म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश के लिए केवाईसी वेरिफिकेशन कैसे कम्पलीट करें।

जैसा की हम एवं हमारे नियमित आदरणीय पाठकगण अच्छी तरह से जानते हैं की हम यहाँ पर समय समय पर शेयर मार्किट, म्यूच्यूअल फण्ड, एसआईपी इत्यादि के बारे में भी जानकारी देते आये हैं । जहाँ पहले इस तरह के निवेश को अमीर लोगों से जोड़कर देखा जाता था वहीँ वर्तमान में SIP के माध्यम से कम से कम 500 रूपये महीने का निवेश भी संभव हो चूका है। यही कारण है की आज सिक्यूरिटी मार्किट में निवेश करना केवल अमीर लोगों के लिए ही नहीं, अपितु निम्न, मध्यम आय वर्ग लोगों के लिए भी संभव हो चूका है। शेयर मार्किट, म्यूच्यूअल फण्ड इत्यादि में निवेश जोखिमों के अधीन होता है यह बात सभी लोगों को अच्छी तरह से जान लेनी चाहिए। लेकिन आम तौर पर लोगों में धारणा है की यदि प्रतिभूति बाजार में सही ढंग से निवेश किया जाय तो व्यक्ति को उसकी कल्पना से भी बढ़कर लाभ हो सकता है। यही कारण है की अधिकतम लाभ कमाने के वशीभूत होकर लोग जोखिम लेने से भी नहीं कतराते। लेकिन जब कोई नया व्यक्ति एसआईपी लेने की सोचता है तो वैसे तो उसके मष्तिष्क में अनेकों प्रश्न होते हैं। लेकिन इस समय जो एक बेहद प्रमुख प्रश्न उसके मष्तिष्क में आता है वह यह है की वह खुद एसआईपी के तहत निवेश कैसे शुरू कर सकता है?। तो सबसे पहले हम यह बता देना चाहेंगे की कोई भी व्यक्ति जो एसआईपी में निवेश करने की सोच रहा है उसे सर्वप्रथम केवाईसी रजिस्ट्रेशन एजेंसी यानिकी (KRA) के माध्यम से केवाईसी की प्रक्रिया कम्पलीट करनी होती है उसके बाद ही वह किसी एसेट मैनेजमेंट कंपनी (AMC) के माध्यम से एसआईपी के तहत निवेश करने के लिए पात्र हो पाता है। इसलिए नया निवेशक यह जानने के लिए तत्पर रहता है की वह केवाईसी की प्रक्रिया को कैसे कम्पलीट कर सकता है। इसके लिए व्यक्ति को सेबी रजिस्टर्ड केवाईसी रजिस्ट्रेशन एजेंसी के कार्यालय में जाने की आवश्यकता हो सकती है। या फिर व्यक्ति जिस एसेट मैनेजमेंट कंपनी के फण्ड में निवेश करना चाहता है उसके कार्यालय में जाकर इस प्रक्रिया के बारे में पता करना होता है वे व्यक्ति के दस्तावेजों को केवाईसी रजिस्ट्रेशन एजेंसी को भेज देते हैं। लेकिन ऑफलाइन प्रक्रिया के अलावा केवाईसी वेरिफिकेशन की प्रक्रिया ऑनलाइन भी पूर्ण की जा सकती है। इसलिए इस लेख में हम यही जानने की कोशिश करेंगे की केवाईसी वेरिफिकेशन प्रक्रिया ऑनलाइन कैसे पूर्ण की जा सकती है।

ऑनलाइन केवाईसी वेरिफिकेशन के लिए दस्तावेज  

ऑनलाइन केवाईसी वेरिफिकेशन की प्रक्रिया शुरू करने से पहले इच्छुक व्यक्ति को निम्नलिखित दस्तावेज तैयार करने की आवश्यकता होती है। ताकि इस प्रक्रिया में बीच में कोई तकनिकी व्यवधान उत्पन्न न हो।

  • आधार कार्ड या आधार नंबर ।
  • आधार मोबाइल से लिंक होना चाहिए।
  • पैन कार्ड स्कैन कॉपी।
  • हस्ताक्षर की स्कैन कॉपी।
  • ईमेल आईडी।
  • कैंसिल चेक की स्कैन कॉपी।
  • बैंक डिटेल्स जैसे IFSC Code, अकाउंट नंबर इत्यादि।
  • आधार के माध्यम से केवाईसी रजिस्ट्रेशन की इस प्रक्रिया में आधार कार्ड में छपी फोटो को ही सिस्टम द्वारा इस्तेमाल में लाया जाता है। इसलिए पासपोर्ट फोटो की आवश्यकता नहीं होती जबकि विडियो कॉल वाली प्रक्रिया में पासपोर्ट फोटोग्राफ की भी आवश्यकता हो सकती है ।  

आधार आधारित केवाईसी और विडियो कॉल आधारित केवाईसी

जैसा की हम सब जानते हैं की केवाईसी रजिस्ट्रेशन एवं वेरिफिकेशन की प्रक्रिया ऑनलाइन होने के कारण इच्छुक व्यक्ति को फिजिकल दस्तावेज सबमिट करने की आवश्यकता नहीं होती। इस ऑनलाइन प्रक्रिया को दो तरीके से पूर्ण किया जा सकता है पहला तरीका आधार नंबर के माध्यम से वह भी केवल तब जब व्यक्ति का मोबाइल नंबर आधार से लिंक हो। और दुसरे तरीके में व्यक्ति के दस्तावेजों का वेरिफिकेशन विडियो कॉल के माध्यम से किया जाता है। इस प्रक्रिया को IPV (In Person Verification) भी कहा जाता है। इस दुसरे तरीके से वेरिफिकेशन होने के बाद व्यक्ति के लिए निवेश करने की कोई सीमा नहीं है अर्थात वह अपनी क्षमता के अनुसार कितने भी पैसे निवेश कर सकता है। लेकिन जब बात आधार के माध्यम से केवाईसी रजिस्ट्रेशन एवं वेरिफिकेशन की आती है। तो इस प्रक्रिया के तहत वेरिफिकेशन होने के बाद निवेशक एक फण्ड हाउस में एक साल में केवल 50000 रूपये ही निवेश कर सकता है। इसलिए ऐसे व्यक्ति जो 2-3 हज़ार रूपये महीने में एसआईपी (SIP)  के तहत निवेश करना चाहते हैं उनके लिए आधार के माध्यम से ऑनलाइन केवाईसी वेरिफिकेशन कराना भी उपयुक्त हो सकता है। लेकिन जो चाहते हैं की उन पर निवेश करने का कोई लिमिट सम्बन्धी नियम लागू न हो उनके लिए IPV (In Person Verification) उपयुक्त रहेगा। लेकिन इस तरह की फैसिलिटी हर KYC Registration Agency के पास उपलब्ध नहीं है इसलिए निवेशक को किसी ऐसी एजेंसी की खोज करने की आवश्यकता हो सकती है जो यह फैसिलिटी उपलब्ध करा रही हो ।

आधार आधारित ऑनलाइन केवाईसी वेरिफिकेशन कैसे करें

यहाँ पर हम उस प्रक्रिया का जिक्र कर रहे हैं जिस प्रक्रिया के माध्यम से हमने भी ऑनलाइन केवाईसी की यह प्रक्रिया पूर्ण की थी ।

 Step 1 : इसके लिए इच्छुक व्यक्ति को सबसे पहले एसबीआई म्यूच्यूअल फण्ड की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

Step 2 : उसके बाद जो पेज ओपन होगा उसके दाई ओर New Customer लिखा होगा इच्छुक व्यक्ति को New Customer के तहत Register पर क्लिक करना होगा। उसके बाद इच्छुक व्यक्ति को कुछ इस तरह की तस्वीर दिखाई देगी।

Step 2 to get KYC Registration online

Step3 : एसआईपी में निवेश करने के इच्छुक व्यक्ति को उसके बाद अपना पैन नंबर भरकर एवं कैप्चा कोड भरकर इन्वेस्ट पर क्लिक करना होता है। उसके बाद व्यक्ति को कुछ इस प्रकार की तस्वीर दिखाई देगी।

Step 3 to get KYC Registration online

Step 4 : इसमें साफ़ तौर पर बताया गया होगा की आपका पैन केवाईसी अनुकूल नहीं है और म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश के लिए केवाईसी वेरिफिकेशन अनिवार्य है। और इसमें यह भी बताया गया है की इस प्रक्रिया के लिए Aadhar XML (जिसे जनरेट एवं डाउनलोड करने की प्रक्रिया सिस्टम द्वारा इसी प्रक्रिया के दौरान बताई जाती है), पैन कार्ड, और sign किया हुआ कैंसिल चेक की आवश्यकता होती है । व्यक्ति को Select पर क्लिक करके आगे बढ़ना होता है।

Step 5 : केवाईसी वेरिफिकेशन की इस प्रक्रिया में उसके बाद व्यक्ति को खुले हुए पेज में अपनी ईमेल आईडी एवं फ़ोन नंबर भरने की आवश्यकता होती है। यहाँ पर ध्यान देने वाली बात यह है की व्यक्ति को उसी नंबर को भरना चाहिए जो मोबाइल नंबर उसके आधार से लिंक हो। अगर ऐसा नहीं होगा तो व्यक्ति इस प्रक्रिया को पूर्ण नहीं कर पायेगा। ईमेल आईडी एवं फ़ोन नंबर भरने के बाद Proceed पर क्लिक करके आगे बढ़ें।

Step 6 : Proceed पर क्लिक करते ही कुछ इस तरह की तस्वीर व्यक्ति के आँखों के सामने होगी जिसमें साफ़ तौर पर बताया गया है की पहचान के लिए पैन कार्ड, बैंक अकाउंट वेलिडेशन, पता प्रमाण के लिए आधार XML, और निवेशक के हस्ताक्षर के स्कैन कॉपी की आवश्यकता होगी। जहाँ तक आधार XML का सवाल है इसकी प्रक्रिया निवेशक Help Me Download Aadhaar XML पर क्लिक करके जान सकता है।

Step 6 to get KYC Verification online

Step 7 :  Aadhar XML Generate करने के लिए निवेशक को इस अधिकारिक लिंक पर जाकर अपना आधार नंबर एवं सिक्यूरिटी कोड भरकर Send OTP पर क्लिक करना होता है। उसके बाद व्यक्ति के आधार से लिंक मोबाइल नंबर पर OTP आता है जिसे उसे दी गई जगह में भरकर आगे बढ़ना होता है। इसी प्रकार व्यक्ति को Virtual ID भी क्रिएट करनी होती है। चार डिजिट का पिन भी सेट करना होता है जिसे डाउनलोड हुए Aadhaar XML File को अपलोड के बाद Extract करने के दौरान पूछा जाता है।

उसके बाद केवाईसी वेरिफिकेशन की इस प्रक्रिया में व्यक्ति को सिस्टम के निर्देशानुसार पैन कार्ड स्कैन कॉपी, कैंसिल चेक स्कैन कॉपी, सिग्नेचर स्कैन कॉपी इत्यादि अपलोड करने होते हैं। और अपनी बैंक डिटेल्स जैसे बैंक IFSC Code, Bank Account Number इत्यादि भरने होते हैं। बैंक अकाउंट वेरीफाईड करने के लिए इस प्रक्रिया के दौरान सम्बंधित KRA द्वारा आपके अकाउंट में एक रूपये की ट्रांजेक्शन की जाती है। सभी प्रक्रिया यथानुसार पूर्ण होने के बाद व्यक्ति को दो से तीन दिनों के कार्यदिवस के तहत केवाईसी वेरिफिकेशन के बारे में सूचित कर दिया जाता है। यह सूचना ईमेल एवं फ़ोन दोनों के माध्यम से दी जाती है। उसके बाद व्यक्ति विभिन्न एसेट मैनेजमेंट कंपनी की वेबसाइट एवं केवाईसी रजिस्ट्रेशन एजेंसी की वेबसाइट के माध्यम से अपना पैन नंबर भरकर अपना स्टेटस चेक कर सकता है। उसके बाद एसआईपी इत्यादि के माध्यम से म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश शुरू कर सकता है।

यह लेख भी पढ़ें  

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *