Computerized Embroidery बिज़नेस की जानकारी.

Computerized Embroidery बिज़नेस की जानकारी.

वर्तमान में लोग पहनावे को लेकर काफी सजग एवं सचेत दिखाई दे रहे हैं यही कारण है की Embroidery अर्थात कढ़ाई बाहर की तरफ पहने जाने वाले वस्त्रों जैसे कमीज, पायजामा, पेटीकोट, ब्लाउज, बच्चों की ड्रेस, शाल एवं लेडीज ड्रेस में एक फैशन के तौर पर सामने आ रही है | Embroidery की यदि हम बात करें तो यह कपडे को सजाने की एक विधि है जिसके माध्यम से कपडे पर कोई डिजाईन का टुकड़ा सूई एवं धागे की मदद से जोड़ दिया जाता है जिससे कपड़ा सुन्दर एवं आकर्षक दिखने लगता है | जहाँ पहले यह कार्य हाथों से एवं जिग जेग विद्युत् से चलने वाली मशीन द्वारा पूर्ण किया जाता था वही वर्तमान में औद्योगिक परिदृश्य में आये बदलाव और लोगों में भी गुणवत्ता को लेकर आये बदलावों के कारण Computerized Embroidery की मांग बहुतायत मात्रा में देखी जा सकती है | Embroidery किसी भी कपडे में विभिन्न रुपाकनों जैसे नाम, पेड़, फूल इत्यादि एवं विभिन्न रंगों के Embroidery धागों के साथ की जाती है | जैसा की हमने बताया की किसी कपडे में Embroidery का काम उस कपड़े के आकर्षण एवं शोभा को बढ़ा देता है | इसीलिए Embroidery किये हुए कपडे की बिकने की संभावना बेहद अधिक होती है | इन दिनों अधिकतर तौर पर कपडें Embroidery अर्थात कढ़ाई के साथ बाजारों में उपलब्ध रहते हैं |

Computerized-Embroidery-

Computerized Embroidery kya hai:  

Computerized Embroidery को Machine embroidery भी कहा जाता है ये विशेष रूप से इंजीनियर मशीनें होती हैं | जिनमे बहुत सारी सुइयों के लिए embroidery head एवं फ्रेम होल्डर लगे होते हैं | जो फ्रेम युक्त उत्पाद को दो दिशाओं में घुमाने या ले जाने में सहायक होते हैं ताकि कढ़ाई की डिजाईन को आसानी से सिला जा सके | फ्रेम होल्डर को पैंटोग्राफ के रूप में भी जाना जाता है इसे एक ग्राफ आलेखक के रूप में देखा जा सकता है क्योंकि यह डिजाईन की वास्तविक लोकेशन को स्थान्तरित करता है ताकि क्षैतिज एवं उधर्वाधर डिजाईन बनाये जा सकें | कढ़ाई मशीन डिज़ाइन डेटा फ़ाइल से इन समन्वय को पढ़ती है और मशीन के स्थिर सुई हेड से प्रत्येक नई सिलाई को प्राप्त करने के लिए अपनी पेंटोग्राफ को स्थानांतरित करती है । जहाँ तक कढ़ाई अर्थात embroidery डिजाईन की बात है इन्हें एक विशेष सॉफ्टवेर के माध्यम से एक कंप्यूटर में तैयार किया जाता है |

Market Potential in Computerized Embroidery:

Embroidery यानिकी कढाई वर्तमान में लगभग सभी प्रकार के कपड़ों पर की जाने वाली एक फैशन के तौर पर सामने आई है | क्योंकि अक्सर ऐसा देखा गया है की कढ़ाई किया हुआ कपडा बिना कढ़ाई किये हुए कपडे से बिलकुल जल्दी बिक जाता है इसलिए ग्राहकों को कपडे की ओर आकर्षित करने के लिए Embroidery का इस्तेमाल लगभग हर तरह के कपड़ों में होता है | वर्तमान में चाहे नौजवानों के कपडे हों, बच्चों के हों, अधेड़ उम्र वाले व्यक्तियों के हों, या फिर बूढ़े व्यक्तियों के, लगभग सभी के या अधिकतर कपडे कुछ न कुछ कढ़ाई के काम के साथ आते ही हैं हाँ यह अलग बात है की लेडीज के कपड़ों में जेंट्स की तुलना में थोड़ी अधिक कढ़ाई देखने को मिलती है | एम्ब्रायडरी का काम प्लेन कपडे पर किया जाता है जो कपडे को नई लुक देने के अलावा उसे इतना सुन्दर बना देता है की ग्राहकों द्वारा उस कपडे को आसानी से खरीद लिया जाता है | पहनने के कपड़ों के अलावा ग्राहकों द्वारा चादर, तकिये कवर, टेबल मेट इत्यादि पर भी कढ़ाई की मांग की जाती रही है और यही कारण है की कढ़ाई किये हुए इस तरह की सामग्री भी मार्किट में बहुत आधिक बिकती है |

आवश्यक मशीनरी एवं उपकरण:

Computerized  Embroidery business में प्रयुक्त होने वाले मुख्य उपकरणों एवं मैक हिनेरी की लिस्ट कुछ इस प्रकार से है |

  • सभी उपकरणों जैसे कलर मॉनिटर, मल्टी फंक्शन कंप्यूटर, सर्वोमोटर, 9 colours, 6 head के साथ Computerised embroidery machine
  • मेज
  • स्टूल
  • कैंची, मापक टेप फ्रेम इत्यादि

Computerized  Embroidery business में प्रयुक्त होने वाले कच्चे माल की लिस्ट कुछ इस प्रकार से है |

  • अलग अलग रंग का कढ़ाई के लिए धागा
  • बुक्रम कपडा
  • मार्कर
  • क्राफ्ट पेपर इत्यादि

Manufacturing Process:

जैसा की हम सबको विदित है की यह कढ़ाई का काम रेडीमेड गारमेंट इकाइयों जो की पजामा, शर्ट, पेटी कोट, तकिया कवर, टेबलमैट्स, महिलाओं के सूट इत्यादि परिधानों का निर्माण करते हैं  से जुड़ा हुआ काम है | और इन्ही रेडीमेड इकाइयों से इस तरह की इकाइयों को अधिकतर काम मिलता है इसलिए इसे B2B  बिज़नेस भी कह सकते हैं | ऐसी इकाइयों के आर्डर मिलने के पश्चात ग्राहकों द्वारा प्रस्तावित डिजाईन या अपनी सूझ बूझ के आधार पर डिजाईन का चुनाव कर लिया जाता है | उसके अनुरूप ही उद्यमी द्वारा विभिन्न रंगों के कढ़ाई के धागे का चयन कर लिया जाता है | उसके बाद डिजाईन की फ्लोपी तैयार की जाती है और फ्लोपी को मशीन में रखा जाता है और एक फ्रेम में कपडे, बुक्रम इत्यादि को रख देने के बाद मशीन को चालू कर दिया जाता है |

यह भी पढ़े

कपड़े के बैग बनने के बिज़नेस की जानकारी

रेडीमेड गारमेंट बिज़नेस की पूरी जानकारी  

 

 

Comments

  1. By Ramvir singh parihar

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: