जॉब इंटरव्यू के लिए तैयारी कैसे करें? Job Interview tips in Hindi.

Job Interview पर बात करनी इसलिए जरुरी हो जाती है क्योंकि इस दुनियाँ में अधिकतर लोगों का कमाई का स्रोत नौकरी अर्थात जॉब रही है । और जहाँ तक नौकरी का सवाल है किसी भी व्यक्ति को नौकरी दिलाने में इंटरव्यू का बड़ा अहम् योगदान होता है। इंटरव्यू के माध्यम से ही कंपनी या संस्थान इस बात का निर्णय ले पाने में सक्षम होते हैं की व्यक्ति उस विशेष नौकरी के योग्य है की नहीं। इसलिए अक्सर लोग इन्टरनेट पर Job Interview tips पर हिंदी में जानने के लिए इच्छुक रहते हैं। चूँकि नौकरी कमाई करने का शायद एक सबसे व्यापक तौर पर फैला बहुत बड़ा माध्यम है। और नौकरी प्राप्त करने में इंटरव्यू का मुख्य योगदान है। इसलिए हमारा अपने इस लेख के माध्यम से जॉब इंटरव्यू के लिए तैयारी कैसे करें? विषय पर बात करना बेहद जरुरी हो जाता है। लेकिन इससे पहले की हम इस विषय पर विस्तृत तौर पर वार्तालाप करें आइये जानते हैं की एक जॉब इंटरव्यू होता क्या है?

Job-interview- preparation tips-in hindi

जॉब इंटरव्यू क्या होता है (What is a Job Interview in Hindi):

एक Job Interview एक ऐसा साक्षात्कार है जिसमें एक व्यक्ति जिसे नौकरी चाहिए होती है और एक या एक से अधिक कंपनी के प्रतिनिधि जिन्हें कर्मचारी/अधिकारी चाहिए होता है के बीच बातचीत होती है । आम तौर पर इस बातचीत में कंपनी के प्रतिनिधि द्वारा नौकरी के लिए आवेदन करने वाले व्यक्ति से कुछ प्रश्न पूछे जाते हैं या फिर कुछ ऐसी बातचीत की जाती है। की कंपनी के प्रतिनिधि इस बात का मूल्यांकन कर सकें की आवेदनकर्ता उस नौकरी के योग्य है या नहीं। आम तौर पर एक Job Interview को हम कंपनी के प्रतिनिधि एवं आवेदनकर्ता के बीच एक औपचारिक बैठक भी कह सकते हैं जिसमें कंपनी के प्रतिनिधि या प्रतिनिधियों द्वारा आवेदक का मूल्यांकन करने के लिए कुछ प्रश्न पूछे जाते हैं।

इंटरव्यू की तैयारी कैसे करें? (How to be prepared for a Job Interview in hindi):

जैसा की हम उपर्युक्त वाक्य में भी बता चुके हैं की नौकरी चाहे प्राइवेट हो या सरकारी दोनों में इंटरव्यू का अहम् योगदान होता है। लेकिन भारत में सरकारी नौकरी पाने के लिए लिखित परीक्षा में पास होना शायद अधिक मायने रखता है क्योंकि उसके पश्चात ही उम्मीदवार इंटरव्यू देने के योग्य हो पाता है। लेकिन जब बात प्राइवेट नौकरी या निजी क्षेत्र की आती है तो इस क्षेत्र में किसी आवेदनकर्ता को नौकरी मिलेगी या नहीं वह केवल Job Interview पर निर्भर करता है। यही कारण है की भारत में लोग नौकरी के लिए इंटरव्यू देने जाने से पहले यही जानने की कोशिश करते हैं की वे इंटरव्यू की तैयारी कैसे करें की वह जॉब उन्हें ही मिल जाय। तो आइये आगे हम इस लेख में कुछ Job Interview Tips के बारे में जानते हैं।

1. Job Interview हेतु जॉब description की सही से जांच करें:

अमूमन होता क्या है की आपके द्वारा किसी जॉब पोर्टल पर पोस्ट किये गए रिज्यूमे के आधार पर कोई कंसलटेंट या कंपनी की एचआर टीम आपको किसी Job Interview के लिए कॉल करते हैं। ऐसे में उम्मीदवार को चाहिए की वह कंसलटेंट या कंपनी के प्रतिनिधि से लिखित में जॉब डिस्क्रिप्शन अपनी ईमेल पर मंगवा ले। जॉब डिस्क्रिप्शन उस नौकरी के लिए आवश्यक योग्यता, गुणों एवं पृष्ठभूमि की एक लिस्ट होती है। यह इसलिए ताकि नियोक्ता को एक आदर्श उम्मीदवार उस नौकरी के लिए मिल सके। इसलिए किसी भी उम्मीदवार के लिए बहुत जरुरी हो जाता है की वह जॉब डिस्क्रिप्शन के आधार पर स्वयं को संरेखित करे। जॉब डिस्क्रिप्शन के माध्यम से उम्मीदवार इस बात का भी अनुमान लगा सकता है की कंपनी के प्रतिनिधि द्वारा Job Interview में क्या क्या पूछा जा सकता है।        

2. अपनी योग्यता एवं आप इंटरव्यू क्यों दे रहे हैं पर विचार करें:

एक जॉब आवेदनकर्ता को Job Interview पर जाने से पहले इस बात का जानना बेहद जरुरी है की जिस जॉब के लिए वह इंटरव्यू देने जा रहा/रही है । वह नौकरी उसके लिए क्यों जरुरी है अर्थात उसे यह नौकरी क्यों चाहिए। और इसके अलावा यह जानना भी बेहद जरुरी है की वह इस नौकरी के लिए कैसे योग्य है। ध्यान रहे ये प्रश्न इंटरव्यू में पूछे जा सकते हैं इसलिए उम्मीदवार को इस नौकरी के अवसर के बारे में अपनी रूचि समझाने के लिए तैयार रहना चाहिए। ताकि इंटरव्यू लेने वाले व्यक्ति खुद ही निर्णय ले सकें की आप इस नौकरी के लिए सबसे योग्य व्यक्ति हैं की नहीं।    

3. कंपनी एवं मिलने वाली भूमिका पर रिसर्च करें:

जिस कंपनी या संस्थान में आप Job Interview के लिए जा रहे हों इस कंपनी के बारे में एवं उस कंपनी में अपनी भूमिका के बारे में रिसर्च करना इस प्रक्रिया का अभिन्न हिस्सा है। यह न केवल इंटरव्यू के दौरान संदर्भ प्रदान करने में मदद करेगा अपितु यह आपको अपने दिमाग में कंपनी एवं अपनी भूमिका के प्रति विचारशील प्रश्न तैयार करने में भी मदद करेगा। जो आप इंटरव्यू के दौरान साक्षात्कारकर्ता से पूछ सकते हैं। कंपनी एवं भूमिका पर की गई रिसर्च उस प्रतिस्पर्धा में आपको आगे का स्थान दिलाने में मदद करेगा। इसलिए जॉब इंटरव्यू पर जाने से पहले उम्मीदवार को कंपनी के उत्पाद या सर्विस, कंपनी में होने वाली उसकी भूमिका, कंपनी की संस्कृति पर जितना चाहे उतना रिसर्च कर लेना बेहतर होता है।      

4. इंटरव्यू में पूछे जाने वाले कुछ सामान्य प्रश्नों पर विचार करें:

यद्यपि Job Interview में पूछे जाने वाले हर प्रश्न का अनुमान लगा पाना किसी के लिए भी संभव नहीं है। लेकिन आम तौर पर कुछ ऐसे प्रश्न होते हैं जो लगभग किसी भी इंटरव्यू में पूछे जा सकते हैं। आप चाहें तो आप अपनी तरफ से एक ऐसी चीज अपने दिमाग में विकसित कर सकते हैं जो यह बताता हो की आप कौन हैं? आप क्या करते हैं? और आप अपने जीवन में क्या चाहते हैं? कुछ इंटरव्यू में कंपनी के प्रतिनिधि उम्मीदवार का परीक्षण या मूल्यांकन भी कर सकते हैं। जैसे यदि उम्मीदवार किसी कंप्यूटर प्रोग्रामिंग, डेवलपर, एनालिटिक्स की भूमिका के लिए Job Interview दे रहा हो तो कोड लिखने, टाइपिंग टेस्ट या मूल्यांकन करने इत्यादि के लिए कहा जा सकता है। लेकिन आम तौर पर पूछे जाने वाले प्रश्न यही रहते हैं की आप यहाँ काम क्यों करना चाहते हैं? इस प्रश्न का जवाब देने के लिए उम्मीदवार को कंपनी के उत्पाद, सर्विस, मिशन, इतिहास एवं संस्कृति के बारे में पता होना अति आवश्यक है। इसके अलावा साक्षात्कार लेने वाले व्यक्ति द्वारा भूमिका के बारे में दिलचस्पी भी पूछी जा सकती है। इसमें उम्मीदवार को अपने अनुभव एवं कंपनी के उत्पाद या सेवा में सामजस्य बैठाकर उत्तर देना चाहिए। इसके अलावा उम्मीदवार की काम के प्रति मजबूती एवं कमजोरी के बारे में भी पुछा जा सकता है।       

5. बॉडी लैंग्वेज एवं बोलने का अभ्यास करें:

Job Interview के दौरान उम्मीदवार की आत्मविश्वास से भरी वाणी एवं सकारात्मक बॉडी लैंग्वेज बेहद अहम् भूमिका निभाते हैं। भले ही इनके बारे में कोई कहता कुछ न हो लेकिन इंटरव्यू के दौरान यह इंटरव्यू लेने वाले व्यक्ति पर अच्छा खासा प्रभाव डालते हैं। इसलिए इंटरव्यू देते वक्त उम्मीदवार को पूर्ण आत्मविश्वास, मजबूत एवं मैत्रीपूर्ण आवाज के साथ सामने आना चाहिए। ऐसा अभ्यास करने के लिए उम्मीदवार चाहे तो अपने दोस्तों एवं जानने वाले लोगों की मदद ले सकता है। आप चाहें तो दर्पण के आगे भी इसका अभ्यास कर सकते हैं इस दौरान अपनी मुस्कान, हाथ मिलाने का तरीका इत्यादि पर विशेस ध्यान दें।     

6. Job Interview के लिए विचारशील प्रश्न तैयार करें:

Job Interview के दौरान यदि साक्षात्कार लेने वाला प्रश्न पूछते गया और आप सही सही जवाब देते भी गए तो फिर भी यह जरुरी नहीं है की वह जॉब आपको ही मिल जाएगी। कभी कभी साक्षात्कारकर्ता आवेदनकर्ता से पूछते हैं की वे चाहें तो कंपनी या अपनी भूमिका के बारे में प्रश्न कर सकते हैं। ऐसे में यदि इंटरव्यू देने वाला व्यक्ति चुपचाप रह गया या उसने कह दिया की उसके पास पूछने को कोई प्रश्न नहीं हैं। तो इस स्थिति में इंटरव्यू देने वाले व्यक्ति की रूचि पर प्रश्न चिन्ह लग जाता है। इसलिए उम्मीदवार को इंटरव्यू के दौरान इंटरव्यू लेने वाले व्यक्ति से भी कुछ विचारशील प्रश्न करने चाहिए। जैसे इस भूमिका में एक व्यक्ति का दिन कैसे गुजरता है? आप यहाँ काम करने में आनंदित क्यों महसूस करते हैं? आपके सबसे सफल कर्मचारी में क्या गुण विद्यमान हैं? इत्यादि प्रश्न पूछे जा सकते हैं।

7. मॉक इंटरव्यू आयोजित करें :

जिस प्रकार कोई व्यक्ति एकदम से हजारों की भीड़ के आगे बोलने में सकुचाता है लेकिन यदि वह इसका बार बार अभ्यास करे तो वह सार्वजनिक तौर पर अच्छे ढंग से बोलने लग जाता है । ठीक इसी प्रकार यदि व्यक्ति इंटरव्यू का भी अभ्यास करता रहे तो वह इंटरव्यू से होने वाली चिंता को कम कर सकता है और अपने आत्मविश्वास में वृद्धि कर सकता है। इसके लिए उम्मीदवार को चाहिए की वह अपने दोस्तों एवं जानकारों की मदद से मॉक इंटरव्यू का आयोजन करके बार बार अभ्यास करे। यह अभ्यास थकाने वाला हो सकता है लेकिन बार बार किया जाने वाला अभ्यास इंटरव्यू के प्रति उम्मीदवार को आरामदायक बना देगा। जिससे उम्मीदवार को इंटरव्यू से चिंता होने की बजाय खुशी होगी की आज किसी नए व्यक्ति से मिलकर नया अनुभव प्राप्त होगा।    

8. अपने रिज्यूमे की हार्ड कॉपी प्रिंट करें:

हालांकि बहुत सारे नियोक्ता उम्मीदवार के रिज्यूमे की माँग उसके डिजिटल फॉर्म में ही करते हैं। और जॉब डीस्क्रप्शन से प्रोफाइल या रिज्यूमे का मिलान करने के बाद ही उम्मीदवार को साक्षात्कार यानिकी Job Interview के लिए बुलाया जाता है। यही कारण है की जब उम्मीदवार इंटरव्यू देने पहुँचता है तो उसके रिज्यूमे की हार्डकॉपी इंटरव्यू लेने वाले कंपनी के प्रतिनिधि के पास पहले से मौजूद होती है। लेकिन कभी कभी ऐसा नहीं भी हो सकता है इसलिए जॉब इंटरव्यू पर जाने से पहले अपने रिज्यूमे की हार्डकॉपी अवश्य रख लें। यदि आप ऐसा नहीं करते हैं तो इंटरव्यू में आपसे आपके रिज्यूमे के बारे में प्रश्न किया जा सकता है जो खुद आपको बेहद अजीब लगेगा।     

9. यात्रा की व्यवस्था करें:

अच्छी नौकरी सभी चाहते हैं लेकिन बहुत सारे लोगों के लिए Job Interview कई कारणों से तनावपूर्ण हो सकते हैं। क्योंकि उम्मीदवार के लिए स्वयं को इंटरव्यू के समय इंटरव्यू वेन्यु में पहुँचाना ही सबसे बड़ी चुनौती हो सकती है। यदि उम्मीदवार का इंटरव्यू किसी अपरिचित क्षेत्र और यहाँ तक की किसी नए शहर में निर्धारित हुआ है तो आपको वहाँ जाने का रास्ता खोजना इत्यादि चिंतित करने वाला हो सकता है। इसलिए उम्मीदवार को चाहिये की वह इंटरव्यू के लिए समय पर पहुँचने के लिए अपनी यात्रा की व्यवस्था करे। और घर से समय पर निकले। लेकिन जल्दबाजी में इंटरव्यू डिटेल्स जैसे वेन्यु, कांटेक्ट इनफार्मेशन इत्यादि ले जाना न भूले।      

10. Job Interview दें:

यद्यपि जो बात हम यहाँ पर कहने जा रहे हैं उस बात से अधिकतर लोग सहमत नहीं होंगे लेकिन जब एक उम्मीदवार Job Interview के लिए जाता है तो नियोक्ता उसकी योग्यता एवं गुणों के मुताबिक ही कीमत तय करता है। इसलिए उम्मीदवार को चाहिए की वह इंटरव्यू क्लियर करने अर्थात अपने आपको बेचने की भरपूर कोशिश करे। इसके लिए तैयारी करते समय अपने कौशल की एक लिस्ट बनायें और यह सोचें की आपकी योग्यता एवं कौशल कंपनी के समग्र लक्ष्यों में कैसे योगदान कर सकती हैं। ध्यान रहें आपके पास भले ही कितनी उपलब्धियाँ क्यों न हो लेकिन इन्हें साक्षात्कार लेने वाले व्यक्ति के साथ साझा करने के दौरान विनम्र रहें।    

11. Job Interview के बाद फॉलो अप लें:  

कुछ लोग Job Interview के बाद नियोक्ता से फॉलो अप नहीं लेते हैं फिर भले ही उनका इंटरव्यू बहुत अच्छा क्यों न हुआ हो। यद्यपि जब किसी उम्मीदवार का चयन कर लिया जाता है तो इसकी सूचना कंपनी के HR डिपार्टमेंट द्वारा उम्मीदवार को फोन या ईमेल के माध्यम से दे दी जाती है। बहुत सारी स्थितियों में तो इंटरव्यू के तुरंत बाद ही उम्मीदवार को ऑफर लैटर पकड़ा दिया जाता है। लेकिन कभी कभी नियोक्ता को उम्मीदवार तो पंसद आता है लेकिन किन्हीं कारणों से वे उसे सूचित नहीं कर पाते हैं। ऐसे में यदि उम्मीदवार को लगता है की उसका Job Interview ठीक ठाक रहा है तो वह इंटरव्यू के बाद नियोक्ता से फॉलो अप ले सकता है। ऐसे में नियोक्ता को उस उम्मीदवार की उस जॉब के प्रति गंभीरता भी उजागर होती है।

यह भी पढ़ें:  

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *