Cancelled Cheque क्या है? कैसे बनायें और इसके उपयोग।

Cancelled Cheque पर बात करने से पहले हमें इस बात को समझना होगा की वर्तमान में इन्टरनेट एवं ऑनलाइन मार्केटिंग में बढ़ोत्तरी के कारण सभी महत्वपूर्ण कार्यों को कुछ क्लिक में सम्पन्न किया जा सकता है। कहने का अभिप्राय यह है की वर्तमान में हर व्यवसायिक क्षेत्र अपनी अधिकतर सेवाएँ ऑनलाइन प्रदान करने की ओर प्रयासरत रहा है और बैंकिंग भी इससे अछूती नहीं है। वर्तमान बैंकिंग प्रणाली के अंतर्गत लोगों को अधिकतर बैंकिंग सेवाएँ ऑनलाइन प्रदान की जा रही हैं। जिससे लाखों ग्राहकों का जीवन बेहद आसान हो गया है और लोग घर बैठे ही अनेकों बैंकिंग प्रक्रियाएं ऑनलाइन आसानी से पूर्ण कर सकते हैं । बैंकों द्वारा अपने ग्राहकों की बैंकिंग आवश्यकताओं को ध्यान में रखकर समय समय पर उनके जीवन की बेहतरी के लिए अनेकों बदलाव किये जाते रहे हैं। कुछ बैंक बचत खाता, फिक्स्ड डिपाजिट खाता, ऋण के लिए आवेदन करना, भुगतान करना, पैसे ट्रान्सफर करना इत्यादि सुविधाएँ ऑनलाइन भी प्रदान करते हैं। यद्यपि इसमें कोई दो राय नहीं की समय व्यतीत होने के साथ साथ ऑनलाइन बैंकिंग तेजी से बढती जा रही है लेकिन इन सबके बावजूद बैंकिंग के कुछ ऐसे पहलु भी हैं। जिनका अनुसरण पारम्परिक तरीके से ही किया जा सकता है। Cancelled Cheque जारी करना इन्ही बैंकिंग प्रक्रियाओं में से एक ऐसी प्रक्रिया है जिसे ऑनलाइन नहीं बल्कि मैन्युअली करने की आवश्यकता होती है । चेक के माध्यम से भुगतान करने की प्रक्रिया से तो सभी अच्छी तरह वाकिफ हैं लेकिन नौजवान ऑनलाइन बैंकिंग ग्राहक को Cancelled Cheque के बारे में अनेकों शंकायें रहती हैं। इसलिए आज हम हमारे इस लेख के माध्यम से नौजवानों की इसी शंका को दूर करने की कोशिश करने वाले हैं। और कैंसिल चेक क्या है? इसे कैसे बनायें और इसके क्या क्या इस्तेमाल हैं के बारे में जानने का प्रयत्न करते हैं।

Cancelled-Cheque-kya-hai

कैंसिल चेक क्या है (What is Cancelled Cheque in Hindi):  

एक Cancelled Cheque से आशय एक ऐसे चेक से होता है जिसमें उपयोगकर्ता द्वारा चेक के बीचोंबीच Cancelled शब्द लिख दिया जाता है। कहने का अभिप्राय यह है की कैंसिल चेक कोई अलग सा चेक नहीं होता है बल्कि एक सामान्य चेक में ही Cancelled लिखकर उसे कैंसिल चेक बनाया जाता है। आम तौर पर एक कैंसिल चेक को इस बात का प्रमाण माना जाता है की व्यक्ति का बैंक में खाता मौजूद है। इसलिए ईपीएफ फण्ड की निकासी से लेकर इलेक्ट्रॉनिक क्लियरेंस सेवा स्थापित करने तक अनेकों मामलों में Cancelled Cheque की आवश्यकता होती है। स्पष्ट है की एक ऐसा चेक जिसमें CANCELLED शब्द उल्लेखित हो कैंसिल चेक कहलाता है।

कैंसिल चेक कैसे बनायें (How to make a Canceled Cheque in Hindi):

Cancelled Cheque बनाना या जारी करना बिलकुल भी कठिन कार्य नहीं है इस तरह का चेक जारी करने के लिए सबसे पहले व्यक्ति को चेकबुक से एक चेक फाड़ना होता है। उसके बाद उस चेक पर दो समानांतर रेखाएँ खींचनी होती हैं और इन दो लाइनों के बीच Cancelled लिखना होता है। जैसे ही यह शब्द व्यक्ति चेक पर अंकित कर देता है वह कैंसिल चेक हो जाता है। बाकी एक कैंसिल चेक में व्यक्ति को कुछ भी उल्लेखित करने की आवश्यकता नहीं होती है। यानिकी न तो व्यक्ति को उसमें धनराशि भरने की आवश्यकता है, न ही तारीख भरने की आवश्यकता है और न ही हस्ताक्षर करने की आवश्यकता है। यह केवल कुछ आवश्यक डिटेल्स जैसे बैंक खाता नंबर, खाताधारक का नाम, MICR Code, बैंक का नाम एवं शाखा का पता प्रदान करने के लिए जारी किया जाता है। यही कारण है की Cancelled Cheque को उपयोग में लाकर कोई भी व्यक्ति आपके खाते से पैसे नहीं निकाल सकता है। हालांकि पहले कैंसिल चेक का इस्तेमाल करके धोखाधड़ी की गतिविधियाँ सामने आ चुकी हैं। इसलिए किसी भी व्यक्ति को कैंसिल चेक जारी करते वक्त काफी सावधानी बरतने की आवश्यकता होती है। और एक कैंसिल चेक पर व्यक्ति को कभी भी हस्ताक्षर नहीं करने चाहिए। इन सबके बावजूद इस तरह का चेक किसी भरोसेमंद एवं विश्वसनीय व्यक्तियों को ही सौंपे जाने चाहिए।  

कैंसिल चेक के उपयोग (Use of cancelled Cheque in Hindi):

यद्यपि मनुष्य को अनेकों वित्तीय कार्यों को निबटाने में Cancelled Cheque की आवश्यकता होती है लेकिन यहाँ पर हम कुछ प्रमुख गतिविधियों की लिस्ट दे रहे हैं। जिनमें व्यक्ति को कैंसिल चेक की आवश्यकता हो सकती है।

  • अधिकांश निवेश संगठन अपने ग्राहकों की केवाईसी जानने को बेहद ज्यादा महत्व देते हैं । इसलिए यदि व्यक्ति म्यूच्यूअल फण्ड या शेयर बाजार में निवेश करने की योजना बना रहा हो तो, उसे कैंसिल चेक की आवश्यकता हो सकती है। क्योंकि निवेश कंपनी कैंसिल चेक के माध्यम से यह सत्यापित करती है की वास्तव में निवेश से जुड़ा खाता उसी व्यक्ति से सम्बंधित है या नहीं।
  • वर्तमान में ईएमआई भुगतान का एक पसंदीदा तरीका बन गया है और अधिकतर व्यक्ति मोबाइल फोन, टीवी, फ्रिज इत्यादि ईएमआई के माध्यम से ही खरीदना पसंद करते हैं। इसलिए इस ईएमआई प्रक्रिया में भी व्यक्ति को कैंसिल चेक की आवश्यकता हो सकती है।
  • इलेक्ट्रॉनिक क्लीयरेंस सेवा स्थापित करने यानिकी जिस प्रक्रिया में व्यक्ति के खाते से आटोमेटिक तौर पर किसी मद के लिए पैसे काटने की प्रक्रिया शुरू हो जाती है के लिए भी Cancelled Cheque की आवश्यकता हो सकती है।
  • ऑफलाइन ईपीएफ निकालने के लिए भी कैंसिल चेक की आवश्यकता हो सकती है।
  • यहाँ तक की एक बीमा पालिसी खरीदते वक्त भी बीमा कंपनी द्वारा कैंसिल चेक की माँग की जा सकती है।   

कहने का अभिप्राय यह है की Cancelled Cheque की आवश्यकता मनुष्य को ईपीएफ निकालने से लेकर डीमैट अकाउंट खोलने तक कभी भी पड़ सकती है। लेकिन व्यक्ति को इसे जारी करते वक्त बेहद सावधानी बरतने की आवश्यकता होती है। इसलिए ध्यान रहे व्यक्ति को कैंसिल चेक में अपने हस्ताक्षर नहीं करने चाहिए वरना व्यक्ति के साथ धोखा भी हो सकता है और उसकी मेहनत से कमाई हुई कमाई धोखे के कारण लुप्त हो सकती है।

यह भी पढ़ें:

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *