Deepak Patidar की बकरी पालन व्यवसाय में सफलता की कहानी |

बकरी पालन व्यवसाय में सफलता की कहानी में आज हम Deepak Patidar की बात करेंगे, यदि कोई व्यक्ति Goat Farming बिज़नेस करने की सोचता है, तो उसकी उस business के प्रति कुछ अपेक्षाएं होती हैं | इनमे मुख्य रूप से आजीविका चलाना, इतनी Kamai करने की अपेक्षा रखना की पारिवारिक जिम्मेदारियों का निर्वहन हो सके, और किसी दुसरे के अधीन नौकरी न करने की लालसा इत्यादि होती हैं | यह कहानी (Story) भी एक ऐसी ही व्यक्ति की है, जिसने शायद Goat Farming बिज़नेस की शुरुआत इन्ही सब बातों के मद्देनज़र की हो | कहते हैं की कठिनाइयाँ, चुनौतियाँ हर बिज़नेस में आती हैं, और ये अक्सर बिज़नेस के शुरूआती दौर में आती हैं | यही वह समय होता है, जब या तो बिज़नेस करने वाला व्यक्ति इन कठिनाइयों, चुनौतियों से हार मान लेता है, या इनका डटकर सामना करके आगे बढ़ता जाता है | आज हम एक ऐसे ही व्यक्ति की बात करेंगे जिन्होंने अनेक कठिनाइयों, चुनौतियों का सामना  करके अपने Goat Farming business को success बनाया है | जी हाँ दोस्तों, जिस व्यक्ति की हम यहाँ पर बात कर रहे हैं उनका नाम है Deepak Patidar | कृषि में BSC करने के बावजूद Deepak Patidar को इनके 15 सालों के Goat Farming business में अनेकों कठिनाइयों और चुनौतियों का सामना करना पड़ा | एक बार तो बहुत अधिक आर्थिक हानि उठाने के कारण उनके मन में इस बिज़नेस को छोड़ने का विचार आया था | लेकिन यहाँ पर केंद्रीय बकरी अनुसन्धान द्वारा दी गई मदद और सलाह उनके लिए ‘’ डूबते को तिनके का सहारा’’ साबित हुई | और वे फिर से अपने बिज़नेस को नई दिशा देने में कामयाब हुए |

Deepak Patidar goat farming success stroy

Early Life :

Deepak Patidar का जन्म मध्य प्रदेश राज्य के धार जिले के एक गांव में हुआ था | इन्होने अपनी प्रारम्भिक शिक्षा कक्षा 5 तक की पढाई गाँव के ही एक सरकारी स्कूल में की | उसके बाद Deepak Patidar आगे की पढाई करने हेतु इंदौर चले गए थे | और वही इन्होने अपने आगे की  शिक्षा पूरी की | इंदौर के कृषि महाविद्यालय से इन्होने सन 2000 में कृषि स्नातक की डिग्री प्राप्त की | कृषक परिवार में जन्मे Deepak Patidar का हमेशा से कृषि सम्बन्धी कामो और व्यवसायों में झुकाव रहा | जिसका असर इनके द्वारा ग्रहण की गई शिक्षा पर भी दीखता है | इन्होने BSC की डिग्री कृषि विषय पर ही ली | Deepak Patidar के अनुसार उनका Goat Farming को व्यवसाय के रूप में अपनाने का मूल कारण यह था, की बकरियों को लोग अक्सर नकद पैसे देके खरीदते हैं | और यह कृषि आधारित व्यवसाय होने के साथ साथ ज़ीरो मार्केटिंग वाला व्यवसाय भी था | वर्ष 2000 में Deepak Patidar ने केंद्रीय बकरी अनुसन्धान संस्थान उत्तरप्रदेश द्वारा आयोजित Training में हिस्सा लेकर, ट्रैनिंग ली | और वर्ष 2001 से बकरी पालन व्यवसाय में प्रवेश किया | बकरी पालन प्रारम्भ करने के सात सालो बाद अर्थात वर्ष 2008 में केंद्रीय बकरी अनुसन्धान संसथान ने Deepak Patidar को बकरी पंडित नामक पुरस्कार से अलंकृत किया |

Experience of Deepak Patidar in Goat Farming:

Deepak Patidar के अनुसार उनके द्वारा प्रारम्भ में अर्थात शुरू में बकरी की लोकल नस्ल का पालन किया गया | लेकिन कुछ लाभकरी और अच्छे परिणाम नहीं निकले | Deepak Patidar ने लगभग डेढ़ वर्ष तक बड़ी मुश्किलों का सामना किया, यहाँ तक की बकरी पालन व्यवसाय में उन्हें नुकसान तक हुआ | जिसके चलते उन्हें आर्थिंक हानि उठानी पड़ी | अब उनके मन में आया की यह व्यवसाय बंद कर दें, और कोई और व्यवसाय करें | उन्हें लगने लगा था की बकरियों को शेड (Shed) के अंदर पालना बहुत कठिन है | लेकिन जब उन्होंने केंद्रीय बकरी अनुसन्धान संस्थान के वैज्ञानिकों से संपर्क किया | तो उन्होंने उनको प्रोत्साहित किया, और उनका मनोबल बढ़ाया | और उन वैज्ञानिकों की बात मानकर Deepak Patidar ने फिर से अपने Goat Farming बिज़नेस को एक नया रूप देकर व्यवसाय शुरू करने की ठानी | Deepak Patidar के अनुसार उस स्थिति में संस्थान के वैज्ञानिकों द्वारा जो सुझाव Deepak Patidar को दिए गए उनमे से कुछ मुख्य सुझाव और सहायता निम्न हैं |

  • बकरी की नस्ल में परिवर्तन करके किसी भारतीय नस्ल की बकरियों को फार्म का हिस्सा बनाना |
  • उन्नत किस्म की नस्ल की बकरियों का पालन करने के साथ breeding फार्म |
  • Goat Farm के उत्पादन अर्थात बकरियों को जीवित भार के आधार पर बेचना |
  • अपने उत्पादन हेतु मार्केटिंग करना |
  • उस क्षेत्र में निवासित सभी छोटे बड़े बकरी पालन करने वाले लोगो को मिलकर काम करने की सलाह |
  • संस्थान के स्वास्थ्य विभाग द्वारा समय समय पर बकरी की बिमारियों समबन्धी रोगों का उपचार |
  • बकरी की नस्ल में सुधार करने Breeding हेतु संस्थान द्वारा बीजू बकरे प्रदान किये गए |
  • Deepak Patidar ने अपने फार्म के लिए सिरोही नस्ल को चयनित किया जिसे उन्हें इस व्यवसाय में लाभ हुआ |
  • संस्थान द्वारा दी गई मदद से बकरी और बकरों की मृत्यु दर काफी कम हो गई | और नस्ल बदलने से आर्थिक लाभ बी प्राप्त हुआ |

Achievement of Deepak Patidar in Goat Farming:

वर्तमान में Deepak Patidar के Goat farm में अलग अलग नस्लों जैसे सिरोही, बरबरी, जमुनापारी, जखराना इत्यादि की 500 बकरियाँ हैं | जिन्हे ये अपने ग्राहकों को उनके जीवित भार के अनुसार 350 से 500 रूपये प्रति किलो के हिसाब से बेचते हैं | उनके आस पास जितने भी अन्य बकरी पालक हैं, Deepak Patidar की कोशिश रहती है, की वो भी अपनी बकरियों में बीजू बकरों के माध्यम से गर्भधारण कराएं | ताकि बकरी की अच्छी उत्पादकता वाली नस्ल पैदा हो सके | इसके अलावा अन्य बकरी पालकों को बकरी की बिमारियों हेतु दवाइयों, टीकाकरण, डी वार्मिंग इत्यादि में Deepak Patidar सहायता प्रदान करते रहते हैं | इनके Goat farm का मुख्य उद्देश्य अन्य बकरी पालकों को पशु पालन विभाग द्वारा संचालित योजनाओं और NGO’s के बारे में अवगत कराना, और उनकी सहायता करना है | साथ ही साथ दीपक बकरी पालन करने वाले इच्छुक व्यक्तियों को प्रशिक्षण भी देते हैं | अब तक इनके Goat farm में लगभग 5000 लोग भ्रमण कर चुके हैं | जिन उपर्युक्त सेवाओं की हम बात कर रहे हैं इन सबके बदले Deepak Patidar शुल्क लेते हैं | अपने उत्पाद एवं सेवा के ऑनलाइन प्रचार प्रसार हेतु दीपक ने एक वेबसाइट goatwala.com बनायीं है |

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

30 thoughts on “Deepak Patidar की बकरी पालन व्यवसाय में सफलता की कहानी |

  1. Sir mera name Rakesh Kumar h SITAMARHI se mai bhi bakri paln karna chata hu Kaise taiyari karna chaye plz kuch idea chaye taki mai apna jiwan nirwah kar saku. 9060630550
    Plz help me

  2. Hello sir good evening
    Sir mujhe story likhne ka bahut sauk h m koi v bolliwod ki film dekhta hu ya koi story read krta hu to mai ek new bna deta hu. Aur maine 2ya3 story likha v h. M apne is hunar se paisa kamana chahta hu. Pr meri inglish week h kya karu. Pls guide me sir.
    Thanks

  3. Good morning sir.

    Sir mera nam Jaibhagwan hai.
    Mai haryana se hu. Or mai bakari palan karna chahta hu. Mujhe kon siso nasal ki bakari palani chahiye. Plz tell me.

    Thanks sir.

    Jaibhagwan B+
    7404457542

  4. Me bhi Bakri palan chalu kar NA chahta hu Muche Ap ki jarurt he me bank se loan lakar new goat farming Karna chahta hu
    Mera mo 9826634284

  5. सर में बकरी पालन करना है इसमें कितनी लगत आएगी ओर क्या करना पड़ेगा कोन कोन सी नसल पालनी चाहिए सर मुझे बताये मेरा नो. 08269143437

  6. मैं सुनील कुमार सिवान बिहार से हूँ l मैं बकरी पालन करना चाहता हूँ l मुझे आपकी मदद की जरूरत है । मेरी मदद करे मेरा नंबर 9939939947

  7. में सुरेश कुमार गांव संग्राम गढ़ जिला -भीलवाड़ा है| में मैथ्स में बीएससी हु और में बकरी पालन का काम करना ह इस लिए मुझे कौनसी नस्ल का पालन करना चाहिए मुझे इस में जानकर उपलब्ध् करावे मोबाईल नं 9649206249

  8. I m bk mishra.from bihar. Dist-munger.plz u send me that .sufficient pattern of goat.ant coast one piece.and whare is avilabl. My whatsapp no -8210531693. Mob no-7631904585.

  9. ट्रेनिंग के लिये किस प्रकार से अप्लाय करना पड़ता है

  10. मेरा नाम चक्रधर वनकर है मुझे बकरी पालन शुरू करना है मुझे किस नस्ल की बकरी पलना चाइये प्लीज़ मेरी मदद करो मेरा मोबाइल नम्बर 8234993298 हैँ

  11. बकरी पालन हेतु आवास बनवाने चाहता हुँ ! नकशा नही होने करणा !लम्बाई×चौडाई = पालन 100×5 आवास शेड.बनवाने है जो भाई और मित्र इस काम कर रहे है मदत करें फोन no8084246111

  12. मेरा नाम किशोर पाटीदार है मुझे बक रियों के टीकाकरण की सम्पूर्ण जानकारी चाइये कृपा कर के जानकारी उ पलब्ध कराए

  13. श्रीमान जी मैं प्लास्टिक के डिसपोजल सामान बनाना चाहता हू इसके लिए मुझको क्या करना चाहिए

  14. सर मै बकरी पालन करना चाहता हू क्या पालन के लिये हम किसी संस्था सै सहायता मिल सकती है या बैक से ये बकरी पालन से क्या सहायता मिलती है क्या कोई संस्था है जो मेरा बकरी पालन शुरू करने मे मदद करे या बकरी % पर पालने का काम देती है

  15. Respected Sir
    Mere paas Rajasthan k jaipur gramin distt. ki bairath tahsil me lagbhag 2 hectare land h m usland per goat farming karna chahta hu. M delhi me govt. servent hu per mera mann service me nahi lagta or m goat farming setup karna chahta hu .
    Meri aapse vinnati h ki aap mujhe disha nirdesh de ki m us land per kitani goats paal sakta hu or mujhe kitana loan mil sakta h kya mujhe subsidi bhi mil sakti or yadi mili to kitane % milegi.
    Sadhanyewad
    Balraj Kharera
    Shiva ji Enclave New Delhi 110027
    Mo. No. 9811265602

  16. सर में बाकरी पालना चहती हु इसका टेरेनी कहा से होसक ता है

  17. सर मेरा नाम अनिल सिंह असवाल है मै यह जानना चाहता हू कि बकरी पालन मे कम से कम कितनी जगह होनी चहिए और कितनी बकरीयाँ होनी चाहिए।

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *