Mobile Banking क्या है? इसके फायदे नुकसान एवं सुरक्षित मोबाइल बैंकिंग के तरीके.

वर्तमान में Mobile Banking से शायद हर कोई व्यक्ति परिचित है लेकिन इसके बावजूद भी इन्टरनेट पर मोबाइल बैंकिंग क्या है? इसके फायदे नुकसान इत्यादि विषयों के बारे में जानने के इच्छुक लोगों की कमी नहीं है | भारत में बैंकिंग व्यवस्था ने एक लम्बा सफ़र तय किया है यह व्यवस्था रजिस्टरों, बही खातों से शुरू होकर कंप्यूटर, लैपटॉप से होते हुए लोगों की जेब अर्थात मोबाइल तक पहुंच गई है | वर्तमान में बैंकिंग प्रणाली इतनी आसान एवं सुरक्षित हो गई है की लोग अपने मोबाइल फोन के माध्यम से कहीं से भी Mobile Banking का इस्तेमाल करके विभिन्न वित्तीय कार्यों को अंजाम तक पहुंचा सकते हैं | कहने का अभिप्राय यह है की अब हर बार आपको बैंक के चक्कर लगाने की आवश्यकता नहीं होती है क्योंकि इस सुविधा को अपनाकर व्यक्ति सभी प्रकार के लेन देन अपने मोबाइल फोन से कर सकता है | यदि व्यक्ति को कुछ खरीदना हो तो वह Mobile Banking के माध्यम से विक्रेता को भुगतान कर सकता है | इसके अलावा बैलेंस चेक करना, फण्ड ट्रान्सफर इत्यादि सुविधाएँ भी मोबाइल बैंकिंग के माध्यम से उपयोगकर्ता को मिल जाती हैं, यही कारण है की वर्तमान में इस प्रकार की यह बैंकिंग शहरी क्षेत्रों में लोगों की दैनिक जीवन का हिस्सा बन गयी है | इसलिए आज हम हमारे इस लेख के माध्यम से Mobile banking के बारे में पूरी जानकारी देने का भरसक प्रयत्न करेंगे |

mobile banking benefits hindi

मोबाइल बैंकिंग क्या है (What is Mobile Banking in Hindi):

सरल शब्दों में यदि Mobile Banking को समझने की कोशिश करें तो हम पाएंगे की मोबाइल फोन के माध्यम से किया जाने वाला पैसे का लेन देन इत्यादि प्रक्रियाएं मोबाइल बैंकिंग से सम्बंधित होती हैं | कहने का अभिप्राय यह है की जब व्यक्ति अपने घर से या कंप्यूटर लैपटॉप से दूर रहता है तो उस स्थिति में वह मोबाइल बैंकिंग के माध्यम से अपने मोबाइल फोन के जरिए अपने अकाउंट में बैलेंस चेक करना, फण्ड ट्रान्सफर करना, अपने बिलों का भुगतान करना इत्यादि प्रक्रियाएं कर सकता है | उसके द्वारा मोबाइल से की जाने वाली यह प्रक्रियाएं ही Mobile Banking कहलाती है | वर्तमान में मोबाइल बैंकिंग स्मार्टफोन के अलावा साधारण से फोन से मेसेज इत्यादि के माध्यम से भी की जा सकती हैं | मोबाइल बैंकिंग को थोड़ा और अच्छे ढंग से समझने की कोशिश करेंगे तो हम पाएंगे की यह किसी बैंक या वित्तीय संस्थान द्वारा अपने ग्राहकों को प्रदान की जाने वाली एक सेवा है जिसका इस्तेमाल करके बैंक ग्राहक अपने मोबाइल फोन या टेबलेट के माध्यम से लेन देन आसानी से कर सकते हैं |

मोबाइल बैंकिंग के फायदे (Advantages of Mobile banking in Hindi):

Mobile banking के फायदों का अंदाज़ा तो इस बात से लगाया जा सकता है की वर्तमान में अधिकतर लोग बैंकों द्वारा दी जाने वाली इस सेवा का आनंद उठा रहे हैं | लेकिन इसके बावजूद इस बात से भी इंकार नहीं किया जा सकता की भारत में आज भी बहुत सारे लोग ऐसे हैं जो Mobile banking पर कम विश्वास करते हैं, लेकिन चूँकि कंपनियां इस तरह की सेवाओं को सुरक्षित बनाने के लिए हमेशा से प्रयासरत रहे हैं इसलिए कहा जा सकता है की आने वाले समय में भारतवर्ष में मोबाइल बैंकिंग उपयोगकर्ताओं की संख्या में बड़ी तीव्र वृद्धि हो सकती है | मोबाइल बैंकिंग की कुछ प्रमुख फायदों की लिस्ट हम नीचे दे रहे हैं |

  • हालांकि Mobile banking को इन्टरनेट का इस्तेमाल करके तो इस्तेमाल में लाया ही जा सकता है लेकिन इसे बिना इन्टरनेट के भी उपयोग में लाया जा सकता है | क्योंकि इसे मेसेज, फोन कॉल इत्यादि के माध्यम से भी अंजाम दिया जा सकता है जिसके लिए इन्टरनेट की आवश्यकता नहीं होती है और जिस नेटवर्क की आवश्यकता होती है वह नेटवर्क सर्विस प्रोवाइडर द्वारा प्रदान किया जाता है | भारत जैसे विकाशशील देश जहाँ गाँव देहात तक अभी इन्टरनेट पहुंचा नहीं है | वे लोग भी Mobile Banking का फायदा उठा सकते हैं |
  • मोबाइल बैंकिंग को आप फोन या टेबलेट के माध्यम से कहीं से भी, कभी भी कर सकते हैं अर्थात इस सेवा का लाभ ग्राहक दिन के चौबीस घंटे, हफ्ते के सातों दिन, साल के 365 दिन कभी भी ले सकता है |
  • Mobile Banking को इन्टरनेट बैंकिंग की तुलना में अधिक सुरक्षित एवं जोखिम से मुक्त माना गया है |
  • मोबाइल बैंकिंग का इस्तेमाल करके ग्राहक अपने बिलों का भुगतान कर सकता है, फण्ड ट्रान्सफर कर सकता है, अपने खाते का बैलेंस चेक कर सकता है, अपने लेन देन का रिव्यु कर सकता है, और खो जाने की स्थिति में अपने एटीएम कार्ड को ब्लाक इत्यादि प्रक्रियाएं कर सकता है |
  • मोबाइल बैंकिंग को एक्टिवेट करने की प्रक्रिया एवं इसे उपयोग में लाने की प्रक्रिया काफी सरल होती है जिसे कोई भी व्यक्ति आसानी से समझ सकता है |
  • वर्तमान में Mobile Banking को बढ़ावा एवं प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से सभी बैंकों ने अपनी एप्लीकेशन बनायीं हुई हैं | जिन्हें इनके ग्राहक अपने फोन में डाउनलोड कर सकते हैं इस तरह की ये एप्लीकेशन बैंक के मुख्य सर्वर से जुड़ी रहती हैं जो की सुरक्षा की दृष्टी से बहुत ज्यादा सुरक्षित रहते हैं |
  • बैंकों द्वारा इस सेवा के बदले अपने ग्राहकों से नाममात्र का शुल्क लिया जाता है, तो कुछ बैंकों द्वारा यह सुविधा मुफ्त में भी मुहैया कराई जाती है |

मोबाइल बैंकिंग के नुकसान (Disadvantages of Mobile Banking in Hindi):

Mobile Banking के फायदे हैं तो इसके कई नुकसान भी हैं जिनका वर्णन हम निम्नवत कर रहे हैं |

  • जिस तरह से Phishing (जिसमे ईमेल के माध्यम से फ्रॉड लिंक प्राप्त होते हैं) इन्टरनेट बैंकिंग के नुकसान की लिस्ट में शामिल है ठीक उसी प्रकार Smishing (जिसमें ग्राहक को फेक मेसेज प्राप्त होते हैं जो की उसे लगता है की बैंक ने भेजे होंगे) कई लोग इस जाल में फंसकर अपनी कमाई गँवा चुके हैं |
  • यद्यपि Mobile banking को हर तरह के फोन का इस्तेमाल करके उपयोग में लाया जा सकता है लेकिन यदि आपके पास स्मार्टफोन उपलब्ध नहीं है और उसमे आपने बैंक की एप्लीकेशन इनस्टॉल नहीं की है तो बैंक द्वारा आपको कुछ सीमित सेवाओं की ही पेशकश मोबाइल बैंकिंग के माध्यम से की जाती है |
  • हालांकि अधिकतर बैंकों द्वारा डाटा शुल्क, एसएमएस शुल्क इत्यादि साल में एक बार ही ग्राहक के खाते से काटा जाता है लेकिन नियमित तौर पर मोबाइल बैंकिंग का उपयोग इस तरह के शुल्कों की राशि को बढ़ा सकता है |
  • ग्राहक का मोबाइल चोरी हो जाने या खो जाने की स्थिति में बैंक से सम्बंधित जानकारी गलत हाथों में पड़ने का खतरा बढ़ जाता है जिससे खाते की सुरक्षा पर भी खतरा बढ़ जाता है |

मोबाइल बैंकिंग एक्टिवेट कैसे करें (How to activate Mobile banking in Hindi):

अलग अलग बैंकों में Mobile banking एक्टिवेट करने की अलग अलग प्रक्रियाएं निर्धारित हो सकती हैं | लेकिन हम यहाँ पर सार्वजनिक क्षेत्र के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक द्वारा निर्धारित Mobile Banking Activate करने की प्रक्रिया के बारे में संक्षिप्त रूप से जानने की कोशिश करेंगे | वैसे तो इस प्रक्रिया को दो विधियों एटीएम के माध्यम से या फोन के माध्यम से अंजाम दिया जा सकता है हम यहाँ पर फोन के माध्यम से उपयोग में लायी जाने वाली विधि के बारे में जानेंगे |

स्टेप 1 : Mobile Banking activate करने के इच्छुक ग्राहक को सर्वप्रथम अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से SMS में MBSREG लिखकर 9223440000 पर भेजना होगा | इस एसएमएस को भेजने के बाद ग्राहक को उसके मोबाइल पर यूजर आईडी, डिफ़ॉल्ट MPIN एवं एप्लीकेशन डाउनलोड करने के लिए लिंक प्राप्त होगा |

स्टेप 2: उसके बाद भेजे गए लिंक से ग्राहक को स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया की फ्रीडम एप्लीकेशन डाउनलोड करनी होती है | यदि फोन स्मार्टफोन नहीं है अर्थात यदि ग्राहक USSD या WAP  सर्विस पर है तो एप्लीकेशन डाउनलोड करने की आवश्यकता नहीं होती है |

स्टेप 3: उसके बाद ग्राहक को डिफ़ॉल्ट मोबाइल पिन बदलना होता है वह इसे एप्लीकेशन, WAP या एसएमएस भेजकर बदल सकता है |

स्टेप 4: उसके बाद ग्राहक को Mobile Banking registration process को पूर्ण करना होता है | इस प्रक्रिया को उद्यमी इन्टनेट बैंकिंग में लॉग इन करके, एटीएम में जाकर एटीएम कार्ड के माध्यम से या किसी नजदीकी ब्रांच में रजिस्ट्रेशन फॉर्म सबमिट करके कर सकता है |

रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद ग्राहक Mobile banking करने के लिए पात्र हो जाता है |

सुरक्षित मोबाइल बैंकिंग कैसे करें? (Safety tips for mobile Banking in Hindi):

चूँकि यह विषय ग्राहक की खून पसीने की कमाई से जुड़ा हुआ है इसलिए अक्सर लोगों के अंतर्मन में यह सवाल आता है की वे सुरक्षित Mobile Banking कैसे कर सकते हैं जिससे उनके खाते में उपलब्ध उनकी कमाई को कोई खतरा न हो | यहाँ पर हम कुछ ऐसी ही सावधानियों या सुरक्षा उपायों की बात कर रहे हैं जिनका अनुसरण करके कोई भी व्यक्ति सुरक्षित Mobile Banking करने में सक्षम हो पायेगा |

  • ग्राहक को चाहिए की वह अपने बैंक खाते की जानकारी जैसे अकाउंट नंबर, डेबिट एवं क्रेडिट कार्ड पिन इत्यादि कभी भी अपने मोबाइल फोन में स्टोर करके न रखे |
  • यदि आप बैंक की एप्लीकेशन के माध्यम से Mobile banking का इस्तेमाल कर रहे हैं तो आटोमेटिक लॉग इन के लिए कभी भी अपने यूजर नाम एवं पासवर्ड को स्टोर करके न रखें | क्योंकि इससे आप इस बात से निश्चिंत हो जाते हैं की यदि आपका फोन गलत हाथों में चले भी गया तो भी वह आपके अकाउंट को एक्सेस नहीं कर पायेगा |
  • मोबाइल बैंकिंग करते वक्त किसी सामूहिक नेटवर्क जैसे फ्री वाई फाई इत्यादि का इस्तेमाल न करें या किसी सामूहिक नेटवर्क से जुड़े रहने के दौरान Mobile banking का इस्तेमाल न करें |
  • केवल अधिकारिक एप्लीकेशन ही अपने फोन में इनस्टॉल करें क्योंकि बहुत सारी एप्लीकेशन ऐसी होती है जो आपकी डिटेल्स चोरी कर सकती हैं | इसलिए फ़ोन में एप्लीकेशन इनस्टॉल करने में बेहद सावधानी बरतें |
  • यदि आपको आपके फोन पर मेसेज के माध्यम से कोई फेक लिंक या एसएमएस प्राप्त होता है तो उस पर क्लिक न करें बल्कि उसे डिलीट कर दें |
  • अपना एटीएम पिन, मोबाइल बैंकिंग पिन या अन्य किसी प्रकार का भी पिन किसी के साथ साझा न करें | यहाँ तक की यदि कोई आपसे कहता है की वह आपके बैंक से बोल रहा है और इस तरह की जानकारी आपसे लेना चाहता हो तो उसे यह जानकारी बिलकुल न दें |
  • सुरक्षित Mobile Baking के लिए आप अपने फोन में किसी एंटी वायरस सॉफ्टवेर का इस्तेमाल कर सकते हैं और ध्यान रहे की उसमे Firewall Protection enable होनी चाहिए |
  • यदि आपका फ़ोन खो जाता है या आप नंबर बदल लेते हैं तो अपना नया नंबर Mobile banking के साथ तुरंत जोड़ें |

यह भी पढ़ें:

 

 

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *