Lucky Grahak and Digi Dhan Vyapar Yojana

Lucky Grahak and Digi Dhan Vyapar Yojana

Lucky Grahak Yojana और Digi Dhan Vyapar Yojana की घोषणा NITI Aayog द्वारा देश में Cashless Economy को प्रोत्साहित करने हेतु की गई है | एक आंकड़े के मुताबिक India में 95% तक लोग व्यक्तिगत खर्चे कैश के माध्यम से करते हैं | लोगों की यही आदत एक अनौपचारिक अर्थव्यवस्था का निर्माण करती है और राज्य की कर लगाने की क्षमता को सिमित करती है, अर्थव्यवस्था में Cash के बढ़ते प्रचलन से कर चोरी, Black Money, Fake Money, अर्थव्यवस्था की सही माप उपलब्ध न होना एवं अनेक समस्याओं को बढ़ावा मिलता है | इन्ही सब समस्याओं से निपटने और ग्राहकों को Cashless Transaction की ओर प्रेरित करने के लिए NITI Aayog ने Lucky Grahak Yojana और Digi Dhan Vyapar Yojana दो योजनाओं की घोषणा की है |

Lucky Grahak and digi dhan vyapar Yojana

Lucky Grahak Yojana and Digi Dhan Vypar Yojana Kya Hai:

सबसे पहले यह स्पष्ट कर देना जरुरी है की Lucky Grahak Yojana and Digi Dhan Vypar Yojana दोनों अलग अलग योजनायें हैं | पहली योजना जहाँ ग्राहकों को Cashless Transaction की ओर प्रोत्साहित करने के लिए है वही दूसरी योजना Digi Dhan Vyapar Yojana विक्रेताओं अर्थात व्यापरियों को अपने ग्राहकों को Cashless Transaction के लिए साधन मुहैया कराने हेतु प्रोत्साहित करने के लिए है | इन दोनों योजनाओं के अंतर्गत एक खास निर्धारित अवधि में Cashless Transaction करने वाले ग्राहकों एवं Cashless Transaction accept करने वाले Merchants अर्थात विक्रेताओं का Lucky Draw कराके इनाम दिया जाएगा | संक्षिप्त तौर पर हम कहें तो ये दोनों योजनायें ग्राहकों एवं विक्रेताओं (व्यापारियों) को Cashless Transaction की ओर प्रेरित करने के लिए इनामी योजनायें हैं |

Cashless Transaction ke liye Special Incentive:

Cashless Transaction अर्थात digital payments को बढ़ावा देने के लिए सरकार द्वारा अनेकों रूप से प्रोत्साहित किया जा रहा है |

  • केंद्र सरकार के पेट्रोलियम सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम जैसे Hindustan Petroleum, Bharat Petroleum Corporation limited इत्यादि को digital payment करने पर 75% तक की छूट |
  • National highways के Toll पर Radio-frequency identification (RFID) card use करने पर 10% तक की छूट |
  • 1 जनवरी 2017 से उपनगरीय रेलवे नेटवर्क पर digital payment के माध्यम से मौसमी या मासिक टिकेट बुक करने पर 5% तक की छूट |
  • 2000 रूपये तक की digital transaction Service tax free होगी, अर्थात उस पर किसी प्रकार का digital transaction charges नहीं लगेंगे |
  • Digital Payment के माध्यम से किसी सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रम की insurance कंपनी के पोर्टल से Insurance Premium खरीदने पर 10% तक की छूट या ऋण |
  • क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक एवं सहकारी बैंको द्वारा लगभग 32 लाख किसानों को Rupay Card जारी किये गए हैं | इन किसानो को NABARD के माध्यम से support प्रदान करने का प्रावधान |
  • 10000 से कम जनसँख्या वाले लगभग 1 लाख गांवों में प्रति गाँव दो Point of Sale Devices (POS) नियुक्त किये जायेंगे | सरकार NABARD के माध्यम से वित्तीय सहायता विस्तारित करेगी |
  • केंद्र सरकार और इसके सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम Transaction fee/Merchant Discount rate (MDR) इत्यादि खर्चे वहन करेंगे | और राज्य सरकारों को भी यह सब कुछ करने के लिए सुझाव देंगे |

Lucky Grahak and Digi Dhan Vypar Yojana ke Lakshy:

यह सच है की Cash का सामाजिक, आर्थिक, राजनैतिक तौर पर दुरूपयोग किया जाता रहा है, और Cash system में पारदर्शिता की कमी होने के कारण गलत गतिविधियों में इसका उपयोग आसानी से हो जाता है इसलिए सरकार का लक्ष्य Lucky Grahak and Digi Dhan Vypar Yojana के अंतर्गत सामान्य आदमी एवं छोटे मोटे व्यापारियों को digital payment की ओर प्रोत्साहित करके अग्रसित करने का है | यद्यपि digital payments करने के अनेकों फायदे देश और देश में निवासित नागरिकों को होते हैं इसलिए Lucky Grahak and Digi Dhan Vypar Yojana का लक्ष्य ग्राहकों एवं व्यापारियों को ईनाम देकर Cashless Transaction की ओर अग्रसित करना है | इसके अलावा इन योजनाओं के और भी अनेकों लक्ष्य हैं जिनका उल्लेख निम्नवत हैं |

  • आर्थिक और राजनैतिक प्रणाली में Cash से होने वाले हानिकारक परिणामों को रोकना |
  • छोटे मोटे बिजनेसमैन अर्थात व्यापारियों एवं सामान्य जन को digital payment की ओर अग्रसित करना |
  • सामान्य जन को Cashless Transaction करने हेतु एक वातावरण एवं सेवा मुहैया कराना |
  • ग्रामीण इलाकों में निवासित जनता Aadhar Enabled Payment System (AEPS) को उपयोग में लाकर digital payment कर सकते हैं |
  • Lucky Grahak and Digi Dhan Vypar Yojana का प्राथमिक लक्ष्य ग्राहकों और व्यापारियों को ईनाम के जरिये digital payments को प्रोत्साहित करना है ताकि इसे सभी स्थानों पर स्वीकार किया जा सके |

Lucky Grahak  Yojana ke Features:

यह योजना 25 December 2016 क्रिसमस के दिन से कार्यान्वित की जाएगी अर्थात योजना का पहला Draw 25 December 2016 को किया जायेगा, और Mega Draw भीमराव अम्बेडकर जी की जयंती पर 14 April, 2017 को किया जाएगा | Lucky Grahak Yojana के प्रमुख Features निम्न हैं |

  • प्रत्येक दिन 15000 लोगों को दैनिक ईनाम के रूप में 1000 रूपये दिए जायेंगे यह सिलसिला 100 दिनों तक चलेगा |
  • जिन ग्राहकों द्वारा digital payments के वैकल्पिक यंत्रों लगभग सभी प्रकार की भुगतान प्रणाली जैसे UPI (Unified Payments Interface),USSD (Unstructured Supplementary Service Data),AEPS (Aadhar Enabled Payment System), Rupay Cards इत्यादि के माध्यम से भुगतान किया जायेगा | ऐसे ग्राहकों के लिए साप्ताहिक ईनाम के तौर पर रूपये 1 लाख, दस हज़ार और पांच हज़ार तक देने का प्रावधान है |
  • 8th November 2016 से 13th April 2017 के बीच होने वाली digital transactions के लिए 14 April, 2017 को Mega Draw किया जायेगा | जिसमे विजेताओं को रूपये 1 करोड़, 50 लाख एवं 25 लाख का ईनाम दिए जाने की संभावना है |

Digi Dhan Vyapar Yojana Ke features:

Digi Dhan Vyapar Yojana को भी 25 December 2016 क्रिसमस के दिन से ही कार्यान्वयन में लाया जायेगा | इस योजना का भी पहला Draw Christmas के दिन ही किया जायेगा, और Mega Draw भीमराव अम्बेडकर जी की जयंती पर 14 April, 2017 को किया जाएगा | Digi Dhan Vyapar Yojana के प्रमुख Features निम्न हैं |

  • व्यापारिक संस्थान में होने वाले सभी Digital transaction के लिए व्यापारियों को ईनाम देने का प्रावधान |
  • साप्ताहिक आधार पर विजेता व्यापारियों को रूपये 50000, 5000 एवं 2500 तक ईनाम के तौर पर दिए जाने की संभावना |
  • इस योजना के अंतर्गत भी 8th November 2016 से 13th April 2017 के बीच होने वाली digital transactions के लिए 14 April, 2017 को Mega Draw किया जायेगा | जिसमे विजेताओं को रूपये 50 लाख, 25 लाख एवं 12 लाख का ईनाम दिए जाने की संभावना है |

डिजिटाइज़ इंडिया प्लेटफार्म से पैसे कैसे कमाए |

चूँकि इस योजना का लक्ष्य सामान्य जन तक को इस योजना का लाभ एवं उन्हें digital payments की ओर आकर्षित करना है इसलिए इस Scheme के तहत केवल रूपये 50 से लेकर 3000 रूपये तक की digital transaction को ही सम्मिलित किया गया है | जहाँ तक Lucky Grahak and Digi Dhan Vypar Yojana की पात्रता का सवाल है उसके लिए ग्राहकों को अधिक से अधिक खरीदारी digital payments के माध्यम से करनी होगी और व्यापारियों को अधिक से अधिक वस्तुएं digital payments के माध्यम से बेचनी होंगी |

Comments

  1. By ARVIND

    Reply

  2. By amit mishra

    Reply

  3. By jwala Singh Parmar

    Reply

  4. By jwala Singh Parmar

    Reply

  5. By vijay cholkar

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: