देश के ही नहीं बल्कि दुनिया की अरबपतियों की लिस्ट फोर्ब्स द्वारा हर साल जारी की जाती है। हाल ही में भारतीय उद्योग जगत के दिग्गज गौतम अडानी को एशिया का सबसे अमीर आदमी के ख़िताब से नवाजा गया। जबकि उससे पहले नेट वर्थ के मामले में गौतम अडानी प्रसिद्ध उद्योगपति मुकेश अम्बानी से भी पीछे थे।

लेकिन जानकारी के मुताबिक पिछले एक साल में गौतम अडानी की नेट वर्थ लगभग दुगुनी हो चुकी है। और यही कारण है की पहले वे एशिया के सबसे अमीर आदमी बने, और अब दुनिया के अरबपतियों की लिस्ट में चौथे स्थान पर आ चुके हैं। हाल ही में अमेरिका के दानवीर उद्योगपति बिल गेट्स उनसे पीछे हो गए हैं ।

हालांकि फोर्ब्स ने अरबपतियों की कोई सालाना लिस्ट तो अभी जारी नहीं की है, लेकिन फोर्ब्स का कहना है की रियल टाइम रैंकिंग में गौतम अडानी ने अमेरिका के अरबपति बिल गेट्स को पीछे करके चौथा स्थान हासिल कर लिया है।

Gautam Adani

बिल गेट्स का पीछे होने का कारण  

प्राप्त जानकारी के मुताबिक बिल गेट्स ने अपनी नेट वर्थ में से 20 बिलियन डॉलर गेट्स फाउंडेशन को दान के तौर पर दे दिए थे। जिससे उनकी नेट वर्थ गिरकर 102 बिलियन डॉलर पर पहुँच गई। जबकि गौतम अडानी एंड फैमिली की नेट वर्थ 114 बिलियन डॉलर आंकी गई। यही कारण रहा की एक समय में दुनिया के सबसे अमीर अरबपति बिल गेट्स अमीरी की इस दौड़ में गौतम अडानी से भी पीछे हो गए।

कहने का आशय यह है की जैसे ही बिल गेट्स ने अपनी कुल नेट वर्थ में से 20 बिलियन डॉलर गेट्स फाउंडेशन को दान कर दिए, वैसे ही उनकी नेट वर्थ घट गई और वे दुनिया के सबसे अमीर लोगों की लिस्ट में चौथे से पाँचवे स्थान पर लुढक गए। और उनके पाँचवे स्थान पर लुढकते ही भारतीय उद्योगपति गौतम अडानी इस रेस में चौथे स्थान पर आ गए।

एक साल में अडानी की नेट वर्थ दुगुनी हुई

भारतीय उद्योगपति गौतम अडानी की सम्पति जितनी 2021 की शुरुआत में थी, आज जुलाई 2022 तक आते आते यह दुगुनी हो गई है। जानकारी के मुताबिक गौतम अडानी एंड फैमिली की नेट वर्थ 114 बिलियन डॉलर से अधिक है। अडानी ग्रुप का कारोबार बंदरगाहों, गैस, ग्रीन एनर्जी, बिजली, बेसिक इन्फ्रा इत्यादि औद्योगिक क्षेत्रों में फैला हुआ है।

हाल ही में अडानी ग्रुप ने अपने सहयोगी गैडोट के साथ मिलकर इजरायल के सबसे बड़े बदंरगाह की बोली को भी जीतकर, उसे 2054 तक चलाने की कमान संभाली है। और अडानी ग्रुप का लक्ष्य ग्रीन एनर्जी के क्षेत्र में सबसे बड़ा उत्पादक बनने की है। यही कारण है की अडानी ग्रुप अक्षय उर्जा की अनेकों परियोजनाओं पर 70 बिलियन डॉलर तक निवेश करने की योजना बना रहे हैं।

दुनिया के चौथे सबसे अमीर आदमी होने के अलावा गौतम अडानी एशिया के सबसे बड़े अमीर आदमी हैं। जिनकी कुचल अनुमानित नेट वर्थ 115.6 बिलियन डॉलर आंकी गई है ।   

नेट वर्थ के मामले में अंबानी से काफी आगे निकल चुके हैं अडानी  

मुकेश अम्बानी लम्बे समय तक भारत के ही नहीं बल्कि एशिया के सबसे अमीर आदमी बने रहे। लेकिन अब वे इस दौड़ में अडानी से लगातार पिछड़ते जा रहे हैं। फोर्ब्स बिलेनियर इंडेक्स जिसके आधार पर फोर्ब्स दुनिया के सबसे अमीर व्यक्तियों की लिस्ट जारी करता है, की मानें तो मुकेश अम्बानी गौतम अडानी से नेट वर्थ के मामले में काफी पीछे हो गए हैं।

जानकारी के मुताबिक जहाँ गौतम अडानी एंड फैमिली की नेट वर्थ 114 बिलियन डॉलर से अधिक आंकी गई है, वहीँ मुकेश अम्बानी एंड फैमिली की नेट वर्थ 87 बिलियन डॉलर आंकी गई है। जो गौतम अडानी की तुलना में 26 बिलियन डॉलर कम है। अडानी की नेट वर्थ में बढ़ोत्तरी का प्रमुख कारण अडानी ग्रुप के शेयरों की कीमतों में आया उछाल है ।

यह भी पढ़ें

Leave a Reply

Your email address will not be published