नेटवर्क मार्केटिंग में सफल होने के तरीके। Network Marketing Success Tips in Hindi.

मल्टी लेवल मार्केटिंग यानिकी नेटवर्क मार्केटिंग से तो लगभग सभी लोग अच्छी तरह अवगत होंगे, यदि आपकी उम्र तीस वर्ष से अधिक है तो हो सकता है की आप भी कभी न कभी किसी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी का जाने अनजाने में हिस्सा रहे हों । इसके अलावा यदि आप हमारे आदरणीय नियमित पाठकगण हैं, तो आप इस तरह की मार्केटिंग से अवश्य अवगत होंगे वह इसलिए क्योंकि इससे पहले भी हम नेटवर्क मार्केटिंग के बारे में बात कर चुके हैं । हालांकि मल्टी लेवल मार्केटिंग के बारे में समाज में लोगों के बीच कुछ मिथक एवं गलत अवधारणाएं व्यापत होने के कारण एवं इसमें सफलता की दर कम होने कारण लोग इसको फुल टाइम बिजनेस के तौर पर अपनाने से डरते हैं । लेकिन सच्चाई यह है की यह भी अन्य बिजनेस की तरह ही एक बिजनेस है और जैसे अनेकों कारणों से अन्य व्यापार नकारात्मक रूप से प्रभावित या असफल हो सकते हैं ठीक उसी प्रकार नेटवर्क मार्केटिंग भी प्रयासों के अभाव में असफल हो सकती है। हालांकि लोग नेटवर्क मार्केटिंग में असफल क्यों हो जाते हैं इस विषय पर हम एक अलग से लेख के माध्यम से बात करेंगे । लेकिन इस वार्तालाप में हम सम्पूर्ण लेख का केंद्र नेटवर्क मार्केटिंग में सफल कैसे बनें? नामक विषय को बनाने वाले हैं । चूँकि एमएलएम शुरू करने में व्यक्ति को ज्यादा निवेश नहीं करना पड़ता है शायद यही कारण है की वह इस तरह के व्यापार को व्यापार के तौर पर देखता ही नहीं है। और इस व्यापार की प्रमुख कड़ी नेटवर्क बनाने की ओर उदासीन रहता है। इसलिए इस लेख में हम नेटवर्क मार्केटिंग में सफल बनने के तरीकों के बारे में बात करेंगे।

Network-Marketing-Success-Tips

1. नेटवर्क मार्केटिंग की वास्तविकता को जानने का प्रयत्न करें:

नेटवर्क मार्केटिंग में सफल होने के लिए किसी भी व्यक्ति को केवल सुनी सुनाई बातों पर विश्वास नहीं करना चाहिए। कभी कभी व्यक्ति अपनी कोशिशें इसलिए भी कम कर देता है क्योंकि उसके इर्द गिर्द उपस्थित लोग नेटवर्क मार्केटिंग के बारे में नकारात्मक बातें करते हैं । लेकिन इसमें सफल होने के इच्छुक व्यक्ति को नकारात्मक बातों पर पूरा विश्वास किये बिना स्वयं इसके बारे में सच्चाई जानने की कोशिश करनी चाहिए। जिस कंपनी से वह जुड़ना चाहता है उसके बारे में अच्छे से रिसर्च करनी चाहिए ताकि जब वह अपनी कोशिशें शुरू करे तो बीच में उसके साथ किसी प्रकार की धोखाधड़ी न हो। और उसका मनोबल एवं आत्मविश्वास बना रहे। हालांकि कुछ लोग नेटवर्क मार्केटिंग से अपनी अच्छी खासी कमाई कर पाने में सक्षम हो पाते हैं तो अधिकतर लोग इस व्यापार से एक रुपया भी नहीं कमा पाते । लेकिन इसका मतलब यह नहीं हो जाता है की इस बिजनेस में ही कमी है। जो व्यक्ति इस बिजनेस को एक व्यापार के तौर पर मानता है और उसमें सफल होने का अथक प्रयत्न करता है वह नेटवर्क मार्केटिंग में सफल अवश्य होता है। और जो कही सुनी बातों से बीच में ही प्रयास करना छोड़ देता है तो वह सफल कहाँ से होगा। इसलिए नेटवर्क मार्केटिंग में सफल होने के लिए सर्वप्रथम इसकी उपयुक्त जानकारी होना नितांत आवश्यक है ताकि उद्यमी की मन:स्थिति कही सुनी बातों से अधिक प्रभावित न हो ।

2. बिक्री योग्य उत्पाद का चयन करें:

अक्सर लोग नेटवर्क मार्केटिंग में इसलिए भी सफल नहीं हो पाते हैं क्योंकि वह लोगों की देखा देखी किसी भी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी के साथ जुड़ जाते हैं । उस समय वे इस बात का विश्लेषण नहीं करते हैं की जिस नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी के साथ वे जुड़ना चाह रहे हैं क्या वह कंपनी किसी ऐसे उत्पाद को बेच रही है जिसकी उद्यमी के समुदाय में काफी आवश्यकता है। या फिर जिसे लोग आसानी से खरीद पाने में सक्षम हो पाएंगे। लोगों से जब नेटवर्क मार्केटिंग में सफल न होने का कारण पूछा जाता है तो एक आम जवाब लगभग सब असफल लोगों का होता है वह यह है की मैं तो जुड़ना नहीं चाहता था लेकिन फलाने रिश्तेदार की बातों में आकर ज्वाइन कर लिया। ध्यान रहे घटनावश या दुर्घटनावश नेटवर्क मार्केटिंग से न जुड़ें बल्कि यदि आपकी रूचि इस तरह के बिजनेस से अच्छी खासी कमाई करने की है तभी इस तरह के व्यापार से जुड़ें। और इससे जुड़ने से पहले ऐसे उत्पाद का चयन करें जो आपके समुदाय में आसानी से बिक सके अर्थात उत्पाद ज्यादा महंगे भी नहीं होने चाहिए। उत्पाद ऐसे होने चाहिए जिनकी आवश्यकता मनुष्य को दैनिक जीवन में पड़ती हो। कुल मिलाकर कहने का तात्पर्य यह है की उत्पाद ऐसा होना चाहिए जिसे उद्यमी को लगता हो की उसकी वह आसानी से बिक्री करा सकता है। उत्पाद के अलावा नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी द्वारा ऑफर की जा रही कमीशन स्कीम को भी देखना न भूलें।

3. वास्तविकता एवं नैतिकता को न भूलें: 

नेटवर्क मार्केटिंग से पैसे कमाई करने के इच्छुक लोग कमाई करने के वशीभूत होकर उत्पाद की बिक्री कराने के लिए अपने चिर परिचित लोगों, रिश्तदारों, दोस्तों या अन्य से थोड़ा बहुत झूठ भी बोल देते हैं । लेकिन वह यह भूल जाते हैं की इन्हें भी बहुत जल्दी वास्तविकता का पता चल जायेगा क्योंकि भविष्य में ये भी उसी नेटवर्क का हिस्सा रहेंगे। ऐसे में हो सकता है की उद्यमी ग्राहक के नंबर बढाने में तो कामयाब हो जाय लेकिन उत्पाद की बिक्री के नंबर बढ़ाने में कामयाब नहीं हो पाता है। क्योंकि नेटवर्क में शामिल करने के लिए जिन लोगों से झूठ बोला गया हो वे भले ही एक बार तो उत्पाद को खरीद लें लेकिन दुबारा उस तरफ देखना भी पसंद नहीं करते और उस नेटवर्क में अन्य व्यक्तियों को शामिल करने के प्रति भी काफी उदासीन रहते हैं। जिससे व्यक्ति के नीचे शामिल लोगों की संख्या तो बढ़ जाती है लेकिन उत्पाद की बिक्री की संख्या नहीं बढती तो उद्यमी की कमाई भी नहीं बढती। इसलिए नेटवर्क मार्केटिंग में सफल होने के लिए व्यक्ति को आंशिक ग्राहकों के सामने केवल और केवल वास्तविकता का बखान करना चाहिए और ईमानदारी को अपनी नैतिक जिम्मेदारी मानना चाहिए। इससे भले ही उद्यमी को धीरे धीरे ग्राहक मिलेंगे, लेकिन जो मिलेंगे वे उद्यमी को नेटवर्क मार्केटिंग में सफल बनाने में सहायक होंगे।

4. अपने पारिवारिक सदस्यों, दोस्तों, रिश्तेदारों को मजबूर न करें:

भारतवर्ष में यदि हम देखें तो अधिकतर लोग सिर्फ इसलिए नेटवर्क मार्केटिंग ज्वाइन कर देते हैं क्योंकि उनका कोई पारिवारिक मित्र, रिश्तेदार, दोस्त ने उनसे इससे जुड़ने की बात कही थी । वही दूसरी तरफ जो लोग इस नेटवर्क में शामिल होते हैं वह भी अधिकतर इस भरोसे से होते हैं की और नहीं तो वे अपने नजदीकी लोगों जैसे परिवार के सदस्य, दोस्त, रिश्तेदारों को तो इस नेटवर्क में शामिल कर ही लेंगे। सिर्फ नाते रिश्तेदारों के भरोसे किसी नेटवर्क मार्केटिंग से जुड़ना सही नहीं है हालांकि पारिवारिक सदस्यों, मित्रों, रिश्तेदारों को यह बताने में कोई आपत्ति नहीं है की आप करते क्या हैं? आप उन्हें बता सकते हैं और यदि उनकी रूचि हो तो आप उन्हें इस नेटवर्क से जोड़ भी सकते हैं लेकिन यदि उनकी रूचि न हो तो उन्हें बार बार उस नेटवर्क से जुड़ने की गुजारिश न करें । क्योंकि आपके बार बार कहने पर यदि आपसे कोई जुड़ भी गया तो वह आपको सफल बनाने में कोई अहम् भूमिका नहीं निभा पायेगा। इसके विपरीत यदि कोई अपनी रूचि से जुड़ेगा तो वह खुद भी उत्पाद की खरीदारी करेगा और उस उत्पाद के और भी खरीदार बनाने के लिए अथक प्रयत्न करेगा ।  

5. टारगेट मार्किट की पहचान करें:

नेटवर्क मार्किट में सफल होने के लिए टारगेट मार्किट की पहचान करना बेहद जरुरी है अक्सर नेटवर्क मार्केटर गलती यह करते हैं की उत्पाद चाहे कोई सा भी हो, वे उसे सभी लोगों को बेचने की कोशिश करते हैं। जिससे उनका कीमती समय एवं उर्जा बर्बाद हो जाती है और उन्हें मनमुताबिक परिणाम नहीं मिल पाते हैं। इसलिए अपनी उर्जा एवं समय की बर्बादी को बचाने एवं अनुकूल परिणाम हासिल करने के लिए उद्यमी को पहले अपनी टारगेट मार्किट की पहचान करनी चाहिए। उदाहरणार्थ: माना नेटवर्क मार्केटर किसी ऐसे उत्पाद को प्रमोट कर रहा है जिससे मोटापा घटता हो तो नेटवर्क मार्केटर के टारगेट ग्राहक के रूप में सिर्फ वे लोग होने चाहिए जो मोटे हों । ठीक इसी प्रकार यदि कोई उत्पाद किसी बीमारी को दूर करने का दावा करता है तो नेटवर्क मार्केटर के टारगेट ग्राहक के तौर पर उस बीमारी से ग्रसित लोग या परिवार होने चाहिए ।

6. उत्पाद को लोगों के बीच साझा करने का प्रयास करें:

जैसा की हम सबको विदित है की नेटवर्क मार्केटर की कमाई तभी होगी जब वह या उसके द्वारा नेटवर्क में शामिल किये गए लोग कुछ खरीदारी करेंगे । इसलिए ध्यान रहे ऐसे लोग जिन्हें वह उत्पाद एवं सर्विस अच्छी लगेगी उन्हें उद्यमी आसानी से अपने बिजनेस निर्माणकर्ता के तौर पर परिवर्तित कर सकता है । कहने का अभिप्राय यह है की नेटवर्क मार्केटर को ऐसे लोगों को जिन्हें उत्पाद एवं सर्विस अच्छी लगती हो को उत्पाद सैंपल के तौर पर भी देना चाहिए । ताकि पसंद आने पर सिर्फ वे ही आपके नेटवर्क से नहीं जुड़ेंगे बल्कि अन्य लोगों को भी नेटवर्क से जोड़ने का भरपूर प्रयत्न करेंगे । जिसका फायदा जोड़ने वाले नेटवर्क मार्केटर को अवश्य होगा। इसलिए उद्यमी को नेटवर्क मार्केटिंग में सफल होने के लिए चाहिए की वह छोटी छोटी पार्टियों का आयोजन कराके, वेबसाइट के माध्यम से या सोशल मीडिया के माध्यम से अपने उत्पाद को अधिक से अधिक लोगों के साथ साझा करे।

7. जोड़े हुए लोगों को प्रशिक्षित करें:

नेटवर्क मार्केटर का ध्यान आम तौर पर लोगों को अपने नेटवर्क से जोड़ने का होता है इसलिए वह अपनी पूरी उर्जा इसी में गँवा देता है की कोई नया व्यक्ति उस नेटवर्क से जुड़े। यही कारण है की जो व्यक्ति उसने पहले से उस नेटवर्क से जोड़ें हैं वह उन पर कम ध्यान देता है या यूँ कहें की देता ही नहीं है । कहने का अभिप्राय यह है की अधिकतर नेटवर्क मार्केटर किसी व्यक्ति को अपने नीचे उस नेटवर्क से जोड़ने को ही अपना लक्ष्य समझते हैं और जब वे इसमें कामयाब हो जाते हैं तो वे किसी नए व्यक्ति को अपने नीचे जोड़ने की कोशिश करते हैं। और यह भी नेटवर्क मार्केटिंग में असफल होने का एक प्रमुख कारण है क्योंकि जैसा की हम सबको पता है की इसमें कमाई तभी होती है जब हम या हमारे द्वारा जोड़े गए व्यक्ति या उसके द्वारा जोड़े गए किसी व्यक्ति द्वारा उत्पाद की खरीदारी की जाती है। इसलिए नेटवर्क मार्केटर कितने भी व्यक्ति उस नेटवर्क से जोड़ ले लेकिन यदि वे नियमित खरीदारी नहीं कर रहे हैं या वे भी अन्य किसी को उस नेटवर्क से नहीं जोड़ रहे हैं तो व्यक्ति की मनमुताबिक कमाई होना असंभव है । इसलिए यहाँ पर नेटवर्क मार्केटर को एक लीडर की भूमिका अदा करके उसके नीचे पहले से जुड़े व्यक्तियों को खरीदारी एवं अन्य व्यक्तियों को उस नेटवर्क से जोड़ने के लिए प्रोत्साहित किया जाना बेहद जरुरी है । कहने का अभिप्राय यह है की नेटवर्क मार्केटर को उन्हें प्रशिक्षित करने के लिए समय निकालना बेहद जरुरी है। क्योंकि नेटवर्क मार्केटिंग एक ऐसा प्लेटफोर्म है जिसमें अन्य व्यक्ति भी आपके लिए काम कर रहे होते हैं इसलिए इन्हें समय समय पर प्रशिक्षण एवं प्रोत्साहित किया जाना बेहद जरुरी है।

8. लक्ष्य निर्धारित करें और उन्हें पाने के लिए जीतोड़ मेहनत करें:

नेटवर्क मार्केटिंग एक ऐसा व्यवसाय है जिसमें एक व्यक्ति अन्य व्यक्तियों को जोड़ता है, यद्यपि इस डिजिटल युग में बहुत सारे लोग ऐसे हैं जो इस पहलू को पसंद नहीं करते हैं । लेकिन फिर भी इस तरह का बिजनेस शुरू करके अनेकों लोग सफलतापूर्वक कमाई कर रहे हैं । वह शायद यह इसलिए कर पा रहे हैं क्योंकि उन्होंने अपने बिजनेस के लक्ष्य निर्धारित करके उन्हें पाने की ओर उड़ान भरी है। अपनी कमीशन योजना एवं लक्ष्यों को आधार मानकर यह निर्धारित करें की आपको आपके लक्ष्यों तक पहुँचने के लिए कितने लोगों को अपने उत्पाद को दिखाने की आवश्यकता होगी । और इस बात का भी आकलन करें की कितने लोगों को आप अपने व्यापार निर्माणकर्ता के तौर पर परिवर्तित कर पाने में कामयाब होंगे। ऐसा करने से आप न केवल अपने बिजनेस को बनाये रख पाने में सफल होंगे बल्कि उसे विकसित कर पाने में भी सफल होंगे।

9. उत्पाद को ऑनलाइन प्रमोट करें:   

वर्तमान में किसी भी बिजनेस या उत्पाद को प्रमोट करने का ऑनलाइन से बेहतर विकल्प दूसरा शायद ही कोई और होगा। इसलिए वर्तमान में यदि आप नेटवर्क मार्केटिंग में सफल होना चाहते हैं तो आप खुद की वेबसाइट या ब्लॉग बनाकर अपने उत्पाद को प्रमोट कर सकते हैं आप नेटवर्क मार्केटिंग पर लिखना शुरू कर सकते हैं और अपनी वेबसाइट या ब्लॉग के माध्यम से लोगों को जानकारी दे सकते हैं। इसके अलावा अपनी वेबसाइट में अपना पता एवं कांटेक्ट नंबर भी दे सकते हैं ताकि जिन लोगों को नेटवर्क मार्केटिंग एवं आपके उत्पाद में रूचि होगी वे आपको कांटेक्ट करेंगे और आप उन्हें फोन या ऑनलाइन विडियो इत्यादि के माध्यम से उन्हें प्रशिक्षित कर सकें। और जब उन्हें आप विश्वास में लेने में कामयाब हो जाते हैं तो वे आपके साथ आसानी से जुड़ सकते हैं।   

यह भी पढ़ें

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *