नेटवर्क मार्केटिंग में असफल होने के प्रमुख कारण।

नेटवर्क मार्केटिंग यानिकी मल्टी लेवल मार्केटिंग एक ऐसे व्यवसाय के तौर पर जानी जाती है जिसे कोई भी व्यक्ति बेहद कम निवेश यहाँ तक की की कुछ सौ रुपयों से भी शुरू कर सकता है । कहने का अभिप्राय यह है की इस तरह के बिजनेस को कोई भी व्यक्ति आसानी से शुरू कर सकता है। लेकिन नेटवर्क मार्केटिंग के प्रति लोगों की यही शिकायत रहती है की इसमें कुछ चुनिंदा लोग ही सफल हो पाते हैं अर्थात इसमें असफल होने की दर काफी अधिक है। जो बिलकुल सही भी है, अभी भी सच्चाई यह है की नेटवर्क मार्केटिंग में सफल होने की दर बेहद कम है। लेकिन लोगों के नेटवर्क मार्केटिंग में असफल होने के पीछे अनेकों कारण हैं जिनका जिक्र आज हम इस लेख के माध्यम से करने वाले हैं। हालांकि जानकारों की मानें तो भारत में अधिकतर लोग ऐसे हैं जो नेटवर्क मार्केटिंग में असफल होने के लिए इस मार्केटिंग पद्यति को ही दोष दे देते हैं। जबकि सच्चाई यह होती है की उनके द्वारा किये गए प्रयास सफलता के लिए अनुपयुक्त होते हैं। बेहद कम लोग ऐसे होते हैं जो इस तथ्य को स्वीकार कर पाते हैं की वे इसलिए सफल नहीं हो पाए क्योंकि सफलता के लिए उनके द्वारा किये गए प्रयास अधूरे थे। कुल मिलाकर देखें तो मल्टी लेवल मार्केटिंग में लोगों के असफल होने के लिए उनके द्वारा जाने अनजाने में की गई गलतियाँ ही जिम्मेदार होती हैं। अन्यथा नेटवर्क मार्केटिंग भी अन्य बिजनेस की तरह ही एक व्यापार है जिसे गंभीरता से करने पर इससे अच्छी खासी कमाई की जा सकती है। तो आइये जानते हैं आखिर अधिकतर लोग नेटवर्क मार्केटिंग में क्यों असफल हो जाते हैं, या इसमें असफल होने के मुख्य कारण कौन कौन से हैं।

why people fail in network marketing

1. जानकारी का अभाव:

भारतवर्ष में नेटवर्क मार्केटिंग को अधिकतर लोग इसलिए ज्वाइन कर लेते हैं क्योंकि उन्हें यह सब करने के लिए उनके किसी करीबी दोस्त या रिश्तेदार ने कहा होता है। जिसका मतलब यह है की चाहे उन्हें इस बारे में कोई जानकारी थी या नहीं, लेकिन उन्होंने इसे ज्वाइन कर लिया। कहने का अभिप्राय यह है की इंडिया में अधिकतर लोग नेटवर्क मार्केटिंग ज्वाइन करने से पहले इसकी उपयुक्त जानकारी नहीं लेते हैं। जिसके चलते जानकारी के अभाव में वे इस बिजनेस में असफल हो जाते हैं। इसलिए व्यक्ति को चाहिए की सबसे पहले वे इस क्षेत्र से जुड़ी जानकारी प्राप्त करने की कोशिश करे और इस क्षेत्र में सफलतम व्यक्तियों से सलाह ले।

2. ढंग की योजना न बनाना:

नेटवर्क मार्केटिंग में असफल होने के कारणों में एक मुख्य कारण यह भी है की लोग इसे एक गंभीर व्यापार के रूप में नहीं देखते हैं इसलिए वे इसके लिए कोई विशेष योजना भी नहीं बनाते हैं। और कोई अपने अंतर्मन में कोई योजना बनाता भी है तो उस योजना का लक्ष्य बहुत सारे लोगों को उस नेटवर्क से जोड़ने का होता है न की उत्पाद या सेवा बेचने का। इसलिए नेटवर्क मार्केटिंग के शुरूआती दिनों में बहुत सारी गतिविधियों में ध्यान देने की बजाय उद्यमी को कोई एक योजना बनाकर अपने ध्यान को उसी पर केन्द्रित करना चाहिए ।

3. कम्युनिकेशन की कमी:

जैसा की हम सबको विदित है की नेटवर्क बनाने के लिए काफी प्रभावी संचार की आवश्यकता होती है। और इस बिजनेस की सफलता किसी एक व्यक्ति पर नहीं बल्कि पूरी टीम पर निर्भर करती है। और पूरी टीम आपस में अच्छे ढंग से कार्य करे इसके लिए प्रभावी कम्युनिकेशन की आवश्यकता होती है। चूँकि टीम का हर सदस्य ग्राहक एवं उद्यमी खुद है । इसलिए प्रभावी कम्युनिकेशन के लिए नई से नई तकनिक का उपयोग बेहद जरुरी है। कम्युनिकेशन की कमी भी नेटवर्क मार्केटिंग में असफल होने का एक कारण रही है।

4. उलझन वाली प्रणाली:

भारत में बहुत सारे लोग नेटवर्क मार्केटिंग से जुड़ तो जाते हैं लेकिन उन्हें यह प्रणाली किस तरह से कार्य करती है और उनकी कमाई किस तरह से होगी की जानकारी नहीं होती है। वह इसलिए क्योंकि इस तरह का यह बिजनेस एक नेटवर्क के तौर पर कार्य करता है जिसमें सैकड़ों लोग शामिल रहते हैं। और अधिक लोग शामिल होने के कारण यह लोगों के बीच उलझन पैदा करती है। सदस्यों को होने वाली उलझन भी नेटवर्क मार्केटिंग में असफल होने के कारणों में शामिल है।

5. डाउन लाइन पर निर्भरता:

नेटवर्क मार्केटिंग में व्यक्ति की कमाई उसकी डाउन लाइन में उपस्थित व्यक्ति के परफोरमेंस पर निर्भर करती है अर्थात व्यक्ति के डाउन लाइन में उपस्थिति व्यक्ति यदि अधिक उत्पाद बिकवाने में सफल हो पाए तो उसका कमीशन नेटवर्क मार्केटर को भी मिलता है। यही कारण है की अक्सर लोग उत्पाद बिकवाने के लिए उतनी कोशिश नहीं करते जितना वे अपनी डाउन लाइन में व्यक्तियों को जोड़ने के लिए करते हैं । और एक समय ऐसा आता है जब उनकी डाउन लाइन में व्यक्तियों की संख्या तो अधिक हो जाती है लेकिन उत्पाद की बिक्री तब भी नहीं होती इस कारण उद्यमी की कमाई भी नहीं हो पाती और वह नेटवर्क मार्केटिंग में असफल हो जाता है।

6. कम समय में ज्यादा उम्मीदें:

अक्सर लोगों के बीच यह भ्रांतियां व्यापत है की वे नेटवर्क मार्केटिंग के माध्यम से बेहद कम समय में बहुत ज्यादा पैसों की कमाई कर सकते हैं। अर्थात बहुत सारे लोग ऐसे होते हैं जो इससे बहुत अधिक उम्मीदें तो लगा लेते हैं लेकिन उन उम्मीदों को साकार करने की ओर पर्याप्त मेहनत नहीं करते हैं। लेकिन सच्चाई यह है की नेटवर्क मार्केटिंग कोई ऐसी स्कीम बिलकुल नहीं है जो रातों रात व्यक्ति को धनी बना दे, बल्कि इसमें सफल होने के लिए काफी समय एवं धैर्य की आवश्यकता होती है। कम समय में ज्यादा उम्मीदें होने की वजह से लोग नेटवर्क मार्केटिंग के प्रति उदासीन हो जाते हैं जिससे वे इस व्यापार में असफल हो जाते हैं। इसलिए कम समय में ज्यादा उम्मीदें भी नेटवर्क मार्केटिंग में असफल होने के कारणों में शामिल है।

7. उपयुक्त कंपनी एवं उत्पाद का चयन न करना:

जैसा की हम उपर्युक्त वाक्य में भी इसका जिक्र कर चुके हैं की भारतवर्ष में अधिकतर लोग सिर्फ इसलिए नेटवर्क मार्केटिंग ज्वाइन कर लेते हैं क्योंकि उन्हें ऐसा करने के लिए उनके किसी दोस्त, परिवार के सदस्य या किसी करीबी ने कहा है। यही कारण है की वे खुद के नेटवर्क मार्केटिंग बिजनेस के लिए उपयुक्त कंपनी एवं उत्पाद का चयन नहीं कर पाते हैं जिसका नतीजा यह होता है की बाद में न तो वे खुद उस उत्पाद को खरीद पाते हैं और न ही लोगों को इस बात के लिए राजी कर पाते हैं । और उनका इस तरह का यह व्यापार असफल हो जाता है।

नेटवर्क मार्केटिंग में असफल होने के कुछ अन्य कारण:

नेटवर्क मार्केटिंग में असफल होने के कुछ अन्य मुख्य कारण निम्नलिखित हैं।

  • इस तरह का यह व्यापार शुरू करने के पीछे के कारण को न जानना ।
  • ऐसे लोग जिनके पास केवल इच्छाएं हैं लेकिन नेटवर्क मार्केटिंग के प्रति सपने एवं लक्ष्य निर्धारित नहीं हैं वे इस तरह के व्यापार में असफल हो जाते हैं ।
  • जिनके पास सफल होने की इच्छा तो है, लेकिन प्रबल इच्छा का अभाव है वे भी इस तरह के व्यापार में असफल पाए गए हैं।
  • ऐसे लोग जो नेटवर्क मार्केटिंग को सीखने में पैसा एवं समय खर्च नहीं करते वे भी इसमें असफल हो सकते हैं ।
  • ऐसे लोग जो अपना समय अनुत्पादक गतिविधियों में व्यर्थ में गँवा देते हैं वे भी असफल हो जाते हैं।
  • ऐसे लोग जो खुद को लोगों के सामने एक सेल्समेन की तरह पेश करते हैं, और बिजनेस करने के नए तरीकों को नहीं अपनाते हैं वे भी नेटवर्क मार्केटिंग में असफल हो सकते हैं।
  • ऐसे लोग जो आंशिक ग्राहकों से बिजनेस सम्बन्ध बनाने में नाकाम होते हैं वे भी असफल हो सकते हैं।
  • ऐसे लोग जो लोगों को केवल अपने नेटवर्क से जोड़ने के लिए बेताब हैं।
  • जो केवल खुद की कमाई के बारे में सोचते हैं, और अपने टीम के सदस्यों की कमाई के बारे में नहीं सोचते वे भी इस तरह के बिजनेस में असफल हो जाते हैं।
  • ऐसे लोग जिनके पास उनकी टीम, आंशिक ग्राहकों, इत्यादि की किसी प्रकार की लिस्ट न हो।
  • ऐसे लोग जो नेटवर्क सम्बन्धी बिजनेस की बुराई सुनकर हतोत्साहित हो जाते हों वे भी इसमें असफल हो जाते हैं।
  • जिनमें धैर्य न हो और उन्होंने इस तरह का बिजनेस बहुत जल्दी बंद कर दिया हो।
  • जो यह सोचते हैं की कोशिश वे कर रहे हैं और कमाई उनके नेटवर्क में शामिल उपरी व्यक्ति की हो रही है वे भी नेटवर्क मार्केटिंग में असफल हो जाते हैं।
  • जो खुद कोशिश करने की बजाय अपने नेटवर्क में शामिल उनके बाद शामिल सदस्यों पर निर्भर हों।

नेटवर्क मार्केटिंग में असफल होने के और भी बहुत सारे कारण हो सकते हैं लेकिन यहाँ पर हमने कुछ प्रमुख कारणों के बारे में बता दिया है। इन कारणों को जानने के बाद कोई भी व्यक्ति खुद में इस तरह के सुधार करने के बाद नेटवर्क मार्केटिंग में असफल होने से बच सकता है।

यह भी पढ़ें:

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

2 thoughts on “नेटवर्क मार्केटिंग में असफल होने के प्रमुख कारण।

  1. बहुत ही महत्वपूर्ण गलतियां और कमियां बताई गई हैं, जिन्हें दूर करके हर व्यक्ति नेटवर्क मार्केटिंग बिजनेस में शानदार प्रदर्शन कर सकता है/सकती है।

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *