आवेदन किये गए लोन में से बहुत सारे बैंक लोन रिजेक्ट हो जाते हैं, जबकि उद्यमी बनने की राह पर चलने वाले व्यक्ति की सबसे बड़ी आवश्यकता लोन ही होती है | और उद्यमी अपनी इसी आवश्यकता की पूर्ती हेतु बैंकों के पास business loan के लिए आवेदन करता है | लेकिन यह जरुरी नहीं की बैंक द्वारा हर आवेदन पत्र स्वीकृत करके लोन दिया जायेगा | हालांकि बैंक की लोन प्रक्रिया में application जमा करने के बाद 72 घंटे अर्थात 3 working days का समय लगता है, उसके बाद बैंक बताता है की आवेदनकर्ता की Loan application स्वीकृत कर ली गई है या फिर Reject |

जब बैंक द्वारा उद्यमी का business Loan reject कर दिया जाता है तो उद्यमी दुविधा में पड़ जाता है की आखिर ऐसा क्यूँ हुआ | हालांकि बैंकों द्वारा Loan reject करने के पीछे क्या reason रहा बताया जाता है | लेकिन यदि उद्यमी को इन सब के बारे में पहले ही पता होता तो हो सकता है की वह business loan के लिए तब apply करता, जब वह बैंक के सारे points पर खरा उतरने का सामर्थ्य रखता | इसी बात के मद्देनज़र आज हम बात करेंगे की ऐसे कौन से reasons हो सकते हैं, जिससे Bank किसी का भी बैंक लोन रिजेक्ट कर सकता है, यह लोन चाहे business Loan हो या Personal loan दोनों reject कर सकता है |

बैंक लोन रिजेक्ट होने के कारण
बैंक लोन रिजेक्ट होने के कारण

1. एड्रेस का डिफाल्टर लिस्ट में होना :

Residential address मतलब जहाँ आवेदनकर्ता रहता है, यदि पहले किसी व्यक्ति ने उसी address से Loan या credit card लिया हो जहाँ आवेदनकर्ता रहता है और loan/credit चुकता न कर पाया हो | तो हो सकता है की बैंक ने उस address को अपने database में defaulter list में डाल दिया हो | इस स्तिथि में बैंक लोन रिजेक्ट होने की संभावना अधिक हो जाती है |

2. क्रेडिट कार्ड पेमेंट और लोन रीपेमेंट का ट्रैक रिकॉर्ड अच्छा न होना :

यदि आवेदनकर्ता ने पहले कभी किसी बैंक का Credit card या Loan लिया है, और व्यक्ति पर बैंक का बहुत सारा पैसा या कुछ क़िस्त बाकी है जो व्यक्ति द्वारा चुकता नहीं की गई हैं | तो इस स्थिति में बैंक Credit Information bureau (India) Ltd (CIBIL) को इसकी रिपोर्ट करेगा | इसमें Telephone bills, Insurance premium का भी track record check किया जा सकता है, और यह track record अच्छा न होने पर बैंक लोन रिजेक्ट होने की संभावना काफी अधिक बढ़ जाती है |

3. कमाई कम और लोन अधिक होना :

यदि Banks Loan के लिए आवेदन करने वाले व्यक्ति पर पहले से Loans चल रहे हों तो उसकी जो वास्तविक Income मानी जाएगी वह Loans की किस्तों को घटा के होगी | और यदि किस्तों को घटाकर और survival के खर्चे को घटाकर व्यक्ति के पास उपयुक्त पैसे नहीं बचते हैं तो हो सकता है की बैंक लोन रिजेक्ट कर दे |

उदाहरणार्थ: माना A एक आवेदनकर्ता है, और उसकी महीने की कुल Income 45000 है, जिसमे उसके महीने का Survival का खर्चा 22000 और A ने दो loan लिए हैं जिनकी 10-10 हज़ार प्रति महीने क़िस्त है, अब यदि A तीसरी बार बैंक से लोन लेने के लिए आवेदन करता है तो Bank उसकी Loan application को reject कर देगा क्योकि आंकड़ो के मुताबिक A बैंक के तीसरे लोन की क़िस्त चुकता करने में अक्षम है |

4. ऐसे व्यक्ति का गारंटर होना जिसने ऋण चुकता न किया हो :

यदि आवेदनकर्ता कभी किसी को Loan दिलाने हेतु किसी का Guarantor बना हो और उस व्यक्ति ने Banks Loan चुकता न किया हो | तो loan चुकता करने की दूसरी जिम्मेदारी Guarantor की होती है | यदि ऋण लेने वाला और Guarantor दोनों में से कोई भी लोन चुकता नहीं करता है तो CIBIL को इसकी जानकारी दी जाती है | इस स्थिति में बैंक लोन रिजेक्ट होने के ज्यादा चांस हो जाते हैं |

5. क्रेडिट प्रोफाइल या सिबिल स्कोर का अच्छा न होना :

CIBIL record से आशय Credit card bills, Loan Installment, Insurance premium, telephone bills इत्यादि जो सेवाएँ या पैसा किसी व्यक्ति ने किसी संस्थान या कंपनी से credit पर ली हों को चुकता करने की शैली से है | यह चुकता करने की शैली तीन प्रकार की हो सकती है, Timely payment, Late payment और No payment  अब यहाँ पर ध्यान देने वाली बात यह है की जिसने Timely payment किया होगा उसका Cibil Score अच्छा होगा |

जिसने late payment किया होगा उसका CIBIL Score timely payment करने वाले से कम होगा, और जिसने payment ही नहीं किया होगा तो उसका CIBIL Score बहुत बुरा होगा | जिससे जिसने भुगतान न किया हो , उसका बैंक लोन रिजेक्ट होने की संभावना बढ़ जाती है |

6. नौकरी में अस्थिरता भी बैंक लोन रिजेक्ट होने का कारण हो सकता है

यदि आवेदनकर्ता नौकरीपेशा व्यक्ति हो तो नौकरी में अस्थिरता अर्थात instability बैंक की नज़र में लोन लेते वक्त बुरा असर डाल सकती है | कुछ बैंक तो जब किसी व्यक्ति को किसी ख़ास कमपनी में तीन साल या इससे अधिक का समय हो गया हो तभी लोन देते हैं | जिसका अभिप्राय यह है की जो लोग बड़े कम समय में जल्दी जल्दी नौकरी चेंज करते रहते हैं, उनके बैंक लोन रिजेक्ट होने के ज्यादा चांस होते हैं |

7. यदि पहले भी कभी बैंक लोन रिजेक्ट हुआ हो

किसी भी आवेदनकर्ता को Loan के लिए Apply करने से पहले अपनी आवश्यकता और eligibility का जरुर विश्लेषण करना चाहिए | क्योकि यदि बार बार Banks Loan application reject होती है तो यह आवेदनकर्ता का CIBIL score गिरा सकती है | इसलिए किसी भी Loan के लिए तभी apply करना चाहिए जब वास्तव में Loan की जरुरत हो और loan के लिए व्यक्ति eligible हो | अन्यथा बैंक बार बार Loan की application reject करता जायेगा |

8. चुकाए गए टैक्स का अनुपयुक्त होना

कभी कभी Banks Loan देते वक्त यदि व्यक्ति eligible हो तो आवेदनकर्ता से tax paying history मांगते हैं | और यह tax paying history जब आवेदनकर्ता लोन के लिए apply कर रहा हो उससे दो तीन साल पहले की मांगी जाती है | यदि व्यक्ति बैंक को tax paying history देने में असमर्थ हो तो बैंक उसकी loan application को reject कर सकते हैं |

9. अपर्याप्त और अपूर्ण बिजनेस प्लान :

यदि कोई व्यक्ति अपने ख़ास बिज़नेस को स्टार्ट करने हेतु Banks loan के लिए apply कर रहा हो तो बैंक उस उद्यमी से उसका proper business plan मांगते हैं | यदि व्यक्ति बैंक को business plan में लिखित कोई बात समझाने में नाकामयाब हो गया या फिर कोई मुख्य details को अपने बिज़नेस plan में सामिलित करना भूल गया, तो बैंक इसको अपर्याप्त मानकर उसका बैंक लोन रिजेक्ट कर सकते हैं |

यह भी पढ़ें:

2 Comments

  1. Avatar for anand arun pawar anand arun pawar
  2. Avatar for A.K.Behera A.K.Behera

Leave a Reply

Your email address will not be published

error: