म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश कैसे करें? How to Invest in Mutual Fund.

अक्सर लोग एक दूसरे से म्यूच्यूअल फण्ड से होने वाली कमाई के बारे में तो सुनते हैं, लेकिन वो म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश कैसे कर सकते हैं? विषय पर आशंकित रहते हैं या यूँ कहें की वो इस प्रकिया से अनजान रहते हैं की वो कैसे म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश कर सकते हैं | ऐसे में वे इन्टरनेट के माध्यम से Google Platform पर How to Buy Mutual Fund in Hindi और How to invest in Mutual Fund in Hindi या फिर साधारणतया ‘’Mutual fund me invest kaise kare’’ इत्यादि वाक्यों को टाइप कर म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करने की प्रक्रिया जानने को उत्सुक रहते हैं | चूँकि हमारे इस ब्लॉग का ध्येय लोगों को कमाई की ओर प्रोत्साहित करने से है इसलिए हम समय समय पर ऐसे विषय जिनका प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष तौर पर मनुष्य की कमाई से लेना देना होता है के बारे में बात करते रहते हैं इसलिए आज कमाई टिप्स की इस श्रेणी में हम म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करने की प्रक्रिया के बारे में जानने की कोशिश करेंगे | तो आइये सबसे पहले यह जानने की कोशिश करते हैं की म्यूच्यूअल फण्ड खरीदने के लिए किसी भी निवेशक को किन किन दस्तावेजों की आवश्यकता हो सकती है |

म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश कैसे करें

म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश के लिए आवश्यक दस्तावेज:

म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश शुरू करने या इसे खरीदने के लिए सबसे पहले व्यक्ति को कुछ दस्तावेजों की आवश्यकता होती है जिनकी लिस्ट कुछ इस प्रकार से हो सकती है |

बैंक खाता MICR (Magnetic Ink Character Recognition) और IFSC (Indian Financial System Code) की डिटेल्स के साथ निवेशक के नाम से होना जरुरी है हालांकि उपर्युक्त डिटेल्स हर Cheque में उल्लेखित होती है और यह एक साधारण सी बात है जब Mutual Fund के एजेंट या डिस्ट्रीब्यूटर द्वारा निवेशक से कैंसिल Cheque की मांग की जाती हो |

म्यूच्यूअल फण्ड खरीदने का इच्छुक व्यक्ति KYC कैसे प्राप्त कर सकता है?

म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करने के इच्छुक व्यक्ति को KYC की आवश्यकता होती है, जो की KYC registration Agency द्वारा जारी किये जाते हैं | किसी भी फण्ड में निवेश करने से पहले यह अनिवार्य होता है, क्योंकि यह नियम भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने प्रिवेंशन ऑफ़ मनी लांड्रिंग एक्ट 2002 (PMLA) के अनुसार अनिवार्य किया हुआ है यद्यपि इस अधिनियम में समय समय पर संसोधन होते रहते हैं | KYC की यह प्रक्रिया निवेशकों के अनुकूल होती है और यह सिक्यूरिटी मार्किट में भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड द्वारा विनियमित विभिन्न बिचौलिए जैसे म्यूच्यूअल फण्ड, पोर्टफोलियो प्रबन्धक, डिपॉजिटरी सहभागी, स्टॉक ब्रोकर्स, वेंचर कैपिटल फंड्स, कलेक्टिव इनवेस्टमेंट स्कीम इत्यादि में एक सामान रहती है |  इसलिए KYC की यह प्रक्रिया इन बिचौलियों में KYC प्रक्रिया के दोहराव को खत्म कर देता है इसका अभिप्राय यह है की एक निवेशक जो म्यूच्यूअल फण्ड खरीदते समय या म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करते वक्त अपनी KYC ले चूका हो अब यदि भविष्य में वह अन्य किसी योजना जैसे कलेक्टिव इन्वेस्टमेंट स्कीम में निवेश करना चाहता हो तो उसे दुबारा इस प्रक्रिया को करने की आवश्यकता नहीं होगी |

KYC Application के साथ साथ किन किन डॉक्यूमेंट की आवश्यकता हो सकती है?

हालांकि अक्सर देखा गया है की म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करने वाला निवेशक जिस बिचौलिए अर्थात Intermediaries के माध्यम से निवेश करना चाहता है, उन्ही के द्वारा उससे कुछ दस्तावेजों की डिमांड की जाती है ताकि वे केवाईसी रजिस्ट्रेशन एजेंसी के माध्यम से KYC रजिस्टर करा सकें | KYC के लिए निवेशक को आवेदन फॉर्म के साथ कुछ सेल्फ Attested दस्तावेज सबमिट कराने होते हैं | जिनकी लिस्ट कुछ इस प्रकार से है |

  • वर्तमान में खींची हुई अपनी एक पासपोर्ट साइज़ फोटोग्राफ
  • फोटो पहचान प्रमाण पत्र (पैन कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, आधार कार्ड या ड्राइविंग लाइसेंस में से कोई भी दस्तावेज)
  • पता प्रमाण पत्र (आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट, राशन कार्ड, लीज एग्रीमेंट, लेटेस्ट बैंक अच्कोउन स्टेटमेंट, लेटेस्ट बिजली बिल इत्यादि में से कोई भी एक दस्तावेज)

Intermediaries या KRA के कार्यालय में आवेदन के साथ उपर्युक्त दिए गए दस्तावेज सबमिट करा देने के बाद KYC जारी होने में कुछ दिनों का समय लग सकता है इस बीच म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करने का इच्छुक व्यक्ति चाहे तो निम्न वेबसाइट की मदद से इसकी स्थिति का पता कर सकता है |

अब जब म्यूच्यूअल फण्ड खरीदने के इच्छुक व्यक्ति को KYC प्राप्त हो जाता है उसके बाद ही वह म्यूच्यूअल फण्ड एवं सिक्यूरिटी मार्किट से जुड़ी अन्य योजनाओं में पैसा निवेश कर सकता है |

म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश कैसे करें? (How to invest in Mutual fund Hindi):

किसी भी निवेशक के पास KYC पा लेने के बाद म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करने के दो रस्ते ऑफलाइन एवं ऑनलाइन होते हैं | लेकिन निवेश करके से पहले निवेशक को पूरी तरह से इस बात की रिसर्च करनी होगी की उसे किस Asset management Company के किस योजना के अंतर्गत निवेश करना है | इसके लिए निवेशक को विभिन्न बिन्दुओं जैसे म्यूच्यूअल फण्ड के प्रकार, निवेश करने के पीछे निवेशक का उद्देश्य, म्यूच्यूअल फण्ड स्कीम की पिछली परफॉरमेंस इत्यादि पर ध्यान देना बहुत जरुरी है लेकिन पिछली परफॉरमेंस इस बात का दावा नहीं करती है की यह फण्ड वैसा ही प्रदर्शन करेगा जैसा इसने पहले किया था |

म्यूच्यूअल फण्ड में ऑफलाइन निवेश कैसे करें?

किसी भी निवेशक को म्यूच्यूअल फण्ड में ऑफलाइन निवेश करने के लिए भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड द्वारा विनियमित Financial Intermediaries यानिकी वित्तीय मध्यस्थता की आवश्यकता होती है | सेबी द्वारा विनियमित इन बिचौलियों को म्यूच्यूअल फण्ड का वितरक भी कहा जाता है | इसके अलावा निवेशक चाहे तो सीधे एसेट मैनेजमेंट कंपनियों  जैसे UTI Asset management, Birla Sun Life asset management, reliance group, Tata group  इत्यादि के कार्यालय में जाकर भी म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश कर सकता है | जहाँ तक म्यूच्यूअल फण्ड वितरकों का सवल है यह कोई भी व्यक्तिगत व्यक्ति, कोई बैंक, कोई कंपनी या कोई अन्य वित्तीय संसथान हो सकता है जहाँ जाकर निवेशक सभी औपचारिकतायें करके ऑफलाइन म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश कर सकता है |

म्यूच्यूअल फण्ड में ऑनलाइन कैसे निवेश करें?

ध्यान रहे की म्यूच्यूअल फण्ड में ऑनलाइन निवेश करने की प्रक्रिया शुरू करने से पहले आपके पास KYC होना अनिवार्य है, यदि आपको KYC registration agency द्वारा KYC जारी नहीं किया गया है तो आप म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश नहीं कर पाएंगे |

ऑनलाइन म्यूच्यूअल फण्ड खरीदने के लिए सामन्यतया इच्छुक व्यक्ति को Asset management Companies की वेबसाइट पर जाना होता है | इनमे कुछ कंपनियों के वेब पते इस प्रकार हैं |

https://www.utimf.com/

https://mutualfund.adityabirlacapital.com/

https://www.reliancemutual.com/

http://www.tatamutualfund.com/

इनमे ऑनलाइन निवेश करने के लिए अधिकतर विकल्प ‘’Invest with us’’ Invest now’’ Invest Online  इत्यादि के होते हैं | निवेशक इंस्ट्रक्शन का अनुसरण करते हुए निवेश कर सकता है सामान्य तौर पर सभी वेबसाइट द्वारा अपना खाता बनाने की फैसिलिटी इनमे दी जाती है, निवेशक अपने मन मुताबिक यूजर आईडी एवं पासवर्ड बनाकर इसमें प्रविष्ट हो सकता है | इस प्रक्रिया में निवेशक को जिस फण्ड में वह निवेश करना चाहता है उसके चयन के अलावा, निवेश की मात्रा, म्यूच्यूअल फण्ड के प्रकार इत्यादि का भी चयन करना होता है किसी तरह की असुविधा महसूस होने पर म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करने वाला व्यक्ति एसेट मैनेजमेंट कंपनी के अधिकारिक फ़ोन नंबर या कस्टमर केयर नंबर पर फोन करके सहायता प्राप्त कर सकता है |

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *