How to start a Kitchenware Store. बर्तन की दुकान कैसे शुरू करें?

Kitchenware Store से हमारा आशय बर्तनों की दुकान से है। जैसा की हम सबको विदित है की मनुष्य को अपनी रसोई एवं रसोई के बाहर भी नित्य प्रतिदिन के कामों को निबटाने के लिए अनेकों बर्तनों की आवश्यकता होती है। यही कारण है की हर गली मोहल्ले में कोई न कोई बर्तन की दुकान अवश्य होती है। यद्यपि देखा जाय तो मनुष्य तरह तरह की धातुओं से एवं मिटटी से निर्मित बर्तनों का उपयोग सदियों से करता आया है यही कारण है की Kitchenware Store Business एक पारम्परिक बिजनेस है। इसके बावजूद इस आधुनिक युग जहाँ लोग हर चीज ऑनलाइन खरीदना पसंद कर रहे हैं इस बिजनेस की उपयोगिता कम नहीं हुई है। क्योंकि आज भी अधिकतर लोग बर्तनों की खरीदारी अपने स्थानीय बाज़ारों से ही करना अधिक पसंद करते हैं। कहने का अभिप्राय यह है की बर्तनों की दुकान का यह बिजनेस एक ऐसा बिजनेस है जिस पर ऑनलाइन खरीदारी का कुछ अधिक विपरीत असर हुआ नहीं है। इसलिए इस तरह का यह बिजनेस आज भी बहुत सारे उद्यमियों का कमाई का साधन बना हुआ है। यही कारण है की आज हम हमारे इस लेख के माध्यम से Kitchenware Store Business के बारे में जानकारी देने का प्रयत्न कर रहे हैं।

Kitchenware store business

Kitchenware Store में उद्यमी क्या क्या बेचता है?

जैसा की नाम से ही स्पष्ट है बर्तनों की दुकान करके उद्यमी विभिन्न धातुओं से एवं शीशे से निर्मित बर्तनों को अपने ग्राहकों को बेच रहा होता है। चूँकि वर्तमान में रसोई में अनेकों इलेक्ट्रॉनिक उपकरण भी प्रयोग में लाये जाते हैं इसलिए एक Kitchenware Store में केवल पारम्परिक बर्तन ही नहीं बल्कि ऐसे आधुनिक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण भी होने चाहिए जो रसोई में उपयोग में लाये जाते हों। रसोई उपकरणों में मिक्सर ग्राइंडर, जूसर, माइक्रोवेव, किचन चिमनी , इंडक्शन इत्यादि शामिल हैं। जबकि खाना पकाने वाले बर्तनों में तवा, पतीले, कढ़ाई, गैस स्टोव, प्रेशर कुकर इत्यादि शामिल हैं। इसके अलावा खाना रखने वाले बर्तनों में डिनर सेट, कैसरोल, प्लेट, कटोरी, कटलरी, क्राकरी इत्यादि शामिल हैं। रसोई में खाद्य पदार्थों को रखने वाले बर्तन जैसे जार, कंटेनर, थर्मस, पानी बोतल, लंच बॉक्स इत्यादि शामिल हैं। इसके अलावा रसोई में प्रयोग में लाये जाने वाले टूल जैसे स्लाइसर, चाकू, चॉपर इत्यादि भी शामिल हैं।

Kitchenware Store शुरू करने की प्रक्रिया

यद्यपि यदि आप किसी आम व्यक्ति से Kitchenware Store open करने की प्रक्रिया के बारे में जानने की कोशिश करेंगे तो उनका सीधा सा जवाब होगा की सप्लायर से सस्ते दामों पर बर्तन लो और उन्हें उचित लाभ के साथ अपने ग्राहकों को बेचो। इस तरह के बिजनेस में उद्यमी को करना तो यही होता है लेकिन इस प्रक्रिया से पहले भी कई अन्य प्रक्रियाएं भी करनी पड़ती हैं। जिनके बारे में क्रमवार तरीके से हम नीचे बता रहे हैं।

स्थानीय बाजार का विश्लेषण

Kitchenware Store Business शुरू करने से पहले उद्यमी को जहाँ वह दुकान खोलने की सोच रहा हो उस स्थानीय बाजार का बारीकी के साथ विश्लेषण करना चाहिए। इस विश्लेषण को करने के लिए उद्यमी को अनेक प्रकार की जानकारी जैसे पहले से उस स्थानीय बाजार में कितनी बर्तन की दुकानें हैं? और उन बर्तन की दुकानों में ग्राहकों के लिए क्या क्या उपलब्ध हैं? वहाँ पर उन बर्तन की दुकानों के अधिकतर खरीदार कौन हैं? इत्यादि का पता करना अति आवश्यक होगा। तभी उद्यमी अपने इस बिजनेस को सफलतापूर्वक चलाने के लिए आगे की रणनीति बना पाने में सक्षम होगा। स्थानीय बाजार का विश्लेषण उद्यमी को इस तरह का यह बिजनेस शुरू करना है या नहीं, का निर्णय लेने में भी मदद करेगा।    

Kitchenware Store हेतु लोकेशन का चुनाव

यद्यपि उद्यमी को अपनी प्रस्तावित दुकान के आकार एवं ग्राहकों को बेचे जाने वाले उत्पादों के आधार पर एक अच्छी लोकेशन का चुनाव करना चाहिए। एक Kitchenware Store के लिए उपयुक्त लोकेशन की बात करें तो किसी गली मोहल्ले का स्थानीय बाजार, या कोई ऐसा बाजार जो बर्तन बेचने के लिए प्रसिद्ध हो उपयुक्त रहता है। कहने का आशय यह है की एक ऐसी जगह जहाँ से सैकड़ों हजारों लोग नियमित रूप से पैदल निकलते हों भी इस बिजनेस के लिए उपयुक्त लोकेशन हो सकती है। चूँकि उद्यमी को दुकान किराये पर लेनी होती है इसलिए उसे किसी स्थानीय बाजार या प्रसिद्ध मार्किट में ही इस बिजनेस के लिए दुकान किराये पर लेना फायदेमंद हो सकता है।    

स्टोर का सेटअप

किसी अच्छी लोकेशन पर दुकान किराये पर लेने के बाद उद्यमी को अपने Kitchenware Store का सेटअप कराना होता है। इसके लिए उसे किसी ऐसे कारपेंटर या कारीगर से संपर्क करना चाहिए जो पहले भी किसी अन्य की बर्तन की दुकान का सेटअप करा चूका हो। या फिर उद्यमी चाहे तो अपनी दुकान का सेटअप कराने के लिए किसी आर्किटेक्ट की मदद भी ले सकता है। दुकान का सेटअप कराते वक्त उद्यमी को उसी जगह में या दुकान के नज़दीक ही एक स्टोर रूम का भी सेटअप कराना अति आवश्यक है। जहाँ पर वह ग्राहकों की माँग के मुताबिक स्टॉक को स्टोर कर सके। इसके अलावा उत्पादों को ग्राहकों को दिखाने एवं कैश काउंटर का भी ध्यान रखना बेहद जरुरी है। इसके अलावा यदि उद्यमी चाहता है की उसकी दुकान से खरीदारी करते वक्त ग्राहक को ज्यादा परेशानी न हो तो ग्राहकों के खड़े होने, बैठने इत्यादि के लिए भी उद्यमी को जगह का प्रबंध करना होगा। इसके अलावा यदि उद्यमी अपने Kitchenware Store में बिल इत्यादि के लिए कंप्यूटर लगाना चाहता हो तो उसको रखने के लिए भी जगह चाहिए होगी।        

सप्लायर का चुनाव

उद्यमी को अपने बिजनेस के लिए एक ऐसे सप्लायर का चुनाव करना चाहिए जो उसे उचित दरों पर समय समय पर सप्लाई प्रदान करने में समर्थ हो।इसके लिए उद्यमी उस क्षेत्र में सप्लाई करने वाले किन्हीं तीन या चार अलग अलग सप्लायर से कोटेशन मंगवा सकता है और उनसे सप्लाई शेड्यूल और आपातकाल में सामान मंगवाने पर कम से कम आर्डर की जाने वाली मात्रा के बारे में भी पता कर सकता है। तीन चार सप्लायर से कोटेशन मंगवाने के बाद इनका तुलनात्मक विश्लेषण करना अति आवश्यक है जिसके बाद उद्यमी को सप्लायर का चयन करने में आसानी होगी। Kitchenware Store में सामान सप्लाई करने वाले खुद विनिर्माणकर्ता या फिर थोक विक्रेता भी हो सकते हैं। उद्यमी चाहे तो सीधे विनिर्माण करने वाली कंपनी या फिर थोक विक्रेताओं से भी संपर्क कर सकता है।     

किचन आइटम की खरीदारी

Kitchenware Store के लिए सप्लायर का चुनाव करने के बाद उद्यमी का अगला कदम उस चयनित सप्लायर से किचन आइटम की खरीदारी करने का होना चाहिए। कभी कभी एक ही सप्लायर के पास सभी आइटम का मिल पाना संभव नहीं होता है। इसलिए उद्यमी चाहे तो आइटम के आधार पर अलग अलग सप्लायर का चुनाव करके उनसे भी खरीदारी कर सकता है। लेकिन उद्यमी को इस बात का ध्यान रखना होगा की जितने उचित दरों पर वह सामान खरीदेगा उतनी ही अधिक वह इस बिजनेस से होने वाला लाभ सुनिश्चित करेगा। इसलिए किसी भी बिजनेस के लाभ एवं नुकसान के लिए खरीदारी भी अहम् भूमिका अदा करती है। इसलिए उद्यमी को किचन आइटम की खरीदारी करते वक्त अपने विवेक का परिचय देना होता है यदि उद्यमी को एक ही सप्लायर सस्ते दरों पर माल उपलब्ध करा रहा है तो ठीक है । अन्यथा उद्यमी अलग अलग आइटम अलग अलग सप्लायर से खरीद सकता है।      

कर्मचारी नियुक्त करें

उद्यमी के Kitchenware Store में कितने कर्मचारियों की नियुक्ति होनी चाहिए यह बात स्टोर के आकार एवं उसमें बेचे जाने वाले उत्पादों पर निर्भर करती है। बिजनेस के शुरूआती दौर में उद्यमी चाहे ट केवल एक कर्मचारी रखकर भी काम चला सकता है। और जैसे जैसे उद्यमी का बिजनेस बढ़ता जायेगा वैसे वैसे वह अन्य कर्मचारियों की भी नियुक्ति कर सकता है। लेकिन यदि उद्यमी शुरूआती दौर में ही बड़ा स्टोर खोल रहा हो तो उसे उत्पादों को बेचने के लिए डिपार्टमेंट के आधार पर कर्मचारियों की नियुक्ति करनी पड़ सकती है।    

Kitchenware Store को प्रमोट करें

Kitchenware Store को प्रमोट करने की शुरुआत उद्यमी के स्टोर से ही होनी अति आवश्यक है इसके लिए उद्यमी को अपने स्टोर के अन्दर बाहर एवं दुकान के ऊपर साइन बोर्ड लगाने की आवश्यकता होती है। ताकि आते जातेलोगों की नज़र उस साइन बोर्ड पर पड़े और उन्हें पता चल सके की यहाँ बर्तन की दुकान है। इसके अलावा उद्यमी अपने बिजनेस को ऑनलाइन एवं ऑफलाइन दोनों तरीकों से प्रमोट कर सकता है ऑनलाइन प्रमोट करने के लिए उद्यमी कुछ मुफ्त प्लेटफोर्म जैसे सोशल मीडिया, क्लासिफाइड वेबसाइट, यूट्यूब इत्यादि का सहारा ले सकता है। तो वहीँ गूगल एडवरटाइज, फेसबुक एडवरटाइज जैसी पेड सर्विस भी अपने Kitchenware Store को प्रमोट करने के लिए इस्तेमाल में ला सकता है। चूँकि किचन आइटम क वर्तमान में गिफ्ट के तौर पर भी वितरित किया जाता है। इसलिए कम्पनियाँ अर्थात कॉर्पोरेट क्लाइंट भी उद्यमी के टारगेट कस्टमर होने चाहिए।

यह भी पढ़ें

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *