पोल्ट्री उद्योग का एक बेहद प्रसिद्ध उत्पाद अंडा है और वर्तमान में Egg Wholesale Business बेहद लाभकारी हो सकता है। क्योंकि भारत में एक बहुत बड़ा तबका ऐसा है जो मीट, मांस, मछली की कीमत को वहन करने में असमर्थ है और इसी के चलते वह अंडे की तरफ उन्मुख होता है। कहने का आशय यह है की ऐसे लोग जिनकी क्षमता मीट, मांस, मछली के खर्चे वहन करने की नहीं होती है वे अपनी इस इच्छा की पूर्ति अंडे खाकर कर लेते हैं। अंडा एक ऐसा उत्पाद है जिसकी कीमत बहुत अधिक नहीं है इसलिए हर आय वर्ग के लोग इसे आसानी से खरीद सकते हैं। लेकिन जब भी हम अंडे के बारे में बात करते हैं तो हमारी आँखों के सामने पोल्ट्री फार्मिंग करने वाले किसानों की तस्वीर आती है लेकिन सत्य तो यह है की इस पोल्ट्री उद्योग से कई और लोग भी जुड़े हुए हैं। इनमें अंडे वितरण प्रणाली से जुड़े हुए लोग भी शामिल हैं। Egg Wholesale Business को एक एग डिस्ट्रीब्यूशन बिजनेस भी कह सकते हैं क्योंकि इसमें उद्यमी अण्डों को रिटेल स्टोरों तक पहुंचा रहा होता है। जैसा की हम सब जानते हैं की अण्डों का इस्तेमाल घरों में दैनिक उपभोग की वस्तु के तौर पर होता है। इसलिए इसकी मांग सर्वत्र हमेशा बनी रहती है इसलिए यदि आप भी इस तरह का यह व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं तो आज हम इस लेख के माध्यम से यही बताने का प्रयास कर रहे हैं की कैसे कोई व्यक्ति खुद का Egg Wholesale Business शुरू कर सकता है।

Egg Wholesale business in hindi
Egg Wholesale business

अण्डों का थोक व्यापार क्या है (What is Egg Wholesale Business):

अण्डों के थोक व्यापार से हमारा आशय उस व्यवसायिक प्रक्रिया से हैं जिसमें उद्यमी बड़े पैमाने पर पोल्ट्री फार्म या सप्लायर से सस्ते दामों में अंडे खरीदता है। और इनमें अपना लाभ जोड़कर रिटेल स्टोरों को बेचता है और रिटेल स्टोर अण्डों को अंतिम उपभोक्ता तक पहुंचाते हैं। इसलिए Egg Wholesale Business को एग डिस्ट्रीब्यूशन बिजनेस भी कह सकते हैं।

थोक व्यापार पर अधिक जानकारी के लिए यह पढ़ें.   

अण्डों की बिक्री की संभावनाएं

अण्डों की यदि हम बात करें तो इन्हें पूरी दुनिया में एक स्वास्थ्यप्रद भोजन के तौर पर जाना जाता है और इन्हें प्रोटीन के सबसे बेहतरीन स्रोतों में से एक माना गया है। अंडे कोलेस्ट्रोल से भरपूर होने कारण कई स्वास्थ्य सम्बन्धी जोखिमों को कम करता है और छोटे बच्चों की वृद्धि और विकास में सहायता करता है। अण्डों में विटामिन ए की भरपूर मात्रा होती है और इनमें उपलब्ध क्लोरिन मष्तिष्क के अणुओं के निर्माण में महत्वपूर्ण योगदान देता है। यही कारण है की सिर्फ भारतीय बाजार में ही नहीं अपितु वैश्विक बाजार में अण्डों की मांग बेहद अधिक है और यह लगातार बढती जा रही है। इसलिए किसी भी व्यक्ति के लिए Egg Wholesale Business शुरू करना उसकी जिन्दगी बदलने वाला निर्णय हो सकता है। इसके घरेलु इस्तेमाल से तो लगभग सभी लोग अच्छी तरह से वाकिफ हैं लेकिन अण्डों का इस्तेमाल बेकिंग एवं कन्फेक्शनरी इंडस्ट्री में भी बड़े पैमाने पर किया जाता है। कन्फेक्शनरी में जहाँ इनका इस्तेमाल ब्रेड, केक इत्यादि बनाने के लिए किया जाता है वहीँ मीट-पाई, शैम्पू, कंडीशनर, साबुन, कोलेस्ट्रॉल, फेस मास्क जैसे सौंदर्य प्रसाधन और गोंद के लिए कपड़ा उद्योग और चमड़े की सतहों के लिए एक सफाई एजेंट के तौर पर भी इनका इस्तेमाल किया जाता है । इन सब कारकों को देखते हुए कहा जा सकता है की Egg Wholesale Business शुरू करना बेहद लाभकारी बिजनेस हो सकता है।  

अण्डों का थोक व्यापार कैसे शुरू करें? (How to Start Egg Wholesale Business)

अण्डों का थोक व्यापार शुरू करने में उद्यमी को भारी भरकम निवेश करने की आवश्यकता नहीं होती है यहाँ तक की उद्यमी को किसी विशेष मशीनरी एवं उपकरण की भी आवश्यकता नहीं होती है। अब यदि मशीनरी एवं उपकरणों की आवश्यकता नहीं होती तो इसमें को दो राय नहीं की पॉवर सप्लाई की भी आवश्यकता Egg Wholesale Business के लिए नहीं होगी। इसलिए इस तरह के व्यवसाय को सँभालने के लिए उद्यमी को बहुत आधिक तनाव लेने की भी आवश्यकता नहीं होती है। उद्यमी चाहे तो शुरूआती दौर में सिर्फ 60-70 हज़ार रुपयों का निवेश करके ही इस व्यवसाय को शुरू कर सकता है । और उसके ग्राहक के तौर पर सिर्फ रिटेल स्टोर ही नहीं अपितु उस एरिया में स्थित होटल, ढाबे, खाने की रेहड़ी पटरियाँ इत्यादि भी हो सकती हैं । तो आइये जानते हैं की कैसे कोई व्यक्ति खुद का अण्डों का थोक व्यापार शुरू करके अपनी कमाई कर सकता है।

1. स्थानीय बाजार में दुकान का प्रबंध करें (Arrange shop for Egg Wholesale Business)

Egg Wholesale Business शुरू करने के इच्छुक उद्यमी को सर्वप्रथम जहाँ वह रहता हो, उस एरिया के स्थानीय बाजार में कोई खाली दुकान किराये पर ढूंढनी होगी।दुकान किराये पर लेते वक्त एक बात का विशेष ध्यान रखना होगा की चाहे दुकान का मालिक कितना ही परिचित क्यों न हो लेकिन रेंट एग्रीमेंट इत्यादि करना नहीं भूलना चाहिए। और चूँकि उद्यमी को अंडे रिटेल स्टोरों की ओर ट्रांसपोर्ट भी करने पड़ सकते हैं इसलिए यह दुकान ऐसी लोकेशन पर होनी चाहिए जहाँ किसी तरह के वाहन को आने जाने में कोई परेशानी न हो। यद्यपि इस तरह का यह व्यवसाय शुरू करने के लिए एक 10×10 की दुकान ही काफी होगी। लेकिन यदि उद्यमी की योजना और बड़े स्तर पर इस व्यवसाय को शुरू करने की है तो उसे स्टोर इत्यादि के लिए भी जगह की आवश्यकता हो सकती है। ध्यान रहे दुकान का स्थानीय बाजार में होना ही आवश्यक है क्योंकि रिटेल स्टोर के अलावा उद्यमी के पास अन्य घरेलु उपभोग करने वाले ग्राहक भी आ सकते हैं।    

2. फार्म या सप्लायर से संपर्क करें (Contact Farmer or Supplier)

अब यदि उद्यमी ने Egg Wholesale Business के लिए जगह का प्रबंध कर दिया हो तो अब उसे उस एरिया में स्थित पोल्ट्री फार्मिंग व्यवसाय करने वाले किसानों से संपर्क करना होगा । वैसे उद्यमी चाहे तो जगह का प्रबंध करने से पहले ही फार्म या सप्लायर से संपर्क कर सकता है। और जगह का प्रबंध करने के बाद भी कर सकता है आम तौर पर मार्किट में अंडे लेयर पोल्ट्री फार्म करने वाले किसानों से ही आते हैं। इसलिए यदि उस एरिया में इस तरह का यह काम कोई किसान कर रहा है तो उद्यमी को उससे तुरंत संपर्क करना चाहिए केवल एक पोल्ट्री फार्म से नहीं अपितु उद्यमी को उस एरिया में स्थित सभी पोल्ट्री फार्म से संपर्क करना चाहिए। लेकिन यदि कोई फार्म उस एरिया में उपलब्ध नहीं है तो उद्यमी लोकल सप्लायर से संपर्क कर सकता है जो उस एरिया में अंडे सप्लाई करने का काम करता हो।   

3. कम दाम में अंडे खरीदें

Egg Wholesale Business शुरू करने वाले उद्यमी को बेहद कम दामों में अंडे खरीदने की कोशिश करनी चाहिए क्योंकि जितने कम दामों में उद्यमी अंडे खरीद पाने में सक्षम होगा उतना ही लाभ कमाने में भी वह सफल हो पायेगा। लेकिन जहाँ तक सप्लायर की बात है सप्लायर द्वारा लगभग सभी थोक विक्रेताओं को एक ही दाम में अंडे बेचे जाते हैं यदि कोई थोक विक्रेता एक साथ बहुत अधिक अंडे खरीदता है तो उसके लिए कुछ अलग सी कीमत निर्धारित हो सकती है। इसलिए उद्यमी को खरीदी जाने वाली मात्रा के आधार पर भी कीमत के बारे में पता करना चाहिए। ताकि वह अपने बजट एवं खपत के आधार पर इस बात का निर्णय ले सके की उसके लिए कितनी मात्रा खरीदना फायदे का सौदा होगा । जहाँ तक बात पोल्ट्री फार्म ओनर की है इनकी कीमतों में अंतर देखे जा सकते हैं इसलिए उद्यमी को जिस पोल्ट्री फार्म से सबसे कम कीमत में अंडे उपलब्ध हों वहीँ से लेने की कोशिश करनी चाहिए।     

4. आस पास के रिटेल स्टोरों का पता करें

सस्ते दामों में अंडे खरीद लेने के बाद अब Egg Wholesale Business कर रहे उद्यमी का अगला कदम उस एरिया में स्थित आस पास के रिटेल स्टोरों से संपर्क स्थापित करना होगा। और वे अपनी दुकान में अंडे बेचने के लिए कहाँ से खरीदते हैं यह जानना होगा उद्यमी चाहे तो अन्य से उन्हें एक दो रूपये सस्ते दामों में अंडे की क्रेट बेच सकता है। और यदि कोई अधिक अंडे एक साथ खरीदता है तो उनके लिए एक डिस्काउंट योजना भी बना सकता है। उस एरिया में स्थित रिटेल स्टोरों के अलावा उद्यमी को अंडे की रेहड़ी जो बॉईल अंडे इत्यादि बेचते हैं, ढाबे, होटल इत्यादि से भी उद्यमी को संपर्क करना चाहिए और उन्हें अन्य की तुलना में सस्ते दाम तो ऑफर करने ही चाहिए साथ में उन्हें होम डिलीवरी का भी विकल्प देना चाहिए।   

5. लाभ मिलाकर अपने दामों में अंडे बेचें (Earn profit from Your Egg Wholesale Business)

वैसे देखा जाय तो अंडे बेचने वाले उद्यमी कभी भी अंडे की मार्केटिंग नहीं करते हैं शायद इसलिए क्योंकि यह एक ऐसा उत्पाद है जिसे मार्केटिंग की आवश्यकता नहीं होती है। लेकिन यदि उद्यमी Egg Wholesale Business में सफलता प्राप्त करना चाहता है तो उसे अन्य की तुलना में अपने दाम कुछ कम करने होंगे और हो सके तो नजदीकी रिटेल स्टोरों, होटल, ढाबों इत्यादि तक खुद ही अंडे पहुँचाने होंगे। अण्डों की खपत हर क्षेत्र चाहे वह ग्रामीण क्षेत्र हो, या शहरी सभी में होती है लेकिन फर्क सिर्फ इतना है की ग्रामीण भारत में उद्यमी को सिर्फ घरेलू उपभोक्ता को ही टारगेट करके इस व्यवसाय को शुरू करना पड़ता है। जबकि शहरी क्षेत्र में रेहड़ी पटरी, ढाबों, होटलों, बेकरी, प्रसाधन सामग्री बनाने वाली कम्पनियां, कन्फेक्शनरी उद्योग इत्यादि अण्डों के बड़े उपभोक्ता के तौर पर सामने आये हैं।

यह भी पढ़ें

3 Comments

  1. Avatar for Sushil kumar yadav Sushil kumar yadav
    January 29, 2021
  2. Avatar for Lokesh Chandel Lokesh Chandel
    October 9, 2020
    • Avatar for Krishna paswan Krishna paswan
      October 31, 2020

Leave a Reply

Your email address will not be published

error: