क्रेडिट कार्ड लेने से पहले ध्यान रखने योग्य बातें ।

वर्तमान जीवनशैली में क्रेडिट कार्ड एक बेहद लोकप्रिय वित्तीय टूल के तौर पर उभरकर सामने आया है क्योंकि वर्तमान में ऑनलाइन खरीदारी की प्रवृत्ति को बल मिला है । कहने का अभिप्राय यह है की क्रेडिट कार्ड का उपयोग ऑनलाइन एवं ऑफलाइन स्टोरों में भुगतान के लिए बड़े पैमाने पर किया जाता है। और इसके माध्यम से व्यक्ति विभिन्न 0% वित्तीय योजनाओं का लाभ लेने में भी सक्षम हो पाता है। इसलिए यदि आप भी अपने लिए क्रेडिट कार्ड लेने की सोच रहे हैं तो यहाँ पर हम कुछ ऐसी बातों का उल्लेख कर रहे हैं जिन्हें किसी भी व्यक्ति को क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करने से पहले जरुर जानना चाहिए। व्यक्ति को क्रेडिट कार्ड लेने से पहले इस लेख में बताई जा रही बातों पर अवश्य ध्यान देना चाहिए ताकि वह अपनी मेहनत से कमाई हुई कमाई को जानकारी के अभाव में जाया न करे। क्रेडिट कार्ड को प्लास्टिक मनी के तौर पर भी जाना जाता है जो पिछले कुछ वर्षों से काफी लोकप्रिय हो गए हैं। इनकी लोकप्रियता का कारण ऑनलाइन शौपिंग एवं विक्रेताओं द्वारा क्रेडिट कार्ड पेमेंट पर दिए जाने वाले विभिन्न ऑफर रहे हैं। इसके अलावा सरकार की भी कोशिश देश में कैशलेस ट्रांजेक्शन को बढ़ावा देने की रही है। चूँकि क्रेडिट कार्ड एक ऐसा टूल है जिसके माध्यम से व्यक्ति खाते में खरीदारी के समय पैसे न होते हुए भी खरीदारी कर सकता है। और इसका बिल आने पर बैंक को इसका भुगतान कर सकता है इसके अलावा प्रत्येक खरीदारी में व्यक्ति को रिवॉर्ड भी मिलता है। यही कारण है की वर्तमान में हर व्यक्ति क्रेडिट कार्ड लेने की सोचता है। यदि आप भी क्रेडिट कार्ड लेने की सोच रहे हैं तो नीचे दिए गए बातों का ध्यान अवश्य रखें।

things-to-consider-before-getting-a-credit-card

1. आपको क्रेडिट कार्ड की आवश्यकता क्यों है?

क्रेडिट कार्ड लेने से पहले व्यक्ति को पहली जिस बात का ध्यान रखना होता है वह यह है की उस व्यक्ति को अपने आप से एक प्रश्न अवश्य पूछना चाहिए की उसे क्रेडिट कार्ड की आवश्यकता क्यों है? क्योंकि बैंकों द्वारा अलग अलग इस्तेमाल के लिए अलग अलग क्रेडिट कार्ड भी डिजाईन किये जाते हैं। जैसे यदि कोई व्यक्ति बार बार ट्रेवल करता है और उसे बार बार फ्लाइट टिकेट बुक करने की आवश्यकता होती है। तो वह बैंक से कुछ ऐसे क्रेडिट कार्ड की माँग कर सकता है जिनमें ट्रेवल करने पर अधिक ऑफर एवं रिवॉर्ड मिलते हों। कहने का अभिप्राय यह है की व्यक्ति को यह बात पहले जान लेनी चाहिए की उसे क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल की आवश्यकता कब कब हो सकती है। क्या वह अपने सारे ट्रांजेक्शन क्रेडिट कार्ड के माध्यम से करना चाहता है? ताकि उसे नकदी रखने की आवश्यकता न हो। या जब किसी ऑनलाइन या ऑफलाइन रिटेल स्टोर में कोई ऑफर आये तभी वह क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करेगा। और या फिर व्यक्ति आपातकालीन स्थिति के लिए क्रेडिट कार्ड लेना चाह रहा है? अर्थात ऐसी स्थिति जब व्यक्ति के खाते में पैसे न हो और वह कोई आवश्यक सामान खरीद सके। कहने का अभिप्राय यह है की सबसे पहले व्यक्ति को इसी बात का ध्यान रखना होगा की उसे क्रेडिट कार्ड की आवश्यकता क्यों है? क्योंकि उसके बाद ही वह उपयुक्त क्रेडिट कार्ड का चुनाव कर पाने में सक्षम हो पायेगा।        

2. क्रेडिट कार्ड पर ब्याज दर जानें:

क्रेडिट कार्ड लेने से पहले जो दूसरी बात ध्यान देने योग्य है वह है कार्ड पर लगने वाली ब्याज की दर। हालांकि ऐसे लोग जो बकाया राशि का समय पर भुगतान के लिए प्रतिबद्ध हैं उन्हें इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता है की ब्याज दर क्या है। यानिकी ऐसे लोग जो बकाया राशि को भुगतान तिथि से पहले चुकता करने की योजना बना रहे हैं उन्हें क्रेडिट कार्ड की ब्याज दरों के बारे में चिंतित नहीं होना चाहिए।  लेकिन यदि आप हर महीने न्यूनतम राशि का भुगतान करने की योजना बना रहे हैं तो आपको उस पर लगने वाली ब्याज दर के बारे में अवश्य जानना चाहिए।

3. विभिन्न फीस एवं पेनल्टी के बारे में जानें:

हालांकि क्रेडिट कार्ड पर इसके इस्तेमाल के हिसाब से अनेकों तरह के शुल्क एवं पेनल्टी लग सकती है। लेकिन जो सबसे प्रमुख शुल्क है वह है क्रेडिट कार्ड पर लगने वाला वार्षिक शुल्क। इसलिए व्यक्ति को किसी भी बैंक से क्रेडिट कार्ड लेने से पहले इसके वार्षिक शुल्क के बारे में अवश्य जानना चाहिए। हालांकि बहुत सारे बैंक बिना वार्षिक शुल्क लिए भी कार्ड प्रदान करते हैं लेकिन अधिकतर बैंक द्वारा पहले  1 साल या दो सालों के लिए इस शुल्क में रियायत दी जाती है। इसलिए किसी ऐसे बैंक से क्रेडिट कार्ड लें जो पहले एक या दो सालों के लिए वार्षिक शुल्क नहीं ले रहा हो। इसके अलावा व्यक्ति को बैलेंस ट्रान्सफर फी, फॉरेन ट्रांजेक्शन फी, लेट पेमेंट फी इत्यादि के बारे में भी अवश्य जानना चाहिए।     

4. क्रेडिट कार्ड की क्रेडिट लिमिट जानें:

ध्यान रहे यदि आप क्रेडिट कार्ड इसलिए ले रहे हैं ताकि आप अपनी हर संभव खरीदारी क्रेडिट कार्ड के ही माध्यम से कर सकें तो आपको एक ऐसा क्रेडिट कार्ड चाहिए होगा जिसकी क्रेडिट लिमिट अधिक हो। इसके अलावा यदि आप इसे कभी कभी किसी आकस्मिक मौकों पर इस्तेमाल करने की सोच रहे हैं तो आपका काम कम लिमिट होने पर भी चल जाएगा। यही कुछ ऐसी बातें हैं जो किसी व्यक्ति को क्रेडिट कार्ड लेने से पहले सोचनी चाहिए। यद्यपि यह भी सत्य है की क्रेडिट लिमिट व्यक्ति की क्रेडिट प्रोफाइल, कमाई इत्यादि को ध्यान में रखकर तय की जाती है। यानिकी एक ऐसा व्यक्ति जिसकी कमाई एवं क्रेडिट प्रोफाइल अच्छी हो उसके कार्ड की क्रेडिट लिमिट भी अधिक होगी। और इसके विपरीत स्थिति में चाहकर भी व्यक्ति अपनी क्रेडिट लिमिट बढाने में असमर्थ हो जायेगा।       

5. रिवॉर्ड प्रोग्राम के बारे में जानें:

यदि बैंक से क्रेडिट कार्ड प्राप्त करने का व्यक्ति का एकमात्र उद्देश्य विभिन्न डिस्काउंट एवं ऑफर का लाभ उठाना है तो व्यक्ति को यह सुनिश्चित करना होगा की जिस कार्ड का वह चयन कर रहा हो वह उसके लिए एकदम फिट हो। उदाहरणार्थ: माना की क्रेडिट कार्ड प्राप्त करने वाला व्यक्ति फिल्म देखने का शौकीन है और वह कभी भी फ्लाइट से यात्रा नहीं करता है। और उसे बैंक द्वारा ऐसा कार्ड प्राप्त हो जाता है जिसमें फ्लाइट की यात्रा करने पर तो अनेकों ऑफर हैं लेकिन फिल्में देखने पर नहीं। तो ऐसे में उस व्यक्ति के लिए उस कार्ड का कोई महत्व नहीं रह जाता है। इसलिए क्रेडिट कार्ड लेने से पहले व्यक्ति को रिवॉर्ड प्रोग्राम के बारे में भी अवश्य सोचना चाहिए।    

6. क्या आप समय से भुगतान कर पाएंगे:

आम तौर पर क्रेडिट कार्ड पर लगने वाले ब्याज की दर बहुत ही ऊँची होती है इसलिए क्रेडिट कार्ड लेने से पहले स्वयं से एक प्रश्न अवश्य पूछ लें की क्या आप इसके बिल का भुगतान समय पर कर पाएंगे? यदि आप ऐसा कर पाएंगे तो ठीक है अन्यथा आपको क्रेडिट कार्ड लेने के विचार को त्याग देना चाहिए। क्योंकि देरी से भुगतान या फिर भुगतान न करने का सीधा सीधा असर व्यक्ति की क्रेडिट प्रोफाइल पर होता है। और इस पर नकारात्मक असर होने से कोई भी बैंक या वित्तीय उस व्यक्ति विशेष को ऋण देने से मना कर सकता है ।

ध्यान रहे क्रेडिट कार्ड कोई फ्री में कमाई करने का या मुफ्त में खरीदारी करने का साधन नहीं है। बल्कि यह बैंक द्वारा प्रदान की जाने वाली एक ऐसी सुविधा है जिसके माध्यम से व्यक्ति खुद के खाते में पैसे न होने के बावजूद भी विक्रेता का भुगतान कर सकता है। लेकिन यदि किसी व्यक्ति ने इसका इस्तेमाल ठीक ढंग से नहीं किया तो यह बैंक के लिए व्यक्ति से कमाई करने का एक कारण बन सकता है। इसलिए इसका इस्तेमाल एवं बिलों का भुगतान करते समय सावधान रहें।

यह भी पढ़ें:    

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *