बाइक किराये पर देने का व्यापार कैसे शुरू करें? How to start a bike rental business.

यद्यपि Bike Rental Business कुछ विशेष लोकेशन पर ही सफलतापूर्वक चलाया जा सकता है। विशेषकर ऐसे स्थान या शहर जहाँ बड़ी मात्रा में पर्यटक घूमने आते हों। क्योंकि वर्तमान में लोग जिस शहर या राज्य में भी घूमने जाते हैं तो उन्हें स्थानीय बाजार इत्यादि घूमने के लिए बाइक की आवश्यकता हो सकती है। यही कारण है की वे किसी ऐसे व्यक्ति की तलाश में रहते हैं जो उन्हें कुछ घंटों के लिए बाइक किराये पर दे सके ताकि वे स्थानीय बाजार इत्यादि का अच्छे ढंग से अवलोकन कर सकें। लेकिन उद्यमी को Bike Rental Business शुरू करने से पहले अपने जेहन में एक बात अच्छी तरह बैठा लेनी चाहिए की उसे इस तरह का बिजनेस शुरू करने के लिए बाइक खरीदने की आवश्यकता होगी। और जैसे ही बाइक शोरूम से बाहर हो गई उसकी कीमत में गिरावट आनी शुरू हो जाती है। इसलिए उद्यमी को उस एरिया जहाँ वह यह बिजनेस करने की सोच रहा हो उसका अच्छे ढंग से अवलोकन करने के बाद ही बाइक खरीदनी चाहिए और पहले सिर्फ दो चार बाइक खरीदकर ही इस तरह का बिजनेस करना चाहिए।

Bike Rental Business क्या है?

साधारण शब्दों में इसे समझने की कोशिश करें तो यह बाइक किराये पर देकर पैसे कमाई करने का बिजनेस है। लेकिन सोचने की बात ये है की बाइक किराये पर लेने की आवश्यकता किन लोगों को होगी? । जो वहाँ के स्थानीय लोग होंगे उन्हें तो बाइक किराये पर लेने की आवश्यकता होगी नहीं। लेकिन जो लोग पर्यटक के तौर पर किसी अन्य शहर से वहाँ पर घूमने के लिए आये होंगे। उन्हें उस लोकेशन के आस पास की जगह घूमने के लिए बाइक की आवश्यकता हो सकती है। इसलिए जब किसी उद्यमी द्वारा बाइक किराये पर देकर कमाई की जाती है तो उसके द्वारा किया जाने वाला यह बिजनेस Bike Rental Business कहलाता है। इस बिजनेस में उद्यमी को कुछ बाइक खरीदने की आवश्यकता होती है और उन्हें किराये पर देकर ग्राहकों से शुल्क वसूलना होता है। यह शुल्क उद्यमी घंटे, दिन या कुछ दिनों के आधार पर निर्धारित कर सकता है।

बाइक किराये का व्यापार कैसे शुरू करें?

जैसा की हम उपर्युक्त वाक्य में भी बता चुके हैं की Bike rental Business एक ऐसे एरिया में सफलतापूर्वक चलाया जा सकता है जहाँ बड़ी मात्रा में पर्यटक घूमने आते हों। लेकिन रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, एअरपोर्ट इत्यादि जगहों के आस पास भी इस तरह का यह बिजनेस शुरू करना लाभकारी हो सकता है। लेकिन उद्यमी को यह बात भी अपने दिमाग में बैठा लेनी चाहिए की यह एक मौसमी बिजनेस है क्योंकि साल में पर्यटकों के घूमने का समय 8-10 महीने ही रहता है इसलिए उद्यमी के बिजनेस को ये कारक एवं कुछ अन्य कारक प्रभावित कर सकते हैं। हालाँकि Bike Rental Business में जो सबसे बड़ा निवेश उद्यमी को करना पड़ता है वह बाइक खरीदने एवं एक बड़ी जगह किराये पर लेने में करना पड़ता है। जबकि इस बिजनेस में अधिक मैनपावर की आवश्यकता नहीं होती है। उद्यमी चाहे तो अकेले या फिर कोई एक कर्मचारी नियुक्त करके भी इस तरह का यह बिजनेस शुरू कर सकता है।

1. लोकेशन का चयन

Bike Rental Business के लिए उपयुक्त लोकेशन का चुनाव करना बेहद जरुरी है क्योंकि इस बिजनेस की सफलता इसी बात पर निर्भर करती है की वह यह बिजनेस किस लोकेशन पर शुरू करता है। आम तौर पर इस तरह के बिजनेस के सफल होने की संभावना उन शहरों में अधिक होती है जहाँ पर्यटकों का आवागमन जारी रहता है। इसलिए गोवा, मसूरी, लद्दाख, कुल्लू मनाली, नैनीताल इत्यादि शहरों में इस तरह का बिजनेस शुरू किया जा सकता है। कहने का अभिप्राय यह है की एक ऐसा शहर जहाँ पर्यटकों का आना जाना जारी रहता है उस शहर में Bike Rental Business शुरू करना लाभकारी होता है। क्योंकि बाइक के माध्यम से आस पास के क्षेत्रों में भ्रमण करना पर्यटकों को कीमत इत्यादि के आधार पर बेहद पसंद है।     

2. उपयुक्त वाहन का चयन

यहाँ पर उपयुक्त वाहन के चयन से आशय इलाके के आधार पर वाहन का चयन करने से है। क्योंकि हर तरह का वाहन हर इलाके में नहीं चल सकता। इसलिए Bike Rental Business को सफलतापूर्वक चलाने के लिए उद्यमी को इलाके के आधार पर वाहन का चयन करना जरुरी हो जाता है। मैदानी इलाकों जैसे गोवा इत्यादि जैसे शहरों के लिए स्कूटी, एक्टिवा का चयन हो सकता है जबकि पहाड़ी इलाकों के लिए बुलेट enfiled इत्यादि का चयन करना ठीक हो सकता है। उद्यमी को चाहिए की वह इस बात का पता लगाये की जिस इलाके में वह बिजनेस शुरू करने की सोच रहा है उस इलाके के लिए कौन का वाहन उपयुक्त रहेगा।     

3. किराये पर जगह लें

चूँकि इस Bike Rental Business में उद्यमी के प्राथमिक ग्राहक के तौर पर पर्यटक रहने वाले हैं इसलिए उद्यमी को चयनित लोकेशन पर एक ऐसी जगह का चुनाव करना होगा जहाँ पर्यटकों का आवागमन रहता है। उद्यमी चाहे तो रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन, हवाई अड्डा इत्यादि के नज़दीक किराये पर जगह लेकर यह बिजनेस शुरू कर सकता है। या फिर किसी स्थानीय बाजार में भी जगह किराये पर ले सकता है। जगह किराये पर लेते वक्त उद्यमी को इस बात का ध्यान रखना होगा की उसे अन्दर एवं बाहर बाइक खड़ी करने के लिए काफी जगह की आवश्यकता होती है। इसलिए किसी ऐसी जगह को ही किराये पर लेना उचित होगा जहाँ अन्दर एवं बाहर बाइकें खड़ी करने की पर्याप्त जगह उपलब्ध हो।     

4. बिजनेस रजिस्ट्रेशन एवं लाइसेंस

उद्यमी को खुद के बिजनेस को कानूनी स्वरूप प्रदान करने के लिए बिजनेस रजिस्ट्रेशन एवं विभिन्न प्रकार के लाइसेंस की आवश्यकता हो सकती है। यद्यपि लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन का स्वरूप राज्य एवं इलाकों के आधार पर अलग अलग हो सकता है। लेकिन रीजनल ट्रांसपोर्ट ऑफिस से परमिशन या लाइसेंस लेने की आवश्यकता Bike Rental Business शुरू करने के लिए हर राज्य में पड़ती है। इसके अलावा टैक्स रजिस्ट्रेशन इत्यादि की भी आवश्यकता हो सकती है।    

5. Bike Rental बिजनेस के लिए बाइक खरीदें

अब Bike Rental Business शुरू करने के लिए उद्यमी का अगला कदम इस व्यापार के लिए बाइक खरीदने का होना चाहिए। यदि उद्यमी द्वारा चयनित लोकेशन पर्यटकों के आवागमन से भरपूर है तो उद्यमी को शुरुआत में ही 20 या इससे भी अधिक बाइक खरीदने की आवश्यकता हो सकती है। और कुछ छोटे स्थानों में दस या इससे भी कम बाइकें पर्याप्त हो सकती हैं। यदि उद्यमी इस बात को निर्धारित करने में असमर्थ है की उसे कितनी बाइकों की आवश्यकता होगी। तो उद्यमी को कम बाइकें खरीदकर ही इस बिजनेस की शुरुआत करनी चाहिए। और ग्राहकों की माँग के आधार पर बाइकों की संख्या बाद में भी बढाई जा सकती है।      

6. बिजनेस का बीमा कराएँ

Bike rental business में सभी बाइकों का बीमा होना नितांत आवश्यक है वह इसलिए क्योंकि बाइक चलाते वक्त चोट आने की बहुत अधिक संभावनाएं हैं। इसलिए उद्यमी को इस तरह का बिजनेस शुरू करने के लिए अपने बिजनेस का बीमा कराने की आवश्यकता होगी। स्थिति चाहें कुछ भी हों लेकिन सुरक्षा की दृष्टि से इस तरह के बिजनेस का बीमा कराना अति आवश्यक है।   

7. अपने Bike Rental बिजनेस को प्रमोट करें

अब चूँकि उद्यमी ने खुद का Bike Rental business शुरू करने के लिए सभी प्रक्रियाएं पूर्ण कर ली हैं इसलिए अब उद्यमी को अपनी पूरी उर्जा एवं ध्यान अपने बिजनेस को प्रमोट कराने में लगाना चाहिए। इसके लिए उद्यमी अपने इलाके में जगह जगह पर साइन बोर्ड इत्यादि लगा सकता है। इसके अलावा स्थानीय टूरिस्ट पब्लिकेशन में भी अपने बिजनेस का विज्ञापन दे सकता है। इसके अलावा उद्यमी अपने बिजनेस को प्रमोट करने के लिए विभिन्न मुफ्त एवं भुगतान किये जा सकने वाले मंचों का भी सहारा ले सकता है।

यह भी पढ़ें

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *