Jila Udyog Kendra Ki Jankari

Jila Udyog Kendra कार्यक्रम की शुरुआत सन 1978 में केंद्र सरकार द्वारा लघु, छोटे, कुटीर और ग्रामोद्योग को केंद्र बिंदु में रखकर की गई थी | इसका उद्देश्य इन उद्योगों को किसी विशिष्ट क्षेत्र के अंतर्गत प्रोत्साहन और इन उद्योगों की जरूरतों के अनुसार सेवाएं एवम मदद किसी एक जगह से देने का है | Jila Udyog Kendra जिला स्तर पर एक ऐसा Center है, जो उस विशिष्ट जिले में माइक्रो, लघु एवम मध्यम उद्योग से जुड़े उद्यमियों की हर प्रकार सहायता करने के उद्देश्य से स्थापित किया गया है | जिला उद्योग का काम विभिन्न उपयुक्त Schemes की पहचान करना, Feasibility Report बनाना, Credit Facility का प्रबंध करना, मशीनरी एवम Equipments की Purchasing में मार्गदर्शन करना, Industrial क्लस्टर के लिए कच्चे माल एवम डेवलपमेंट का Provision करना इत्यादि है | जिला उद्योग केंद्र को स्थापित करने में राज्य सरकार एवम केंद्र सरकार की वित्त संबंधी सहभागिता बराबर होती है | Jila Udyog Kendra उद्योग निदेशालय के अंतर्गत काम करते हैं, और हर केंद्र में लगभग एक जनरल मेनेजर, 4Functional मेनेजर तीन प्रोजेक्ट मेनेजर होते हैं |

Jila Udyog Kendra Kya Hai :

प्रत्येक जिले में लघु एवं ग्रामोद्योग की आवश्यकताओं से deal करने के लिए एक शाखा/संस्था/एजेंसी होती है, जिसे Jila Udyog Kendra अर्थात District Industries center कहा जाता है | इन केन्द्रों द्वारा जिला स्तर पर निवेश को बढ़ावा देने हेतु विभिन्न आयोजनों, कार्यक्रमों, क्रियाशालाओं का जमीनी स्तर पर शुरुआत की जाती है | इन कार्यक्रमों में व्यापार मेले, प्रदर्शनियां, सेमिनार इत्यादि का आयोजन विभिन्न उद्योग संघो द्वारा आयोजित किये जाते हैं | इसके अलावा जिले में स्थापित लघु उद्योगों एवं ग्रामोद्योगों से जुड़े कारोबारियों की business की राह में आने वाली हर अटकल में उन्हें तकनिकी, आर्थिक एवं सामाजिक support प्रदान करना भी Jila udyog Kendra का दायित्व होता है |

जिला उद्योग केंद्र की गतिविधियाँ

जिला उद्योग केंद्र में जिले के अंतर्गत विद्यमान उद्योगों पर आधारित निम्नलिखित गतिविधियाँ की जाती हैं |

  • जिले में स्थित उद्योगों की आर्थिक जांच |
  • उद्योगों के लिए कार्यशाला एवं यंत्रो से जुड़ी गतिविधिया |
  • अनुसंधान, शिक्षा और प्रशिक्षण से सम्बंधित गतिविधियाँ |
  • कच्चे माल के प्रबंध से जुड़ी गतिविधियाँ |
  • वित्त एवं ऋण सुविधाएँ संबंधी गतिविधियाँ |
  • विपणन सहायता से जुड़ी गतिविधियाँ |
  • कुटीर उद्योग से समबन्धित गतिविधियाँ |

Jila Udyog Kendra Ke Lakshy :

जिला उद्योग केंद्र के प्रमुख लक्ष्य निम्नलिखित हैं |
जिला का औद्योगिक विकास करने के लिए समग्र प्रयासों में तेजी लाना |
ग्रामीण उद्योग एवम हस्तशिल्प संबंधी उद्योगों का विकास करना |
जिले के विभिन्न क्षेत्रों में आर्थिक समानता की प्राप्ति करना ।
नए उद्यमियों को सरकारी योजनाओं से अवगत कराना और उन्हें उन योजनाओं का लाभ प्रदान कराना।
नई औद्योगिक इकाई शुरू करने की विभिन्न प्रक्रियाओं का केन्द्रीयकरण अर्थात Centralization करवाना |
नई औद्योगिक इकाई शुरू करने में लगने वाले प्रयासों जैसे Permission, License, Registration, Subsidies इत्यादि में लगने वाले समय को काम करना |

Jila udyog Kendra Ke Functions:

जिला उद्योग केंद्र के विभिन्न Functions होते हैं, जिनमें मुख्य functions की लिस्ट निम्नवत है |

  • Jila Udyog Kendra जिले के औद्योगीकरण में केन्द्र बिन्दु के रूप में कार्य करता है।
    जिले में मौजूद सहकारी क्षेत्र एवं छोटे, मध्यम, बड़े औद्योगिक इकाइयों का सांख्यिकी संबंधी जानकारी रखना |
  • उद्यमियों को समय समय पर विभिन्न अवसरों से अवगत कराना, और अवसर मार्गदर्शन करना ।
  • कच्चे माल और उनकी उपलब्धता के स्थानीय स्रोतों के बारे में जानकारी का संकलन करना ।
  • कुशल, अर्ध-कुशल श्रमिकों के लिए सम्मान के साथ जनशक्ति का मूल्यांकन करना ।
    जिले में उद्योगों की गुणवत्ता परीक्षण, अनुसंधान और विकास, परिवहन, प्रोटोटाइप विकास, गोदाम आदि जैसी बुनियादी सुविधाओं की उपलब्धता का आकलन एवं विश्लेषण |
  • उद्यमिता विकास प्रशिक्षण कार्यक्रमों का आयोजन एवं क्रियान्वयन |
  • विभिन्न सरकारी योजनाओं, सब्सिडी, अनुदान और सहायता की अन्य निगमों जिन्हें उद्योगों के विकास हेतु स्थापित किया गया हो, से जानकारी उपलब्ध कराना |
  • Small Scale Industries हेतु Registration की व्यवस्था करना |
  • तकनीकी-आर्थिक व्यवहार्यता रिपोर्ट तैयार करना भी जिला उद्योग केंद्र के Functions की लिस्ट में सम्मिलित है |
  • निवेश कार्यों को पूर्ण करने के लिए उद्यमियों को सलाह देना ।
  • जिला उद्योग केंद्र उद्यमी की ऋण सम्बन्धी आवश्यकता को पूरा करने के लिए उद्यमियों और जिले के अग्रणी बैंक के बीच एक कड़ी के रूप में कार्य करता है।
  • प्रधान मंत्री मुद्रा योजना , प्रधान मंत्री एम्प्लॉयमेंट जनरेशन प्रोग्राम, इत्यादि सरकार द्वारा प्रायोजित योजनाओं को शिक्षित बेरोजगार लोगों को अवगत कराना और इन योजनाओं का लाभ कोई उद्यमी कैसे ले सकता उसमे मार्गदर्शन Provide करना भी Jila udyog Kendra के Functions की List में शुमार है |
  • जिला उद्योग केंद्र उद्यमियों को विद्युत बोर्ड, जल आपूर्ति बोर्ड, अनापत्ति प्रमाण पत्र इत्यादि License प्राप्त करने में मदद करता है |
  • उद्यमी को आयातित मशीनरी और कच्चे माल की खरीद करने के लिए मदद करना एवं Jila Udyog Kendra अन्य सरकारी एजेंसियों के साथ संपर्क करके विपणन आउटलेट को भी संगठित करता है ।

 

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

17 thoughts on “Jila Udyog Kendra Ki Jankari

  1. I want to start my own business of restaurant on my education basis of hotel management so I need finance. Can I get loan on my education basis (diploma and degree certificate) loan for business.

  2. श्री मान जी को नमस्कार
    सर जी मुझे भी छोटा मोटा धंधा खोलना चाहता हूं
    जिसमे पहली प्राथनिकता मे 2-3गाय व भैंस खरीदकर दुध का कार्य को है
    दुसरी मेरी मै. (इलेक्ट्रोनिक) ITI से हू वह राजस्थान खादीग्रामोद्योग सांगनेर जयपुर से कम्प्युटर हार्डवेयर ,साथ ही RS-CIT भी कर रखी
    वह ग्रामीण क्षेत्र मे मुझे बजरी व ड्रस्ट मिल जाये गी तो मै टायल या ईंट भी बना सकू
    या आप अपनी ओर से अच्छा पलान बता सकते हो
    तो मुझे भी सर राय दो

  3. Sir ji mai Bihar,madhubani jila ka nivasi hu.maine ek low coast Hearing AID sirf 75rupees me taiyar kiya hu or ek wireless autometic emerjency light ka avishkar kiya hu mere or bhi bahut sare search hai jiska mai buisness karna chahta hu. Mujhe mere avishkar ke circuit ka copyright karwani hai so please help me sir.my mo.no is 8651322371,9304171053

  4. ,मत्री जी बैगलोर आकर हमे जौर देकर कहा आप राजस्थान मे नीवेस करे तो हम परवासी बहुत कोसीस की की सोटे मौटे सवाल के लीऐ हम पीसले सह महीनौ से कौसीस कर रहै है लेकीन आज तक कौई हमे सपौट कर सही सला देने वाले अधीकारी मीला ही नही हम जानने की कोसीस कपते लेकीन वौ लौग फौन रखने कौ जल्दी रहती व सही सलाह ही नही मील रही है अच्चा व हुआ की हम परवासी पाली मे कही फसे ही नही नही तो सलाह व हैल्प के अभाव मे भारी नुकसान ऊटाना पडता व यहा का ही व्यापार से चले जाते यह नेताऔ का खाली पैपर व मीडीया दीखावा ही है कोई पाली मे नही जायेगा अगर कौई गया ही तौ फसा हुआ महसुस कर रहा है कौई अधीकारी सही सौटी मौटी सलाह देने कौ तयार ही नही है वो बौलते नेट मे वैबसाईड खोल कर देखलो तो लगता है की सरकारी मशिनरी यह कारेय पाली मे कपने कराने कौ तयार ही नही है
    मौ 9663852142
    T 08042047116

  5. Hi
    My name is bajrang sharma and i am from balesar jodhpur. I had started my own factory in which we mainly manufacturing iron box and iron drum and many other thing.
    Now i want to expand my business but due to money problem i cant do it.
    So of goverment have any plan which can help me .
    Thanks

  6. Sir I am shriram, I want to start a Agarbatti udhyog. I have a plat (1000 square feet), please help me that how to start my business? And I want a loan Amount at least Rs. 20,0000 to 3,50,000 laks.

  7. Sir ,
    Mujhe civil construction work ke liye licence banana h.
    I’m diploma holder in civil engineering.
    Please give me suggest make a licence

  8. Hello sir,
    Sir me atta milling plant start karna Chahta hu gramin area me
    plot mere pass h loan lekr kaam start krna chahta hu please help me…

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *