Menthol Crystal Making Business की जानकारी.

Menthol Crystal Making Business की जानकारी.

Menthol Crystal Making business के बारे में हम अवश्य जानने की कोशिश करेंगे, लेकिन उससे पहले हमारे लिए यह जानना जरुरी है की यह Menthol Crystal है क्या? क्योंकि हमारे आदरणीय पाठक गणों में बहुत सारे पाठक गण ऐसे होंगे जिन्हें शायद यह विदित न हो की Menthol Crystal कहते किसे हैं | पुदीने का नाम तो हर किसी ने सुना होगा, और इसके स्वाद का मजा भी गर्मियों में लगभग सबने लिया होगा क्योंकि गर्मियों में पुदीने एवं नींबू के पानी को हर सार्वजनिक जगह जैसे बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन इत्यादि पर किसी न किसी द्वारा बेचते हुए देखा जा सकता है | पुदीने एवं नींबू के रस से निर्मित यह पानी गर्मियों में शरीर को ठंडक पहुँचाने एवं ताजगी देने का कार्य करता है | खैर आज का हमारा विषय पुदीने एवं नींबू पानी बेचने के बिज़नेस पर आधारित नहीं अपितु Menthol Crystal Making Business पर आधारित है | इसलिए हम कहना चाहेंगे की Menthol Crystal को पुदीने के तेल अर्थात Mint Oil से निर्मित किया जाता है |

Menthol-Crystal making business

Menthol Crystal Making Business Kya hai:

जैसा की हम उपर्युक्त वाक्य में बता चुके हैं की Menthol Crystal पुदीने के तेल (Mentha Oil) से बनाया जाता है इसलिए मेन्थॉल क्रिस्टल एक प्राकृतिक उत्पाद है,  यह ठंडा और ताज़ा होने के साथ पुदीने की खुशबू से युक्त होता है | मेन्थॉल पुदीने से तेल निकालने से प्राप्त एक यौगिक है जिसे पहले  peppermint camphor भी कहा जाता है | Menthol Crystal और पूर्व में पेपरमिंट कपूर के रूप में जाना जाता था। मेन्थॉल क्रिस्टल को किसी भी उत्पाद में उपयोग में लाया जा सकता है क्योंकि ये विभिन्न उत्पादों में अच्छी तरह से काम करते हैं | अधिकतर तौर पर इसमें एक मजबूत स्वाद, दर्द को दूर करने और शरीर को शांत करने की क्षमता विद्यमान होती है । यही कारण है की Mentha Oil एवं इससे उत्पादित यौगिक जैसे मेंथोल को व्यापक रूप से फ्लेवरिंग सामग्री के रूप में उपयोग में लाया जाता है | कहने का आशय यह है की Menthol Crystal का उपयोग अनेकों उत्पादों जैसे टूथ पेस्ट, दन्त क्रीम, कफ सिरप, कन्फेक्शनरी, पान मसाला, चबाने वाली मसूड़ों और दर्द निवारण की औषधि बनाने में भी किया जाता है । इसलिए जब किसी उद्यमी द्वारा अपनी कमाई करने के लिए व्यवसायिक तौर पर मेन्थॉल क्रिस्टल  बनाने का काम किया जाता है तो उसके द्वारा की जाने वाली यह व्यवसायिक प्रक्रिया Menthol Crystal Making Business कहलाती है |

Market Potential in Menthol Crystal making:

Mentha Oil यानिकी पुदीने के तेल एवं इसके अन्य यौगिक जैसे Menthol एवं Dementholised oil को भारतवर्ष के उत्तरी भारत में मार्किट किया जा रहा है | चूँकि भारतवर्ष पुदीना एवं इससे उत्पादित उत्पादों के उत्पादन में दुनियां में दुसरे नंबर पर है इसलिए Menthol Crystal को निर्यात करने के भी अवसर विद्यमान हैं | आयात निर्यात बिज़नेस कैसे शुरू करें के लिए पढ़ें | समय व्यतीत होने के साथ साथ इसके उपयोग सिर्फ फार्मास्यूटिकल सेक्टर में ही नहीं अपितु कन्फेक्शनरी सेक्टर में भी होते आये हैं और अन्य औद्योगिक क्षेत्रों जैसे फ़ूड इत्यादि में भी इसके उपयोग संभावित हैं | 2014 के एक आंकड़े के मुताबिक एक वर्ष में भारतवर्ष से पुदीना एवं इससे निर्मित यौगिक दुनिया भर में लगभग 60-70 करोड़ के निर्यात किये जा रहे थे | वर्तमान में भारतवर्ष में Japanes Mint की खेती 60 हज़ार हेक्टेयर भूमि में की जा रही है जिससे लगभग 12000 टन Mentha Oil बनाया जाता है और जो पूरे विश्व में Menthol  mint उत्पादन का 75% है | इसलिए कहा जा सकता है की Menthol Crystal Making business करने वाला उद्यमी अपने उत्पाद को न केवल इंडिया में बेच सकता है अपितु बाहर देशों की ओर निर्यात भी कर सकता है |

कच्चे माल का स्रोत (Sources of raw Materials):

हालांकि हम उपर्युक्त वाक्य में बता चुके हैं की भारतवर्ष में जापानी पुदीने का उत्पादन अधिक किया जाता है और यह उत्पादन विशेष तौर पर उत्तर भारत जैसे उत्तर प्रदेश एवं पंजाब के कुछ क्षेत्रों में किया जाता रहा है | इसलिए Menthol Crystal Making business के लिए कच्चे माल की प्राप्ति उन किसानों या उत्पाद कर्ताओं से संपर्क करके हो सकती है जो पुदीने का तेल अर्थात Mentha Oil बनाने का काम करते हों | हालांकि यह जरुरी नहीं है की सभी किसान पुदीने की खेती करके स्वयं ही इसके Oil Extraction business से जुड़े हुए हों लेकिन कुछ किसान ऐसे अवश्य हो सकते हैं, यदि ऐसे कोई किसान न हों तो उद्यमी किसानों से मिलकर यह पता कर सकता है की उनके उत्पाद को किसके द्वारा खरीदा जाता है ताकि वे लोग जो किसानों से पुदीने को Oil Extraction के लिए खरीदते होंगे उनका पता करके उद्यमी उनसे Mentha Oil अर्थात पुदीने का तेल खरीदकर Menthol Crystal Making business शुरू कर सके | वैसे यदि उद्यमी कुछ बड़े स्तर पर यह बिज़नेस शुरू करना चाहता हो तो वह यह दोनों काम अर्थात पुदीने से तेल निकालने एवं Menthol Crystal Making business शुरू कर सकता है इसका फायदा यह होगा की उद्यमी प्रत्यक्ष रूप से किसानों से कच्चा माल अर्थात पुदीना खरीदकर उसका तेल निकालकर और उस तेल से Menthol Crystal भी बना सकता है, लेकिन इसमें मशीनरी एवं उपकरणों की लिस्ट दी गई लिस्ट से अधिक एवं पूरी तरह अंतरित हो सकती है |

आवश्यक मशीनरी एवं उपकरण:

  • लगभग 500 लीटर क्षमता वाले 5-6 चिल्लिंग प्लांट जिसमे एक प्लांट की लगत लगभग 5 लाख हो सकती है |
  • Heavy Duty Centrifuge Unit जिसकी कीमत 325000 से 7 लाख तक हो सकती है |
  • Stirrer के साथ 200 किलो की क्षमता वाले लगभग छह S. reaction vessel जिनकी एक की कीमत लगभग 1.4 से 1.6 लाख हो सकती है |
  • 100 किलो की क्षमता वाला ड्रायर के साथ 10-12 ट्रे जिनमे thermostat temperature control हो इन सबकी कीमत लगभग 8 लाख रूपये हो सकती है |
  • दो वैक्यूम फ़िल्टर जिनकी कीमत लगभग दो लाख रूपये हो सकती है |
  • स्टोरेज के लिए स्टेनलेस स्टील की ट्रे | एक ट्रे की कीमत 25-30 हज़ार हो सकती है |
  • प्रयोगशाला उपकरण इनमे कुल लगत रूपये दो लाख पच्चीस हज़ार आ सकती है |

Manufacturing process of Menthol Crystal:

Menthol Crystal बनाने की प्रक्रिया विभिन्न सहक्रियाओं जैसे पुदीने के तेल की फ्रीजिंग, सेंटीफ्यूगिंग प्रक्रिया द्वारा शेष तेल से तेल क्रिस्टल निकालना और क्रिस्टल को सुखाना इत्यादि जुड़ी हुई हैं | जैसा की हम सबको विदित है की Menthol Crystal Making business में प्रयुक्त होने वाला मुख्य कच्चा माल पुदीने का तेल अर्थात Mentha Oil होता है, इसलिए किसानों एवं ब्रोकर से Mentha Oil खरीदने के बाद इसे ठंडा अर्थात फ्रीजिंग करने से पहले फ़िल्टर किया जाता है | क्योंकि अक्सर देखा गया है इस तेल में कुछ अशुद्धियाँ जैसे पानी एवं mucilaginous होती हैं जो तेल से Menthol Crystal पैदा करने में रुकावट पैदा करती हैं | इसलिए इसका क्रिस्टलीकरण करने के लिए अधिकतर उत्पादकों द्वारा Mentha Oil को फ़िल्टर किया जाता है |

  1. क्रिस्टलीकरण की प्रक्रिया:

शुद्ध फ़िल्टर तेल को धीरे धीरे ठंडा किया जाता है इस फ्रीजिंग प्रक्रिया को सामान्य तौर पर तीन भागों में विभाजित किया जा सकता है | सर्वप्रथम इसे 14°C पर ठंडा किया जाता है, उसके बाद 10°C पर और अंत में घंटों -5°C पर ठंडा किया जाता है | कुछ स्थितियों में यह प्रक्रिया 48 घंटे तक का समय ले सकती है और Mentha Oil को -20°C तक पर ठंडा करना पड़ सकता है | इसी बात को ध्यान में रखकर कुछ निर्माणकर्ता बड़े refrigerators compartment रखे होते हैं | बड़े प्लांट में नियमित तौर पर ठंडे करने वाले फ्रीजिंग कमरे उपलब्ध रहते हैं |

  1. Dementholised Oil से Menthol Crystal अलग करना:

Dementholised Oil से Menthol Crystal अलग करने के लिए centrifuging की मदद ली जाती है सबसे पहले क्रिस्टल से तरल तेल को निथार लिया जाता है उसके बाद क्रिस्टल को बड़े से centrifuges rotating में 1200 RPM की गति पर centrifuging किया जाता है | इस centrifuge process के दौरान कुछ निर्माणकर्ता क्रिस्टल को थोड़े से पानी की मदद से धो भी लेते हैं |

  1. Menthol Crystal को सुखाना:

Menthol Crystal को centrifuged करने की प्रक्रिया के बाद किसी रूम या बड़े कम्पार्टमेंट में उपलब्ध ट्रे में फैला दिया जाता है और उसके बाद इन्हें हवा की धीमी गति लगभग 26°C में 36 घंटों तक सुखाया जाता है | हालांकि Menthol Crystal making Business में इस प्रक्रिया को बेहद सावधानी से किया जाता है और जब उसके बाद यह उत्पाद पैकेजिंग के लिए तैयार हो जाता है | इसकी गुणवत्ता के लिए ब्यूरो ऑफ़ इंडियन स्टैण्डर्ड ने IS 3134 में नियमों का उल्लेखन किया है |

Comments

  1. By Ankita

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: