Readymade Garment Business Ki Jankari

Readymade Garment Business Ki Jankari

हालांकि Readymade Garment business उन लोगों के लिए एक  Profitable business हो सकता है, जिन्होंने Fashion Designing इत्यादि की पढाई की हो | लेकिन यदि शुरू में इस बिज़नेस को survival business की तरह करना हो तो कोई साधारण आदमी भी इस Readymade Garment business में अपना हाथ आजमा सकता है | बशर्ते व्यक्ति या तो टेलर हो या फिर उसका टेलर को नियुक्त करने का program हो | Fashion Designing की पढाई किये हुए entrepreneur जहाँ शहरों में निवासित जनता की कपड़े समबन्धि आवश्यकताओं को पूर्ण करेंगे | वही टेलर या साधारण व्यक्ति ग्रामीण इलाकों में निवासित जनता की कपड़े सम्बन्धी आवश्यकताओं को Readymade Garment business के माध्यम से पूर्ण कर पाने में सफल हो पाएंगे |

Readymade Garment business kya hai:

Readymade Garment business से हमारा अभिप्राय उस प्रक्रिया से है जिसमे कोई entrepreneur कपड़े को विभिन्न पहनावे जैसे कमीज, पेंट, कोट इत्यादि में परिवर्तित करके अपने ग्राहकों को बेचता है | ये Readymade garments टेलरिंग की तर्ज पर किसी व्यक्ति विशेष की माप लेके नहीं बनाये जाते हैं | बल्कि इनका निर्माण मानवशास्त्र का अध्यन के बाद एक प्रचलित तरीके में होता है |

Business scope in Readymade Garment business in Hindi:

जिस प्रकार लोगों के लिए अपना पेट भरना जरुरी होता है, ठीक उसी प्रकार या फिर यूँ कहें की उससे भी ज्यादा जरुरी होता है तन ढकना | रोटी, कपड़ा और मकान तीन ऐसी वस्तुएं हैं जो किसी भी मनुष्य को जीने के लिए चाहिए ही चाहिए | कपड़े का आकार, प्रकार, स्वरूप, गुणवत्ता इत्यादि अलग अलग हो सकती हैं लेकिन बिना कपड़ों के मनुष्य प्राणी का जीना संभव नहीं है | Readymade Garment business एक ऐसा बिज़नेस है जिसमें रचनात्मकता की आवश्यकता पड़ सकती है | क्योकि वर्तमान में लोग एक दूसरे की प्रकृति का पता उसके पहनावे से लगा देते हैं | इस Readymade Garment business को शुरू करने वाले उद्यमी को एक बात का ध्यान जरुर रखना चाहिए की लोग कौन सा पहनावा पसंद कर रहे हैं | क्योकि ज्यों ज्यों लोगो के रहन सहन के स्तर में सुधार होता है, तब तब उनकी पहनावे की आदत बदलती है | लोगों के पहनावे की आदतों का अध्यन कर उद्यमी चाहे तो कोई नया design discover कर उसको Market में उतार सकता है | चूँकि Readymade garment business मनुष्य जीवन शैली के बहुत महत्वपूर्ण  वस्तु से जुड़ा हुआ business है, इसलिए हमें लगता है की इस बिज़नेस के business scope पर आगे चर्चा करना हास्यास्पद होगा |

Raw Materials for Readymade Garment business:

Readymade garment udyog लगाने हेतु यदि देखा जाय तो मुख्य Raw material बिना सिला हुआ कपड़ा है | लेकिन इसके अलावा भी कुछ और raw materials की आवश्यकता होती है | जिसका विवरण निम्न है |

  • कपड़ा (Cloth)
  • बटन (button)
  • धागा (Thread)
  • Zip
  • Bakram
  • Packaging Material

हालाँकि Raw Materials उद्यमी के द्वारा उत्पादित किये जाने वाले उत्पाद पर निर्भर करता है | लेकिन उपर्युक्त raw materials Readymade garment business में सामान्य तौर पर use होने वाला raw materials है |

Machinery and equipments required for readymade garment business:

  • Sewing Machine

Sewing Machine Readymade garment business के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण मशीन है | इसका उपयोग कपड़ो को सीलने के लिए किया जाता है | हालाँकि बाज़ार में सभी प्रकार के जैसे हाथों से चालित, पैरों से चालित एवं Automatic sewing machine उपलब्ध हैं | उद्यमी अपने Readymade garment business के लिए अपनी आवश्यकतानुसार कोई भी मशीन खरीद सकता है |

  • Over lock Machine

Over lock Machine का use कपड़े के किनारों पर किया जाता है | वैसे Over locking को over edging, merrowing या Serging भी कहा जाता है |

  • Linking Machine

Linking Machine का उपयोग बाहें, कॉलर इत्यादि बुनने हेतु किया जाता है |

  • Fashion Maker

Embroidery करने के लिए एवं अन्य Fashion सम्बन्धी गतिविधि के लिए इस मशीन का उपयोग किया जाता है |

  • Fusion Maker

Fusion का मतलब होता है एकीकरण अर्थात मेल कराना Readymade Garment business में कपड़े तैयार करने के लिए विभिन्न कपड़ों के ऐसे भाग होते हैं जिनकी कटाई अलग अलग की जाती है | और बाद में उनको किसी एक जैसे कॉलर, स्लीव का रूप दिया जाता है |

  • Button hole machine

इस मशीन की मदद से Button के छेद बनाये जाते हैं |

  • Electric Iron

इसका उपयोग तैयार कपड़ो में प्रेस करने हेतु किया जाता है |

  • Working tables

Readymade Garment business में working table से आशय उस मेज से लगाया जाता है जिसमे कटाई करने हेतु कपड़ो को फैलाया जाता है |

  • Working tools

Working tools में जैसे निशान लगाने के लिए चाक या पेन्सिल, माप लेने हेतु इंच टेप इत्यादि आते हैं |

Manufacturing process of garment in Hindi:

हालांकि छोटे स्तर पर Readymade garment business करने के लिए इसकी Manufacturing विधि आसान है | लेकिन यदि बड़े स्तर पर यह बिज़नेस करना हो तो उद्यमी को बहुत सारी बातों का ध्यान रखना पड़ता है ताकि एक उच्च स्तर के Garment की उत्पति हो पाय |

garment-manfacturing-process-in-hindi

Garment Manufacturing के लिए सबसे पहले उद्यमी को Garment के design के बारे में सोचना चाहिए | और सोच के मुताबिक या यदि किसी उद्यमी को उसके ग्राहक से bulk order मिला हुआ है तो Garment design उसी के अनुरूप होनी चाहिए | design बनाने के बाद design के नमूने तैयार कर लिए जाते हैं | नमूने बनाने के बाद इनके Sample तैयार कर लिए जाते हैं जिनका निरिक्षण ग्राहकों के द्वारा या खुद के द्वारा भी संभावित होता है | यदि Garment की quantity अधिक है तो Production हेतु भी नमूना तैयार किया जाता है | ग्राहक के द्वारा order confirm होने के बाद या खुद की संतुष्टि के बाद Grading की जाती है | Grading के बाद Marker making ,marker जो की एक खास Garment की सारी जानकारी लिए हुए एक पतला सा paper होता है इसका उद्देश्य cutting process को easy अर्थात सरल बनाने का होता है | Readymade garment business के Manufacturing process में अब अगला स्टेप Fabric अर्थात कपड़े को working table पर फैलाने का होता है, कपड़े को फैलाने के बाद इसको काट लिया जाता है, cutting किये गए fabric के हिस्सों को समेटकर या अलग अलग कर next process सिलने अर्थात sewing के लिए तैयार कर लिया जाता है, फिर इन्हें sample के मुताबिक सिला जाता है सिलने के बाद इनका निरीक्षण किया जाता है | और यदि Garment निरीक्षण प्रक्रिया में पास हो जाय तो इनमे इस्त्री की जाती है | और इस्त्री करने के बाद एक बार फिर से इन्हें चेक कर लेना चाहिए, और यदि garment ठीक हो तो उसे pack कर देना चाहिए |

यह भी पढ़ें

कपड़े के बैग बनाने के बिज़नेस की जानकारी

कंप्यूटराइज्ड एम्ब्रायडरी बिज़नेस की जानकारी

स्कूल की वर्दी बनाने के बिज़नेस की जानकारी  

Comments

  1. By Chandan Kumar Goutam

    Reply

    • By SANTOSH KADAM

    • By SANTOSH KADAM 7045653811

  2. By Kamlesh kumar

    Reply

  3. By ANMOL

    Reply

  4. By S k yadav

    Reply

  5. By Dinesh

    Reply

  6. By Mamta Tiwari

    Reply

  7. By SHIVRAJ GOSWAMI

    Reply

  8. By rohit kumar yadav

    Reply

  9. By Suresh

    Reply

  10. By Sachin

    Reply

  11. By Prince kumar

    Reply

  12. By mukesh kumar

    Reply

  13. By Rohit Singh

    Reply

  14. By शहजाद अली

    Reply

  15. By jivesh mallik

    Reply

    • By Rahul

  16. By asma maner

    Reply

  17. By DINESH SINGH

    Reply

  18. By Mahendra

    Reply

  19. By prakash singh rawat

    Reply

  20. By mohd rizwan

    Reply

  21. By NEERAJ SONI

    Reply

  22. By nitin

    Reply

  23. By nilesh yadav

    Reply

  24. By bhupender

    Reply

  25. By hemant s. pawar

    Reply

  26. By Shashank

    Reply

  27. By mt touqir

    Reply

  28. Reply

  29. By Anil kumar

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: