स्टॉक मार्किट में निवेश करने वाले इच्छुक व्यक्ति को विभिन्न प्रकार के documents और प्रक्रियाएं करनी पड़ती हैं जिनका वर्णन हम Step by step निम्नवत करेंगे। लेकिन उससे पहले व्यक्ति को शेयर बाज़ार की परिभाषा और शेयरों के प्रकार को समझना अति आवश्यक है। हमने तो अपने दैनिक जीवन में बहुत बार सुना है, शायद आपने भी अनेक लोगों के मुहं से सुना होगा की ‘’आज क्या हाल है शेयर बाज़ार का’’ ये सभी वे लोग होते हैं जिनका पैसा शेयर मार्किट में लगा होता है।

यदि आप भी इनमे से एक बनना चाहते हैं और जानना चाहते हैं की स्टॉक मार्किट में निवेश कैसे करें। तो आज हम आपको बताने वाले हैं कुछ Simple se steps जिनका अनुसरण करके एक सामान्य व्यक्ति भी stock market me invest कर सकता है।

स्टॉक मार्किट में निवेश करने के लिए आसान कदम
स्टॉक मार्किट में निवेश करने के आसान कदम

स्टॉक मार्किट में निवेश कैसे करें (How to invest in stock market in Hindi):

स्टॉक मार्किट में निवेश करने से पहले व्यक्ति को यह जान लेना बेहद जरुरी है की जिस प्रकार या जितनी जल्दी इससे Kamai होती है । ठीक उसी प्रकार एक छोटी सी गलती इसमें व्यक्ति के पैसों को डूबा भी सकती है। इसलिए व्यक्ति को शेयर बाज़ार के रिस्क के बारे में भी जानकारी होनी चाहिए।

1. बैंक खाता ओपन करें

वैसे तो आज के समय में हर व्यक्ति का किसी न किसी बैंक में कोई न कोई बैंक खाता अवश्य होता है लेकिन यदि नहीं है तो स्टॉक मार्किट में निवेश करने वाले व्यक्ति को सबसे पहले किसी बैंक में अपना खाता खुलवाना होगा। क्योंकि Brokerage Company से व्यक्ति को कमाए गए पैसे चेक के रूप में दिए जा सकते हैं। और व्यक्ति तभी cheque clear कर पायेगा जब उसका किसी बैंक में खाता होगा।

2. पैन कार्ड बनवाइए

Permanent account number (PAN) किसी भी प्रकार की कोई भी वित्तीय Transaction के लिए बेहद जरुरी होता है, इस 10 digit के नंबर को भारत सरकार का आयकर विभाग जारी करता है। हालाँकि PAN Card विभिन्न प्रक्रियाओं जैसे बैंक में खाता खोलने के लिए, Mutual fund में Invest करने के लिए एवं बहुत सारे वित्तीय कार्य करने के लिए चाहिए होता है। इसलिए Stock market me invest करने के लिए भी PAN की आवश्यकता होती है।

3. ब्रोकर सेलेक्ट कीजिये

शेयर खरीदना और बेचना किसी अन्य वस्तु को खरीदने जैसा आसान बिलकुल नहीं है, की गए और खरीद लिए । इसके लिए स्टॉक मार्किट में निवेश करने वाले व्यक्ति को Broker का चयन करना होगा। Broker कोई व्यक्ति या कंपनी होती है जिन्होंने SEBI, NSE, BSE इत्यादि से यह कार्य करने के लिए License लिए हुए होते हैं। व्यक्ति को चाहिए की वह किसी विश्वसनीय व्यक्तिगत broker या कंपनी को चुने। इसके अलावा व्यक्ति विभिन्न कंपनीयों के साथ जुड़कर ऑनलाइन भी ट्रेडिंग कर सकता है।

4. डीमैट या ट्रेडिंग अकाउंट ओपन करें

यदि व्यक्ति ने Broker का चयन कर लिया हो तो अगला Step स्टॉक मार्किट में निवेश करने के लिए Demat aur Trading account खोलने का है। Demat account में व्यक्ति के द्वारा ख़रीदे गए share stock करके रखे जायेंगे, और जो व्यक्ति के Stock portfolio में प्रकट होंगे। कोई भी व्यक्ति शेयर को भौतिक रूप से अपने पास नहीं रख सकता अर्थात इन्हें छू नहीं सकता ।

वे डीमेट के रूप में रखे जाते हैं इसलिए broker के माध्यम से ख़रीदे/बेचे जाने वाले Shares को रखने के लिए demat account की आवश्यकता पड़ती है। इसमें व्यक्ति को कभी भी भौतिक रूप से शेयर का प्रमाण पत्र नहीं मिलता है, लेन देन का Transaction केवल और केवल Demat account में ही reflect होता है।

5. डीपोजटरी के बारे में जानें

India में 1992 में हुए शेयर घोटाले के बाद सन 1996 के depository act के अंतर्गत भारत सरकार ने Demat accounts पर नज़र रखने हेतु दो depository companies National Security depository limited (NSDL) और Central depository services India limited  (CDSL) को पंजीकृत किया हुआ है।

हालाँकि निवेशक को यह सेवा Broker द्वारा प्रदान की जाती है, लेकिन फिर भी स्टॉक मार्किट में निवेश करने वाले निवेशक को DP के बारे में जानना चाहिए। Bombay stock exchange (BSE) द्वारा प्रमोट की जाने वाली depository CDSL और National stock exchange द्वारा NSDL को प्रमोट किया जाता है । इन दोनों के साथ depositary participant के तौर पर विभिन्न छोटे मोटे Broker कंपनियां और बैंक जुड़े हुए हैं ।

6. बड़े निवेश के लिए UIN की आवश्यकता

स्टॉक मार्किट में निवेश करने वाला व्यक्ति यदि एक बार में 100000 रूपये से अधिक का Trade करना चाहता है तो उसे unique identification number की आवश्यकता हो सकती है । और एक लाख से कम का Trade करने वाले नियमित निवेशक बिना UIN के भी Trade कर सकते हैं।

7. शेयर खरीदना और बेचना

शेयर खरीदने और बेचने के लिए स्टॉक मार्किट में निवेश कर चुके व्यक्ति को चाहिए की वह अपनी आवश्यकतानुसार Broker को फ़ोन करके शेयर खरीदने और बेचने को कहे। उदाहरणार्थ: माना ABC कंपनी के शेयर का मूल्य 450 रूपये प्रति शेयर है, और व्यक्ति चाहता है की जब यह Share का मूल्य 425 हो जाय तो वह उसे ख़रीदे।

इस स्थिति में व्यक्ति अपने Broker को फ़ोन करके कंपनी का नाम, ख़रीदे जाने वाली शेयरों की संख्या और प्रति शेयर मूल्य ब्रोकर को बताकर उसके लिए शेयर खरीदने को कह सकता है। और यही क्रिया शेयर बेचने के लिए भी की जा सकती है । इसमें स्टॉक मार्किट में निवेश करने वाला व्यक्ति ब्रोकर को एक निश्चित मूल्य बताकर कह सकता है की जब उसके शेयर का मूल्य यहाँ तक पहुँच जाये तो वह उन्हें बेच दे।

मोबाइल एप्प के माध्यम से स्टॉक मार्किट में निवेश करना

वर्तमान में टेक्नोलॉजी ने स्टॉक मार्किट में निवेश करना भी काफी आसान कर दिया है । क्योंकि आज के इस दौर में कोई भी इच्छुक व्यक्ति घर बैठे ही अपने मोबाइल एप्प के माध्यम से आसानी से स्टॉक मार्किट में निवेश कर सकता है। जेरोधा, पेटीएम मनी एवं अन्य भी कई ऐसी मोबाइल एप्प हैं, जो बेहद कम ब्रोकरेज पर लोगों को स्टॉक खरीदने और बेचने की सुविधा घर बैठे उनके मोबाइल में प्रदान कर रही हैं।

इस तरह की मोबाइल एप्प के माध्यम से भी स्टॉक मार्किट में निवेश करने के लिए बैंक खाता, पैन कार्ड, आधार कार्ड इत्यादि का होना नितांत आवश्यक है। टेक्नोलॉजी की बदौलत वर्तमान में शेयर मार्किट से पैसे कमाने का इच्छुक व्यक्ति आसानी से घर बैठे स्टॉक मार्किट में निवेश कर सकता है।

यह भी पढ़ें