अपना बिजनेस कैसे बढ़ाएं? व्यापार बढ़ाने के कुछ असरदार तरीके।

हालांकि जब बिजनेस बढाने के तरीकों की बात होती है तो अक्सर लोग गलत दिशा में भी चले जाते हैं कहने का आशय यह है की यहाँ के व्यापारी बिजनेस बढाने के टोटके भी ढूँढ रहे होते हैं। जिसके चलते ये खुद कभी कभी धोखे का शिकार हो जाते हैं। हालांकि हम यहाँ पर यह बिलकुल भी नहीं कह रहे हैं की व्यापारियों को पूजा पाठ या ज्योतिषियों से दूर रहना चाहिए हम तो सिर्फ इतना कह रहे हैं की अपने बिजनेस को बढाने के लालच में आँखों पर अन्धविश्वास की ऐसी पट्टी न चढ़ाएं की सब कुछ आपके आँखों के आगे होते हुए भी आपको कुछ भी नजर न आये। अपना बिजनेस बढाने का सिर्फ एक तरीका होता है की उद्यमी को खुद का कस्टमर बेस बढ़ाना होता है और कस्टमर बेस बढाने के लिए ही उद्यमी को भरसक प्रयत्न करना चाहिये। लेकिन वर्तमान में इस प्रतिस्पर्धात्मक माहौल में अपने बिजनेस को सफल बनाने के लिए कस्टमर बेस तैयार करना किसी चुनौती से कम बिलकुल भी नहीं है। इसलिए यहाँ नीचे हम बिजनेस बढाने के कुछ व्यवहारिक तरीकों के बारे में जानने की कोशिश कर रहे हैं।

best-ways-to-grow-your-business
best-ways-to-grow-your-business

1. अपने ग्राहकों को जानें

जैसा की हम इस लेख के शुरुआत में भी बता चुके हैं की किसी भी बिजनेस की सफलता के लिए उसका कस्टमर बेस बहुत जरुरी होता है। और बिजनेस बढाने का मतलब होता है की उद्यमी को खुद का कस्टमर बेस भी बढ़ाना होगा। और कस्टमर बेस उद्यमी तभी बढ़ा पायेगा जब वह यह जान पायेगा की ग्राहक उसके बिजनेस या उत्पाद से क्या उम्मीदें रखते हैं। इसलिए यदि उद्यमी खुद का बिजनेस बढ़ाना चाहता है तो उसे अपने ग्राहकों की आवश्यकताओं के बारे में जानना होगा और अपने उत्पाद या सर्विस को उनकी आवश्यकता के अनुरूप विकसित करना होगा। आप अपने ग्राहकों की आवश्यकताओं के बारे में जानने के लिए उन्हें अपना फीडबैक देने के लिए कह सकते हैं।

2. अच्छी ग्राहक सेवा प्रदान करें

आप चाहे कोई उत्पाद की बिक्री कर रहे हों या फिर कोई सर्विस लोगों को दे रहे हों लेकिन जब उनके द्वारा आपके उत्पाद या सेवा के बारे में कोई शिकायत या पूछताछ की जाती है तो उन्हें संतोषजनक उत्तर मिलना आवश्यक है। इससे ग्राहकों का ब्रांड पर विश्वास बढ़ता है और वे अपने परिचितों को भी उद्यमी के ग्राहक के तौर पर परिवर्तित कर सकते हैं। इसलिए सुनिश्चित करें की आपके द्वारा दी जाने वाली ग्राहक सर्विस असाधारण हो जिसे ग्राहक हमेशा याद रखें और आपके बिजनेस को बढाने में आपकी मदद करें।

3. मौजूदा ग्राहकों को नर्चर करें और नए अवसर तलाशें

मौजूदा ग्राहकों को नर्चर करना भी अति आवश्यक है इसलिए उद्यमी को मौजूदा ग्राहकों से संपर्क बनाये रखना चाहिए। वह चाहे तो समय समय पर ईमेल के माध्यम से अपने ग्राहकों को न्यूज़लैटर भेज सकता है जिसमें उन्हें आने वाले समय में ऑफर एवं प्रमोशनल इवेंट के बारे में बताया गया हो। इसी दौरान अधिक काम प्राप्त करने एवं अपना ग्राहक आधार बढाने के लिए भी काम करें। लेकिन नए ग्राहकों एवं मौजूदा ग्राहकों को नर्चर करने में संतुलन बनाये रखना बेहद आवश्यक है।

4. इवेंट की मेजबानी करें

अपना बिजनेस बढाने के लिए उद्यमी चाहे तो खुद के इवेंट आयोजित कराके उनकी मेजबानी खुद कर सकता है इन इवेंट में उद्यमी को अपने कुछ बेहतरीन ग्राहकों को बुलाकर सम्मानित भी किया जा सकता है। इससे लोगों में यह धारणा व्यापत होगी की यह ब्रांड तो अपने ग्राहकों के बारे में बहुत अधिक सोचती है जिससे कस्टमर बेस बढ़ने की अधिक संभावना है। इसके अलावा इस इवेंट के माध्यम से उद्यमी को अपने ग्राहकों एवं उनकी आवश्यकताओं को जानने का अवसर एवं उनके साथ बिजनेस सम्बन्ध स्थापित करने का भी अवसर प्रदान होगा। इस इवेंट में उद्यमी चाहे तो अपने मौजूदा ग्राहकों से उनके दोस्तों को लाने को भी कह सकते हैं क्योंकि मौजूदा ग्राहकों के दोस्त उद्यमी के भावी ग्राहक हो सकते हैं।

5. मार्केटिंग गतिविधियों के परिणामों का आकलन करें

अपना बिजनेस बढाने के लिए ग्राहकों का आधार बढ़ाना एवं बिक्री बढ़ाना बेहद आवश्यक है और बिना किसी मार्केटिंग गतिविधि के यह संभव नहीं है। इसलिए उद्यमी को अपने द्वारा की जाने वाली मार्केटिंग गतिविधियों का मूल्यांकन करना बेहद जरुरी है की ये गतिविधियाँ कितनी सफल हैं। यह मापने के लिए उद्यमी इस बात का पता कर सकता है की उसके ग्राहक आ कहाँ से रहे हैं। ध्यान रहे अपने बिजनेस को बढ़ाने के लिए प्रयोग करने से डरें नहीं। यदि कोई मार्केटिंग गतिविधि काम नहीं कर रही है तो उसे परिष्कृत करें और सबसे अच्छा परिणाम देने वाली गतिविधियों पर ध्यान केन्द्रित करें।

6. प्रतिस्पर्धा पर रिसर्च करें

वर्तमान में उद्यमी कोई भी बिजनेस कर रहा हो लेकिन हर क्षेत्र में मजबूत प्रतिस्पर्धा देखने को मिलती है इसलिए अपने बिजनेस को बढ़ाने के लिए किसी भी उद्यमी के पास इस प्रतिस्पर्धा से निबटने की रणनीति होना अति आवश्यक है। और प्रतिस्पर्धा से निबटने की रणनीति उद्यमी तभी विकसित कर पायेगा जब वह उस क्षेत्र में उपलब्ध प्रतिस्पर्धा पर रिसर्च करेगा। कहने का आशय यह है की जब उद्यमी प्रतिस्पर्धा पर रिसर्च करेगा तो उसे पता चल पायेगा उस उत्पाद या सेवा विशेष की माँग एवं सप्लाई की स्थिति क्या है। और उसके बिजनेस के लिए यह स्थिति कैसे ठीक हो सकती है। इसके अलावा प्रतिस्पर्धा की स्थिति जानकर उद्यमी इससे निबटने के लिए गुणवत्ता निति या प्राइस निति भी विकसित कर सकता है जिससे वह अधिक से अधिक ग्राहकों को अपने उत्पाद या सेवा की ओर आकर्षित कर पाने में सक्षम हो।

7. कस्टमर लॉयल्टी कार्यक्रम विकसित करें

आप स्वयं को ग्राहक के तौर पर रख कर देखें और सोचें की एक दुकान जहाँ से आप नियमित तौर पर खरीदारी करते हैं उससे आप क्या अपेक्षा रखते हैं। कभी कभी तो आप उस दुकानदार से कह भी देते होंगे की आपका नियमित ग्राहक हूँ कुछ तो कम कीजिये। जी हाँ कोई भी नियमित ग्राहक उत्पाद या सेवा बेचने वाले से कुछ न कुछ ऐसी अपेक्षा रखता है। जिससे वह अपने आपको संतुष्ट कर सके की इससे नियमित खरीदारी का कुछ न कुछ फायदा हुआ है। यही कारण है की वर्तमान में कस्टमर लॉयल्टी कार्यक्रम एक ग्राहक को नियमित ग्राहक बनाने का एक बेहद प्रभावी तरीका है। इसलिए यदि उद्यमी अपना बिजनेस बढ़ाना चाहता है तो उसे उसे एक कस्टमर लॉयल्टी प्रोग्राम विकसित करना होगा। जिसके तहत नियमित ग्राहकों को प्रोत्साहित किये जाने का प्रावधान किया जाना बेहद जरुरी है। इससे न केवल मौजूदा ग्राहक बने रहेंगे बल्कि वे अपने जान पहचान वालों को भी उद्यमी का नियमित ग्राहक बनने के लिए प्रोत्साहित करेंगे।

8. फ्रैंचाइजी मॉडल पर विचार करें

यदि आपके पास एक सफल बिजनेस है अर्थात यदि आपके पास एक ऐसा ब्रांड है जिसे ख्याति प्राप्त है। लेकिन आप अपना बिजनेस बढाने के लिए अधिक फण्ड का इस्तेमाल नहीं करना चाहते हैं। तो आप अपने बिजनेस की फ्रैंचाइजी देने पर विचार कर सकते हैं क्योंकि आम तौर पर फ्रैंचाइजी मॉडल के तहत फ्रैंचाइजी लेने वाले व्यक्ति को निवेश करने की आवश्यकता होती है। इससे उद्यमी अपने बिजनेस को कम लागत के तहत भी विस्तारित या बढ़ा सकता है।

अन्य भी पढ़ें:  

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *