म्यूच्यूअल फण्ड एजेंट या डिस्ट्रीब्यूटर कैसे बनें। How to become a Mutual fund agent.

Mutual Fund agent पर बात करना इसलिए जरुरी हो जाता है क्योंकि वर्तमान में म्यूच्यूअल फण्ड निवेश का एक बेहद प्रचलित तरीका बनकर सामने आया है । इसलिए निवेश करने के इच्छुक लोग इस प्रकार के फंडों में निवेश करना पसंद करते हैं ताकि वे अपने किये गए निवेश पर कमाई कर पाने में सक्षम हो सकें। लेकिन म्यूच्यूअल फण्ड हर कोई व्यक्ति ग्राहकों को नहीं बेच सकता है। व्यक्तिगत तौर पर म्यूच्यूअल फण्ड बेचने के लिए Mutual Fund agent या डिस्ट्रीब्यूटर बनने की आवश्यकता होती है। इसलिए आज हम हमारे इस लेख के माध्यम से म्यूच्यूअल फण्ड एजेंट या डिस्ट्रीब्यूटर कैसे बनें? विषय पर विस्तृत जानकारी देने का प्रयास करेंगे। जैसा की हम देखते आये हैं की हमारे देश भारतवर्ष में किसी उत्पाद या सेवा को बेचने में बिचौलियों की बड़ी अहम् भूमिका होती है ठीक उसी प्रकार म्यूच्यूअल फण्ड बेचने में भी बिचौलियों का महत्वपूर्ण योगदान होता है। इसलिए यह जरुरी हो जाता है की Mutual Fund Agent बनने के इच्छुक व्यक्ति में ज्ञान के अलावा नैतिकता के भी उच्चतम मानक विद्यमान हों। ताकि लोगों का विश्वास उस पर बढ़ सके और वे अपनी खून पसीने की कमाई को उसके माध्यम से निवेश करने के लिए राजी हो सकें। इससे पहले की हम यह जानें की म्यूच्यूअल फण्ड एजेंट या डिस्ट्रीब्यूटर कैसे बनें आइये जानते हैं की ये होते कौन हैं ।

mutual-fund-agent-kaise-bane

कौन होते हैं Mutual Fund Agent: 

Mutual fund agent एवं रजिस्टर्ड इन्वेस्टमेंट एडवाइजर में अंतर होता है क्योंकि जहाँ म्यूच्यूअल फण्ड एजेंट या डिस्ट्रीब्यूटर की कमाई म्यूच्यूअल फण्ड बेचकर होती है । वही रजिस्टर्ड इन्वेस्टमेंट एडवाइजर की कमाई किसी व्यक्ति को निवेश सलाह के बदले फीस के तौर पर चार्ज की गई राशि के माध्यम से होती है। कहने का अभिप्राय यह है की जो व्यक्तिगत व्यक्ति आम तौर पर लोगों को म्यूच्यूअल फण्ड बेचने का काम करता है उसे ही Mutual fund agent या डिस्ट्रीब्यूटर कहा जाता है।

म्यूच्यूअल फण्ड एजेंट बनने के फायदे (Advantages to become a Mutual fund agent):

Mutual fund agent बनने के कुछ प्रमुख फायदे इस प्रकार से हैं।

  • म्यूच्यूअल फण्ड एजेंट बनकर कोई भी व्यक्ति अपनी कमाई का एक अन्य स्रोत खड़ा कर सकता है ।
  • चूँकि वर्तमान में आम लोग भी म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करने के इच्छुक रहते हैं इसलिए इसमें कमाई करने के अवसर विद्यमान हैं। इसलिए Mutual fund agent न सिर्फ अपने घर चलाने के लिए कमा सकता है बल्कि अपने सपनों को पूरा करने के लिए भी अपनी कमाई कर सकता है ।
  • एक बार ग्राहक बन जाने के बाद वह एक निश्चित अवधि तक निवेश करता रहता है इस प्रकार एजेंट पैसिव कमाई भी कर सकता है ।
  • म्यूच्यूअल फण्ड एजेंट बनकर व्यक्ति स्वतंत्र रूप से फुल टाइम या पार्ट टाइम कार्य कर अपनी कमाई कर सकता है।
  • यह कार्य नौकरी से थोडा अलग है जिस प्रकार नौकरी में कितना भी कार्य करके एक निश्चित मात्रा में वेतन मिलता है । जबकि इसमें व्यक्ति जितना अच्छा काम कर पायेगा उतनी अच्छी अपनी कमाई भी कर पाने में सक्षम होगा। जो व्यक्ति को अन्दुरुनी संतुष्टी प्राप्त करने में मदद करेगा।
  • Mutual fund agent चाहे तो बड़े स्तर पर भी खुद का बिज़नेस शुरू कर सकता है और लोगों को रोजगार देने में अहम् किरदार निभा सकता है।     

म्यूच्यूअल फण्ड एजेंट बनने के लिए योग्यता (Eligibility Criteria to become a Mutual fund Agent):

हालांकि Mutual fund agent बनने के लिए AMFI Exam क्लियर करने की आवश्यकता होती है जिसे नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ सिक्योरिटीज (NISM) मार्किट द्वारा आयोजित कराया जाता है। लेकिन इस परीक्षा में बैठने के लिए उम्म्मीद्वर के पास कुछ योग्यता होनी चाहिए जिनका विवरण निम्नवत है।

  • उम्मीदवार की उम्र कम से कम 18 वर्ष होनी चाहिए।
  • उम्मीदवार कम से कम बारहवीं पास होना चाहिए।
  • ऐसे उम्मीदवार जो दसवीं पास हों और उनके पास तीन वर्षों का डिप्लोमा हो वे भी Mutual Fund agent बनने के योग्य हैं ।         

म्यूच्यूअल फण्ड एजेंट कैसे बनें (How to become mutual fund agent in Hindi):

वर्तमान में म्यूच्यूअल फण्ड निवेश करने का एक बेहतरीन विकल्प के रूप में सामने आया है इसमें कोई भी व्यक्ति बेहद कम निवेश अर्थात 500 रूपये भी निवेश कर सकता है। यही कारण है की जहाँ निवेश का यह तरीका पहले आर्थिक रूप से वर्गीकृत एक वर्ग की पहुँच में ही था वर्तमान में इसमें किसी भी आर्थिक वर्ग का व्यक्ति निवेश करकर कमाई कर सकता है। अब जब निवेश का यह तरीका प्रचलित होता जा रहा है तो देश में Mutual Fund agent की भी आवश्यकता बढ़ रही है । इसलिए अक्सर लोग यही जानने की कोशिश करते हैं की वे कैसे म्यूच्यूअल फण्ड बेचने का काम शुरू कर सकते हैं। यानिकी वे किस तरह से म्यूच्यूअल फण्ड एजेंट या डिस्ट्रीब्यूटर बन सकते हैं।

1. सबसे पहले NISM Series V-A के लिए रजिस्टर कराएँ:

Mutual Fund agent बनने के इच्छुक व्यक्ति को सबसे पहले NISM Series V-A एग्जाम के लिए अपने आपको रजिस्टर करना होता है। इस परीक्षा को नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ सिक्योरिटीज मार्किट द्वारा भिन्न भिन्न राज्यों के 150 से भी अधिक शहरों में आयोजित कराया जाता है । चूँकि यह एक सर्टिफिकेशन एग्जामिनेशन है इसलिए इसके लिए रूपये 1500 लगभग शुल्क भी निर्धारित है। इच्छुक व्यक्ति चाहे तो स्वयं को ऑनलाइन इस अधिकारिक लिंक के माध्यम से भी रजिस्टर कर सकता है । और रजिस्टर करने सम्बन्धी पूरी जानकारी एवं गाइडलाइन नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ सिक्योरिटीज के इस पेज पर दी गई है । ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के बाद आगे की सभी जानकारी उम्मीदवार के ई मेल पर भेज दी जाती है ।

2. NISM Series V-A Exam पास करें:

ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, एनरोलमेंट एवं शुल्क का भुगतान करने के 24 घंटे बाद उम्मीदवार इस अधिकारिक पोर्टल में लॉग इन करके स्टडी मटेरियल की सॉफ्ट कॉपी डाउनलोड कर सकता है। क्योंकि फीस का भुगतान करने के पश्चात उम्मीदवार के डैशबोर्ड में स्टडी मटेरियल डाउनलोड करने का लिंक एड कर दिया जाता है। उम्मीदवार चाहे तो किसी और पोर्टल या वेबसाइट या बुक स्टोर से भी NISM Series V-A Exam की किताब खरीद सकता है। आम तौर पर इस परीक्षा में उम्मीदवार से 100 प्रश्न पूछे जाते हैं जो पूरे 100 अंकों के होते हैं। उम्मीदवार को इस परीक्षा को पास करने या Mutual Fund agent बनने के लिए कम से कम 50% अंक लाने की आवश्यकता होती है। और उम्मीदवार को इन सौ प्रश्नों का जवाब देने के लिए दो घंटों का समय मिलता है। परीक्षा पास कर लेने के बाद जो सर्टिफिकेट उम्मीदवार को मिलता है वह तीन वर्षों के लिए वैध होता है उस सर्टिफिकेट को रिन्यू करने के लिए उम्मीदवार को सर्टिफिकेट की एक्सपायरी से पहले फिर से सम्बंधित एग्जाम पास करने की आवश्यकता होती है।

3. म्यूच्यूअल फण्ड एसोसिएशन से ARN प्राप्त करें:

Mutual fund agent बनने के इच्छुक उम्मीदवार को NISM Exam पास करने एवं सर्टिफिकेट प्राप्त कर लेने के बाद स्वयं को म्यूच्यूअल फण्ड एसोसिएशन में रजिस्टर करने का होना चाहिए। भारत में म्यूच्यूअल फण्ड एसोसिएशन में पंजीकृत एजेंट ही म्यूच्यूअल फण्ड बेचने के लिए अधिकृत माने जाते हैं यही कारण है की एसोसिएशन ऑफ़ म्यूच्यूअल फण्ड इन इंडिया द्वारा प्रत्येक पंजीकृत Mutual fund agent या डिस्ट्रीब्यूटर को ARN Number जारी किया जाता है। AMFI में रजिस्टर होने के लिए जो योग्यता चाहिए होती है उसका वर्णन हम उपर्युक्त वाक्यों में कर चुके हैं। जहाँ तक ARN की फुल फॉर्म की बात है इसका फुल फॉर्म AMFI registration Number होता है । AMFI registration form म्यूच्यूअल फण्ड एसोसिएशन की अधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से डाउनलोड किये जा सकते हैं।  इसके अलावा Mutual fund agent चाहे तो ऑनलाइन भी ARN प्राप्त करने के लिए आवेदन कर सकता है।

4. म्यूच्यूअल फण्ड हाउस से एग्रीमेंट करना:

AMFI Registration Number प्राप्त कर लेने के बाद व्यक्ति एक पंजीकृत Mutual fund agent तो बन जाता है लेकिन उसके पास ग्राहकों को बेचने के लिए खुद का उत्पाद नहीं होता है । ऐसे में अब उसका अगला कदम किसी म्यूच्यूअल फण्ड हाउस या एसेट मैनेजमेंट कंपनी के साथ एग्रीमेंट करने का होता है। भारत में एक नहीं बल्कि अनेकों म्यूच्यूअल फण्ड हाउस हैं इसलिए एजेंट को उसी कंपनी के साथ एग्रीमेंट करने की कोशिश करनी चाहिए जिसके साथ उसे लगता है की वह उस कंपनी की योजनाओं के तहत अधिक से अधिक फण्ड बेच पाने में सफल हो पायेगा। क्योंकि एजेंट जितने अधिक फण्ड बेचने में सफल हो पायेगा उतनी ही अधिक अपनी कमाई कर पाने में भी वह सफल होगा । Mutual fund agent को फण्ड हाउस द्वारा एग्रीमेंट के मुताबिक ही म्यूच्यूअल फण्ड बेचने पर कमीशन की राशि दी जाएगी। इसके अलावा उम्दा परफॉरमेंस होने पर म्यूच्यूअल फण्ड हाउस द्वारा एजेंट को समय समय पर कुछ प्रोत्साहन राशि भी दी जा सकती है।

म्यूच्यूअल फण्ड एजेंट बनकर कमाई:

Mutual fund agent बनने के बाद व्यक्ति को म्यूच्यूअल फण्ड बेचने के लिए काफी मेहनत करने की आवश्यकता होती है। कहने का अभिप्राय यह है की सिर्फ म्यूच्यूअल फण्ड एजेंट बन जाना ही कमाई की दृष्टी से पर्याप्त नहीं है बल्कि कमाई करने के लिए एजेंट को अधिक से अधिक उत्पाद बेचने की आवश्यकता होती है ताकि वह अधिक से अधिक कमाई कर सके। हाँ लेकिन इसके बाद उद्यमी चाहे तो वह इस काम को पार्ट टाइम भी कर सकता है और चाहे तो फुल टाइम भी, लेकिन कमाई तभी होगी जब Mutual fund agent म्यूच्यूअल फण्ड बेच पाने में सफल हो पायेगा।

यह भी पढ़ें:

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

One thought on “म्यूच्यूअल फण्ड एजेंट या डिस्ट्रीब्यूटर कैसे बनें। How to become a Mutual fund agent.

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *