मेडिकल ट्रांसक्रिप्शन बिजनेस कैसे शुरू करें? How to Start a Medical Transcription Business.

Medical Transcription नामक इस व्यापार के बारे में जानने के लिए यदि आप उत्सुक हैं और जानना चाहते हैं की इस तरह का यह व्यापार कैसे शुरू किया जा सकता है। तो आपको हमारे द्वारा रचित यह लेख अंत तक पढ़ना होगा। हालांकि ऐसा भी हो सकता है की बहुत सारे लोगों के लिए मेडिकल ट्रांसक्रिप्शन नामक यह व्यापार एकदम नया हो तो उनके मन में इसके बारे में जानने की उत्सुकता और अधिक होगी। वैसे देखा जाय तो इस तरह का यह व्यापार वैश्विक स्तर पर कोई नया व्यापार नहीं है लेकिन अपने देश भारत में अभी भी यह इतना प्रचलित नहीं है की हर किसी को इसकी जानकारी हो। वैसे देखा जाय तो यह व्यापार का एक बेहद ही आसान मॉडल है इसमें उद्यमी को अपने ग्राहकों को डॉक्टर एवं मरीज के बीच हुई रिकार्डेड बातचीत या लाइव बातचीत को ट्रांसक्राइब करना होता है। यद्यपि यह जरुरी नहीं है की बातचीत डॉक्टर या मरीज के बीच ही हो किसी रिसर्च, रोग, जाँच इत्यादि विषयों पर डॉक्टर एवं डॉक्टर के बीच हुई बातचीत, डॉक्टर एवं मेडिकल स्टूडेंट के बीच हुई बातचीत इत्यादि को भी Medical Transcription बिजनेस करने वाले व्यक्ति को ट्रांसक्राइब करने की जिम्मेदारी मिल सकती है। इसलिए इससे पहले की हम इस बारे में और अधिक जानकारी देने का प्रयत्न करें आइये जानते हैं की इस तरह का यह व्यापार है क्या?

how to start a medical transcription business in hindi

मेडिकल ट्रांसक्रिप्शन बिजनेस क्या है  ( What is Medical Transcription Business)

जैसा की हम सबको विदित है की डॉक्टर, चिकित्सकों, नर्सों, सर्जनों इत्यादि के पास जीवन बचाने जैसे मुद्दे पर महत्वपूर्ण कार्य होते हैं। उनका पूरा दिन मरीजों की देखभाल करने में ही चला जाता है और वे एक एक जिन्दगी बचाने के लिए अपने सम्पूर्ण प्रयास लगा देते हैं। लेकिन यदि इन पर कागज़ी कार्यवाही जैसी जिम्मेदारियों का बोझ डाला जाय तो ये जो समय मरीजों को दे सकते हैं उसमें स्वत: ही कमी आ जाएगी। यही कारण है की अक्सर हॉस्पिटल एवं चिकित्सालयों में इनकी मदद करने के लिए ऐसे उपकरण लगाये जाते हैं जिससे इनके और मरीजों के बीच हुई बातचीत को रिकॉर्ड किया जा सके। इसके अलावा इनमें सभी बातों एवं सर्जरी इत्यादि का भी सारांश होता है। चूँकि हेल्थ प्रोफेशनल के पास इनको ट्रांसक्राइब करने का समय नहीं होता इसलिए हॉस्पिटल, चिकित्सालय, क्लिनिक इत्यादि ऐसे कामों को Medical Transcription Companies को आउटसोर्स कर देती हैं। इसलिए एक ऐसी कंपनी जो हॉस्पिटल, चिकित्सालय, क्लिनिक, डॉक्टर इत्यादि से काम प्राप्त करके मेडिकल से समबन्धित ऑडियो इत्यादि को ट्रांसक्राइब करने की जिम्मेदारी लेता है। उसके द्वारा किये जाने वाले काम को मेडिकल ट्रांसक्रिप्शन बिजनेस कहा जाता है।

मेडिकल ट्रांसक्रिप्शन बिजनेस कैसे शुरू करें (How to Start A Medical Transcription Business)

जैसा की हम उपर्युक्त वाक्यों में बता चुके हैं की स्वास्थ्यकर्मी या डॉक्टर मरीजों से सम्बंधित नोट को डिजिटल वाइस रिकॉर्डर इत्यादि के माध्यम से रिकॉर्ड कर लेते हैं। और इनके पास इतना समय नहीं होता की वे उसे ट्रांस्क्राइब करके एक दस्तावेज के रूप में तैयार कर सकें। यही कारण है की वे ऐसा काम Medical Transcription कम्पनी को आउटसोर्स कर देते हैं। उसके बाद कंपनी द्वारा इन ऑडियो फाइल को टेक्स्ट के रूप में परिवर्तित करके उन्हें वापस भेजना होता है जिससे वे इसका प्रिंट आउट या फिर ईमेल इत्यादि के माध्यम से भेज सकें। और इन्हें जरुरत पड़ने पर दस्तावेज के तौर पर आसानी से इस्तेमाल में लाया जा सके। लेकिन अब सवाल यह उठता है की कोई उद्यमी इस तरह का यह बिजनेस कैसे शुरू कर सकता है।

1. मेडिकल ट्रांसक्रिप्शन कोर्स करें (Complete a Course of Medical Transcription)

Medical Transcription Business शुरू करने के लिए कोर्स करना इसलिए बेहद जरुरी है की क्योंकि इसमें उद्यमी को डॉक्टर एवं स्वास्थ्यकर्मियों की रिकार्डेड बातचीत को सुनकर ट्रांसक्राइब करना होता है। इसलिए उसे मेडिकल डिक्शनरी का ज्ञान होना बेहद आवश्यक है इसके अलावा डॉक्टर द्वारा लिखे गए नोट्स को ट्रांसक्राइब करने के लिए भी एक विशेष स्किल की आवश्यकता होती है। क्योंकि डॉक्टर के नोट को केवल मेडिकल एवं दवाइयों इत्यादि का ज्ञान रखने वाला व्यक्ति ही समझ सकता है। इसलिए इस तरह का व्यापार शुरू करने के लिए उद्यमी को सर्वप्रथम मेडिकल ट्रांसक्रिप्शन कोर्स करने की आवश्यकता होती है। ताकि उसे डॉक्टर द्वारा लिखे गए नोट्स एवं ऑडियो को सुनने, समझने में किसी प्रकार की कोई समस्या न हो और वह अपना काम सौ प्रतिशत एक्यूरेसी के साथ पूर्ण कर सके।      

2. अनुभव प्राप्त करें (Get Experience)

अब यदि उद्यमी ने Medical Transcription Course पूर्ण कर लिया हो तो उसके बाद भी उसे जल्दबाजी में इस तरह का यह व्यापार शुरू नहीं करना चाहिए। बल्कि उसे इस तरह का व्यापार शुरू करने के लिए अनुभव की भी आवश्यकता हो सकती है ताकि उद्यमी इस व्यापार में आने वाली चुनौतियों एवं कठिनाइयों को समझ सके। इसके लिए उद्यमी किसी प्रचलित मेडिकल ट्रांसक्रिप्शन कंपनी में जॉब शुरू कर सकता है उद्यमी को कम से कम एक साल का अनुभव प्राप्त करने की आवश्यकता होती है। इसमें उद्यमी को व्यवहारिक ज्ञान की प्राप्ति होगी जो वह कोर्स से नहीं सीख पाया। 

3. अपने बिजनेस को रजिस्टर करें

चूँकि इसमें उद्यमी को डॉक्टर, हॉस्पिटल, चिकित्सालय इत्यादि से डील करने की आवश्यकता होती है अर्थात कहने का आशय यह है की इस बिजनेस में उद्यमी के ग्राहक कोई आम लोग होने वाले नहीं है। इसलिए उद्यमी को अपने बिजनेस को वैधानिक स्वरूप प्रदान करना होगा इसके लिए उद्यमी को बिजनेस रजिस्ट्रेशन के अलावा टैक्स रजिस्ट्रेशन इत्यादि कराने की भी आवश्यकता होगी। इन सबके अलावा उद्यमी को बिजनेस के नाम से चालू खाता खुलवाने, पैन कार्ड बनवाने इत्यादि की भी आवश्यकता हो सकती है। और उद्यमी को चाहिए की वह स्थानीय नियमों के बारे में भी पता करे और जो उसके व्यापार को वैधानिक स्वरूप प्रदान करने के लिए जरुरी हों, वे रजिस्ट्रेशन कराये। क्योंकि Medical Transcription Business करने वाले उद्यमी को एक बात ध्यान रखनी चाहिए की डॉक्टर, क्लिनिक, हॉस्पिटल एवं अन्य चिकित्सालय किसी व्यक्तिगत व्यक्ति को यह काम आउटसोर्स करने की गलती कभी नहीं करेंगे। इसलिए उद्यमी को खुद के व्यापार को रजिस्टर करना ही होगा।     

4. टूल उपकरण खरीदें (Purchase tools and Equipment)

Medical Transcription Business को सफलतापूर्वक चलाने के लिए उद्यमी को अनेकों टूल, उपकरण इत्यादि की आवश्यकता हो सकती है। इस तरह के काम के लिए उद्यमी को कंप्यूटर, लैपटॉप, प्रिंटर, स्टोरेज डिवाइस, फूट पेडल, हैडफ़ोन, इन्टरनेट कनेक्शन इत्यादि की आवश्यकता होती है।  इन सबके अलावा उद्यमी को ऑडियो डाउनलोड करने के लिए सॉफ्टवेयर, वर्ड फाइल इत्यादि अपलोड करने के लिए सॉफ्टवेयर, ट्रांसक्रिप्शन सॉफ्टवेयर इत्यादि की भी आवश्यकता हो सकती है। हालांकि सॉफ्टवेयर के माध्यम से ट्रांसक्राइब किये गए काम को अंतिम नहीं माना जाना चाहिए। बल्कि इसके बाद इसे मैन्युअल चेकिंग और उसके बाद क्वालिटी चेक करने के लिए भेजा जाना भी अति आवश्यक है। और क्वालिटी एवं एक्यूरेसी चेक करने के बाद ही किया हुआ काम क्लाइंट को भेजा जाना चाहिए।      

5. कर्मचारियों की नियुक्ति करें

अब उद्यमी का अगला कदम अपने Medical Transcription Business के लिए कर्मचारियों की नियुक्ति करने का होना चाहिए। वैसे देखा जाय तो वर्तमान में ऑडियो से टेक्स्ट में ट्रांसक्राइब करने के लिए तो सॉफ्टवेयर मौजूद हैं लेकिन डॉक्टर द्वारा लिखे गए नोट्स को केवल मनुष्य ही ट्रांसक्राइब कर सकता है क्योंकि सॉफ्टवेयर उन नोट्स को पढने में असमर्थ होता है। इसके अलावा यह भी जरुरी नहीं है की ऑडियो फाइल को सॉफ्टवेयर सौ प्रतिशत एक्यूरेसी के साथ ट्रांसक्राइब करे। इसलिए उद्यमी को कर्मचारियों की नियुक्ति तो करनी ही करनी होगी इसमें उद्यमी को ट्रांसक्राइबर एवं क्वालिटी चेकर इत्यादि की आवश्यकता हो सकती है।     

6. डॉक्टर हॉस्पिटल चिकित्सालय क्लिनिक इत्यादि से संपर्क

किसी भी बिजनेस से तब तक कमाई कर पाना मुश्किल है जब तक उत्पादित उत्पाद या सेवा को उसके ग्राहकों को बेचा न जाय। चूँकि Medical Transcription Business में उद्यमी के ग्राहक के तौर पर आम आदमी तो होते नहीं हैं बल्कि उद्यमी के ग्राहक के तौर पर डॉक्टर, चिकित्सक, हॉस्पिटल, क्लिनिक, चिकित्सालय इत्यादि हो सकते हैं । इसलिए उद्यमी को इनसे काम पाने के लिए इनसे संपर्क करना होगा और उन्हें अपने द्वारा दी जाने वाली सेवाओं इत्यादि के बारे में उन्हें अवगत कराना होगा। उद्यमी चाहे तो किस ऐसी ट्रांसक्राइब कंपनी से भी संपर्क कर सकता है जिसके पास बहुत अधिक काम हो लेकिन वह समय पर ग्राहकों के इस कार्य को कर नहीं पा रहे हों। इसमें वह कंपनी, काम का कुछ कमीशन रखकर बाकी पैसे उद्यमी की कंपनी को देने का ऑफर दे सकती है। लेकिन ऐसा उद्यमी को केवल तब करना चाहिए जब उसे सीधे हॉस्पिटल, चिकित्सालय इत्यादि से काम न मिले। इसके अलावा उद्यमी ऑनलाइन फ्री एवं पेड प्लेटफोर्म उपकरणों के माध्यम से भी अपने Medical Transcription Business को प्रमोट कर सकता है। चूँकि यह बिजनेस टू बिजनेस (B2B) व्यवसाय है इसलिए उद्यमी एवं उसके कर्मचारियों को और अधिक प्रोफेशनल होने की आवश्यकता होती है।

यह भी पढ़ें

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *