Air Conditioner Repairing And Servicing Business

Air Conditioner Repairing And Servicing Business

Air Conditioner को सामान्य बोलचाल की भाषा में AC कहा जाता है और पुराने AC को ठीक करने की प्रक्रिया को AC Repairing and servicing business कह सकते हैं | जहाँ तक इसकी उपयोगिता का सवाल है इसका उपयोग सर्वत्र किया जाता है | सर्वत्र से हमारा आशय घरेलू उपकरण के तौर पर इसका उपयोग एवं व्यवसायिक स्थलों में भी Air Conditioner उपयोग होने से है | यद्यपि सच्चाई यह है की आर्थिक रूप से एक वर्ग विशेष के लोग ही इस उपकरण का उपयोग घरों में करते हैं क्योंकि पंखे एवं कूलर की तुलना में जहाँ इनकी कीमत बेहद ऊँची होती है वही कहा यह भी जाता है की Air Conditioner इनकी तुलना में अधिक विजली की खपत करते हैं इसलिए सामान्य तौर पर आर्थिक रूप से मजबूत वर्ग के लोगों द्वारा ही Air Conditioner का उपयोग अपने घरों में किया जाता है | जहाँ तक व्यवसायिक स्थलों की बात है तो लगभग हर कार्यालय में चाहे वह छोटा हो या बड़ा सभी में Air conditioner को उपयोग में लाया जाता है और कर्मचारियों को गर्मियों के मौसम में काम करने के अनुकूल वातावरण देने की कोशिश हर कंपनी द्वारा की जाती है | कुछ बड़ी बिल्डिंगों, कंपनियों, कार्यालयों में गर्मियों में ठंडा एवं सर्दियों में गरम हवा फेंकने वाले Air Conditioner लगे होते हैं इस सिस्टम को HVAC यानिकी heating Ventilation and air conditioning कहा जाता है |

Air Conditioner repairing servicing business

Air Conditioner Repairing and Servicing Business Kya hai:

जैसा की हम उपरोक्त वाक्यांश में समझ चुके हैं की वर्तमान में Air Conditioner का उपयोग लगभग सभी प्रकार के छोटे बड़े व्यवसायिक स्थलों, कार्यालयों में होने लगा है | और लोगों की कमाई में हो रही बढ़ोत्तरी एवं जीवन स्तर में बदलाव के चलते लोगों द्वारा घरों में भी Air Conditioner की उपयोग में लाने की संख्या में वृद्धि हुई है | विलासिता की वस्तुओं की यदि हम बात करेंगे तो Air Conditioner इनकी लिस्ट में से एक मुख्य वस्तु है विलासिता की वस्तु से हमारा आशय आरामदायक अर्थात ऐसी वस्तु से है जिसका उपयोग मनुष्य बुनियादी आवश्यकता के लिए नहीं अपितु शान ओ शौकत एवं आराम के लिए करता है | जब पहले धरती के तापमान का नियमन स्वयं प्रकृत्ति प्रदत्त होता था अर्थात तब धरती पर तरह तरह का प्रदूषण नहीं फैला हुआ था तो गर्मियों में भी धरती का तापमान संयमित रहता था तब इस वस्तु को विलासिता की वस्तुओं की श्रेणी में रखा गया | लेकिन वर्तमान में धरती पर तरह तरह का प्रदूषण बढ़ने के कारण गर्मियों में इंडिया में तापमान बहुत बढ़ जाता है जिसके चलते लोगों द्वारा बिजली से चालित उपकरणों पंखे, कूलर एवं Air Conditioner का उपयोग किया जाता है | चूँकि Air Conditioner बिजली से चालित एक उपकरण है इसलिए यह जरुरी नहीं है की एक बार खरीद के यह पूरी उम्र बिना खराब हुए चलता रहेगा अपितु इस उपकरण को एक समय के अन्तराल में सर्विसिंग एवं जब खराब हो जाता है रिपेयरिंग की भी आवश्यकता होती है | लोगों की इसी आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए जब किसी उद्यमी द्वारा इन समस्याओं का समाधान करके पैसे कमाए जाते हैं तो कहा यह जा सकता है की वह उद्यमी Air Conditioner Repairing and Servicing Business से जुड़ा हुआ है | अधिकतर दो प्रकार के Air conditioner उपयोग में ज्यादा देखने को मिलते हैं |

  1. Split Air Conditioner:

Spilt Air Conditioner की यदि हम बात करेंगे तो हम पाएंगे की इसके मुख्य रूप से दो भाग होते हैं जिन्हें इंडोर यूनिट एवं आउटडोर यूनिट कहा जा सकता है | आउटडोर यूनिट में कंप्रेसर आता है जो Spilt AC से काफी दूर छत या अन्य जगह पर लगा हुआ होता है | Spilt AC का फायदा यह हो सकता है की इसको किसी भी कमरे अर्थात जहाँ कोई खिड़की विद्यमान न भी हो वहां भी आसानी से लगाया जा सकता है | क्योंकि इसे कमरे की दिवार में माउंट किया जाता है और आउटडोर यूनिट कंप्रेसर को Spilt AC से काफी दूर भी लगाया जा सकता है जिससे जब वह चले तो ज्यादा आवाज अन्दर न सुनाई दे |

  1. Window Air Conditioner:

Window air conditioner को एक ही यूनिट के अंतर्गत पैक की हुई एक प्रणाली कहा जा सकता है | जहाँ Spilt Air Conditioner में इनडोर एवं आउट डोर अलग अलग होते हैं वहीँ Window air conditioner में Indoor एवं Outdoor Unit कंप्रेसर के साथ एक ही बॉक्स में विद्यमान रहती हैं | और इस प्रकार के एयर कंडीशनर को खिड़की पर लगाना बेहद जरुरी होता है क्योंकि इनका आधा हिस्सा खिड़की से अन्दर एवं आधा हिस्सा खिड़की से बाहर होता है | ऐसे एयर कंडीशनर को कार्यालयों या व्यवसायिक स्थलों में कम ही उपयोग में लाया जाता है क्योंकि इनमे कंप्रेसर इनडोर के बेहद करीब होने के कारण आवाज आती है जिससे किसी कार्यालय के किसी काम में व्यवधान उत्पन्न हो सकता है | हालांकि घरों एवं छोटे छोटे कार्यस्थलों में इनका उपयोग जम कर होता आया है  और शायद आगे भी होता रहेगा |

Market Potential:

जैसा की हम पहले भी बता चुके हैं की Air Conditioner सम्बन्धी व्यापार विशेष रूप से गर्मी के मौसम या गर्मी से जुड़ा हुआ बिज़नेस है | लेकिन इन दिनों बड़े बड़े कार्यालयों में HVAC System लगा होता है जो गर्मियों में ठंडी एवं सर्दियों में गरम वातावरण तैयार करने में सक्षम होता है | परन्तु अधिकतर कार्यालयों में सर्दियों के लिए वातावरण के तापमान को संयमित करने की कोई प्रणाली हो या नहीं लेकिन गर्मियों के लिए यह अवश्य रहती है | वर्तमान में ग्लोबल वार्मिंग के चलते हम धरती के तापमान में मौसम प्रति मौसम बढ़ोत्तरी देख रहे हैं कभी कभी तो यह आभास होने लगता है की तापमान इतना बढ़ गया है की कूलर एवं पंखे निष्प्रभावी नज़र आते हैं ऐसी स्थिति में ऐसे लोग जो पैसे खर्च करने एवं एयर कंडीशनर खरीदने में सक्षम हैं तुरंत Air Conditioner की तरफ रुख करते हैं और जिनके पास पहले से Air Conditioner हैं वो उसकी Repairing एवं servicing की ओर रुख करते हैं | यद्यपि यह AC repairing and Servicing business ग्रामीण इलाकों में फायदेमंद नहीं होगा क्योंकि ग्रामीण इलाकों का जीवन स्तर Air conditioner से बिलकुल मेल नहीं खाता है इसलिए इस बिज़नेस को करना केवल शहरों एवं नगरों में ही फायदेमंद साबित होगा |

Required Machinery and raw materials for AC Repairing and servicing business:

AC Repairing and servicing business में तकनिकी जानकारी होने के साथ साथ कच्चे माल के तौर पर आर 134 a गैस, आर 22 a गैस, वेल्डिंग रॉड, कॉपर पाइप इत्यादि सामग्री चाहिए हो सकती है | इसके अलावा मुख्य रूप से काम आने वाले मशीनरी एवं उपकरणों की लिस्ट निम्नवत है |

  • लगभग 2 set गैस वेल्डिंग के |
  • 2 नाइट्रोज़न गैस सिलिंडर |
  • Vaccume Machine
  • गैस चार्जिंग मशीन |
  • Pressure Testing Machine
  • Humidity Controller
  • वाल्टमीटर
  • Vacuumed Gauge & Pressure Gauge with Pipe
  • Refrigerator Cylinder
  • Temperature Meter
  • 02 टूल किट सेट |

मुख्य रूप से कम आने वाले कच्चे माल की लिस्ट निम्नवत है |

  • R – 134a, Gas
  • R- 22a,Gas
  • Welding Rod (for Gas Welding)
  • Copper Pipe
  • Capacitor (36 MFD)
  • Relay

यह भी पढ़ें:

टेबल पंखा बनाने के काम की जानकारी

कूलर बनाने के काम की जानकारी |  

कमाई करने की प्रक्रिया (Kamai Karne ka Process):

AC Repairing and Servicing Business निर्माण क्षेत्र से नहीं अपितु सेवा क्षेत्र से जुड़ा हुआ बिज़नेस है इसमें उद्यमी ऐसे लोगों को लक्ष्य बनाकर अपनी बिज़नेस स्ट्रेटेजी बना रहा होता है जिनके पास पहले से Air Conditioner उपलब्ध हो | इस AC Repairing and Servicing Business में इसलिए भी फायदा होता है क्योंकि Air Conditioner एक ऐसी वस्तु है जिसे बार बार या प्रत्येक वर्ष नहीं ख़रीदा जा सकता इसलिए लोग जैसे ही देखते हैं की अब गर्मी का मौसम आने वाला है अपने पास उपलब्ध AC की Repairing एवं Servicing की सोचने लगते हैं | ऐसे में वे ऑनलाइन या बाज़ार में जाकर AC Repairing and Servicing की दुकान खोजकर उनसे मूल्य पता करके काम आगे बढाते हैं | आज के ज़माने में किसी भी सर्विस के लिए ग्राहकों का मिलना कठिन बात बिलकुल नहीं है हाँ लेकिन चूँकि आज का ग्राहक पहले के ग्राहक के मुकाबले ज्यादा जागरूक एवं सजग है इसलिए आज के ग्राहक को उम्दा किस्म की सर्विस चाहिए होती है | उद्यमी चाहे तो अपनी कमाई बढ़ाने के लिए अपने बिज़नेस को जस्ट डायल एवं कुछ अन्य फ्री Classified Websites के साथ register करा सकता है | इसके अलावा AMC की फैसिलिटी भी अपने ग्राहकों को मुहैया कराकर अपनी कमाई बढाने में मदद कर सकता है | वर्तमान स्थिति एवं तापमान को देखते हुए कहा जा सकता है की AC Repairing and Servicing Business में अपार संभावनाएं हैं इसलिए उद्यमी बनने का सपना लिए हुए कोई व्यक्ति चाहे तो यह बिज़नेस करके अपनी एवं कुछ और लोगों की कमाई का माध्यम बन सकता है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: