Cable manufacturing Business में काम आने वाले टेस्टिंग उपकरणों की लिस्ट इस प्रकार से है |

  • स्पार्क टेस्टर
  • Kelvin Double Bridge मापक यंत्र
  • tensile testing machine
  • हाई वोल्टेज टेस्टिंग उपकरण
  • इंसुलेशन टेस्टिंग उपकरण
  • ताप एवं संकुचन की जांच के लिए उपकरण
  • आग प्रतिरोधी टेस्टिंग उपकरण
  • थर्मोस्टेटिक रूप से नियंत्रित इलेक्ट्रिक हीटर
  • ट्रेवलिंग माइक्रोस्कोप
  • माइक्रोमीटर

PVC Cable manufacturing business में प्रयुक्त होने वाले कच्चे माल की लिस्ट कुछ इस प्रकार से है |

  • C. ग्रेड एल्युमीनियम वायर
  • पीवीसी कंपाउंड (Cable grade)
  • पैकिंग सामग्री जैसे पोलीथिन इत्यादि

Manufacturing Process of PVC Cable:

PVC Cable manufacturing process में सर्वप्रथम E.C. ग्रेड एल्युमीनियम वायर को Extruder में डाला जाता है | इसके बाद इसी Extruder में वायर डाई से होकर गुज़रती है जिससे बराबर मात्रा में एक PVC Coating तार के चारों तरफ लग जाती है | उसके बाद इस तार को ठंडे पानी से होकर गुज़ारा जाता है जिससे तार को ठंडी होने में मदद मिलती है | उसके बाद इस PVC Cable manufacturing process में तार को हाई वोल्टेज स्पार्क टेस्टर से पास कराया जाता है जहाँ PVC Coating की इंसुलेटिंग मजबूती की जांच की जाती है | ध्यान रहे Extruder से निकालने के बाद एवं ठंडा करने से पहले इस तार में निर्माणकर्ता का नाम Emboss कराया जा सकता है उसके बाद coil winding और तार की लम्बाई मापने वाली मशीन से 100 मीटर के तार का बंडल तैयार किया जा सकता है | जहाँ तक PVC Cable की गुणवत्ता का सवाल है इसका उत्पादन ब्यूरो ऑफ़ इंडियन स्टैण्डर्ड द्वारा निर्धारित IS: 694: 1990 मानकों के अनुरूप होना चाहिए |

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

One thought on “PVC Cable Manufacturing Business की जानकारी.

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *