भारत में नोटरी बिजनेस कैसे शुरू करें? How to Start Notary Business in India.

यद्यपि Notary Business को शुरू करने के लिए विशेष शिक्षा एवं अनुभव की आवश्यकता होती है इसलिए इसे हर कोई व्यक्ति शुरू नहीं कर सकता है । लेकिन वर्तमान में मनुष्य की जीवनशैली में उसकी आवश्यकताओं को देखते हुए इतने परिवर्तन हो गए हैं की उसे अपने जीवन में कई बार रहने का स्थान, अपना नाम इत्यादि बदलने की आवश्यकता हो सकती है। तो वहीँ निवास प्रमाण पत्र न होने की स्थिति में और सरकार द्वारा मुहैया करायी जाने वाली फैसिलिटी जैसे बिजली, पानी, गैस सिलिंडर इत्यादि के लिए भी नोटरी कराने की आवश्यकता होती है। कहने का अभिप्राय यह है की Notary Business कानून एवं नियमों से जुड़ा हुआ बिजनेस है इसलिए न चाहते हुए भी हर व्यक्ति को इस तरह की सर्विस लेने के लिए आना ही पड़ता है। यही कारण है की इस तरह का यह बिजनेस वर्तमान में आकर्षक एवं लाभकारी बनकर सामने आया है। इसलिए आज हम हमारे इस लेख के माध्यम से इस विषय पर पूरी जानकारी देने वाले हैं की कैसे कोई व्यक्ति भारत में Notary Business शुरू करके अपनी कमाई कर सकता है। लेकिन उससे पहले यह जान लेते हैं की नोटरी बिजनेस होता क्या है।

Notary-business kya hai

नोटरी बिजनेस क्या है (What is Notary Business):

नोटरी जिसे आम तौर पर Notary Public भी कहा जाता है एक अनुभवी कानून का ज्ञाता होता है जिसे केंद्र सरकार या राज्य सरकार द्वारा नियुक्त एवं कुछ काम विशेष करने के लिए अधिकृत किया जाता है। इस व्यक्ति को राज्य या केंद्र सरकार द्वारा बहुत सारे दस्तावेज जैसे एफिडेविट इत्यादि को कुछ शुल्क के साथ प्रमाणित करने के लिए अधिकृत किया जाता है। जब नोटरी किसी दस्तावेज को प्रमाणित करता है तो उस पर वह अपनी मुहर लगाता है और बदले में व्यक्ति से कुछ शुल्क वसूल करके अपनी कमाई करता है। कहने का अभिप्राय यह है की नोटरी एक ऐसा व्यक्ति होता है जिसे सरकार द्वारा अधिकार प्राप्त होते हैं की वह कुछ विशिष्ट कामों को कर सकता है और कुछ अन्य कानूनी औपचारिकताओं की भी पूर्ति कर सकता है। इन सब कार्यों को करने के बदले वह उन व्यक्तियों से कुछ निर्धारित शुल्क लेता है जिसका वह काम कर रहा हो। इस तरह का यह कार्य ही Notary Business कहलाता है।

नोटरी बिजनेस में उद्यमी के ग्राहक कौन होंगे ( Customers in Notary Business)

वर्तमान में जहाँ छोटे मोटे कार्यों को निष्पादित करने के लिए भी किसी न किसी दस्तावेज की आवश्यकता होती है। और बहुत सारे दस्तावेज ऐसे होते हैं जिन्हें नोटरी से अटेस्ट करने की आवश्यकता होती है इसलिए कहा जा सकता है की लगभग हर व्यक्ति इस बिजनेस के लिए एक टारगेट कस्टमर हो सकता है। लेकिन आम तौर पर Notary Business के प्रमुख ग्राहक निम्न हैं।

  • ऐसे लोग जिनके पास कोई निवास प्रमाण पत्र नहीं हो लेकिन वे विभिन्न सरकारी फैसिलिटी जैसे घरेलु गैस कनेक्शन, वोटर कार्ड, इलेक्ट्रिसिटी कनेक्शन, राशन कार्ड इत्यादि लेना चाहते हों। वे इस बिजनेस में उद्यमी के टारगेट कस्टमर हो सकते हैं।
  • ऐसे लोग जो किसी कारणवश ब्रेक के बाद अपनी शिक्षा फिर से प्रारम्भ करना चाहते हों।
  • ऐसे लोग जो स्वयं का नाम बदलना चाहते हों ।
  • ऐसे व्यक्ति जो किसी सेल डीड, वित्तीय या शैक्षणिक दस्तावेज की प्रमाणिकता का प्रमाण देना चाहते हों भी Notary Business में टारगेट कस्टमर हो सकते हैं।

नोटरी बिजनेस कैसे शुरू करें (How to start notary business)

जैसा की हम पहले भी बता चुके हैं की Notary Business को कोई आम व्यक्ति भी शुरू नहीं कर सकता है। बल्कि इस कार्य को करने की इजाजत लेने के लिए कानूनी शिक्षा जैसे एलएलबी एवं अनुभव की आवश्यकता होती है। इसलिए इस तरह का यह बिजनेस करने के लिए व्यक्ति को पहले नोटरी बनने की आवश्यकता होती है और एक अधिकृत नोटरी बनने के बाद ही व्यक्ति इस तरह का यह बिजनेस शुरू कर सकता है। तो आइये आगे हम स्टेप बाई स्टेप जानेंगे की कैसे कोई व्यक्ति खुद का Notary Business शुरू कर सकता है।

एलएलबी की डिग्री प्राप्त करें

Notary Business शुरू करने के लिए व्यक्ति को एलएलबी की डिग्री प्राप्त करने की आवश्यकता होती है। ध्यान रहे अच्छे सरकारी संस्थानों में एलएलबी में प्रवेश के लिए विद्यार्थियों को CLAT नामक एंट्रेंस एग्जाम से होकर गुजरना पड़ता है। जिसे कानून विभाग के संस्थान द्वारा प्रत्येक वर्ष आयोजित कराया जाता है। इस परीक्षा को पास करने के लिए विद्यार्थी को लीगल apptitude, जनरल नॉलेज, इंग्लिश, लॉजिकल रीजनिंग, प्रारम्भिक गणित इत्यादि का अध्यन करने की आवश्यकता हो सकती है। एंट्रेंस एग्जाम के बाद जब विद्यार्थी को किसी कानून विश्वविद्यालय में प्रवेश मिल जाता है तो उसे पांच सालों/तीन सालों का यह एलएलबी कोर्स पूरा करना होता है।    

इंटर्नशिप करें

एलएलबी कोर्स पूरा करने के बाद विद्यार्थी को एक साल की इंटर्नशिप पूरी करने की आवश्यकता होती है यद्यपि इंटर्नशिप का समय संस्थान के आधार पर अलग अलग हो सकता है। अर्थात इंटर्नशिप की समय सीमा तय करना संस्थान के अधिकार क्षेत्र में आता है लेकिन अधिकतर कानून महाविद्यालयों में इंटर्नशिप का समय एक साल का होता है।  

स्टेट बार काउंसिल में नामांकन करें

एलएलबी एवं इंटर्नशिप करने के बाद Notary Business करने के इच्छुक व्यक्ति को स्वयं का वकील के तौर पर स्टेट बार काउंसिल में नामांकन करना होगा। यानिकी स्टेट बार काउंसिल में स्वयं को वकील के तौर पर रजिस्टर करना होता है। बार काउंसिल में अधिवक्ता के तौर पर रजिस्टर करने से उद्यमी अनुभव एवं योग्यता से खुद को सुसज्जित कर पायेगा जो उसके नोटरी लाइसेंस के लिए अप्लाई करने में काम आएँगी ।   

अधिवक्ता के तौर पर अनुभव प्राप्त करें

स्टेट बार काउंसिल में अधिवक्ता के तौर पर खुद को रजिस्टर करने के बाद व्यक्ति को वकील के तौर पर सात या दस वर्षों तक का अनुभव प्राप्त करना होता है। अर्थात यदि व्यक्ति आरक्षित श्रेणी जैसे अनुसूचित जाति, जनजाति से है तो उसे सात सालों का अनुभव प्राप्त करना होगा और अनारक्षित यानिकी सामान्य श्रेणी से ताल्कुल रखने वाले वकील को कम से कम दस सालों का अनुभव प्राप्त करना होगा। ध्यान रहे केवल स्टेट बार काउंसिल में रजिस्टर्ड अनुभवी अधिवक्ता ही Notary Business करने के लिए पात्र होंगे क्योंकि नोटरी लाइसेंस सिर्फ उन्हें ही दिया जायेगा।    

Notary Business हेतु नोटरी लाइसेंस प्राप्त करें

वकील के तौर पर सात या दस सालों का अनुभव प्राप्त कर लेने के बाद सम्बंधित व्यक्ति Notary License के लिए अप्लाई कर सकता है। इसके लिए व्यक्ति को सरकार के समबन्धित विभाग को निर्धारित फॉर्म भरकर एप्लीकेशन जमा करनी होती है। जब एप्लीकेशन सम्बंधित प्राधिकरण द्वारा स्वीकृत कर ली जाती है तो उसके बाद व्यक्ति को प्रैक्टिस का सर्टिफिकेट जारी कर दिया जाता है। जो वकील को Notary Business करने की इजाजत देता है। इसके बाद इसे सरकारी गजट में प्रकाशित किया जाएगा और वकील का नाम नोटरी के तौर पर सरकारी रजिस्टर में दर्ज कर दिया जायेगा। इसके बाद सम्बंधित व्यक्ति दस्तवेजो इत्यादि की नोटरी करने के लिए अधिकृत हो जाता है। जहाँ तक Notary License के शुल्क की बात है एक विश्वसनीय आंकडें के मुताबिक उद्यमी को नोटरी नियुक्त होने पर कम से कम 1000 रूपये का शुल्क अदा करना पड़ सकता है जो पांच सालों के लिए वैध हो सकता है। लाइसेंस रिन्यू का शुल्क 500 रूपये या इससे अधिक भी हो सकता है।

उपर्युक्त लेख से स्पष्ट है की केवल एक अनुभवी रजिस्टर्ड वकील यानिकी अधिवक्ता ही Notary Business करने हेतु नोटरी लाइसेंस के लिए आवेदन कर सकता है। दुसरे शब्दों में हम कह सकते हैं की यदि आप स्वयं का Notary Business शुरू करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको वकील बनकर 7-10 वर्षों का अनुभव प्राप्त करना होगा। एक नोटरी कोर्टहाउस, लॉ ऑफिस या कोर्टरूम इत्यादि में जॉब भी कर सकता है। और चाहे तो स्वयं का इंडिपेंडेंट बिजनेस भी शुरू कर सकता है जिसमें उसे विभिन्न प्रकार के दस्तावेजों पर अपने हस्ताक्षर एवं मुहर लगाने के बदले पैसे मिलते हैं। इन सबके अलावा वर्तमान में मोबाइल नोटरी का भी चलन बढ़ता जा रहा है। जो ग्राहकों की आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए एक एरिया से दुसरे एरिया में ट्रेवल करते रहते हैं।

यह भी पढ़ें

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *