How to Start Sugarcane Juice Business in India In Hindi.

How to Start Sugarcane Juice Business in India In Hindi.

Sugarcane Juice Business से हमारा आशय गन्ने के जूस को बेचकर कमाई करने के व्यापार से है हालंकि यह बिलकुल सत्य है की इस प्रकार का यह बिज़नेस एक मौसमी बिज़नेस है इसके मौसमी होने का मुख्य कारण यह है की जनता द्वारा Sugarcane Juice की मांग गर्मियों में अधिक होती है जहाँ तक भारत में गन्ने की उपलब्धता का सवाल है उससे समझने से पहले हमें यह समझना चाहिए की गन्ने की फसल को तैयार होने में ही 10 महीनों से डेढ़ साल तक का समय लग जाता है और चूँकि इंडिया में पूरे विश्व में सबसे ज्यादा भूमि गन्ने के उत्पादन में उपयोग में लायी जाती है इसलिए इंडिया का पूरे विश्व में गन्ना उत्पादन करने में दूसरा स्थान है इसलिए इस आधार पर यह कहा जा सकता है की Sugarcane Juice business के लिए गन्ने की कमी इंडिया में तो नहीं दिखाई देती है | इसलिए इस बिज़नेस में निवेश करना किसी भी व्यक्ति के लिए लाभकारी साबित हो सकता है हालांकि इस बिज़नेस में लाभ की मात्रा भी निवेश की गई मात्रा पर निर्भर करती है अर्थात Sugarcane Juice Business एक ऐसा बिज़नेस है जिसे काफी कम निवेश से अधिक निवेश तक करके आसानी से शुरू किया जा सकता है | कहने का अभिप्राय यह है की इस बिज़नेस को उद्यमी अपनी आर्थिक समर्थता के आधार पर निवेश करके शुरू कर सकता है |

Sugarcane-Juice-Business-in India

Sugarcane Juice Business Kya hai:

हमने उपर्युक्त वाक्य में उल्लेख किया है की यह Sugarcane Juice business एक मौसमी अर्थात गर्मियों के मौसम में किया जाने वाला बिज़नेस है क्योंकि इसकी मांग गर्मियों में अधिक होती है और इतनी अधिक होती है उद्यमी अपने पूरे साल के खर्चे निकालने के लिए कुछ ही महीनो में कमाई कर सकता है या फिर जिस प्रकार यह बिज़नेस गर्मियों में चलने वाला है ऐसे ही कुछ बिज़नेस ऐसे होते हैं जैसे अंडे की रेहड़ी इत्यादि जो सर्दियों में चलते हैं उद्यमी चाहे तो अपने लिए दो बिज़नेस का चुनाव एक गर्मियों एवं दूसरा सर्दियों के लिए कर सकता है जिससे वह किसी मौसम में बेरोजगार न रहे | गर्मियों में अक्सर लोग प्यास से त्रस्त रहते हैं और गर्मी अधिक होने के कारण लोगों की उर्जा बहुत जल्दी ज्यादा खर्च होती है इसलिए Instant Energy एवं प्यास बुझाने के लिए गर्मियों में लोगों द्वारा सुगर केन जूस का बहुतायत तौर पर उपयोग किया जाता है | लोगों की इसी आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए जब किसी व्यक्ति द्वारा गन्ने के जूस को बेचने का काम किया जाता है तो उस अमुक व्यक्ति द्वारा की जाने वाली प्रक्रिया Sugarcane Juice business कहलाती है |

Market Potential in Sugarcane Business:

जहाँ पिछला दशक केमिकल युक्त कोल्ड ड्रिंक्स का था अब भी है आज भी यदि किसी को गर्मी में प्यास इत्यादि या किसी दोस्त, रिश्तेदार या अन्य सगे संबंधियों की आवभगत करनी हो तो केमिकल युक्त कोल्ड ड्रिंक्स का उपयोग किया जाता है इसके अलावा गर्मियों में प्यास बुझाने के लिए भी लोगों द्वारा विभिन्न प्रकार की केमिकल युक्त कोल्ड ड्रिंक्स का उपयोग किया जाता है लेकिन इन सबके बावजूद लोगों द्वारा प्राकृतिक ताजे जूस की ओर भी रुख किया जाता है वर्तमान की यदि हम बात करें तो गन्ने के जूस के बहुत सारे स्वास्थ्य लाभों के बारे में लोगों में जागरूकता होने के कारण अन्य ड्रिंक के मुकाबले इस जूस की ओर लोगों का रुझान अधिक रहता है दूसरा सबसे बड़ा कारण इसका यह भी है की यह अन्य फलों के जूस के मुकाबले काफी सस्ते में उपलब्ध हो जाता है | इसलिए गर्मियों में आप किसी भी गन्ने के जूस की दूकान पर चले जाएँ आपको भीड़ ही भीड़ नज़र आएगी जूस किसी भी प्रकार का हो उसकी लोगों के बीच अच्छी अर्थात स्वास्थ्यवर्धक इमेज बनी हुई है इसलिए हर प्रकार के जूस के लिए लोग सकारात्मक सोचते हैं अन्य जूस की तुलना में Sugarcane Juice इसलिए प्रसिद्ध है क्योंकि यह अन्य के मुकाबले सस्ता एवं स्वादिष्ट होता है | जिस गति से लोग अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक होते जा रहे हैं उस आंकड़े को देखते हुए Sugarcane Juice business में भविष्य में भी अच्छे अवसर विद्यमान रहने की संभावना है |

How to Start Sugarcane Juice Business in India in Hindi:

हालांकि Sugarcane Juice Business start करने की प्रक्रिया बिलकुल भी जटिल नहीं है लेकिन इसके लिए एक अच्छी बिज़नेस लोकेशन का होना बेहद जरुरी है | जैसे जहाँ पर विभिन्न व्यवसायिक लोगों जैसे अपने कार्यालय को जाने वाले लोगों या इधर उधर भ्रमण करने वाले लोगों की भीड़ लगी हो, छोटे स्तर पर अर्थात Survival Business के तौर पर इसे करने के लिए किसी प्रकार की लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता नहीं होती फिर भी सम्बंधित व्यक्ति को नगर निगम इत्यादि से इस विषय पर जानकारी ले लेनी चाहिए | छोटे स्तर पर Sugarcane Juice Business start करने के लिए उद्यमी को निम्नलिखित स्टेप उठाने की आवश्यकता हो सकती है |

  1. बिज़नेस लोकेशन का चुनाव:

इस बिज़नेस को स्टार्ट करने के लिए सबसे पहले स्टार्ट कर रहे उद्यमी को बिज़नेस लोकेशन का चुनाव करना होगा और एक अनुमानित आईडिया यह लेना होगा की उस जगह से प्रत्येक दिन कितने लोग गुजरते होंगे क्योंकि जितने अधिक लोग वहां से गुजरते होंगे उतनी अधिक सेल होने की संभावना हो होती है | इसलिए एक अच्छी बिज़नेस लोकेशन का चुनाव Sugarcane Juice Business की सफलता की कुंजी हो सकती है यह बात हमें भूलनी नहीं चाहिए | उद्यमी को चाहिए की वह लोगों की जूस पीने की आदत का विश्लेषण करे अक्सर देखने में आता है की लोग राह चलते अर्थात गर्मी में जब प्यास से त्रस्त रहते हैं तब जूस पीने की और रुख करते हैं इसलिए Sugarcane Juice Shop आने जाने वाले रस्ते पर होना अत्यंत लाभकारी सिद्ध हो सकता है |

  1. जूस निकालने वाली मशीन खरीदना:

अब यदि उद्यमी ने अह्ची सी लोकेशन का चुनाव अपने Sugarcane Juice Business के लिए कर लिया हो तो अगला कदम जूस निकालने वाली मशीन खरीदने का होना चाहिए | यह मशीन हस्तचालित एवं Automatic रूप में बाज़ार में उपलब्ध है हाथ से चालित मशीन में दो रोलर लगे होते हैं जिनके बीच में गन्ने की डंडियों को रखकर हैंडल से घुमाना पड़ता है जब रोलर के बीच से गन्ने की यह डंडियाँ निकलती हैं तो इनसे जूस निकलता है यह मशीन लगभग सस्ते में ही बाज़ार में मिल जाती है जहाँ तक अन्य Automatic Sugarcane Juice Machine का सवाल है यह बाज़ार में 30000 से शुरू होकर 1.5 लाख रूपये तक में बाज़ार में उपलब्ध है हालांकि शुरूआती दौर में सुरक्षा की दृष्टि से उद्यमी को कोशिश करनी चाहिए की वह Hand Operated Machine या Second hand machine खरीदने की कोशिश करे | यदि उद्यमी नई मशीन खरीदता है तो उसे इस बात का ध्यान रखना चाहिए की वह ऐसी मशीन खरीदे जिसको चलाने में कम बिजली की खपत हो इसके अलावा ऐसे वेंडर से मशीन खरीदनी चाहिए जो हर वक्त अर्थात इमरजेंसी पड़ने पर भी अपनी सर्विस देने को हमेशा तत्पर रहे |

  1. Sugar Cane Supplier ढूढना एवं चयन करना:

मशीन खरीद लेने के बाद उस्यामी का अगला कदम ऐसे सप्लायर को ढूँढने का होना चाहिए जो उसके बिज़नेस के लिए उसे कच्चा माल अर्थात गन्ना दे सके | इसके लिए यदि व्यक्ति किसी ऐसे क्षेत्र में यह बिज़नेस कर रहा हो जहाँ से उसकी पहुँच प्रत्यक्ष रूप से इसके उत्पादक अर्थात किसानो तक हो तो वह डायरेक्ट किसान से कच्चा माल खरीद सकता है | लेकिन सप्लायर चाहे किसान हो या अन्य कोई व्यक्ति इस बिज़नेस के लिए आवश्यकतानुसार कच्चा माल समय पर मिलना बेहद जरुरी है क्योंकि यह मौसमी बिज़नेस है इसलिए इसमें कोशिश यह रहनी चाहिए की अधिक से अधिक लाभ कैसे कमाया जाय? सप्लायर द्वारा कच्चा माल देने में की गई लेट लतीफी उद्यमी के Sugarcane Juice Business को काफी नुकसान पहुंचा सकती है इसलिए उद्यमी का फर्ज बनता है की वह सप्लायर के साथ सौहार्दपूर्ण समबन्ध बना के रखे ताकि वह उसकी आवश्यकता के अनुरूप समय पर उसे कच्चे माल की डिलीवरी देने में ना नुकुर न करे |

  1. मशीन को इनस्टॉल करना एवं अन्य सहायक उपकरण खरीदना:

उद्यमी ने जगह का चुनाव कर लिया, मशीन खरीद ली और कच्चे माल के लिए सप्लायर भी नियुक्त कर लिया अब उद्यमी का अगला कदम चयनित जगह पर मशीन को इंस्टाल करना एवं छोटे मोटे सामान जैसे डस्टबिन, पेपर कप या फिर कांच के गिलास, आइस क्यूब इत्यादि के लिए रेफ्रीजरेटर इत्यादि खरीदने का होना चाहिए | यह सब खरीदने के बाद उद्यमी चाहे तो शुरू में किसी एक व्यक्ति को जूस निकालने एवं ग्राहकों को जूस पकड़ाने के काम के लिए रख सकता है हालांकि Sugarcane Juice business में रखे जाने वाले कर्मचारियों की संख्या उद्यमी के सेल एवं काम पर निर्भर करती है |

  1. स्टाल या जूस बार का Setup करना:

Sugarcane Juice business start करने के लिए अंतिम स्टेप स्टाल या जूस बार को सेटअप करना है हालांकि अधिकतर लोग खड़े खड़े जूस पीने के आदि होते हैं इसलिए उद्यमी ग्राहकों के बैठने का प्रबंध  कर पाए या नहीं लेकिन एक साफ़ सुथरे, आकर्षक स्टाल या जूस बार की स्थापना अवश्य करे | जूस पीने के आदी लोग साफ़ सफाई का विशेष ध्यान रखते हैं इसलिए सड़कों पर भी अधिक लोग उसी जूस की दुकान में जूस पीते हैं जो दिखने में आकर्षक एवं साफ़ सुथरी हो |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: