Sunflower Oil Making Business

Sunflower Oil Making Business

Sunflower oil यानिकी सूरजमुखी के तेल को जहाँ खाद्य पदार्थ के रूप में उपयोग में लाया जाता है | इसके अलावा इसके बहुत सारे औद्योगिक उपयोग भी हैं एक आकंडे के मुताबिक पूरे विश्व में Sunflower Oil का उपयोग 2017 में 190 लाख  टन तक आँका गया है | इसका उत्पादन सूरजमुखी के बीजों को कच्चे माल के तौर पर उपयोग में लाकर किया जाता है | इसलिए यदि उद्यमी किसी ऐसे क्षेत्र में निवासित है जहाँ सूरजमुखी के फूलों का उत्पादन किया जाता है तो उद्यमी का यह Sunflower Oil Making business करना लाभकारी सिद्ध हो सकता है | क्योंकि उस क्षेत्र में सूरजमुखी से उत्पादित बीज कच्चे माल के तौर पर उद्यमी को आसानी से एवं कम कीमत पर प्राप्त हो सकते हैं | दूसरा यदि उद्यमी ऐसे पलायन से प्रभावित क्षेत्र में रहता है तो वहां उपलब्ध जमीन उसे आसानी से Lease या किराये पर मिल सकती है | उस किराये की जमीन पर अपने Sunflower Oil Making business के लिए कच्चे माल का प्रबंध उद्यमी स्वयं भी कर सकता है |

Sunflower-Oil-making-business

Sunflower Oil Making Business Kya Hai:

Sunflower oil Making Business से हमारा आशय सूरजमुखी के फूलों के बीजो से तेल निकालने के काम से है | जैसा की हम पहले भी बता चुके हैं की Sunflower Oil का उपयोग सौन्दर्य प्रसाधनो को बनाने एवं खाद्य पदार्थों को फ्राई करने के तौर पर भी किया जाता है | 2014 के एक आंकड़े के अनुसार पूरे विश्व में इसकी उत्पादकता 160 लाख टन आंकी गई जिसमे Ukraine और रूस को Sunflower Oil के उत्पादक देशों की लिस्ट में सर्वोपरी स्थान हासिल हुआ | इस प्रकार का तेल विटामिन E के गुणों से भरपूर तो बसा की मात्रा के लिहाज से सुरक्षित होता है अर्थात इसमें बसा की मात्रा बहुत कम पाई जाती है | इसलिए जब किसी उद्यमी द्वारा अपनी कमाई के मद्देनज़र व्यवसाय के रूप में सूरजमुखी का तेल बनाने का काम किया जाता है तो उसके द्वारा किया जाने वाला यह व्यवपार Sunflower Making Business कहलाता है |

Market Potential in Sunflower Oil Making:

Sunflower Refined Oil एक Edible अर्थात खाद्य तेल है एवं गुणवत्ता के लिहाज से इसकी तुलना जैतून के तेल के बराबर की जा सकती है | अपरिष्कृत Sunflower Oil को अनेक औद्योगिक क्रियाओं जैसे साबुन बनाने, मोमबत्ती बनाने, वार्निश एवं पेन्ट बनाने में भी उपयोग में लाया जाता है | चूँकि सामान्य तौर पर सरसों के तेल, सोयाबीन Refined Oil को खाद्य तेल के तौर पर उपयोग में लाया जाता है यही कारण है की Sunflower Refined Oil की मांग इन तेलों से बाज़ार में कम ही होती है लेकिन इसका औद्योगिक उपयोग होने के कारण इसकी सालाना ग्रोथ 4% आंकी गई | इन सबके अलावा सूरजमुखी के तेल का उपयोग अनेकों सौन्दर्य प्रसाधनो को बनाने में भी किया जाता है | लेकिन उसमे भी ध्यान देने वाली बात यही है की ऐसे तेल अपरिष्कृत होते हैं जबकि खाद्य तेल के उपयोग में लाये जाने वाले तेल परिष्कृत होते हैं | चूँकि Sunflower Refined oil  में बसा की मात्रा कम होती है इसलिए इसका उपयोग करने से हृदय सम्बन्धी रोगों के होने का खतरा कम होता है, विटामिन E की अधिकता के कारण यह मानव शरीर में एक antioxidant के रूप में भी कार्य करता है इसलिए कहा जा सकता है की लोगों में अपने स्वास्थ्य के प्रति बढती जागरूकता का फायदा भी इस Sunflower Oil Making Business को हो सकता है |

Required Machinery and Raw Materials:

Sunflower Oil Making business में प्रयुक्त होने वाला मुख्य कच्चा माल सूरजमुखी के बीज हैं | इसके अलावा Sunflower Seed से खाद्य तेल निर्मित करने के लिए उद्यमी को कुछ सहायक कच्चे माल एवं कुछ केमिकल की भी आवश्यकता हो सकती है | जिसका उल्लेख हम नीचे Raw Materials की लिस्ट में करेंगे लेकिन उससे पहले यह जान लेते हैं की इस Sunflower Oil Making business में काम आने वाली मशीनरी एवं उपकरण कौन कौन से हैं |

  • तेल निकालने का प्लांट (Oil expelling plant)
  • Continuous extracting plant
  • रिफाइनिंग plant
  • स्क्रू कन्वेयर (Screw conveyor)
  • Bucket elevator
  • बीज स्क्रेचर (Seed scratchier)
  • Husking machine
  • Material dist rebutting tank
  • फ़िल्टर प्रेस
  • Weighing machine
  • पंप
  • Laboratory testing sieve
  • Drying oven
  • Refract meter
  • Precision balance
  • कैलोरी मीटर
  • Laboratory glass ware (set)

Sun Flower Oil Making business में काम आने वाली Raw Materials की लिस्ट निम्नवत है |

  • सूरजमुखी के बीज (Sun flower oil seed)
  • साधारण नमक ( Common salt )
  • Bleaching earths
  • कास्टिक सोडा |
  • एल्युमीनियम सलफेट |
  • Trisodium फॉस्फेट |
  • क्लोरीन
  • Barrel
  • Jute sacks

Manufacturing Process of Sunflower Oil:

यद्यपि वानस्पतिक विभिन्न बीजों से तेल निकालने की विधि इंडिया में ही नहीं अपितु सम्पूर्ण विश्व में एक प्राचीन विधा है | जहाँ इस विधा को पहले हाइड्रोलिक दबाव का उपयोग करके Mortar एवं Pestle Crushing के माध्यम से अंजाम दिया जाता था लेकिन 20 वीं शताब्दी आते आते इसे Chemical Extraction करके अंजाम तक पहुँचाया जाने लगा |  जहाँ Mechanical Extraction का उपयोग अधिकतर विकासशील देशों में किया जाता है वहीँ विकसित देशों में Solvent Extraction का उपयोग किया जाता है | Sunflower Oil Manufacturing process में होने वाली क्रियाओं को चार भागों में विभाजित किया जा सकता है |

  • बीजों को साफ़ करना एवं पिलाई हेतु तैयार करना |
  • बीजों में दबाव डालकर तेल निकालना |
  • निकले हुए तेल को refine करना |
  • पैकिंग करना |

चूँकि इस प्रक्रिया के चलते निकलने वाली अशुद्धता एवं लसलसे पानी को Concrete Pit में डाल दिया जाता है इसलिए कहा जा सकता है की इस प्रकार की इकाई वातावरण में किसी प्रकार का प्रदूषण पैदा नहीं करती हैं | फिर भी उद्यमी चाहे तो प्रदूषण विभाग से NOC ले सकता है | खाद्य तेल का निर्माण करने के लिए FSSAI लाइसेंस की भी आवश्यकता हो सकती है |

Comments

  1. By Vasi Sultan

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: