पैन कार्ड खो जाने या चोरी हो जाने पर डुप्लीकेट पैन कार्ड कैसे बनायें ।

वर्तमान जीवनशैली में पैन कार्ड एक अहम् दस्तावेज के रूप में सामने आया है कमाई नामक इस विषय के अंतर्गत पैन कार्ड पर बात करना इसलिए जरुरी हो जाता है क्योंकि यह दस्तावेज हमारी कमाई से जुड़ा हुआ है । कहने का आशय यह है की यही वह एक स्थायी नंबर होता है जिसके माध्यम से इनकम टैक्स डिपार्टमेंट लोगों की इनकम की ट्रैकिंग करता है। यही कारण है की वर्तमान में पैन कार्ड के बिना व्यक्ति के अनेकों काम रुक जाते हैं। अनेकों वित्तीय कार्यों को निपटाने जैसे वित्तीय लेनदेन, टैक्स कार्यों को निष्पादित करने, सैलरी प्राप्त करने, पेंशन प्राप्त करने इत्यादि के लिए पैन कार्ड की आवश्यकता होती है। यही कारण है की वर्तमान में हर कोई खुद का एवं अपने परिवारजनों का पैन कार्ड पहले ही बनवा लेता है। लेकिन अक्सर लोगों के मन में पैन कार्ड से सम्बंधित एक और सवाल आता है और वह यह होता है की यदि पैन कार्ड खो जाए, चोरी हो जाये तो इस स्थिति में मनुष्य को क्या करना चाहिए। इसके अलावा लोग यह भी जानने को उत्सुक रहते हैं की कैसे वे उपर्युक्त स्थितियों एवं कार्ड के कट फट जाने से डुप्लीकेट पैन कार्ड बनवा सकते हैं। आज का हमारा यह लेख ऐसे श्रोताओं को ध्यान में रखकर लिखा जा रहा है जो यह जानना चाहते हैं की वे पैन कार्ड के खो जाने, चोरी हो जाने पर क्या कर सकते हैं और कैसे वे डुप्लीकेट पैन कार्ड के लिए फिर से आवेदन कर सकते हैं।

पैन कार्ड खो जाने या चोरी होने पर क्या करें:    

चूँकि पैन कार्ड वर्तमान में एक बेहद महत्वपूर्ण दस्तावेज बन गया है जिसका इस्तेमाल अनेकों कार्यों को निपटाने में किया जाता है। इसलिए यदि आपका कार्ड कहीं खो गया है या चोरी हो गया है तो हो सकता है की कोई उसका अनधिकृत इस्तेमाल कर ले । इसलिए यदि आप चाहते हैं की आपके खोये हुए पैन कार्ड का कोई गलत इस्तेमाल न करे तो आप अपने नजदीकी पुलिस थाने में इसके खोने या चोरी होने की रिपोर्ट दर्ज कर सकते हैं। हालांकि अक्सर पैन कार्ड खो जाने पर लोग ऐसा नहीं करते हैं वह शायद इसलिए क्योंकि ऐसा करना कोई नियम या अनिवार्य नहीं है । लेकिन यदि व्यक्ति चाहता है की उसके पैन कार्ड का इस्तेमाल किसी जालसाजी, धोखेबाजी या अन्य किसी अपराध को अंजाम देने में न हों, और पुलिस वाले या अन्य अधिकृत व्यक्ति सीधे उस पर ऊँगली न उठायें । तो पैन कार्ड खो जाने या चोरी हो जाने पर उसे अपने नजदीकी थाने में रिपोर्ट अवश्य दर्ज करानी चाहिए। इसके बाद व्यक्ति को खुद का डुप्लीकेट पैन कार्ड बनवाने के लिए आवेदन करना चाहिए । लेकिन ध्यान रहे इस प्रक्रिया को करते वक्त व्यक्ति को अपने खोये हुए पैन कार्ड का नंबर फॉर्म में भरना होता है इसलिए व्यक्ति के पास पुराने पैन कार्ड की कोई प्रति या उसका नंबर उसे याद होना बेहद आवश्यक है। लेकिन यहाँ पर कुछ ऐसे लोग भी होते हैं जिनका पैन कार्ड तो खो जाता है लेकिन उन्हें न तो उसका नंबर याद रहता है और न ही उसकी कोई सॉफ्ट या हार्ड कॉपी उनके पास रहती है। अब सवाल यह उठता है की ऐसी स्थिति में डुप्लीकेट पैन कार्ड कैसे बनेगा?। जैसा की हम उपर्युक्त वाक्य में बता चुके हैं की डुप्लीकेट पैन कार्ड बनवाने के लिए खोये हुए, चोरी हुए या कटे फटे पुराने पैन कार्ड का नंबर अति आवश्यक है । इसलिए सबसे पहले यही जान लेते हैं की खोये हुए, चोरी हुए पुराने पैन कार्ड का नंबर ऑनलाइन कैसे पता करें।

खोये हुए पैन कार्ड का नंबर कैसे पता करें :

अपने खोये हुए या चोरी हुए पैन कार्ड का नंबर पता करने के लिए लोगों द्वारा पहले निम्नलिखित स्टेप अपनाये जा रहे थे । लेकिन वर्तमान में आयकर विभाग द्वारा इस फैसिलिटी को अस्थायी तौर पर बंद कर दिया गया है लेकिन यहाँ पर हम इसका विवरण सिर्फ इसलिए दे रहे हैं। ताकि जब दुबारा आयकर विभाग द्वारा यह फैसिलिटी शुरू की जाय तो हमें इस लेख में सुधार करने की आवश्यकता न हो। इसलिए खोये हुए पैन कार्ड का नंबर पता करने के लिए जो स्टेप अपनाये जा रहे थे उनका विवरण कुछ इस प्रकार से है।

  • सबसे पहले व्यक्ति को आयकर विभाग की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होता था ।  
  • उसके बाद उसे Know Your Pan पर क्लीक करना होता था।
  • उसके बाद एक ऑनलाइन फॉर्म खुलेगा जिसमें व्यक्ति को अपना नाम, जन्मतिथि एवं अन्य डिटेल्स भरनी होगी।
  • उस ऑनलाइन फॉर्म पर सारी डिटेल्स एकदम सही से भरकर Submit पर क्लिक करना होता था।
  • उसके बाद व्यक्ति के मोबाइल पर एक वन टाइम पासवर्ड आता था, जिसे व्यक्ति को ऑनलाइन दिए गए फॉर्म में भरकर Validate पर क्लिक करना होता था।
  • उसके बाद जैसे ही सिस्टम द्वारा भरी गई डिटेल्स Validate कर दी जाती थी, व्यक्ति को उसका पैन नंबर दिखाई देने लगता था ।

लेकिन वर्तमान में यह फैसिलिटी अस्थायी तौर पर आयकर विभाग द्वारा बंद कर दी गई है, इसलिए यदि आप अपनी पैन कार्ड डिटेल्स को ऑनलाइन वेरीफाई करना चाहते हैं तो आप इस अधिकारिक लिंक पर जाकर ऐसा कर सकते हैं।

पैन कार्ड खो जाने पर दुबारा डुप्लीकेट पैन कार्ड कैसे बनायें:

पैन कार्ड खो जाने पर या चोरी हो जाने पर दुबारा से डुप्लीकेट पैन कार्ड के लिए अप्लाई करना बेहद ही आसान प्रक्रिया है। ऑनलाइन डुप्लीकेट पैन कार्ड बनवाने के लिए व्यक्ति NSDL, UTIITSL दोनों में से किसी भी वेबसाइट का उपयोग कर सकता है। यहाँ पर हम NSDL के माध्यम से डुप्लीकेट पैन कार्ड बनाने की प्रक्रियाओं पर एक सरसरी निगाह डाल लेते हैं।

  • सबसे पहले व्यक्ति को NSDL वेबसाइट की इस अधिकारिक लिंक पर जाना होगा।
  • उसके बाद Application Type के अंतर्गत व्यक्ति को तीसरा विकल्प ‘’ Changes or correction in existing pan data/reprint of pan card  का चयन करना होगा।  जैसा की नीचे इस पिक्चर में दिखाया गया है ।
Duplicate-Pan-Card-1
  • उसके बाद व्यक्ति को इस फॉर्म में मांगी गई सभी महत्वपूर्ण डिटेल्स जैसे नाम, ईमेल आईडी, मोबाइल नंबर, जन्मतिथि, पैन नंबर इत्यादि भरने होंगे।
  • यह सब डिटेल्स भरकर Captcha भरके Submit पर क्लिक करना होगा ।
  • उसके बाद व्यक्ति को ऑनलाइन लॉग इन करने के लिए एक टोकन नंबर प्रदान किया जाता है जिसे व्यक्ति को कहीं लिखकर रख लेना चाहिए । वह इसलिए क्योंकि यदि इस प्रक्रिया में कोई व्यवधान जैसे इन्टरनेट कनेक्टिविटी हट गई हो या कंप्यूटर शट डाउन हो गया हो तो ऐसी स्थिति में व्यक्ति उस टोकन नंबर के जरिये दुबारा रजिस्टर्ड कॉलम में जाकर लॉग इन करके इस प्रक्रिया को जारी रख सकता है।
  • उसके बाद डुप्लीकेट पैन कार्ड के लिए अप्लाई कर रहे व्यक्ति को Continue With Pan Application Form पर क्लिक करना होता है। और आगे बढ़ना होता है ।
  • इस पेज पर व्यक्ति को Submit Digitally through e-KYC & e-Sign विकल्प का चुनाव करना होगा इस विकल्प का चुनाव करने से व्यक्ति को सिर्फ अपना आधार नंबर भरने की आवश्यकता होती है और आधार के साथ लिंक मोबाइल नंबर पर आये OTP से वेरीफाई करने की आवश्यकता होती है। अन्य किसी प्रकार के दस्तावेज सबमिट करने की आवश्यकता नहीं होती है।
  • यदि व्यक्ति को आधार के साथ कोई समस्या है तो वह दूसरा विकल्प भी चयन कर सकता है जिसमें उसे डॉक्यूमेंट अपलोड या फिजिकली भी दिए गए पते पर भेजने पड़ सकते हैं।
  • अब जो पेज खुलेगा उसमें व्यक्ति की लगभग सारी डिटेल्स पहले से भरी हुई दिखाई देगी, जो डिटेल्स सही भरी हुई है उसे रहने दें और जो नहीं भरी है या गलत भरी है उसे सही से भरें और आगे बढे।
  • अगले सेक्शन में Proof of Pan Card में Copy Of Pan Card का चयन करें इसके बाद डिक्लेरेशन डिटेल्स में अपना नाम, स्थान इत्यादि डिटेल्स सही से भरें और सबमिट पर क्लिक करें ।
  • उसके बाद व्यक्ति को आयकर विभाग द्वारा डुप्लीकेट पैन कार्ड जारी करने के लिए लिए जाने वाले शुल्क का भुगतान करना होगा। इसका भुगतान व्यक्ति नेट बैंकिंग, क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड इत्यादि के माध्यम से आसानी से कर सकता है ।
  • शुल्क का भुगतान करने के बाद सिस्टम द्वारा आपको आटोमेटिक सूचित किया जायेगा की आपका पेमेंट सक्सेसफुल रहा है। उसके ठीक नीचे Continue पर क्लिक करके आगे बढ़ें।
  • Continue पर क्लिक करने के बाद आपके आधार से लिंक मोबाइल नंबर पर एक OTP आएगा जिसे आपको वहाँ पर भरना होगा और सबमिट पर क्लिक करना होगा।

सबमिट पर क्लिक करते ही ऑनलाइन डुप्लीकेट पैन कार्ड बनाने की यह प्रक्रिया पूर्ण हो जाएगी इसके 15-20 दिनों बाद आपका डुप्लीकेट पैन कार्ड आपके घर के पते पर पहुँच जाता है ।  

यह भी पढ़ें

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *