सफल मोटिवेशनल स्पीकर कैसे बनें। How to become a Motivational Speaker.

Motivational Speaker की बात करें तो इनका काम दर्शकों को किसी कार्य या विचार की ओर प्रेरित करना होता है । आपने अपने जीवन में अनेक सभाओं में भाषण भी सुने होंगे, स्कूल में अध्यापको के उपदेश भी सुने होंगे तो कॉलेज में प्रोफेसर के लेक्चर भी सुने होंगे। इसके अलावा हो सकता है की आपने किसी Motivational Speaker के किसी विशेष विषय पर प्रेरक बातें भी सुनी हों। अपने जीवन में आपने जीतने भी वक्ताओं से भाषण इत्यादि सुने हों, यदि हम इन्हें इनके बोलने की कला के आधार पर विभाजित करेंगे तो हमेशा हमें दो प्रकार के वक्ता ही देखने को मिलेंगे। एक वक्ता वो होते हैं जब वे बोलते हैं तो सामने बैठे दर्शक बोर होकर ऊँघने लगते हैं अर्थात दर्शकों को नींद आना शुरू हो जाती है। या यूँ कहें की ऐसे वक्ता जागे दर्शकों को भी सुला देते हैं। और एक वक्ता वो होते हैं जब वो बोलना शुरू करते हैं तो सोये हुए दर्शक भी उठ खड़े होते हैं। इसलिए यदि आपको भी लगता है की आप अपनी वाकपटुता एवं जानकारी से सोये हुए दर्शकों को भी जगाने का सामर्थ्य रखते हैं। तो आप अपने इस हुनर को कमाई करने में परिवर्तित कर सकते हैं वह भी Motivational Speaker बनकर। जैसा की हम सबको विदित है की हर मनुष्य में कुछ न कुछ सामर्थ्य भरा है। कुछ लोग अपने सामर्थ्य को पहचानकर सफल हो जाते हैं तो कुछ उसे पहचान ही नहीं पाते। Motivational Speaker का काम भी अपने दर्शकों को हर मुश्किल का सामना करते हुए उन्हें आगे बढ़ने की ओर प्रेरित करने का होता है इसके लिए वक्ता द्वारा अनेकों सच्ची एवं काल्पनिक कहानी, उदाहरणों का भी सहारा लेना होता है। वर्तमान में मानव कल्याण में लगे विभिन्न संगठन किसी अच्छी विचारधारा को प्रोत्साहित करने के लिए किसी Motivational Speaker को नियुक्त करते हैं जो अपने बोलने की शैली से लोगों को उस विचारधारा को अपनाने के लिए प्रेरित कर सके। इसके अलावा कुछ सार्वजनिक एवं निजी क्षेत्र की कम्पनियाँ भी अपने कर्मचारियों को कंपनी के दायित्वों की पूर्ति करने की ओर अग्रसित करने के लिए समय समय पर उनके लिए प्रेरित करने वाले आयोजनों का आयोजन कराते रहते हैं। यही कारण है की आज Motivational Speaker बनकर भी खुद की अच्छी खासी कमाई की जा सकती है। इसलिए इससे पहले की हम मोटिवेशनल स्पीकर बनने के बारे में जानें उससे पहले यह जान लेते हैं की ये होते कौन हैं।

Motivational-Speaker-kaise bane

कौन होते हैं मोटिवेशनल स्पीकर (Who are Motivational Speaker):

Motivational Speaker का शाब्दिक अर्थ की हम बात करेंगे तो हिंदी में इसका शाब्दिक अर्थ प्रेरक वक्ता होता है अर्थात एक ऐसा वक्ता जो दर्शकों को प्रेरित कर सके। कहने का अभिप्राय यह है की एक मोटिवेशनल स्पीकर ऐसा वक्ता होता है जो दर्शकों को प्रेरित करने या प्रेरणा देने के उद्देश्य से भाषण देता है। ऐसे वक्ता अपने दर्शकों को विभिन्न चुनौतियों का सामना करने की ओर प्रेरित करते हैं और उनका जीवन बदलने का प्रयास करते हैं। अपनी बात को प्रभावी तौर पर दर्शकों तक पहुँचाने के लिए Motivational Speaker द्वारा अनेकों काल्पनिक, सच्ची कहानियों, मुहावरों इत्यादि का भी इस्तेमाल किया जाता है।

मोटिवेशनल स्पीकर क्या करते हैं (What Motivational Speaker do):

संक्षिप्त एवं साधारण भाषा में कहें तो एक Motivational Speaker का काम दर्शकों को उनके राह में आने वाली चुनौतियों का डटकर सामना करने की ओर प्रेरित करने का होता है। कहने का अभिप्राय यह है की एक मोटिवेशनल स्पीकर उन चुनौतियों की पहचान करने में समर्थ होता है जो किसी व्यक्ति के भीतर होती हैं और उन्हें बुनियादी स्तर पर प्रेरित करती हैं। उनका काम दर्शकों के सपने को आग देकर उसे एक तीव्र इच्छा में बदलना होता है ताकि व्यक्ति अपने सपने को वास्तविकता में बदल पाने में सक्षम हो सके। हालांकि मानव जीवन के बारे में कहा गया है की यह किसी संघर्ष से कम नहीं है इसलिए मनुष्य जीवन में अलग अलग स्थितियाँ बनती रहती हैं और इन अलग अलग स्थितियों में व्यक्ति द्वारा अलग अलग प्रतिक्रियाएं की जाती हैं। कहने का आशय यह है की भले ही व्यक्ति कितने ही बड़े उत्साह के साथ कुछ काम शुरू करे, लेकिन यदि उसमें लगातार कुछ बाधाएं आती हैं तो व्यक्ति के हौसले परास्त होने लगते हैं। और उसके बाद जब उसके आस पास के लोग उसकी खिल्ली या मजाक उड़ाते हैं तो उसे सच में लगने लगता है की उसने उस तरह का वह काम शुरू करके बड़ी गलती कर दी। ऐसे में हो सकता है की आस पड़ोस की नकारात्मक बातों के कारण उसका आत्मविश्वास बिलकुल समाप्त हो जाय और वह उस कार्य को छोड़ दे। जबकि सच्चाई यह है की किसी भी कार्य में सफलता पाने के लिए सकरात्मक समर्थन एवं निरंतर प्रेरक मार्गदर्शन बेहद जरुरी है ताकि मुश्किल घड़ी में भी व्यक्ति का आत्मविश्वास डगमगाए नहीं। इसलिए ऐसे लोग जो किसी कार्य को करने के दौरान अपने आत्मविश्वास में कमी देखते हैं वे अपने आत्मविश्वास को बढाने के लिए Motivational Speaker का सहारा लेते हैं। यहाँ तक की ऐसे लोग जिन्होंने अपने लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए स्वयं को प्रेरित किया है अर्थात उन्होंने किसी भी बाधा का डटकर सामना करने का संकल्प लिया है। उन्हें भी कभी कभी बाहरी स्रोतों से प्रोत्साहन की आवश्यकता होती है ऐसे में वे भी Motivational Speaker की तलाश में रहते हैं। जहाँ तक प्रेरणा की बात है यह केवल जीवन में सफलता से ही जुड़ी नहीं है बल्कि यह कुछ भी हो सकती है। यह जीवन को ख़ुशी से व्यतीत करने के बारे में हो सकती है, यात्रा करने के बारे में हो सकती है, रिश्तों के बारे में हो सकती है। इसलिए कहा जा सकता है की एक Motivational Speaker अपने दर्शकों को किसी विषय विशेष पर प्रेरित करने का कार्य करता है ।

एक सफल मोटिवेशनल स्पीकर कैसे बनें? (How to become a Successful Motivational Speaker):

एक सफल Motivational Speaker बनने के लिए इच्छुक व्यक्ति को कड़ी मेहनत करने की आवश्यकता हो सकती है। हालांकि यदि आप एक अच्छे वक्ता हैं तो आपसे आपकी शैक्षणिक योग्यता के बारे में शायद ही कोई सवाल करेगा। इसलिए एक प्रेरक वक्ता बनने के लिए किसी औपचारिक शैक्षणिक योग्यता की आवश्यकता तो नहीं है लेकिन एक वक्ता जितना अधिक पढ़ा लिखा होगा वह अपनी बातें दर्शकों के सामने उतने ही अधिक तथ्यों के साथ रख पायेगा। तो आइये जानते हैं की भारत में कैसे कोई एक सफल Motivational Speaker बन सकता है।

1. दर्शकों को क्या सन्देश देना है

वर्तमान में हम सूचनाओं की दुनिया में जी रहे हैं, जहाँ अधिकतर लोगों का ध्यान पैसे कमाई करने की ओर रहता है। ध्यान रहे यदि आप Motivational Speaker बनना चाहते हैं तो आपको इस बात का निर्णय लेना होगा की आप अपने दर्शकों को मूल सन्देश क्या देना चाहते हैं। आपको यह सन्देश इस आधार पर तय करना होगा की वह सन्देश लोगों के जीवन को बेहतर बनाने में कैसे सहायता करेगा की वे आपकी स्पीच सुनने के लिए पैसे खर्च करेंगे। सन्देश ऐसा होना चाहिए जो स्वाभाविक यानिकी प्राकृतिक लगे और लोगों के जीवन को बेहतर बनाने का आह्वान करता हो।

2. पब्लिक स्पीकिंग क्लासेस ज्वाइन करें (Join public speaking classes to become Motivational Speaker):

जैसा की हम सबको विदित है की कोई भी व्यक्ति जन्म से ही पद प्रतिष्ठा लेकर जन्म नहीं लेता है। कहने का अभिप्राय यह है की कार्य कोई भी हो कोई भी व्यक्ति जन्म से ही सीखकर नहीं आता है बल्कि उसे इस दुनिया में आकर ही धीरे धीरे सब कुछ सीखना होता है । इसलिए कहा जा सकता है की Motivational Speaker भी जन्म से ही पैदा नहीं होते हैं बल्कि बोलना एक सीखने योग्य कौशल है जिसे आसानी से सीखा जा सकता है। इसलिए यदि आप चाहते हैं की आप भी एक सफल मोटिवेशनल स्पीकर बनें तो आपको बोलने का कौशल सीखना होगा इसके लिए आप पब्लिक स्पीकिंग क्लासेस ज्वाइन कर सकते हैं। इसके अलावा आप चाहें तो अपने लिए कोई ऐसा कोच खोज सकते हैं जो बेहतर वक्ता हो। जो आपको बोलने की शैली सीखाने में मदद करेगा।

3. खुद की कंपनी या नौकरी:

यद्यपि आप चाहें तो व्यक्तिगत व्यक्ति के तौर पर भी इस बिजनेस की शुरुआत करके कमाई कर सकते हैं। लेकिन एक व्यक्तिगत व्यक्ति की तुलना में लोगों एवं निगमों की विश्वसनीयता कंपनी पर अधिक होती है। इसलिए एक व्यवसायिक Motivational Speaker बनने वाले व्यक्ति को इस बात का भी निर्णय लेना होगा की वह खुद का ब्रांड स्थापित करके यह कार्य करना चाहता है या किसी पहले से स्थापित कंपनी के अधीन नौकरी करके इस कार्य से कमाई करना चाहता है। चूँकि व्यक्तिगत व्यक्तियों की तुलना में संगठनों, निगमों की खरीदारी की क्षमता अधिक होती है और ये संगठन या निगम व्यक्तिगत व्यक्तियों के मुकाबले कंपनी से ही डील करना पसंद करते हैं। इसलिए आप चाहें तो खुद का ब्रांड स्थापित करके भी यह कार्य कर सकते हैं।

4. अभ्यासरत रहें अर्थात अभ्यास करते रहें (Do practice to become Motivational Speaker):

अभ्यास सफलता की कुंजी होती है यह कहना बिलकुल भी गलत नहीं होगा, इसलिए अपने स्पीच को प्रभावी बनाने के लिए एवं अच्छा वक्ता बनने के लिए प्रतिदिन दो तीन घंटे अभ्यास अवश्य करें। पेशेवर वक्ताओं की सफलता के लिए बोलने की सामग्री एवं उसकी दर्शको तक डिलीवरी करने का सामर्थ्य जिम्मेदार होता है। जहाँ सीखना एवं उसका आकलन करना एक Motivational Speaker को सामग्री प्रदान करेगा वही अभ्यास उस सामग्री को दर्शकों तक प्रभावी ढंग से पहुँचाने में सहायता करेगा। ध्यान रहे एक सफल वक्ता बनने से आप सिर्फ एक सफल भाषण भर दूर हैं। यदि आपका एक भाषण भी सफल हो गया तो आपको अनुसरण करने वाले लोगों की संख्या में इजाफा होता है जो आपके हर एक भाषण बेसब्री से इंतजार कर रहे होते हैं। इसलिए एक सफल Motivational Speaker बनने के लिए हमेशा ही अभ्यासरत रहें।

5. खुद का यूट्यूब चैनल शुरू करें.

वर्तमान में भारत जैसे विशालकाय देश में भी इन्टरनेट की पहुँच गाँव देहातों तक भी हो गई है इसलिए हमें ऐसे अनेकों उदाहरण मिल जायेंगे। जिनका पहला Motivational Speech इन्टरनेट पर वायरल हुआ हो और आज वे उसी की बदौलत एक सफल Motivational Speaker बन गए हों। इसलिए यदि आपको लगता है की आपमें मोटिवेशनल स्पीकर बनने का सामर्थ्य है तो आप खुद का एक यूट्यूब चैनल फ्री में शुरू कर सकते हैं। और इस चैनल के माध्यम से आप अपने प्रेरक भाषणों को लोगों तक पहुँचा सकते हैं। ध्यान रहे इन्टरनेट पर अच्छे कंटेंट की हमेशा माँग रहती है इसलिए जो भी बनायें ओरिजिनल बनायें और किसी और के कंटेंट को चोरी करके अपने चैनल के माध्यम से प्रकाशित न करें।

6. जितना हो सके उतना पढो (Read more to become Motivational Speaker):

यदि आप Motivational Speaker बनना चाहते हैं तो आपको पढना तो अवश्य पढ़ेगा। वह इसलिए की जिस चीज के बारे में आपको जानकारी नहीं होगी आप उसके बारे में ज्यादा बोल भी नहीं पाएंगे। इसलिए जब तक आप सीखेंगे नहीं, तब तक आप किसी भी चीज के बारे में कैसे जान पाएंगे। अपने विषय से सम्बंधित सभी पुस्तकों को पढने का प्रयत्न करें। हो सके तो उस विषय सम्बन्धी जानकारी इन्टरनेट से भी प्राप्त करने की कोशिश करें। अपने दर्शकों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करने के लिए आप अपनी बोलने की शैली के अलावा सामग्री के अनुकूल डिजाईन, कलाकृतियों इत्यादि का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। ध्यान रहे एक अच्छी पुस्तक आपको ज्ञान से सरोबार कर सकती है इसलिए इसकी शक्ति को कम कभी मत आंको। Motivational Speaker बनने के लिए ज्ञान अर्जित करना बेहद जरुरी है।

7. अनुकूल बॉडी लैंग्वेज एवं टॉन्सिलिटी जरुरी:

एक आंकड़े के मुताबिक हमारे कम्युनिकेशन का 90% से अधिक बॉडी लैंग्वेज एवं टॉन्सिलिटी के माध्यम से होता है। और सभी सफल Motivational Speaker द्वारा इसका इस्तेमाल अवश्य किया जाता है यही कारण है की वे नियमित तौर पर अपनी बॉडी लैंग्वेज एवं टॉन्सिलिटी को सुधारने के लिए कार्य करते हैं। एक आत्मविश्वास से ओत प्रोत वक्ता न केवल अपनी जिह्वा से बात करता है बल्कि उसकी आँखे, कान इत्यादि भी सब बोलते हैं और उसमें ऐसी शक्ति समाहित होती है की चाहे कोई उसका कितना भी विरोधी हो वह भी उसका भाषण बीच में छोड़कर नहीं जाता है।

8. दर्शको की उम्मीदों को जानो:

एक सफल Motivational Speaker बनने के लिए आपको आपके दर्शकों की उम्मीदों को पहचानना होगा। यानिकी आपको इस बात का पता करना होगा की दर्शक आपसे किस विषय पर बोलने की उम्मीद लगाये बैठे हैं। ध्यान रहे आपका सन्देश लोगों की उम्मीद के मुताबिक होना बेहद जरुरी है किसी भी महान भाषण में उसके प्रसंग का अहम् योगदान होता है। ध्यान रहे जब एक Motivational Speaker उद्यमियों के एक समूह को संबोधित कर रहा हो तो उसे वेतन, प्रमोशन इत्यादि के बारे में बातें नहीं करनी चाहिए और जब किसी कर्मचारियों के समूह को संबोधित कर रहा हो तो उद्यमिता के बारे में बात नहीं करनी चाहिए। इसलिए दर्शकों की उम्मीदों को जानना बेहद जरुरी होता है।

9. व्याख्यानों में कहानियों एवं रूपकों का समावेश करें

सफल Motivational Speaker बनने के लिए कथा, कहानियों, रूपकों इत्यादि का चित्रण करना बेहद जरुरी होता है अक्सर लोग संख्या तो भूल जाते हैं। लेकिन एक अच्छे वक्ता द्वारा कही गई कथा, कहानियों को हमेशा याद रखते हैं। इसलिए एक Motivational Speaker के पास लोगों को प्रेरित करने के लिए हमेशा कोई न कोई कहानी होना अति आवश्यक है। क्योंकि यदि लोगों को लगता है की किसी अन्य व्यक्ति ने उसी समस्या को हल किया है जो उनके साथ घटित है तो वे भी उस समस्या को हल करने का प्रयास करते हैं। इसके अलावा यदि एक मोटिवेशनल स्पीकर अपनी खुद की संघर्ष की कहानी के साथ दर्शकों को आगे बढ़ने की ओर प्रेरित कर सकता है। तो इस स्थिति में लोग उसे हमेशा याद रखेंगे।

10. हास्य एवं भावनाओं का मिश्रण:

एक सफल Motivational Speaker बनने के लिए आपको अपने आप में ऐसे कौशल को विकसित करना होता है जो लोगों को एक ही भाषण में हँसा भी सके और रुला भी सके। कहने का आशय यह है की यदि किसी वक्ता में अपने दर्शकों को हँसाने एवं उसी भाषण में रुलाने का सामर्थ्य छिपा हो तो समझ जाना चाहिए की उसे सफल Motivational Speaker बनने से कोई नहीं रोक सकता। आंकडें दर्शाते हैं की जिन वक्ताओं ने इस विधा का उपयोग किया है उन्हें दर्शकों ने लम्बे समय तक याद रखा है।

यह भी पढ़ें:

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *