मॉडलिंग एजेंसी कैसे शुरू करें? How to Start a Modeling Agency in India.

वर्तमान परिवेश एवं जीवनशैली में Modeling Agency का महत्व काफी बढ़ गया है जैसा की हम सबको अच्छी तरह से विदित है की भारत जनसँख्या की दृष्टी से विश्व में दूसरा सबसे बड़ा देश है। शायद यही कारण है की यह दुनियाँ के लिए एक बहुत बड़ा बाजार भी है जहाँ देश विदेश की कम्पनियां अपने द्वारा निर्मित वस्तुओं एवं सेवाओं को बेच सकते हैं। हम इन सब बातों का उल्लेख यहाँ पर इसलिए कर रहे हैं क्योंकि Modeling Agency का भी कहीं न कहीं बाजार एवं बाजार में बिकने वाली वस्तुओं से लेना देना होता है। जी हाँ एक मॉडलिंग एजेंसी का काम उसके साथ जुड़े मॉडलों को काम दिलाना एवं उसके बदले कमीशन से पैसे की कमाई करने का होता है। जैसा की हम सब अच्छी तरह से जानते हैं की मनुष्य को अपने जीवन में एक नहीं बल्कि अनगिनत वस्तुओं की आवश्यकता होती है। और इन अनगिनत वस्तुओं का उत्पादन अनगिनत विनिर्माणकर्ताओं, व्यापारिक इकाइयों द्वारा किया जाता है। इसलिए हर कोई बिजनेस इकाई अपने उत्पाद या सेवा को ग्राहकों को बेचने के लिए तरह तरह के तरीके अपनाती है ताकि उसके ब्रांड को जल्दी से ख्याति मिल सके और लोग उसके उत्पाद या सेवा को अधिक से अधिक खरीद सकें। वर्तमान में मीडिया चाहे वह प्रिंट मीडिया हो या इलेक्ट्रॉनिक मीडिया जैसे टेलीविजन, ऑनलाइन शो इत्यादि कुछ भी हों, में बीच बीच में विज्ञापन चलते ही हैं। इन विज्ञापनों को करने के लिए बिजनेस इकाइयों को मॉडल इत्यादि की आवश्यकता होती है अपनी इसी आवश्यकता के चलते उद्यमी या बिजनेस इकाइयाँ किसी Modeling Agency से संपर्क करते हैं। जो उन्हें उनकी आवश्यकता के मुताबिक मॉडल दिला सकें।

Modeling agency business in Hindi

मॉडलिंग एजेंसी क्या है (What is Modeling Agency)

एक Modeling Agency की यदि हम बात करें तो इसे एक ऐसी कंपनी या बिजनेस इकाई कहा जा सकता है जो अलग अलग मॉडल को अलग अलग इंडस्ट्री में काम दिलाने का प्रतिनिधित्व करती हैं। वैसे देखा जाय तो फैशन इंडस्ट्री को मॉडलों की सबसे अधिक आवश्यकता होती रहती है। आम तौर पर इनका मॉडल इत्यादि के साथ पहले से सौदा तय होता है इसलिए इनकी कमाई भी कमीशन के माध्यम से ही होती है। आम तौर पर बड़ी एजेंसी बड़े स्तर पर एडवरटाइजिंग एजेंसी एवं फैशन डिज़ाइनर इत्यादि के साथ काम करती हैं। इस तरह की यह एजेंसीयां अपना स्टेटस बढाने के लिए अपने टैलेंट को विकसित करने में काफी निवेश करती हैं। इस तरह की ये एजेंसीयां प्रशिक्षित मॉडलों को काम दिलाने में तो मदद करती ही हैं साथ में उन्हें टेस्ट फोटोशूट, पोर्टफोलियो का लेआउट बनाने, कम्पोजीशन फोटो कार्ड एवं अन्य प्रिंटेड मटेरियल प्रदान करने में भी मदद करती हैं।

मॉडलिंग एजेंसी कैसे शुरू करें? (How to Start a Modeling Agency in India):

आम तौर पर देखा जाय तो एक Modeling Agency को फैशन इंडस्ट्री से जोड़कर ही देखा जाता रहा है लेकिन वर्तमान में केवल फैशन इंडस्ट्री में ही नहीं अपितु ऑटो इंडस्ट्री, हेल्थ इंडस्ट्री इत्यादि में भी मॉडल की मांग बहुतायत रूप में देखी जा सकती है। और यह भी जरुरी नहीं है की जो नौजवान युवक, युवतियां हैं मॉडलिंग केवल उन्हीं के लिए हैं। बल्कि सच्चाई यह है की कोई भी किसी भी उम्र का व्यक्ति मॉडलिंग में प्रवेश कर सकता है । कभी कभी मॉडलिंग एजेंसी मॉडलों के साथ सीधे काम कर रही होती है तो कभी कभी किसी हेड एजेंसी के साथ काम कर रही होती है। कोई भी बिजनेस शुरू करने के लिए उसे सिर्फ वैधानिक रूप से रजिस्टर कर देना ही उपयुक्त नहीं होता बल्कि एक बिजनेस शुरू करने के लिए उद्यमी को अनेकों कदम उठाने की आवश्यकता हो सकती है। तो आइये जानते हैं की भारत में कैसे कोई खुद की Modeling Agency Business शुरू कर सकता है।

1. बिजनेस की योजना बनायें  (Prepare Business Plan for Modeling Agency)

यदि Modeling Agency शुरू करने वाला उद्यमी स्वयं को भविष्य में एक सफल उद्यमी के रूप में देखना चाहता है तो उसके लिए एक प्रभावी बिजनेस प्लान बनाना बेहद आवश्यक हो जाता है। यह उद्यमी को उसके व्यापार की बारीकियों को समझने में तो मदद करेगा ही साथ में जिन चीजों के बारे में उद्यमी को पता तक न हो कुछ ऐसी चीजों को भी सामने लाने में मदद करेगा। वैसे देखा जाय तो एक प्रभावी बिजनेस प्लान में बिजनेस के लक्ष्य, उन्हें पूरा करने का समय, अनुमानित खर्चा, अनुमानित कमाई सभी कुछ शामिल होना चाहिए। लेकिन कुछ प्रभावी बातें जो इस बिजनेस योजना में होनी चाहियें उनका संक्षिप्त विवरण इस प्रकार से है।

  • उद्यमी को इस बात को उल्लेखित करने की आवश्यकता होती है की स्टार्टअप कास्ट और बिजनेस को पूर्ण रूप से संचालित रखने में कितना खर्चा आ सकता है।
  • इसके अलावा उद्यमी को एक प्रभावी बिजनेस प्लान में अपने टारगेट मार्किट के बारे में भी पूर्ण जानकारी को लिखित स्वरूप देने की आवश्यकता होती है।
  • उद्यमी की Modeling Agency अपने वित्तीय लक्ष्यों को समय पर पूरा करने के लिए किस तरह से पैसे कमाएगी।
  • आम तौर पर मॉडलिंग एजेंसीयां 20% तक अपने कस्टमर पर कमीशन चार्ज करती हैं उद्यमी अपने ग्राहकों पर कितना चार्ज करेगा।
  • उद्यमी अपने व्यापार को और अधिक लाभकारी बनाने के लिए क्या क्या कदम उठाएगा।

यहाँ पर तो हमने कुछ ही बातों का उल्लेख किया है लेकिन एक प्रभावी बिजनेस प्लान में बिजनेस से जुड़ी हर एक बात का उल्लेख व्यवहारिक तरीके से होता है ।         

2. ऑफिस किराये पर लें

हालांकि जैसा की हम उपर्युक्त वाक्य में भी बता चुके हैं की एक Modeling Agency उसके साथ जुड़े मॉडल को काम दिलाकर कमीशन के जरिये पैसे कमाने का काम करती है। और आम तौर पर फैशन इंडस्ट्री मॉडलिंग की सबसे बड़ी ग्राहक के तौर पर उभरकर सामने आती है। इसलिए उद्यमी को एक ऐसी जगह की आवश्यकता होती है जहाँ पर वह मॉडल, एडवरटाइजिंग एजेंसी, फैशन डिज़ाइनर इत्यादि से मुलाकात कर सके। और उनके साथ औपचारिक कागज़ी कार्यवाही को भी पूर्ण कर सके। इसके लिए उद्यमी को किसी प्रसिद्ध जगह पर ऑफिस के लिए जगह या बिल्डिंग किराये पर लेने की आवश्यकता हो सकती है। चूँकि मॉडलिंग बिजनेस पूरी तरह प्रदर्शनी या दिखावे पर निर्भर है इसलिए उद्यमी को अपने ऑफिस की फिटिंग एवं फर्निशिंग आकर्षक ढंग से करनी होगी। ताकि ऑफिस का इंटीरियर इत्यादि वहां पर आने वाले लोगों जैसे मॉडल, फैशन डिज़ाइनर इत्यादि पर आकर्षक प्रभाव डाल सके।       

3. लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन

चूँकि उद्यमी को विभिन्न इंडस्ट्री एवं मॉडल के साथ काम करने की आवश्यकता होती है इसलिए उद्यमी को अपने व्यापार को वैधानिक स्वरूप प्रदान करना अति आवश्यक है। उद्यमी चाहे तो अपनी Modeling Agency को पार्टनरशिप, प्रोप्राइटरशिप, प्राइवेट लिमिटेड इत्यादि बिजनेस एंटिटी में से किसी एक में रजिस्टर करके इसे वैधानिक स्वरूप प्रदान कर सकता है। इसके अलावा उद्यमी को टैक्स रजिस्ट्रेशन, बैंक में चालू खाता इत्यादि खोलने की भी आवश्यकता हो सकती है। कोई भी मॉडल या फैशन डिज़ाइनर किसी ऐसी एजेंसी के साथ काम करना बिलकुल पसंद नहीं करेंगे जो लागू नियम एवं कानूनों के मुताबिक पंजीकृत न हो। इसलिए उद्यमी को लगभग सभी प्रकार के लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन नियम एवं कानूनों के मुताबिक प्राप्त करने अत्यंत आवश्यक हैं।     

4. एजेंसी को प्रमोट करें (Promote Your Modeling  Agency)

हालांकि Modeling Agency का व्यापार चलाने वाले अलग अलग उद्यमियों द्वारा मार्केटिंग के अलग अलग तरीके अपनाये जाते होंगे । लेकिन एक मॉडलिंग एजेंट को नियमित तौर पर फैशन शोज, ट्रेड शोज, इवेंट इत्यादि जिन्हें किसी एडवरटाइजिंग एजेंसी द्वारा आयोजित किया गया हो का हिस्सा अवश्य बनना चाहिए। इसके अलावा उद्यमी या उसके प्रतिनिधि को फैशन रिटेलर या अन्य जिन्हें नियमित तौर पर मॉडलों की आवश्यकता होती रहती है से लगातार संपर्क साधे रहना चाहिए। इससे उद्यमी को नेटवर्क बनाने में काफी मदद होगी और यह उन लोगों का नेटवर्क होगा जो उसके बिजनेस के लिए काफी लाभकारी साबित हो सकते हैं।   

5. मॉडल को वापस आने के लिए प्रेरित करें

यदि उद्यमी चाहता है की वह मॉडल को अपने साथ जोड़े रहे तो ध्यान रहे इन्हें अपने साथ बनाये रहना इतना भी मुश्किल नहीं है। वह इसलिए क्योंकि एक मॉडल हमेशा ऐसी Modeling Agency की खोज में रहता है जो उसे काम दिला सके और उसके पैसे समय पर उसे दे सके। कहने का आशय यह है की एक ऐसी एजेंसी जो मॉडलों को यह विश्वास दिला पाने में सक्षम हो गई की उनके द्वारा कमाए गए पैसे उन्हें सुरक्षित रूप से सही समय पर मिल जायेंगे और एजेंसी यह करके भी दिखाती है। तो उस एजेंसी से जुड़े मॉडलों में भुगतान के प्रति सुरक्षा का भाव पैदा होता है और वे उस मॉडलिंग एजेंसी को छोड़ के कभी नहीं जाना चाहेंगे। उन्हें उनकी क्षमता के अनुरूप काम दिलाना एवं उन्हें समय से पेमेंट करना यह सब बाते उद्यमी की Modeling Agency को अन्य प्रतिस्पर्धी एजेंसीयों की तुलना में बेहतर बनाता है। इसलिए उनका उन प्रतिस्पर्धी एजेंसीयों में जाने की संभावना लगभग कम हो जाती है और जितने अधिक मॉडल एजेंसी के साथ जुड़े रहेंगे एजेंसी के नेटवर्क में भी वृद्धि होती जाएगी। जो उसे काम दिलाने में सहायक सिद्ध हो सकती है।          

6. अपने बिजनेस की वेब प्रजेंस बनाना न भूलें  

वर्तमान में किसी भी सेवा या उत्पाद की खरीदारी से पहले लोग उसके बारे में इन्टरनेट पर जानकारी अवश्य ढूंढते हैं। लेकिन चूँकि यहाँ पर Modeling Agency शुरू करने वाले उद्यमी के मुख्य ग्राहक के तौर आम लोग नहीं बल्कि मॉडल होने वाले हैं। इसलिए उद्यमी को अपने बिजनेस की इन्टरनेट पर उपलब्धता बनाना और जरुरी हो जाता है जब मॉडल को मॉडलिंग एजेंसी सम्बन्धी सारी जानकारी इन्टरनेट पर मिलेगी तो इससे उस एजेंसी पर उनका विश्वास बढेगा। और हो सकता है की मॉडल एवं एड एजेंसी इन्टरनेट पर उपलब्ध डिटेल्स के माध्यम से ही आपसे संपर्क करे। इसलिए Modeling Agency Business शुरू कर रहे उद्यमी को चाहिए की वह अपने बिजनेस के नाम से वेबसाइट बनाकर उसमें उसके बारे में सभी डिटेल्स एवं संपर्क सूत्र भरे। और सोशल मीडिया, गूगल एड इत्यादि के माध्यम से अपने व्यापार को प्रमोट करे ताकि ऑनलाइन इन्टरनेट के माध्यम से उससे अधिक से अधिक मॉडल एवं एड एजेंसी संपर्क कर सकें। 

यह भी पढ़ें    

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

One thought on “मॉडलिंग एजेंसी कैसे शुरू करें? How to Start a Modeling Agency in India.

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *