Food Truck Business Plan in Hindi खाद्य ट्रक व्यापार कैसे शुरू करें.

Food Truck Business Plan in Hindi खाद्य ट्रक व्यापार कैसे शुरू करें.

वर्तमान में इंडिया में Food truck business भी शहरों में काफी प्रचलित होते जा रहे हैं क्योंकि इस तरह का बिज़नेस शुरू करने के लिए उद्यमी को किसी निश्चित लोकेशन पर जगह की आवश्यकता नहीं होती है | कहने का आशय यह है की खाद्य ट्रक व्यापार उद्यमी को बिज़नेस शुरू करने के बाद भी लोकेशन चयन करने की पूरी आज़ादी देता है | Food Truck Business को शुरू करने का उद्यमी को जो सबसे बड़ा फायदा होता है वह यह है की उद्यमी अपने खाद्य ट्रक को समयानुसार हर रोज अलग अलग लोकेशन पर लगा सकता है | या भिन्न भिन्न लोकेशन पर लगा कर यह प्रयोग भी कर सकता है की कौन सी लोकेशन पर बिक्री अधिक हो रही है | इसके अलावा एक रेस्टोरेंट बिज़नेस स्टार्ट करने की तुलना में Food Truck Business स्टार्ट करने में लगने वाला खर्चा कम होता है | यही कारण है की इस आर्टिकल के माध्यम से हम खाद्य ट्रक व्यापार शुरू करने के लिए उठाये जाने वाले हर एक कदम के बारे में जानने की कोशिश करेंगे |

food truck business plan in hindi

How to start food truck business in India in Hindi:

इंडिया में अपना food Truck Business शुरू करने से पहले उद्यमी को इस व्यापार समबन्धी अनेकों प्लान बनाने पड़ सकते हैं | इनमे मुख्य रूप से ट्रक की खरीदारी, लोकेशन का चुनाव, किचन उपकरणों एवं कच्चे माल की खरीदारी, लाइसेंस एवं परमिशन, कर्मचारियों की नियुक्ति इत्यादि का प्लान सम्मिलित है |

  1. सही वाणज्यिक वाहन या फ़ूड ट्रक का चुनाव:

अपना Food Truck Business स्टार्ट करने के लिए उद्यमी को सबसे पहले कमर्शियल वाहन का चुनाव करना होता है | किस प्रकार का वाहन अर्थात वाहन का आकार प्रकार क्या होगा वह इस बात पर निर्भर करता है की उद्यमी अपने मेनू में कौन कौन से खाने को जगह देता है | लेकिन साधारण तौर पर यह बिज़नेस करने के लिए उद्यमी को लगभग 18-20 फीट लम्बे कमर्शियल वाहन की आवश्यकता होती है | जो नया 8-10 लाख रूपये में ख़रीदा जा सकता है | हालांकि इंडिया में बहुत सारे ट्रक जैसे टाटा, महिंद्रा एंड महिंद्रा, अशोक लेलैंड इत्यादि मार्केट में उपलब्ध हैं लेकिन शुरूआती दौर में Food Truck Business कर रहे उद्यमी को चाहिए की वह नया वाहन लेने का विचार त्याग दे और बिज़नेस को शुरू करने में खर्चा कम हो इसके लिए पुराना वाहन खरीदने का विचार बनाये | लेकिन अपने व्यापार के लिए ट्रक या अन्य कमर्शियल वाहन खरीदते समय उद्यमी को रजिस्ट्रेशन, फिटनेस सर्टिफिकेट, रोड टैक्स पावती, इंश्योरेंस, पोल्यूशन इत्यादि का निरीक्षण सावधानीपूर्वक कर लेना चाहिए | चूँकि कुछ राज्यों में एवं कुछ शहरों में प्रदूषण की दृष्टी से दस साल से पुराने वाहन प्रतिबंधित होते हैं इसलिए उद्यमी को चाहिए की वह पांच साल से अधिक पुराना वाहन न ख़रीदे | पुराने वाहन की कीमत नए वाहन की कीमत से लगभग आधी होती है इसलिए उसमे कुछ और खर्चा करके उसे अपने Food Truck Business की आवश्यकतानुसार वाहन बॉडी बिल्डर शॉप से मॉडिफाइड किया जा सकता है | इसलिए माना यदि उद्यमी रूपये चार लाख में भी पुराना ट्रक या वाहन खरीदता है और 1 लाख रूपये उसको मॉडिफाइड करने में भी लगाता है तो किचन उपकरणों को छोड़कर इसमें रूपये 5 लाख की लागत आती है, जो की लगभग 450 स्क्वायर फीट जगह (जिसका किराया 42000 है ) को मॉडिफाइड करने में आने वाले खर्चे की तुलना में बहुत ज्यादा है | लेकिन इसमें फायदे की बात यह है की उद्यमी को या तो किराया देना ही नहीं पड़ेगा या बेहद कम देना पड़ेगा | उद्यमी को हैवी ट्रक या वाहन नहीं खरीदना चाहिए बल्कि लाइट ट्रक खरीदकर इस बिज़नेस की शुरुआत आसानी से की जा सकती है | कुछ राज्यों मुख्य रूप से देश की राजधानी दिल्ली में 9:00PM से पहले हेवी ड्यूटी ट्रक सड़कों पर चलाने की इजाजत नहीं है |

  1. Food Truck Business के लिए लोकेशन का चुनाव कैसे करें:

यद्यपि जैसा की हम उपर्युक्त वाक्य में बता भी चुके हैं की Food Truck Business शुरू करने वाले उद्यमी को बिज़नेस शुरू करने के बाद भी यह आज़ादी रहती है की वह किसी अन्य स्थान को अपने ट्रक को आसानी से ले जा सकता है | लेकिन सच्चाई यह भी है की यदि उद्यमी द्वारा कुछ रिसर्च करके जगह का चयन किया जाए तो उसे बार बार लोकेशन बदलने की आवश्यकता नहीं भी हो सकती है | इसलिए शुरूआती दौर में ऐसी लोकेशन का चुनाव करना चाहिए जहाँ आस पास फ़ूड के विक्रेता कम हो या हो ही नहीं और उस स्थान पर हर रोज पैदल चलने वालों की भीड़ रहती हो, या फिर उस जगह के आस पास नौजवान कर्मचारी एवं विद्यार्थी गण उपलब्ध हों | हालांकि Food Truck Business कर रहे उद्यमी को इस बात का ध्यान रखना चाहिए की उनका ट्रक इस तरीके से पार्क हो जिससे यात्रियों को कोई परेशानी न हो और साथ में ट्रक लोगों को दिखना भी जरुरी है |

  1. Food Truck Business के लिए आवश्यक किचन उपकरण एवं कच्चा माल:

Food Truck Business शुरू करने के लिए उद्यमी को किचन उपकरण के तौर पर विभिन्न इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों जैसे माइक्रोवेव, जूसर मिक्सर, फ्रीजर, रेफ्रीजिरेटर, ग्रिलर, स्टीमर, इत्यादि की आवश्यकता के साथ काम करने वाली मेज, बर्नर, फ्रायर एवं स्मोकर, निकास उपकरण, बर्तन धोने के उपकरण, जनरेटर या इन्वर्टर की आवश्यकता हो सकती है | एक विश्वसनीय आंकड़े के मुताबिक किचन उपकरणों को खरीदने में आने वाला खर्चा लगभग तीन लाख के तक़रीबन हो सकता है | चूँकि किचन उपकरणों में अधिकतर इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है इसलिए उद्यमी को ये नए खरीदने में ही फायदा होता है क्योंकि नए उत्पादों के साथ कम से कम एक साल की वारंटी तो मिलती ही मिलती है, जिससे Food Truck Business start कर रहे उद्यमी को एक साल तक नित्य मेंटेनेंस के खर्चे से निजात मिल सकती है | हालांकि इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के अलावा या फिर कुछ इलेक्ट्रॉनिक उपकरण उद्यमी पुराने भी खरीद सकता है जो उसकी लागत को बेहद कम कर देंगी | किचन उपकरणों को छोड़कर उद्यमी को पहले एक हफ्ते के लिए अपने मेनू के मुताबिक कच्चे माल का भी प्रबंध करना होगा जिसकी अनुमानित लागत 35-40 हज़ार रूपये हो सकती है | शुरूआती दौर में उद्यमी को चाहिए की वह कम से कम कच्चा माल खरीद कर रखे ताकि जल्दी जल्दी वह ताजा कच्चा माल खरीदने में सक्षम हो सके | उसके बाद जब उद्यमी को लगने वाले कच्चे माल की मात्रा का अंदाज़ा हो जाय तो वह अपनी आवश्यकतानुसार और अधिक कच्चा माल अपने Food Truck Business के लिए खरीद सकता है |

  1. लाइसेंस एवं परमिशन की आवश्यकता:

हालांकि इंडिया में Food Truck business के लिए कौन कौन से लाइसेंस एवं परमिशन की आवश्यकता होगी इसके लिए कोई स्पष्ट कानून उपलब्ध नहीं है | कहने का आशय यह है की फ़ूड ट्रक के लिए किन किन दस्तावेजों की आवश्यकता हो सकती है यह कहीं भी परिभाषित नहीं किया गया है | लेकिन इस बिज़नेस को शुरू करने के लिए निम्नलिखित लाइसेंस एवं परमिशन की आवश्यकता हो सकती है |

  • चूँकि उद्यमी द्वारा फ़ूड बनाने का कार्य वाहन के अन्दर किया जायेगा इसलिए उद्यमी को फायर डिपार्टमेंट से फायर सेफ्टी सर्टिफिकेट की आवश्यकता हो सकती है, जिसे फायर डिपार्टमेंट द्वारा उद्यमी के वाहन का निरीक्षण करके जारी किया जायेगा |
  • शॉप एंड एस्टाब्लिश्मेंट एक्ट के तहत शॉप एंड एस्टाब्लिश्मेंट लाइसेंस की भी आवश्यकता हो सकती है इस पर और अधिक जानकारी के लिए शॉप एंड एस्टाब्लिश्मेंट एक्ट सम्बन्धी यह लेख पढ़ें |
  • शहर के आरटीओ से नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट लेने की आवश्यकता हो सकती है |
  • स्थानीय प्राधिकरण जैसे नगर पालिका, नगर निगम इत्यादि से भी नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट लेने की आवश्यकता हो सकती है |
  • फ़ूड बिज़नेस शुरू करने के लिए इंडिया में फ़ूड लाइसेंस की आवश्यकता होती है इसलिए Food truck Business के लिए भी इसकी नितांत आवश्यकता होगी | फ़ूड लाइसेंस के लिए ऑनलाइन कैसे अप्लाई करें |
  • उद्यमी को चाहिए की वह फ़ूड ट्रक में उपलब्ध किचन का बीमा करा ले ताकि कोई अनहोनी होने पर वह इस स्थिति से उबरने में कामयाब हो पाए |
  • कुछ राज्यों में बिज़नेस का टर्न ओवर बीस लाख कुछ राज्यों में दस लाख से अधिक होने पर उद्यमी को जीएसटी पंजीकरण की भी आवश्यकता हो सकती है | आइये जानते हैं ऑनलाइन जीएसटी पंजीकरण कैसे कराया जा सकता है |
  1. कर्मचारियों की नियुक्ति (Appointment of Staffs):

Food truck business start करने के लिए उद्यमी को कम से कम से तीन कर्मचारियों की आवश्यकता हो सकती है इसमें जहाँ दो लोग ग्राहकों के आर्डर के मुताबिक खाना बनाने में व्यस्त रहेंगे वही इन्हें एक हेल्पर की भी आवश्यकता होती है | कहने का आशय यह है की उद्यमी को दो कुक एवं एक हेल्पर की आवश्यकता हो सकती है | उद्यमी को कुक जहाँ 12-15 हज़ार में मिलेंगे वही हेल्पर 7-9 हज़ार में मिल जायेगा | यदि उद्यमी अपने Food Truck Business में डिलीवरी मॉडल भी शुरू करने की सोच रहा हो तो उसे 1-2 डिलीवरी बॉय की भी आवश्यकता हो सकती है | वैसे तो वर्तमान में कुछ logistic कंपनिया भी फ़ूड डिलीवरी का काम करती हैं जो एक आर्डर को डिलीवर करने के 40-50 रूपये चार्ज करते हैं | शुरूआती दौर में उद्यमी को इन सबसे बचना चाहिए और एक डिलीवरी बॉय नियुक्त कर लेना चाहिए जो फ़ूड डिलीवरी के अलावा आपातकाल में कच्चा माल इत्यादि खरीदकर लाने के काम में भी लाया जा सके |

  1. कर्मचारियों के लिए यूनिफार्म :

हालांकि Food Truck Business के इस पहलू को हमेशा से ही हर उद्यमी द्वारा नज़रंदाज़ किया जाता रहा है लेकिन सच्चाई यह है की बिज़नेस का यह पहलू उद्यमी के बिज़नेस में चार चाँद लगाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है | क्योंकि वर्तमान में लोग सड़क के किनारे खाना खाने के लिए भी ऐसी जगह की तलाश में रहते हैं जो जगह तो साफ़ सुथरी हो ही हो साथ में स्टाफ भी स्वच्छ दिखने वाला, अच्छा पहना हुआ हो | हालांकि शुरूआती दौर में Food Truck business करने वाला उद्यमी चाहे तो किसी सस्ती ड्रेस का चुनाव कर सकता है | प्रिंटेड टी शर्ट की यदि हम बात करें तो यह एक टी शर्ट उद्यमी को 150-200 के बीच आसानी से मिल सकती है और बल्क में खरीदने पर और भी सस्ती | इसलिए कहा जा सकता है की स्टाफ यूनिफार्म पर आने वाला खर्चा 5000-7000 तक हो सकता है | इसमें कोट, टी शर्ट, एप्रन, कैप इत्यादि पर आने वाला खर्चा सम्मिलित है |

  1. Food Truck Business Ki Marketing:

हालांकि Food Truck Business करने वाले उद्यमी के पास अधिकतर ग्राहक स्वयं ही चलकर आयेंगे इसलिए उसे अधिक पम्पलेट की आवश्यकता नहीं हो सकती है | लेकिन फिर भी उद्यमी को कुछ हज़ार पम्पलेट अवश्य छपवा लेने चाहिए ताकि वह स्थानीय अख़बार बांटने वाले से संपर्क करके इन पम्पलेट को आस पास के इलाकों में वितरित करा सके इसके अलावा बिलबोर्ड, बैनर इत्यादि बनाकर भी आस पास के भीड़ भाड़ इलाकों में चिपकाए जा सकते हैं | ऑफलाइन मार्केटिंग के अलावा उद्यमी को ऑनलाइन मार्केटिंग के उपकरणों जैसे सोशल मीडिया इत्यादि का भी इस्तेमाल बखूबी करना पड़ेगा और समय समय पर डिस्काउंट स्कीमें भी चलानी पड़ेंगी | इसके अलावा और अधिक कमाई करने के लिए उद्यमी को आस पास के इलाके में होने वाले समारोह, इवेंट इत्यादि की डिटेल रखनी भी जरुरी है ताकि उस दिन उद्यमी उसी इलाके में अपने फ़ूड ट्रक को पार्क कर सके | किसी भी बिज़नेस को सफल बनाने के लिए अपनाये जाने वाले कुछ मार्केटिंग तकनीक की लिस्ट यह है |

फ़ूड ट्रक बिज़नेस अनुमानित खर्चा एवं कमाई:

जहाँ तक Food Truck Business को शुरू करने में आने वाले खर्चे का सवाल है इस खर्चे को निम्न भागों में विभाजित किया जा सकता है जिससे हम खर्चे का सही से अनुमान लगा पाने में सक्षम हो पायें |

  • यहाँ पर हम उद्यमी द्वारा ख़रीदा जाने वाला ट्रक को पुराना मान के चलते हैं जिसमे मॉडिफाइड करने के बाद लगभग 5 लाख रूपये तक का खर्चा आ सकता है |
  • कर्मचारियों का वेतन पर आने वाला खर्चा हम 35000 मान के चलते हैं |
  • किचन के उपकरणों एवं कच्चे माल पर आने वाला खर्चा 3 लाख तीस हज़ार मान के चल सकते हैं |
  • मार्केटिंग, लाइसेंस एवं परमिट पर आने वाला खर्चा 80000 रूपये मान के चलते हैं |
  • कर्मचारियों के यूनिफार्म एवं अन्य मिश्रित खर्चों को मिलाकर तीस हज़ार का अनुमान लगाया जा सकता है |

उपर्युक्त आकड़ों से स्पष्ट है की इंडिया में Food Truck Business 9-10 लाख के निवेश के साथ शुरू किया जा सकता है | जहाँ तक कमाई का सवाल है इस प्रकार का यह बिज़नेस सामान्य दिनों में प्रतिदिन 8-9 हज़ार की बिक्री करने का सामर्थ्य रखता है और किसी इवेंट समारोह के होने पर यह आंकड़ा 20-25 हज़ार तक जा सकता है |

यह भी पढ़ें

सड़क किनारे ढाबा या रेस्टोरेंट का बिज़नेस कैसे शुरू करें |

ढाबा या रेस्टोरेंट बिज़नेस शुरू करने में आने वाली अनुमानित लागत एवं कमाई |  

इंडिया में फ़ास्ट फ़ूड का बिज़नेस कैसे शुरू करें

Comments

  1. By mukesh kumar

    Reply

  2. By Arvind

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: