Nail Polish Manufacturing Business

Nail Polish एक अहम् सौन्दर्य प्रसाधन है, इसका उपयोग लड़कियों एवं महिलाओं द्वारा अपने नाखूनों को सुन्दर एवं आकर्षक बनाने में किया जाता है | Nail Polish Manufacturing में प्रमुख रूप से उपयोग में लाया जाने वाला Raw Material Nitrocellulose है | India में कुछ उद्यमियों द्वारा Production Cost को कम करने के लिए Cellulose Nitrate से निर्मित फोटोग्राफी एवं सिनेमा की बेकार फिल्मों को भी Raw Material के रूप में उपयोग में लाया जाता है | लेकिन इसके बावजूद भी Nail Polish Manufacturing गुणवक्तायुक्त हो इस बात का विशेष ध्यान रखना पड़ता है, इसलिए इस प्रक्रिया में लगने वाली विभिन्न Raw Materials की मात्रा को आवश्यकतानुसार घटाया बढाया जा सकता है |

Nail Polish Manufacturing business

Nail Polish Manufacturing Business Kya Hai:

Nail यानिकी नाख़ून दुनिया में सभी मनुष्य प्राणी के हाथों एवं पैरों की अँगुलियों में विराजमान होते हैं | जहाँ आदमी इन्हें समय समय पर काटकर इन्हें Maintain रखते हैं, वही लड़कियां एवं औरतें अपने पैर एवं हाथ के नाखूनों को आकर्षक एवं सजाने के लिए अवसर, त्यौहार, एवं अपने पहनावे के अनुरूप रंग देना चाहती हैं, नाखूनों को रंग देने की क्रिया में उपयोग में लाया जाता है Nail Polish, साधारण भाषा में Nail Polish को नाखूनों का Paint कहें तो गलत न होगा | Nail Polish Manufacturing business से हमारा आशय विभिन्न रंग के Nail Polish का निर्माण करके उन्हें Market में बेचकर अपनी कमाई करने से है |

Market Potential in Nail Polish:

प्राचीनकाल में जहाँ India में महिलाएं घर की चारदीवारी को ही अपनी कर्मभूमि समझती थी, और समाज भी मानता था की महिलाओं का काम सिर्फ घर संभालना होता है | यही कारण था की लोग लड़कियों की पढाई लिखाई में भी कम ध्यान दिया करते थे, यदि गरीबी के कारण कोई माता पिता अपनी दो संतानों एक लड़की और एक लड़के में से किसी एक को पढाना चाहते थे, तो इस स्थिति में हमेशा लड़का बाजी मार के ले जाता था, और लड़की को घर के चूल्हे चौके इत्यादि काम में लगा दिया जाता था | इसलिए होता क्या था की यदि किसी लड़की या महिला को कोई सौन्दर्य प्रसाधन जैसे Nail Polish इत्यादि की आवश्यकता महसूस होती थी, तो वह अपने भाई, माता पिता, पति या घर के अन्य सदस्य पर निर्भर रहती थी की वे पैसे देंगे तो वह अपनी जरुरत की वस्तु खरीदेगी | लेकिन वर्तमान में स्थिति सिरे से बदली है, अर्थात अब माता- पिता लड़कियों की पढाई पर भी उतना ही ध्यान देने लगे हैं जितना लड़कों की, और पढाई करने के दौरान घर के मुखिया या माता पिता लड़कियों की छोटी मोटी सौन्दर्य प्रसाधन सम्बन्धी आवश्यकता को पूर्ण करने के लिए खर्चा भी देते हैं | चूँकि लड़कियों को पढाया जाने लगा है तो व्यवसायिक कार्यों में भी महिलाओं की सहभागिता बढ़ी है, जिसके कारण उनकी अपने सौन्दर्य प्रसाधनों पर खर्च करने की प्रवृत्ति भी प्रोत्साहित हुई है | लेकिन ग्रामीण इलाकों में इस सोच का विस्तारित होना बाकी है, जैसे जैसे महिलाओं में आर्थिक आत्मनिर्भरता बढ़ेगी वैसे वैसे सौन्दर्य प्रसाधनो पर उनके खर्च करने की प्रवृत्ति भी बढ़ेगी | इसलिए महिलाओं की सभी प्रकार के व्यवसायिक संस्थानों में बढती सहभागिता को देखते हुए लगता है की सिर्फ Nail Polish में ही नहीं बल्कि अन्य सौन्दर्य प्रसाधनो के लिए भी India में Market का रुख सकारात्मक है |

Required Machinery and Raw Materials for Nail Polish:

Nail Polish Manufacturing business के लिए मशीनरी की लिस्ट कुछ इस प्रकार से है |

  • Chemical Mixer (केमिकल मिक्सर)
  • Stainless Steel Tank (स्टील का टैंक)
  • Cellulose cutting Machine (सेल्युलोज़ काटने की मशीन )
  • Filter, Stirrer
  • Weighing Balance (भार मापने वाली मशीन)
  • Automatic liquid filling Machine (नेल पोलिश शीशी भरने की मशीन)
  • Laboratory Equipments (लेबोरेटरी उपकरण)

Raw Material की लिस्ट इस प्रकार से है |

  • Cellulose Nitrate (सेल्युलोज़ नाइट्रेट)
  • Loban (लोबान)
  • Ether
  • Acetone (ऐसीटोन)
  • Ethyl alcohol (इथाइल अल्कोहल)
  • Easter Gum (ईस्टर गम)
  • Camphor (काम्फोर)
  • Castor Oil (रेंडी का तेल)
  • digylthalate
  • Color (रंग)

Nail Polish Manufacturing Process in Hindi:

Nail polish manufacturing विभिन्न प्रकार के process को अपनाकर की जाती है | क्योंकि यह प्रक्रिया निर्भर करती है उद्यमी द्वारा चुने गए ingredientsपर | सबसे अधिक प्रचलित Nail Polish Manufacturing process के अनुसार सबसे पहले फोटोग्राफी फिल्मे या Cellulose Nitrate को लिया जाता है उसके बाद उन्हें अच्छी तरह धो लिया जाता है |  उसके बाद उन्हें छोटे छोटे टुकड़ों में काट लिया जाता है बाद में इन्हें ether (इथर) नामक घोलने वाले विलायक की मदद से घुला दिया जाता है | ether के अलावा ethyle alcohol या emyle acitateइत्यादि का उपयोग भी विलायक के रूप में किया जा सकता है | बाद में इसमें रेंडी का तेल एवं digylthalate मिश्रित किया जाता है | इसको इसलिए मिलाया जाता है ताकि Nail Polish नाखूनों पर लगाने के बाद जल्दी से हटे नहीं | इस क्रिया के पूर्ण होने के बाद आवश्यकतानुरूप मात्रा में रंग मिलाकर Shade तैयार की जाती है | और तैयार Nail Polish को Laboratry equipments की मदद से निरीक्षण करके Automatic liquid filling Machine की मदद से शीशीयों में भरकर मार्किट में बेचकर कमाई की जाती है |

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

7 thoughts on “Nail Polish Manufacturing Business

  1. मैं रणजीत कुमार नेल पालिस के काम औऱ मसीन आदि मे कितना रूपया लगता है ।हमें बताये…

  2. I want to start this business. so i want to know how much capital required to start this business.
    How I get training to know the process of manufacturing,

    1. Hi MR.Deepak solanki and MR.parveen
      Iam also a curious to know about the same questions u taught to this blog..but i think that if we both are curious to know the same thing then why not we take a step to learn these ethics together..I have some information like how to take license and from where to get the ethics if u also think that we together learn better ethics so contact me on 7889341721 or whatsaap me on 9055248415 thanxs…
      Regards Ankit

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *