Egg Trays Manufacturing Business

Egg Trays Manufacturing Business

Egg Trays अर्थात अन्डो की ट्रे का उपयोग मुख्य रूप से मुर्गी पालन व्यवसाय में संलिप्त उद्यमियों द्वारा अपने पोल्ट्री फार्म से उत्पादित अण्डों को सुरक्षित रखने एवं एक स्थान से दूसरे स्थान की ओर स्थानांतरित करने के लिए किया जाता है | चूँकि Egg Trays का उपयोग सर्वाधिक तौर पर अण्डों के उत्पादन से जुड़े Poultry Farms द्वारा किया जाता है इसलिए हम कह सकते हैं की Egg Trays की मांग B2B अर्थात Business to business होती है | उद्यमी चाहे तो इस इकाई में बागवानी से उत्पादित फलों जैसे सेब, संतरा इत्यादि की पैकेजिंग हेतु Tray का निर्माण और इनके अलावा अन्डो की पैकेजिंग में काम आने वाले पेपर बक्सों का भी निर्माण कर सकता है | बाज़ार में विभिन्न प्रकार के आउटलेट जैसे  किरयाना की दूकान, होटल ढाबों एवं अन्य संस्थागत कैंटीनो में Egg Trays को प्रायः देखा जा सकता है |

Egg Trays Manufacturing business

Egg Tray Manufacturing Business Kya Hai:

Egg Trays को Hindi में अण्डों की ट्रे कह सकते हैं चूँकि अंडा एक बहुत ही नाज़ुक आवरण से ढका हुआ होता है जो किसी भी प्रकार की थोड़ी सी चोट लगने पर टूट सकता है | इसलिए Egg Tray उपयोग करने का मकसद अण्डों का उत्पादन करने वाले उद्यमियों का अपने उत्पाद को बाज़ार में सुरक्षित ढंग से पहुँचाने का होता है | वर्तमान में जो Egg Trays Market में उपलब्ध हैं उनमे एक ट्रे में लगभग 30 अण्डों को रखने की पर्याप्त जगह होती है | अन्डो के विक्रेता इन Trays में अन्डो को रखकर Market में बेचते हैं वैसे अधिकांशतः Egg trays का उपरी भाग खुला हुआ रहता है लेकिन यदि अंडे का उत्पादन करने वाला उद्यमी चाहे तो किसी प्लास्टिक सामग्री से इन्हें Wrap भी कर सकता है | Egg Trays, Apple trays, Orange trays या अन्य किसी प्रकार की Paper Trays की Manufacturing Waste Paper की लुगदी बनाकर Molding process के माध्यम से किया जाता है | इसलिए Egg Trays Manufacturing business से हमारा आशय कमाई करने की उस प्रक्रिया से है जब कोई उद्यमी अनेकों प्रकार के Recycled paper का उपयोग करके Egg Trays का निर्माण कर उन्हें मुर्गी पालन व्यवसाय से सम्बंधित उद्यमियों को बेचकर अपनी कमाई कर रहा होता है |

Market Potential in Egg trays making:

यह तो हम सबको विदित है की भारत में अंडा एक प्रमुख खाद्य पदार्थ है और Egg Trays Manufacturing business पोल्ट्री फार्म बिज़नेस से जुड़ा हुआ बिज़नेस इसलिए है क्योंकि ज्यों ज्यों बाज़ार में अण्डों की मांग बढ़ेगी वैसे वैसे अण्डों की पैकेजिंग में काम आने वाली Egg Trays की भी Demand बढ़ेगी | यहाँ पर ध्यान देने वाली बात यह है की अण्डों का उपयोग लोगो द्वारा सिर्फ नाश्ते में ब्रेड आमलेट बनाते वक्त नहीं किया जाता अपितु अन्डो से रेस्टोरेंट एवं ढाबों में अनेकों प्रकार की Dishes तैयार की जाती है | इसके अलावा अण्डों का उपयोग केक इत्यादि इंडस्ट्री द्वारा भी बड़े पैमाने पर किया जाता है | वर्तमान जीवनशैली में अंडा बिलकुल फिट इसलिए भी बैठता है क्योंकि इस छोटी सी जिंदगी में बहुत कुछ करने की चाह रखने की बढती प्रवृत्ति के चलते लोगों के पास बहुत महत्वपूर्ण काम खाना बनाने के लिए भी समय निकालना मुश्किल होता जा रहा है | अंडा एक ऐसी खाद्य वास्तु है जिसे बहुत कम समय देकर आसानी से तैयार किया जा सकता है  यह पौष्टिकता से भरपूर एवं स्वाद में अच्छा होने के कारण लोग खाने में अधिकतर तौर पर इसका उपयोग करने लगे हैं | हालांकि अंडे में उच्च स्तर पर कोलेस्ट्रोल पाया जाता है पर यह Blood Cholesterol पर कोई प्रतिकूल प्रभाव नहीं डालता है | इसलिए कहा जा सकता है की लोगों में पौष्टिकता के प्रति बढती जागरूकता एवं जनसँख्या में बढ़ोत्तरी से अण्डों की मांग में और बढ़ोत्तरी हो सकती है, और अन्डो की मांग में बढ़ोत्तरी होने के चलते Egg Trays की मांग में भी बढ़ोत्तरी के आसार लगाये जा सकते हैं |

Required Raw Materials and machinery to establish Egg tray manufacturing business:

Egg Trays Manufacturing business स्थापित करने में मुख्य रूप से काम आने वाला कच्चा माल Recycled Paper जैसे Used Newspaper, cardboard cartoons इत्यादि है | इसके अलावा एल्युमिनियम सलफेट, Soluble wax का उपयोग भी सहायक कच्चे माल के तौर पर किया जाता है | Egg Trays Manufacturing business में काम आने वाली मशीनरी की लिस्ट कुछ इस प्रकार से है |

  • हाइड्रो पल्पर
  • मिक्सर
  • मौल्डिंग मशीन
  • ड्रायर

Required License and Registration for Egg Tray Making Business:

Egg Tray Making business Manufacturing Sector से जुड़ा हुआ बिज़नेस है इसलिए इस प्रकार के बिज़नेस को स्थापित करने के लिए विभिन्न सरकारी संस्थानों से भिन्न भिन्न प्रकार के लाइसेंस एवं पंजीकरण लेने की आवश्यकता हो सकती है | ये License एवं Registration राज्यों के आधार पर अंतरित हो सकते हैं | उदाहरणार्थ:  दिल्ली में बिज़नेस स्थापित कर रहे उद्यमी को राजस्थान में बिज़नेस स्थापित कर रहे उद्यमी से अलग अलग License एवं Registration लेने पड़ सकते हैं कहने से आशय यह है की  राज्यों के नियमों के अनुरूप लाइसेंस एवं Registrations में बदलाव संभावित हैं | लेकिन नीचे हम कुछ जरुरी लाइसेंस एवं पंजीकरण का जिक्र कर रहे हैं जो Egg Trays manufacturing business start कर रहे उद्यमी को लेने पड़ सकते हैं |

Manufacturing Process of Egg Trays:

सर्वप्रथम Recycled Paper को Hydro Pulper Machine में डाला जाता है, Hydro Pulper में इसे 4% consistency के साथ beat किया जाता है | Vibrating Screen के माध्यम से लुगदी तैयार होती है और रिफाइनर इसे साफ़ एवं रिफाइंड करता है | उसके बाद इसे पतला करके civil works pool में agitated किया जाता है | Egg Trays Manufacturing process में इसके बाद इसमें waterproof agents जैसे Soluble wax या Aluminum Sulphate आवश्यकतानुसार मिलाया जा सकता है | इस स्टेज में लुगदी को 1% consistency के आधार पर पतला किया जा सकता है | उसके बाद तैयार की गई लुगदी को rotary molder के pulp chest beneath में अग्रसित कराया जाता है | इस प्रक्रिया में Automatic Molders घूमता रहता है जिससे Molding के आधार पर Egg trays में सांचे तैयार होते जाते हैं | Molding Process पूर्ण होने के बाद drying process शुरू किया जाता है | Dryers का उपयोग गीली Egg Trays को सुखाने हेतु किया जाता है ड्रायर के सभी Modules में गैस या डीजल से चालित बर्नर, तापमान नियंत्रक, Air Recirculating Fan एवं Air diffuser लगे होते हैं | तापमान को आवश्कतानुसार एडजस्ट किया जा सकता है | Egg Trays सूख जाने के बाद इनका निरीक्षण किया जाता है | और निरीक्षण में खरे उतरी Egg Trays को Packaging करके Poultry Farms के Owners को बेचकर उद्यमी द्वारा अपनी कमाई की जा सकती है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: