Online Course कैसे बनायें? और इसे बेचकर कमाई कैसे करें।

इन्टरनेट ने लोगों को कमाई करने के अनेकों अवसर प्रदान किये हैं इन्हीं अवसरों में एक अवसर का नाम Online Course है । चूँकि वर्तमान में ऑनलाइन एक बहुत बड़े बाजार के तौर पर सामने आया है इसलिए यहाँ न सिर्फ कपड़े, जूते, मोबाइल, कंप्यूटर इत्यादि बिकते हैं। बल्कि वर्तमान में औपचारिक या व्यवसायिक शिक्षा से सम्बन्धी अनेकों कोर्स विद्यार्थी ऑनलाइन खरीदना पसंद करते हैं। इसका सबसे बड़ा फायदा यह होता है की इस तरह के पाठ्यक्रमों में विद्यार्थी अपनी उपस्थिति कहीं से भी दर्ज करा सकता है। यही कारण है की वर्तमान में इस तरह के Online Course काफी प्रसिद्ध हैं। हालांकि बहुत सारे लोगों को लगता है की इस तरह के ऑनलाइन कोर्स तैयार करके इन्हें ऑनलाइन बेचकर कमाई करना बड़ा आसान होगा जो की बिलकुल भी सच नहीं है। माना की ऑनलाइन कोर्स तैयार करना इतना भी आसान नहीं है लेकिन यह भी सच है की यदि व्यक्ति यह ठान ले तो इस तरह के पाठ्यक्रम को तैयार करना असम्भव भी नहीं है। क्योंकि वर्तमान में एक बेहतरीन Online Course बनाने वाले व्यक्ति को आज का समय बेहद अमीर बना सकता है। हमें ऐसे अनेकों उदाहरण मिल जायेंगे जब इस तरह का काम करके काफी लोग अमीर बन गए हों। इसलिए यदि आपके पास भी किसी विषय की गहरी जानकारी है तो आप अपनी कमाई करने के लिए इस तरह का बिजनेस शुरू कर सकते हैं। तो आइये सबसे पहले यह जान लेते हैं की इस तरह का यह कोर्स होता क्या है।

online-course-kaise-banaye

ऑनलाइन कोर्स क्या है (What is an Online Course):

एक Online Course को ऑनलाइन क्लास भी कहा जा सकता है कभी कभी इसे वेब आधारित या वेब के माध्यम से वितरित होने वाला पाठ्यक्रम के रूप में भी जाना जाता है। या फिर हम इसे एक ऐसी क्लास भी कह सकते हैं जिसमें इन्टरनेट के माध्यम से पढाया जाता है। ऑनलाइन कोर्स डिस्टेंस लर्निंग का ही एक स्वरूप है। इसे आप दूर रहकर भी अटेंड कर सकते हैं। इसका मतलब यह है की एक Online Course की क्लास को आप इन्टरनेट की मदद से अपने कंप्यूटर, लैपटॉप, टेबलेट, मोबाइल इत्यादि से भी अटेंड कर सकते हैं। ऑनलाइन पाठ्यक्रम समय के आधार पर भी डिस्टेंट होते हैं जिसका अभिप्राय यह है की इन्हें एक निश्चित समय में अटेंड करने की आवश्यकता नहीं होती है। अपितु विद्यार्थी अपनी सुविधानुसार इसे दिन में किसी भी टाइम अटेंड कर सकता है। चूँकि इस प्रणाली में विद्यार्थी को लॉग इन आईडी एवं पासवर्ड दिया जाता है जिसका इस्तेमाल करके अलग अलग विद्यार्थी अलग अलग समय में लॉग इन हो सकते हैं।   

ऑनलाइन कोर्स कैसे बनायें (How to Create online Course):

ध्यान रहे एक Online Course बनाने के लिए आपको कोई शिक्षक या अध्यापक बनने की आवश्यकता नहीं है। लेकिन इस प्रकार के पाठ्यक्रम को तैयार करने के लिए आपके पास बढ़िया लेखन एवं सिखाने का कौशल होना अति आवश्यक है। यह इसलिए क्योंकि इस तरह के ये पाठ्यक्रम सरल होते हैं और आम तौर पर विदेशों में रहने वाले लोगों द्वारा भी इन्हें लिया जाता है। इसके अलावा उद्यमी को अपने ऑनलाइन कोर्स को सपोर्ट करने के लिए टुटोरिअल भी बनाने होंगे जिनकी विडियो उद्यमी खुद का यूट्यूब चैनल बनाकर प्रकाशित कर सकता है। तो आइये जानते हैं की कैसे व्यक्ति खुद का Online Course बना सकता है।

1. आप लोगों को क्या सिखा सकते हैं

सबसे पहले यह खोजने की कोशिश करें की आप Online Course के माध्यम से लोगों को क्या सीखा सकते हैं। इसका मतलब यह हुआ की इसके लिए आपको अपने पास उपलब्ध कौशल का मूल्यांकन करना होगा और उसके बाद ही आप इस बात का निर्णय लेने में सक्षम हो पाएंगे की आप लोगों को क्या सिखा सकते हैं। ऑनलाइन कोर्स बनाने के लिए टॉपिक अर्थात विषयवस्तु को पहचानना बेहद आसान है। आप अपने जूनून या काम को सिखाने के लिए ऑनलाइन कोर्स बना सकते हैं। यह जरुरी नहीं है की आप कोई व्यवसायिक कोर्स ही बनायें। इस प्रकार के पाठ्यक्रम तैयार करने के लिए सबसे पहले अपने स्किल को शोर्टलिस्ट करें जब आप यह कर लेंगे तब आपके दिमाग में अपने आप विचार आ जायेगा की आप कौन सा Online Course तैयार कर सकते हैं।       

2. आंशिक ग्राहकों की पहचान करें

हो सकता है की आपके पास Online Course तैयार करने के लिए बढ़िया विचार एवं उपयुक्त कौशल उपलब्ध हो। लेकिन क्या आपके इस कोर्स को खरीदने के लिए ग्राहक भी मौजूद होंगे यह प्रश्न आपको ऑनलाइन कोर्स बनाने से पहले स्वयं से पूछना होगा। चूँकि ऑनलाइन कोर्स बनाकर पैसे कमाई करना कोई आसान काम बिलकुल नहीं है इसलिए इसके लिए उचित मार्किट खोजना सबसे बड़ी दुविधा है। इसलिए उद्यमी को इन्टरनेट पर बहुत अधिक रिसर्च करने की आवश्यकता होती है की वह इन्टरनेट पर अपने Online Course कहाँ बेच सकता है। ऑनलाइन कोर्स की मार्किट सिर्फ उद्यमी के राष्ट्र तक ही सिमित नहीं है बल्कि उद्यमी चाहे तो विदेशों में भी अपने ऑनलाइन कोर्स बेच सकता है। एक जानकारी के मुताबिक चीनी लोग अंग्रेजी सीखने के इच्छुक रहते हैं इसलिए चीन अग्रेजी भाषा सीखाने वाले पाठ्यक्रमों के लिए एक अच्छी मार्किट हो सकती है। इसलिए उद्यमी जो अपने ऑनलाइन कोर्स के माध्यम से लोगों को सिखाना चाहता है उसके लिए उसे आंशिक ग्राहकों की पहचान भी करनी होगी।        

3. मार्केटिंग प्लान तैयार करें

ध्यान रहे यदि आप कोई नया, अनोखा, दुर्लभ Online Course नहीं बेच रहे हैं तो आपको कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना करने के लिए तैयार रहना चाहिए। इस कड़ी प्रतिस्पर्धा में भी यदि कोई चीज आपके बिजनेस को सफलता की बुलंदियों तक पहुंचा सकती है तो वह है आपका तैयार किया हुआ एक व्यवहारिक एवं प्रभावी मार्किट प्लान। यद्यपि आपके पास अपने ऑनलाइन कोर्स की मार्केटिंग करने के अनेकों विकल्प मौजूद होंगे। इसलिए यदि आप चाहें तो आप स्वयं का शैक्षणिक पोर्टल लांच कर सकते हैं और उस पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन कोर्स की पेशकश कर सकते हैं। वर्तमान में डोमेन नाम एवं होस्टिंग इत्यादि प्रतिस्पर्धी कीमतों पर आसानी से मिल जाती हैं। लेकिन वेबसाइट डिजाइनिंग, पेमेंट गेटवे इत्यादि खरीदने में उद्यमी को थोड़ा बहुत खर्चा करने की आवश्यकता होती है। मार्केटिंग करने का दूसरा विकल्प पहले से चल रही लर्निंग वेबसाइट जैसे Udemy, Coursera, SkillShare इत्यादि के माध्यम से अपने कोर्स को बेचना है। चूंकि कोर्स की बिक्री पर इन वेबसाइट को भी कमीशन मिलता है और ये सदस्य से मेम्बरशिप शुल्क भी ले सकती हैं इसलिए आपके कोर्स के लिए ये वेबसाइट मार्केटिंग करती हैं। इन सबके अलावा आप अपने Online Course की मार्केटिंग के लिए विभिन्न सोशल मीडिया वेबसाइट जैसे फेसबुक, ट्विटर, पिंटरसेट, इन्स्टाग्राम, लिंक्डइन इत्यादि का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।         

4. ऑनलाइन कोर्स की कीमत तय करें (Determine the Cost of Online Course)

इसमें कोई संदेह नहीं की जो Online Course आप बड़ी मेहनत से तैयार करेंगे उसे बेचकर आप अपनी कमाई करना भी चाहेंगे। लेकिन सवाल यह उठता है की इस पाठ्यक्रम की कीमत कितनी निर्धारित की जाय? आम तौर पर देखा जाय तो ऑनलाइन पाठ्यक्रमों की कीमतें विभिन्न कारकों जैसे इनकी प्रासंगिकता, अवधि, सामग्री, सर्टिफिकेट इत्यादि पर निर्भर करती है। इसलिए उद्यमी को चाहिये की वह किसी ऐसी वेबसाइट पर जाए जो ऑनलाइन कोर्स बेचती हो और देखे की एक ऐसा कोर्स जिसमें लिखित सामग्री, ग्राफ़िक, पिक्चर, विडियोज इत्यादि मौजूद हो उस कोर्स की कीमत क्या है। इससे उद्यमी को आईडिया लग जायेगा की वह अपने ऑनलाइन कोर्स की कीमत कितनी निर्धारित कर सकता है। यदि उद्यमी अपने ऑनलाइन कोर्स से बड़ी कमाई करना चाहता है तो उसे अपने कोर्स को लिखित सामग्री, ग्राफ़िक, पिक्चर, विडियोज इत्यादि सभी में उपलब्ध कराना होगा।        

5. ऑनलाइन कोर्स बनायें (Prepare Online Course)

अब जब Online Course बनाने वाले उद्यमी के पास सभी जरुरी एवं महत्वपूर्ण जानकारी मौजूद है तो उसे अब कोर्स बनाने के लिए आगे बढ़ना चाहिए। यद्यपि इस पूरी प्रक्रिया में यह सबसे मुश्किल काम होता है लेकिन उद्यमी को अपने दिमाग में मौजूद सभी विचारों को कागज या कंप्यूटर पर उतारना शुरू कर देना चाहिए। और ध्यान रहे उद्यमी को यह जानकारी सही प्रारूप एवं अनुक्रम में उतारनी चाहिए। चित्र, ग्राफ की मदद से अपने पाठ्यक्रम को बनाना शुरू करें इस्तेमाल में लाये जाने वाले ग्राफिक्स एवं पिक्चर उद्यमी को कुछ बिन्दुओं को उजागर करने में मदद करते हैं। अपने online Course को बनाते समय विडियो एवं वोईस रिकॉर्डिंग भी करें। विडियो बनाने के लिए यदि आपके पास अच्छी क्वालिटी का कैमरा है तो आप उसका उपयोग कर सकते हैं अन्यथा अपने स्मार्टफ़ोन का इस्तेमाल भी विडियो बनाने के लिए कर सकते हैं। हाँ यह जरुर है की आपको कैमरा या स्मार्टफोन को उचित जगह पर रखने के लिए एक सस्ता सा tripod खरीद लेना चाहिए। अपने कोर्स को एडिट इत्यादि करने के लिए आपको कुछ  सॉफ्टवेर जैसे कैमटासिया इत्यादि की भी आवश्यकता हो सकती है। ध्यान रहे यदि आप एक अच्छा Online Course तैयार करना चाहते हैं तो कभी भी इसे बनाने में जल्दबाजी न करें बल्कि इसे बनाने में पूरा समय लगायें ताकि लोगों को यह पाठ्यक्रम पसंद आये।          

6. कोर्स का ट्रायल करें (Trial Your Online Course)

Online Course बनाने वाले उद्यमी को एक बात का ध्यान रखना होगा की उसे यह पाठ्यक्रम सीधे अपने शैक्षणिक पोर्टल या अन्य ई लर्निंग पोर्टल के माध्यम से सीधे बेचने के लिए नहीं डाल देना चाहिये। बल्कि इसे बेचने से पहले इसका ट्रायल किया जाना बेहद जरुरी है ताकि या सुनिश्चित किया जा सके की लोगों को यह पाठ्यक्रम पसंद ही आएगा। ट्रायल के लिए उद्यमी इस कोर्स को एक छोटे से समूह को मुफ्त में पेश कर सकता है और उनसे इस कोर्स के बारे में फीडबैक देने को कह सकता है। ताकि यदि ग्राहकों के हिसाब से इस कोर्स में कुछ कमी रह भी गई हो तो उसे बेचने से पहले ठीक किया जा सके।    

7. ऑनलाइन कोर्स को बेचें:

ट्रायल के दौरान मिले फीडबैक के अनुरूप उद्यमी को अपने Online Course में बदलाव करके उसे बेचने के लिए विभिन्न ई लर्निंग पोर्टल या स्वयं के शैक्षणिक पोर्टल पर अपलोड कर देना चाहिए। लेकिन ध्यान रहे अपनी खुद की वेबसाइट या ई लर्निंग पोर्टल पर इसे सावधानीपूर्वक एवं पूरा समय लेकर अपलोड करें। ध्यान रहे की आपके द्वारा अपलोड सामग्री जैसे टेक्स्ट, पिक्चर, विडियो का कोई उपहास न उड़ा पाए। इन्हें एक उचित क्रम में होना बेहद आवश्यक है। आप पेपल इत्यादि के माध्यम से अंतराष्ट्रीय स्तर तक की पेमेंट रिसीव कर सकते हैं जहाँ तक घरेलु ग्राहकों की बात है उन्हें पेमेंट करने के अन्य विकल्प भी प्रदान कर सकते हैं।     

8. कोर्स को अपडेट करते रहें

 जैसा की हम सबको विदित है की वर्तमान में सब कुछ बड़ी जल्दी जल्दी बदल जा रहा है इसलिए Online Course बनाने वाले उद्यमी के लिए बेहद जरुरी हो जाता है की वह अपने कोर्स को समय समय पर अपडेट, अपग्रेड करते रहे। अगर उद्यमी ऐसा नहीं करता है तो एक समय के पश्चात् उसके द्वारा बनाया गया यह ऑनलाइन कोर्स अप्रसांगिक ओ जायेगा। इसलिए इसकी प्रासंगिकता बनाये रखने के लिए इसे अपडेट करते रहें।

अन्य भी पढ़ें

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *