म्यूचुअल फण्ड खरीद की जानकारी कब और किस तरह के फण्ड खरीदें

यह सच है की आप जब चाहें म्यूचुअल फण्ड खरीद सकते हैं क्योंकि इन्हें खरीदने के लिये किसी मुहुर्त की आवश्यकता नहीं होती है । इसलिए कोई भी व्यक्ति जो इसके माध्यम से अपनी कमाई करने का इच्छुक हो कभी भी जब चाहें, जिस समय चाहें इन्हें खरीदने के लिए स्वतंत्र है । चूँकि अब तो इस प्रकार का सारा कारोबार ही Online है । इसलिए निवेशक चाहे तो घर बैठे भी म्यूचुअल फण्ड खरीद सकते हैं । म्यूचुअल फंडों में कैसे निवेश करें? की जानकारी इस लेख में दी हुई है | लेकिन इन सबके बावजूद अक्सर लोगों द्वारा यह प्रश्न पूछा जाता रहा है की म्यूचुअल फण्ड कब, कैसे और कौन से खरीदने चाहिए? इसलिए आज हम इस लेख के माध्यम से म्यूचुअल फण्ड खरीद सम्बन्धी इन्हीं प्रश्नों का जवाब देने की कोशिश करेंगे |

म्यूचुअल फण्ड खरीद की जानकारी

म्यूचुअल फण्ड कब खरीदने चाहिए (When to buy Mutual Fund)?

यद्यपि जैसा की हम उपर्युक्त वाक्य में बता चुके हैं की कोई भी व्यक्ति जब वह चाहे, जिस समय चाहे म्यूचुअल फण्ड खरीद सकता है लेकिन नीचे कुछ ऐसी बातों का उल्लेख किया जा रहा है जिनका ध्यान रख के निवेशक अपनी अधिक कमाई कर सकता है |

  • जब निवेशक द्वारा कोई पुराना फण्ड या सम्पत्ति बेची जा चुकी हो तो निवेशक उस बिक्री से प्राप्त धनराशि से पुन: म्यूचुअल फण्ड खरीद सकता है | और यह उसे तब करना चाहिए जब उसे उस धन की तत्काल कोई आवश्यकता न हो | इस प्रकार से निवेश करके वह अपना आयकर बचा सकता है | आयकर बचाने के तरीकों के लिए यह पढ़ें |
  • बिज़नेस श्रेणी से ताल्लुक रखने वाले व्यक्तियों को अपनी बचत से Short Term Fund खरीद कर निवेश करना चाहिए क्योंकि उन्हें पैसे की जरुरत पड़ती रहती है इसलिए वे जब चाहें अपना निवेश वापस ले पाएंगे |
  • ऐसे विद्यार्थी जिन्हें जेब खर्च के तौर पर थोड़े ज्यादा पैसे मिलते हों वे इस जेब खर्च से बचाकर एसआईपी में निवेश कर सकते हैं | ताकि जरुरत पड़ने पर आगे यह पैसा उनकी उच्च स्तर की पढाई या अन्य काम आ सके |
  • माता पिता तब भी म्यूचुअल फण्ड खरीद सकते हैं जब उन्हें लगे की उनके बच्चों के गुल्लक में बचत ऐसे ही पड़ी है | इस बचत को वे बच्चों के नाम से चल रहे अनेक चिल्ड्रेन फण्डों में निवेश कर सकते हैं ।
  • गृहणियों को म्यूचुअल फण्ड तब खरीदना चाहिए जब वे अपनी बचत की राशि को बढ़ाना चाहती हों इसके लिए वे ग्रोथ या मिड कैप फण्ड खरीद सकती हैं |
  • खुशी एवं उत्सव के मौके हर मनुष्य के जीवन में आते हैं इसलिए यदि घर परिवार में कोई खुशी का माहौल हो, कोई उत्सव हो, तो उस उपलक्ष्य में म्यूचुअल फण्ड खरीद कर उस माहौल या उत्सव को यादगार बनाया जा सकता है ।
  • अपने किसी खास या बच्चों को जन्मदिन या अन्य खुशी के मौकों पर म्यूचुअल फण्ड खरीद कर उपहार में भी दिए जा सकते हैं |

 म्यूचुअल फण्ड खरीदने से पहले कुछ ध्यान देने योग्य बातें:

हालांकि म्यूचुअल फण्ड खरीदने का कोई एक निश्चित तरीका नहीं है कोई भी निवेशक ऑनलाइन या ऑफलाइन कैसे भी इन्हें खरीद सकता है | लेकिन नीचे कुछ ऐसी बातों का उल्लेख किया जा रहा है | जिनका अनुसरण निवेशक म्यूचुअल फण्ड खरीदने से पहले कर सकता है |

  • निवेशक को म्यूचुअल फण्ड खरीदने से पहले अपना निवेश उद्देश्य, जोखिम सहन करने की क्षमता इत्यादि का पता लगा लेना चाहिए |
  • यदि निवेशक नया फण्ड खरीदने की सोच रहा है तो New Fund offer के लिए जो विज्ञापन या प्रास्पेक्टस जारी किया गया हो उसे निवेशक को ध्यान पूर्वक पढना चाहिए | और यदि निवेशक के निवेश उद्देश्य या लक्ष्य, फण्ड के उद्देश्य एवं लक्ष्य इत्यादि बातें मेल खाती हों तो ही निवेशक को उस म्यूचुअल फण्ड को खरीदने का निर्णय लेना चाहिए |
  • यदि निवेशक क्लोज इण्डेड या बाजार में सूचीबद्ध म्यूचुअल फण्ड खरीद रहा है तो निवेशक को उस फण्ड के पिछले इतिहास पर नजर अवश्य डालनी चाहिए | उसके बाद उसके समान फंडों के साथ उसकी तुलना करनी चाहिये | और अंत में उसका कुछ वर्षों की NAV देखकर फण्ड खरीदने का निर्णय लेना चाहिए |
  • निवेशक को म्यूचुअल फण्ड खरीदने से पहले अपने जरुरी दस्तावेज जैसे पैन कार्ड, बैंक अकाउंट डिटेल्स, केवाईसी इत्यादि तैयार रखनी चाहिए |
  • खरीदने के लिए फण्ड का चुनाव कर लेने के बाद एजेंट या फण्ड हाउस को अपने खरीदारी की जानकारी दें और निवेशित राशि का भुगतान करें |
  • म्यूचुअल फण्ड खरीद लेने के बाद उसकी स्टेटमेंट लेना न भूलें ऑनलाइन खरीदारी पर यह स्वत: भी जनरेट हो सकती है ऐसा न होने पर फण्ड हाउस या एजेंट से संपर्क किया जा सकता है |

किस तरह के फण्ड खरीदें(What Mutual funds to buy):

किस तरह के फण्ड खरीदें या कौन सा म्यूचुअल फण्ड खरीदें? यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण सवाल है जो हर निवेशक के दिमाग में निवेश करने से पहले आता है | लेकिन हर व्यक्ति के लिए हर फण्ड सही नहीं होता है, बल्कि हर व्यक्ति के लिए उसके लक्ष्यों, आर्थिक स्थिति इत्यादि के आधार पर म्यूचुअल फण्ड सही या गलत हो सकता है | आइये जानते हैं किस तरह के निवेशक को किस तरह के म्यूचुअल फण्ड खरीद कर निवेश करना चाहिए |

  • ऐसे निवेशक जिनके पास समय की कमी नहीं है अर्थात वे अपने पैसे को लम्बे समय के लिए निवेश कर सकते हैं | और हाई लेवल पर कम जोखिम एवं उसी के अनुरूप अपनी कमाई चाहते हैं तो ऐसे निवेशकों को पहले Equity, फिर बॉण्ड में और उसके बाद Money Market Instrument में निवेश करना चाहिये |
  • ऐसे लोग जो निवेश किया हुआ पैसा जल्दी वापस चाहते हैं और घाटे से बचना चाहते हैं उन्हें नियमित कमाई वाले गिल्ट फण्ड इत्यादि में निवेश करना चाहिए |
  • ऐसे निवेशक जो धैर्यवान होते हैं उन्हें हमेशा No or Low Load, Low खर्चे और Low Turnover वाले फण्डों के बारे में सोचना चाहिए | क्योंकि खर्चे जितने कम होंगे कमाई उतनी अधिक होगी |
  • निवेशक को चाहिए की म्यूचुअल फण्ड खरीद के समय 90% ध्यान उसकी Asset Allocation पर दे और 10% ध्यान फण्ड के नाम पर ।
  • निवेशक को इस बात का एहसास होना चाहिए की फण्ड कोई भी हो वह बुरा नहीं होता है प्रत्येक फण्ड मैनेजर निवेशक को अधिक लाभ दिलाने की कोशिश करते हैं क्योंकि उनका लाभ भी निवेशक के लाभ से जुड़ा होता है | कोई भी दस फण्ड छांट लीजिये और उनकी लिस्ट बना लीजिये इनमे से जो भी फण्ड Hit हो जाए उसे खरीद लीजिये |
  • फण्ड छांटने के लिए निवेशक Association of Mutual Funds of India की वेबसाइट का उपयोग कर सकता है वेबसाइट पर जाकर NAV निकालें | जिन फंडों की NAV कई गुना बढ़ गई हो उन्हें छांट लेना चाहिए | क्योंकि जिनकी NAV बढ़ी हो वे निश्चित तौर पर अच्छे फण्ड होते हैं | इसलिए निवेशक को ऐसे म्यूचुअल फण्ड खरीद लेने चाहिए |

यह भी पढ़ें:

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *