एयर होस्टेस कैसे बनें? How to Become an Air Hostess in Hindi.

Air Hostess एक ऐसा नाम जिसका ब्रेकफास्ट किसी और देश में होता है तो डिनर किसी और देश में । जी हाँ भारत में ऐसे बहुत सारे लोग हैं जिनके लिए हवाई जहाज में सफर करना एक बहुत बड़ी बात है। और उनके लिए हवाई जहाज में बैठकर यात्रा करना किसी सपने से कम नहीं होता लेकिन कुछ ऐसी जॉब भी होती हैं जिन्हें करके व्यक्ति न केवल अपनी कमाई कर सकता है। बल्कि अपनी दुनिया देखने एवं विभिन्न प्रकार के लोगों से मिलने की जिज्ञासा को भी शांत कर सकता है। ऐसी ही जॉब में से एक जॉब का नाम है Air Hostess । हालाँकि इस जॉब में अधिकतर तौर पर एयरलाइन कंपनीयां लड़कियों की नियुक्ति ही करते हैं इसलिए लोगों के बीच एक अनभूति यह व्यापत है की Air Hostess सिर्फ लड़कियाँ ही बन सकती हैं जबकि यह सच नहीं है। एयर होस्टेस को हम दूसरे शब्दों में फ्लाइट अटेंडेंट भी कह सकते हैं इसलिए इस पोस्ट के लिए कोई भी चाहे वह लड़की हो या लड़का आवेदन कर सकते हैं। लेकिन लड़की जो यह कार्य करती है उसे Air Hostess कहा जाता है तो लड़कों को Stewards कहा जाता है।  यद्यपि भारत में देखा जाय तो यह एयर होस्टेस नामक व्यवसाय हाई प्रोफाइल व्यवसायों की लिस्ट में शामिल है जिसमें बहुत सारे स्नातक पास युवा अपना कैरियर बनाने के इच्छुक रहते हैं। भारत में यदि कोई लड़की Air Hostess बन जाती है तो उसके लिए यह क्षण किसी सपने के सच होने जैसा होता है। क्योंकि इस प्रोफेशन में न केवल अच्छी सैलरी एवं यात्रा करने का मौका मिलता है बल्कि दुनिया की विभिन्न लोकेशन पर विभिन्न तरह के लोगों से मिलने का अवसर भी प्राप्त होता है। उम्मीदवार को सेलिब्रिटीज एवं बिजनेस टाइकून इत्यादि से मिलने का अवसर भी प्राप्त हो सकता है।

Air-Hostess-kaise-bane

एयर होस्टेस का क्या क्या काम होता है (Responsibility of Air Hostess):

हालांकि लोगों को Air Hostess का काम बड़ा आसान लगता है लेकिन एक एयर होस्टेस पर हवाई जहाज में काफी जिम्मेदारियाँ होती हैं जिनका निर्वहन करना कोई आसान काम नहीं है । यहाँ पर नीचे हम एयर होस्टेस की कुछ कामों या जिम्मेदारियों की लिस्ट दे रहे हैं जिन्हें पढ़कर आप खुद अंदाज़ा लगा सकते हैं। की इस प्रकार की यह जॉब कितनी आसान या कितनी कठिन है ।

  • एक एयर होस्टेस की जिम्मेदारी हवाई जहाज से यात्रा करने वाले प्रत्येक यात्री का अभिवादन करने की होती है।
  • इनकी जिम्मेदारी सिक्यूरिटी के साथ समन्वय स्थापित करने की होती है।
  • यात्रियों की हवाई यात्रा को आरामदायक बनाना भी इनका काम होता है ।
  • यात्री को सीट सेटलमेंट एवं हवाई जहाज से जुड़े अन्य कार्यों को निबटाने हेतु मार्गदर्शित करने की जिम्मेदारी ।
  • इसके अलावा Air Hostess को कुछ अजीब एवं मुश्किल यात्रियों को भी संभालना पड़ता है।
  • एयर होस्टेस को हवाई जहाज में हमेशा शान्ति एवं धैर्य बनाये रहना पड़ता है।             

अनुभव प्राप्त कर लेने के बाद एक एयर होस्टेस सीनियर फ्लाइट अटेंडेंट और उसके बाद हेड अटेंडेंट के तौर पर नियुक्त हो सकती है। Air Hostess का कैरियर आम तौर पर 8-10 सालों का होता है उसके बाद वे ग्राउंड ड्यूटी पर तैनात हो सकती हैं। जिसमे उनका कार्य होस्टेस चेकिंग, एयर होस्टेस को प्रशिक्षण देने का, या फिर मैनेजमेंट स्तर पर कार्य करने का हो सकता है।

एयर होस्टेस बनने के लिए योग्यता (Air Hostess Eligibility):

चूँकि Air Hostess का काम भी इस धरती से दूर हवाई जहाज में यात्रियों का अभिवादन करने का होता है। कहने का अभिप्राय यह है की इन्हें अपनी ड्यूटी के दौरान धरती से दूर रहना पड़ता है और वहाँ इन्हें हवाई जहाज में उपलब्ध संसाधनों से पूरा कार्य चलाना पड़ता है। इसलिए Air Hostess बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता से ज्यादा व्यक्तित्व या पर्सनालिटी अधिक मायने रखती है। इसके अलावा मेडिकल फिटनेस भी बेहद जरुरी होती है। इसलिए एयर होस्टेस बनने के लिए आवश्यक योग्यता को हम चार भागों में विभाजित कर सकते हैं ।

1. शैक्षणिक योग्यता (Education Qualification):

Air Hostess Course करने के लिए कम से कम शैक्षणिक योग्यता 10+2 यानिकी बारहवीं पास है इसके बाद उम्मीदवार सर्टिफिकेट, डिप्लोमा एवं डिग्री कोर्स कर सकता है। लेकिन यदि आप एयर होस्टेस का पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स करना चाहते हैं तो इसे करने के लिए आपको स्नातक पास होना बेहद जरुरी होता है। हालांकि कुछ संस्थानों द्वारा दसवीं पास उम्मीदवार को भी एयर होस्टिंग में कुछ डिप्लोमा कोर्स ऑफर किये जाते हैं। लेकिन बेहतर यही होता है की कम से कम बारहवीं पास करके ही इस प्रकार के कोर्स ज्वाइन करने चाहिए। Air Hostess बनने की इच्छुक युवतियों को हिंदी, अंग्रेजी या विदेश की कोई अन्य भाषा का ज्ञान होना नितांत आवश्यक है।

2. उम्र एवं वैवाहिक स्थिति:

यद्यपि उम्र की सीमा एयर होस्टेस कोर्स ऑफर करने वाले संस्थान पर निर्भर करती है अर्थात अलग अलग संस्थानों में अलग अलग उम्र सीमा हो सकती है । लेकिन आम तौर पर यह उम्र सीमा 17 से 26 साल तक होती है। ठीक इसी प्रकार वैवाहिक स्थिति भी शैक्षणिक संस्थान की पालिसी पर निर्भर करती है। हालांकि अधिकतर संस्थान अविवाहित लड़कियों को ही प्राथमिकता देते हैं लेकिन कुछ संस्थान विवाहित औरतों को भी एडमिशन देते हैं।

3. शारीरिक मापदंड (Physical Standards):  

जैसा की हम उपर्युक्त वाक्य में पहले भी बता चुके हैं की Air Hostess नामक इस जॉब में पढाई से ज्यादा महत्व शारीरिक सुन्दरता एवं व्यवहार को दिया जाता है। इसलिए संस्थानों द्वारा पहले से ही कुछ शारीरिक मापदंड निर्धारित कर दिए जाते हैं। एक Air Hostess बनने की इच्छुक युवती की लम्बाई कम से कम 5.2’’ यानिकी 157 Cm. होनी चाहिए। और युवती के शरीर का भार भी उसकी लम्बाई के अनुरूप ही होना चाहिए। त्वचा की सुन्दरता भी मायने रखती है इसलिए युवती को साफ रंग की त्वचा का होना जरुरी है। युवती शारीरिक रूप से फीट एवं आकर्षक व्यक्तित्व वाली होनी चाहिए।

4. मेडिकल स्थिति:

जिस प्रकार Air hostess की जॉब के लिए शारीरिक मानकों पर खरा उतरने की आवश्यकता होती है ठीक उसी प्रकार मेडिकल मानकों पर भी खरा उतरने की आवश्यकता होती है। उम्मीदवार को कोई मानसिक बीमारी नहीं होनी चाहिए और न ही उसका ऐसा कोई इतिहास होना चाहिए। आँखों की रौशनी अच्छी होनी चाहिए। उम्मीदवार किसी बड़ी बीमारी से पीड़ित नहीं होना चाहिए।

एयर होस्टेस बनने के लिए व्यवहारिक कौशल की आवश्यकता: 

जिस प्रकार Air Hostess बनने के लिए शैक्षणिक, शारीरिक एवं मेडिकल फिटनेस की आवश्यकता होती है ठीक उसी प्रकार व्यवहार कुशल होने की भी आवश्यकता होती है। कहने का अभिप्राय यह है की सिर्फ शैक्षणिक, शारीरिक एवं मेडिकली फिट होने से काम नहीं चलेगा बल्कि Air Hostess बनने के लिए इससे भी अधिक की आवश्यकता होती है। उम्मीदवार के पास कुछ व्यवहार कौशल होने अत्यंत आवश्यक हैं जो उसके व्यक्तित्व को दर्शायें।

  • उम्मीदवार की अच्छी उपस्थिति के साथ साथ मधुर आवाज होना भी अत्यंत आवश्यक है । क्योंकि एयर होस्टेस को बोर्ड पर यात्रियों के साथ दोस्ताना लहजा अपनाना होता है । कहने का आशय यह है की एक दोस्ताना व्यक्तित्व ही Air Hostess को बनाये रखता है। कुल मिलाकर उम्मीदवार को आकर्षक व्यक्तित्व का होना चाहिए।
  • उम्मीदवार को प्रभावी ढंग से संवाद करना आना चाहिए क्योंकि हवाई जहाज में Air Hostess को यात्रियों के साथ संवाद करना पड़ सकता है। और उनको किसी चीज की जरुरत होने पर उनकी मदद करनी पड़ सकती है। कुल मिलाकर इस जॉब में भाषा की प्रवीणता अनिवार्य है इसलिए उम्मीदवार के पास अच्छे संवाद कौशल का होना भी आवश्यक है।
  • आपातकालीन लैंडिंग के दौरान एयर होस्टेस को अपने मष्तिष्क का उपयोग करके निर्देश बोर्ड पर यात्रियों को आवश्यक निर्देश देने पड़ सकते हैं। इसलिए एक एयर होस्टेस को बुद्धि तत्पर होना चाहिए।
  • एक एयर होस्टेस को टीम में काम करना आना चाहिए क्योंकि एक हवाई जहाज में 12-14 Cabin Crew मेंबर्स हो सकते हैं।
  • एक Air Hostess को फ्लाइट लेट होने पर 3-4 घंटे एक्स्ट्रा ड्यूटी करनी पड़ सकती है इसलिए एक एयर होस्टेस को लम्बे समय तक काम करना आना चाहिए।
  • एयर होस्टेस का हर स्थिति में सकारात्मक रवैया होना अनिवार्य है।      

 एयर होस्टेस बनने के लिए कोर्स (Air Hostess Courses):

यदि आप Air Hostess के तौर पर खुद का कैरियर बनाने के लिए गंभीर हैं तो आपको अपनी शैक्षणिक योग्यता के मुताबिक अपने लिए कोर्स का चयन करना होगा। एयर होस्टेस के लिए आम तौर पर तीन प्रकार के कोर्स उपलब्ध हैं । जिनका संक्षिप्त वर्णन निम्नवत है।

1. सर्टिफिकेट कोर्स:

इस प्रकार के यह कोर्स आम तौर पर बारहवीं पास उम्मीदवारों के लिए हैं इस तरह के इन कोर्स की अवधि 6 महीने से एक साल तक की होती है। लेकिन कुछ तीन महीनों के फास्ट ट्रैक कोर्स भी उपलब्ध हैं। Air Hostess Course की लिस्ट कुछ इस प्रकार से है।

  • एविएशन मैनेजमेंट एंड हॉस्पिटैलिटी
  • एयर होस्टेस मैनेजमेंट
  • एविएशन कस्टमर सर्विस
  • एयर होस्टेस ट्रेनिंग
  • केबिन क्रू/ फ्लाइट अटेंडेंट
  • एयरलाइन हॉस्पिटैलिटी

2. डिप्लोमा कोर्स:

डिप्लोमा कोर्स भी 10+2 के बाद किये जा सकते हैं लेकिन कुछ पोस्ट ग्रेजुएशन डिप्लोमा कोर्स केवल स्नातक के बाद ही किये जा सकते हैं। इन कोर्सों की अवधि भी 6 महीने से एक साल तक होती है।

  • डिप्लोमा इन एयर होस्टेस ट्रेनिंग
  • डिप्लोमा इन एविएशन एंड हॉस्पिटैलिटी मैनेजमेंट
  • डिप्लोमा इन हॉस्पिटैलिटी एंड ट्रेवल मैनेजमेंट
  • डिप्लोमा इन केबिन क्रू   

3. डिग्री कोर्स:

डिग्री कोर्स इन सभी कोर्सों में से सबसे महत्वपूर्ण कोर्स हैं इन्हें विद्यार्थी बारहवीं पास करके ज्वाइन कर सकता है और इनकी अवधि तीन वर्षों की होती है ।

  • बीएससी इन एयर होस्टेस ट्रेनिंग
  • बीएससी इन एविएशन
  • बैचलर ऑफ़ हॉस्पिटैलिटी एंड ट्रेवल मैनेजमेंट ‘
  • बैचलर ऑफ़ ट्रेवल एंड टूरिज्म मैनेजमेंट

यह तो थी Air Hostess बनने के लिए कोर्सों की लिस्ट लेकिन गंभीर उम्मीदवारों को तीसरा यानिकी डिग्री कोर्स का चुनाव करना चाहिए।

एयर होस्टेस बनने के लिए परीक्षा (Air Hostess Exam Process):

Air Hostess Course करने मात्र से ही युवती एयर होस्टेस नहीं बन जाती है बल्कि एयर होस्टेस बनने के लिए कंपनी द्वारा आयोजित इंटरव्यू इत्यादि भी पास करना होता है। आम तौर पर एयरलाइन कंपनी द्वारा एयर होस्टेस के लिए परीक्षा आयोजित की जाती है । कहने का आशय यह है की हर एयर लाइन कंपनी Air Hostess की नियुक्ति के लिए परीक्षाएं एवं इंटरव्यू आयोजित कराती है। इस एयर होस्टेस की नियुक्ति प्रक्रिया को तीन भागों में विभाजित किया जा सकता है।

1. लिखित परीक्षा:

इस लिखित परीक्षा का उद्देश्य उम्मीदवार की योग्यता और तर्क का परीक्षण करने का होता है इसलिए एप्टीट्युड एवं रीजनिंग से जुड़े हुए सवाल इस परीक्षा में पूछे जा सकते हैं। इस परीक्षा का पैटर्न अन्य प्रतिस्पर्धात्मक परीक्षाओं की भांति ही होता है जहाँ विभिन्न प्रकार के ऑब्जेक्टिव प्रश्न पूछे जाते हैं। इसलिए Air Hostess बनने की इच्छुक युवती को ठीक वैसी ही तैयारी इस परीक्षा को पास करने के लिए करनी होगी जैसे अन्य प्रतिस्पर्धात्मक परीक्षाओं को पास करने के लिए करनी पड़ती है।

2. ग्रुप डिस्कशन:

लिखित परीक्षा में पास उम्मीदवारों को एयरलाइन कंपनी द्वारा ग्रुप डिस्कशन के लिए बुलाया जाता है जहाँ पर उनकी बुद्धि तत्परता, कम्युनिकेशन स्किल, टीम वर्क, लीडरशिप क्वालिटी और  रवैये का परिक्षण किया जाता है। इसलिए Air Hostess बनने के इच्छुक उम्मीदवार को ग्रुप डिस्कशन के लिए अच्छी तैयारी करके जाना चाहिए।

3. पर्सनल इंटरव्यू:

ग्रुप डिस्कशन में चयनित उम्मीदवारों को एयरलाइन कंपनी द्वारा पर्सनल इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है । इसमें कंपनी का कोई प्रतिनिधि उम्मीदवार को हर एक मानक पर तौलता है और यदि उम्मीदवार का चयन इस दौरान कर लिया जाता है । तो चयनित उम्मीदवार को कंपनी छह महीनों की ट्रेनिंग के लिए भेज सकती है।

भारत में एयर होस्टेस प्रशिक्षण संस्थान:

यद्यपि भारत में Air Hostess का प्रशिक्षण देने वाले अन्य भी बहुत सारे संस्थान हो सकते हैं लेकिन कुछ प्रमुख संस्थानों की लिस्ट निम्नवत है।

  • फ्रैंकफिन इंस्टिट्यूट ऑफ़ एयर होस्टेस, नई दिल्ली एवं मुंबई ‘
  • एयर होस्टेस अकादमी, बंगलौर, चंडीगढ़, दिल्ली एवं मुंबई
  • राजीव गाँधी मेमोरियल कॉलेज ऑफ़ एरोनॉटिक्स, जयपुर
  • यूनिवर्सल एविएशन अकैडमी, चेन्नई
  • राय यूनिवर्सिटी, अहमदाबाद

कैसे होगी कमाई:

Air Hostess Course कर लेने के बाद उम्मीदवार को विभिन्न एयर लाइन कंपनियां जैसे एयर इंडिया, इंडियन एयरलाइन्स, अलायन्स एयर, गो एयर, जेट एयरवेज, इंडिगो, गल्फ एयर, सिंगापुर एयरलाइन, लुफ्थांसा इत्यादि एयर होस्टेस के तौर पर नियुक्त कर सकती हैं । आम तौर पर एक एयर होस्टेस की सैलरी 25-85 हजार रूपये प्रति महीने तक हो सकती है। जिसमें डोमेस्टिक फ्लाइट 25-40 हजार तक सैलरी दे सकते हैं । और अंतराष्ट्रीय फ्लाइट में Air Hostess की सैलरी प्रति महीने 85 हजार रूपये तक हो सकती है हालांकि कुछ अंतराष्ट्रीय एयरलाइन अनुभवी एवं सीनियर एयर होस्टेस को 1-2 लाख रूपये प्रति महीने तक सैलरी देती हैं। इन सबके अलावा एक Air Hostess को एयरलाइन कंपनी अतिरिक्त भत्ते जैसे मेडिकल इंश्योरेंस, रिटायरमेंट प्लान, फ्लाइट टिकेट पर डिस्काउंट इत्यादि भी प्रदान करती है।  

यह भी पढ़ें

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *