High Security Registration Plate Business. रजिस्ट्रेशन प्लेट बनाने का व्यापार।

वर्तमान में वाहनों में High Security Registration Plate का इस्तेमाल बहुत अधिक होता है । सड़क जो कभी खत्म होने का ही नाम नहीं लेती है इस पर हर रोज प्रतिदिन पता नहीं कितने वाहन दौड़ लगाते हैं। इसलिए जिस प्रकार मनुष्य की पहचान के लिए लोग उसे उसके नाम से जानते हैं ठीक इसी प्रकार इन वाहनों की पहचान करने के लिए इनके आगे और पीछे Registration Plate लगाने की आवश्यकता होती है। ताकि इनकी पहचान आसानी से सुनिश्चित हो सके कहने का आशय यह है की इन प्लेट का निर्माण सुरक्षा की दृष्टी से किया जाता है ताकि सड़क पर यदि किसी वाहन द्वारा किसी प्रकार का कोई अपराध किया जाता है तो वाहन की पहचान सुनिश्चित की जा सके। मोटर वाहन विभाग द्वारा सभी वाहनों में एक समान विधि से रजिस्ट्रेशन प्लेट प्रदर्शित करने के लिए कदम उठाये जा रहे हैं कहने का आशय यह है की मोटर विभाग द्वारा, केन्द्रीय मोटर वाहन अधिनियम 1989 के  नियम 50 में उल्लेखित नियमों के मुताबिक Registration Plate प्रदर्शित करने के लिए कदम उठाये जा रहे हैं । नियम के अनुसार रजिस्ट्रेशन प्लेट लगभग 1 MM मोटी एल्युमीनियम से बननी चाहिए। इसके अलावा पंजीकरण चिहन उभरा होना जरुरी है और अरबी या अंग्रेजी अंक हॉट स्टाम्पड होने चाहिए। अक्षरों का बैकग्राउंड रंग समय विशेष में चल रही रंग की योजनाओं के मुताबिक होना चाहिए।

High-Security-Registration-plate

High Security Registration Plate क्या है  

वाहनों पर लगने वाली एक ऐसी Registration Plate जो केन्द्रीय मोटर वाहन अधिनियम के नियम 50 में उल्लेखित नियमों को ध्यान में रखकर बनायीं गई हो, को हम High Security Registration Plate कह सकते हैं। यह प्लेट 1 MM मोटी एल्युमीनियम शीट से बनाई जाती है जिसमें पंजीकरण नंबर एवं अन्य अक्षर उभरे हुए होते हैं। और आम तौर पर इस तरह की ये प्लेटें पांच सालों की गारंटी के साथ आती हैं। और इस तरह की प्रत्येक प्लेट में एक क्रोमियम आधारित बाएं कोने पर नीले रंग में एक चक्र का होलोग्राम होता है। कम से कम सात अंकों की स्थायी पहचान संख्या रेफ्लेक्टिंग शीट के नीचे बाई ओर लेजर ब्रांडेड होती है। अक्षरों के ऊपर हॉट स्टम्पिंग फिल्म लगी होती है और प्लेट के बायीं ओर IND लिखा हुआ होता है। प्लेट को आगे और पीछे से ऐसे जोड़ा जाता है की दुबारा उसे हटाया नहीं जा सके।

Market Potential (बिक्री की संभावना): 

वर्तमान में भारत में High Security Registration Plate का बहुत अधिक महत्व है क्योंकि वर्तमान में देश में तरह तरह का आतंकवाद फ़ैल चूका है और यह सिर्फ भारत में ही नहीं अपितु दुनिया के अनेकों देशों में अपने पैर पसार चूका है। यही कारण है की सरकार द्वारा वीवीआईपी को इस तरह की नाम प्लेट मुहैया कराने के कदम को एक सार्थक एवं सकारात्मक कदम माना गया है। इसके अलावा लोगों में भी सुरक्षा के प्रति जागरूकता बढ़ने के कारण High Security Registration Plate की माँग देश में बढ़ रही है।

इसके अलावा उद्यमी, बिजनेसमैन के बीच भी इस तरह की रजिस्ट्रेशन प्लेटें काफी खासी प्रचलित हो रही हैं । और वर्तमान में प्रत्येक नए वाहन के लिए इस तरह की यह रजिस्ट्रेशन प्लेट अनिवार्य कर दी गई हैं। इसलिए लोगों की जीवनशैली में हो रहे सुधारों को देखते हुए कहा जा सकता है की आने वाले समय में भी इसकी माँग बढती रहेगी। और जिस वस्तु या सेवा की माँग लोगों के बीच रहेगी उसे बेचना बेहद कठिन कार्य बिलकुल भी नहीं है।

आवश्यक लाइसेंस एवं पंजीकरण:

चूँकि इस तरह की यह इकाई किसी प्रकार का प्रदूषण उत्पन्न नहीं करती है इसलिए उद्यमी चाहे तो इस तरह का यह बिजनेस स्थानीय लाइसेंस लेकर भी शुरू कर सकता है । लेकिन High Security Registration plate का निर्माण केन्द्रीय मोटर वाहन नियम में उल्लेखित नियमों के मुताबिक होना चाहिए। इस तरह का बिजनेस कर रहे उद्यमी को कर पंजीकरण, उद्योग आधार पंजीकरण इत्यादि की आवश्यकता हो सकती है। इसके अलावा उद्यमी को खुद के बिजनेस की जानकारी रीजनल ट्रांसपोर्ट ऑफिस को देने की भी आवश्यकता हो सकती है। हालांकि स्थानीय नियम राज्यों के आधार पर अलग अलग हो सकते हैं।         

आवश्यक मशीनरी उपकरण एवं कच्चा माल:

High Security Registration Plate बनाने का कार्य शुरू करने के लिए विभिन्न गतिविधियाँ करने की आवश्यकता होती है लेकिन आम तौर पर लोग यह जानने को उत्सुक रहते हैं की इस तरह के बिजनेस को शुरू करने के लिए मशीनरी, उपकरणों एवं कच्चा माल में क्या क्या खरीदना पड़ेगा । इसी बात को मद्देनज़र रखते हुए हम इस बिजनेस को शुरू करने करने में प्रयुक्त होने वाले कच्चे माल एवं मशीनरी की लिस्ट दे रहे हैं।

कच्चे माल की लिस्ट:

  • 1 MM मोटी एल्युमीनियम शीट/ रेट्रो रिफ्लेक्टिव शीट
  • रिफ्लेक्टिव ग्राफिक विनायल
  • पेन्ट
  • पैकिंग सामग्री

मशीनरी उपकरणों की लिस्ट:

  • पॉवर प्रेस
  • आटोमेटिक एम्बोस्सिंग सिस्टम
  • कोटिंग मशीन
  • पेडस्टल ड्रिल मशीन
  • हैण्ड ड्रिल
  • डाई
  • टूल, जिग, फिक्सचर इत्यादि

गुणवत्ता कैसी होनी चाहिए:

यद्यपि High Security Registration Plate का निर्माण केन्द्रीय मोटर वाहन अधिनियम 1989 के नियम 50 में उल्लेखित बातों को ध्यान में रखकर ही होना चाहिए। लेकिन HSRP Plate की गुणवत्ता सम्बन्धी कुछ प्रमुख बातें निम्नलिखित हैं।  

  • HSRP Plate को बनाने में रेट्रो रिफ्लेक्टिव शीट का इस्तेमाल होना चाहिए वह इसलिए ताकि रात में भी Registration Plate पर नजर आसानी से पहुँच सके । ध्यान रहे इसमें उच्च गुणवत्तायुक्त रेट्रो रिफ्लेक्टिव शीट का उपयोग होना चाहिए जिस पर उभरे अक्षरों को कम से कम 200 मीटर दूर से देखा जा सके।  
  • हॉट स्टाम्पड क्रोमियम आधारित होलोग्राम होना चाहिए । ताकि इसके साथ छेड़खानी करना और इसे हटा पाना असम्भव हो। और इसमें नीले रंग का एक चक्र भी होना चाहिए।
  • अक्षरों एवं अंकों को एक विशेष हॉट स्टम्पिंग फॉयल के साथ हॉट स्टाम्पड किया जाना चाहिए। प्लेट के बायीं तरफ नीले रंग में IND उल्लेखित होना चाहिए। इसके लिए एक विशेष प्रकार की स्याही का उपयोग किया जाता है।
  • High Security Registration Plate के बायीं कोने में लेजर से नक्काशी करके एक अल्फा न्यूमेरिक कोड बनाया जाता है। इस तरह का यह कोड यूनिक होता है और इसका इस्तेमाल वाहन मालिक के विवरण को सुरक्षित सर्वर के माध्यम से केन्द्रीय डाटाबेस से जोड़ने के लिए किया जाता है।
  • स्नेप लॉक के माध्यम से HSRP Plate को वाहन पर फिक्स किया जायेगा इसका डिजाईन एवं गुणवत्ता ऐसी होनी चाहिए की एक बार वाहन पर लगा देने के बाद इसे इसके वास्तविक स्वरूप में न तो वाहन से हटाया जा सके और न ही इसका दुबारा इस्तेमाल किया जा सके ।

निर्माण प्रक्रिया (Manufacturing Process):

यद्यपि वर्तमान में बाजार में इस तरह की प्लेट अर्थात High Security Registration plate बनाने के लिए छोटी से लेकर बड़ी बड़ी मशीनें आ चुकी हैं और उनसे इस तरह की प्लेटे बनाना बेहद आसान कार्य है । लेकिन क्या आप जिस मशीन के मध्यम से ऐसी प्लेट का निर्माण करने वाले हैं वह नियमों के मुताबिक रजिस्ट्रेशन प्लेट बनाने में सक्षम है । इस बात की जानकारी होना किसी भी उद्यमी के लिए बेहद जरुरी होती है। तो आइये सबसे पहले यही जान लेते हैं की High Security Registration plate का निर्माण कैसा  होना चाहिए।

  • रजिस्ट्रेशन प्लेट का निर्माण 1  MM मोटी एल्युमीनियम की शीट से होना चाहिए जो  DIN 1745 / DIN 1783 या ISO 7591 में उल्लेखित नियमों के अनुरूप होनी चाहिए। प्लेट के बॉर्डर के कोनों को राउंड किया जाना चाहिए प्लेट को चोटों इत्यादि से बचाने के लिए प्लेट के बॉर्डर को लगभग 10MM तक एम्बोस्ड किया जाना चाहिए। प्लेट हॉट स्टाम्पिंग के लिए उपयुक्त होनी चाहिए। शीट की कम से कम पांच वर्षों तक की गारंटी होनी चाहिए।
  • इस तरह की प्लेट में बीच से बायीं तरफ नीले रंग में IND अक्षर मुद्रित होना चाहिए और नियम 51 में उल्लेखित निर्देशों के मुताबिक यह अक्षर सम्पूर्ण अक्षरों का एक चौथाई भाग होना चाहिए। और इस अक्षर पर फॉयल लगाया जाना चाहिए या फिर इसमें हॉट स्टम्पिंग की जानी चाहिए और यह प्लेट का एक अभिन्न हिस्सा होना चाहिए।
  • High Security Registration plate को जालसाजी के खिलाफ सुरक्षा प्रदान किया जाना बेहद जरुरी है इसके लिए प्लेट पर क्रोमियम आधारित होलोग्राम हॉट स्टम्पिंग के जरिये लगाया जाता है। इस तरह की प्लेट पर स्टीकर एवं चिपकाने वाले पदार्थों को इस्तेमाल करने की अनुमति नहीं दी गई है। रेफ्लेक्टिंग शीट में लेजर ब्रांड के लिए इस तरह की प्लेट पर नौ अक्षरों की एक स्थायी पहचान संख्या होगी। हॉट स्टम्पिंग फिल्म को सत्यापन शिलालेख के तौर पर लगाया जायेगा।
  • नियम के मुताबिक आगे और पीछे के पंजीकरण चिह्नों के अलावा एक तीसरा पंजीकरण चिह्न होलोग्राम स्टिकर के रूप में वाहन के विंडशील्ड के बाईं ओर शीर्ष पर चिपका दिया जाना जरुरी है । वाहन की रजिस्ट्रेशन डिटेल्स जैसे चेसिस नंबर, इंजन नंबर इत्यादि को एक स्टीकर पर प्रिंट किया जाना चाहिए। और यह वाहन का तीसरा रजिस्ट्रेशन मार्क पंजीकृत प्राधिकारी एवं अनुमोदित डीलर द्वारा जारी किया जा सकता है। उसके बाद इस तरह का यह स्टीकर यदि नष्ट हो जाता है तो उसे लाइसेंस प्लेट निर्माताओं या उनके डीलर द्वारा जारी किया जा सकता है।
  • उभरी हुई या एम्बॉसड Registration Plate बनाने के लिए चार तरह के कच्चे माल जैसे एल्युमीनियम शीट का रोल, ग्राफिक विनायल का रोल, पेंट और पैकेजिंग सामग्री की आवश्यकता होती है । निर्माण प्रक्रिया के शुरूआती प्रक्रिया में विनायल को एल्युमीनियम की शीट पर लैमिनेट किया जाता है। उसके बाद एल्युमीनियम एवं एल्युमीनियम शीट पर स्टम्पिंग की जाती है जिसे ब्लैंकिंग प्रक्रिया कहते हैं। उसके बाद सभी ब्लेंक को होल्डिंग एरिया में स्थानांतरित किया जाता है जब तक उन्हें एम्बोसड और पेन्ट नहीं किया जाता। उसके बाद High Security Registration plate को पैकिंग के लिए भेज दिया जाता है।यह भी पढ़ें:
  • साइकिल रिम बनाने के व्यापार की जानकारी
  • ऑटो स्पेयर पार्ट बिजनेस कैसे शुरू करें ।
  • कार एक्सेसरीज का व्यापार कैसे शुरू करें।  

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *