पेस्ट कण्ट्रोल बिजनेस को कहीं से दुनिया के किसी भी कोने, जहाँ मनुष्य प्राणी रहते हों, से शुरू किया जा सकता है | यहाँ तक की यदि ग्रामीण इलाकों में सफाई, hygiene के प्रति जागरूकता हो तो Pest control business ग्रामीण इलाकों से भी किया जा सकता है | क्योकि पेस्ट अर्थात कीट पतंगे हर जगह रहते हैं | और जहाँ एक तरफ ये कीट पतंगे मनुष्य के घर में या ऑफिस या अन्य किसी स्थान में रखे कीमती स्थान को भयंकर नुकसान पहुंचा सकते हैं | वही कुछ कीट पतंगे विनाशकारी बीमारी का भी कारण बन सकते हैं |

इन्ही सब कीट पतंगों से मुक्ति पाने के लिए लोग पेस्ट कण्ट्रोल बिजनेस करने वालों का दरवाजा खटखटाते हैं, और यही कारण है की पेस्ट कण्ट्रोल बिज़नेस एक बहुत ही Profitable business हो सकता है | कोई भी उद्यमी इस बिज़नेस को बहुत कम Investment के साथ शुरू कर सकता है,  और Small Scale  पर शुरू करके लोगों को उच्च गुणवत्ता की Service देकर Market में पैसे के साथ अपने Brand के नाम की Kamai भी कर सकता है | नाम की Kamai करने का फायदा यह होगा की लोग उसके Brand की Franchise लेने के लिए आतुर हो उठेंगे |

जिससे उद्यमी का business चहुदिशाओं में फैलने के ज्यादा chances हैं | हालांकि इस प्रकार का बिज़नेस करने के लिए उद्यमी में business के प्रति जूनून, निष्ठां और कड़ी मेहनत करने की योग्यता आवश्यक है | India में वैसे तो Pest control service का उपयोग चाहे घर हो, ऑफिस हो या फिर फैक्ट्रीज सभी के द्वारा किया जाता है | लेकिन अधिकतर तौर पर कीट पतंगों से ज्यादा खतरा Dairy Factories, Biscuits Factories  इत्यादि को अधिक होता है | इसलिए Pest Control की Service इनके द्वारा अधिक ली जाती है |

पेस्ट कण्ट्रोल बिजनेस में स्प्रे करते हुए

पेस्ट कण्ट्रोल बिजनेस क्या है :

पेस्ट का अर्थ कीट पतंगों  जैसे मच्छर, cockroach,दीमक, मक्खी  इत्यादि से लगाया जाता है, | जो मुख्य रूप से रोगों को बढ़ाने और घरेलु या अन्य व्यवसायिक सामान को नुकसान पहुँचाने का काम करते हैं | इन्ही सब कीट पतंगों को नष्ट करने हेतु जो बिज़नेस किया जाता है, इसी व्यापार को पेस्ट कण्ट्रोल बिजनेस के नाम से जाना जा सकता है | हालांकि इस बिज़नेस को भी अनेक भागों जैसे Pesticide Manufacturing, Pesticide and chemical selling, pest control service में विभाजित किया जा सकता है |

पेस्ट कण्ट्रोल बिजनेस कैसे स्टार्ट करें?

.
हालांकि यह बिज़नेस Chemicals एंड कीटनाशक दवाओं से जुड़ा हुआ बिज़नेस होता है | इसलिए इसको करने के लिए उद्यमी को बहुत सारी महत्वपूर्ण प्रक्रियाओं (Processes) से गुज़रना पड़ता है | तो आइये आगे हम जानने की कोशिश करेंगे की एक उद्यमी को पेस्ट कण्ट्रोल बिजनेस करने के लिए किन किन प्रक्रियाओं से होकर गुज़रना पड़ता है |

1. पेस्ट कण्ट्रोल बिजनेस का लाइसेंस लें

हालाँकि India में पेस्ट कण्ट्रोल बिजनेस में अलग अलग प्रक्रियाओं के लिए अलग अलग लाइसेंस की जरुरत होती है | जैसे यदि कोई pesticide Manufacturing करना चाहता है तो उसको अलग, और कोई खरीदारी और बेचने का business करना चाहता है तो उसको अलग और यदि कोई पेस्ट कण्ट्रोल की सर्विस देना चाहता है तो उसको अलग लाइसेंस के लिए apply करना पड़ेगा, और आवेदन शुल्क भी अलग अलग ही होगा |

Pest control operators को लाइसेंस के लिए अप्लाई करते वक्त Form VI-A  में अपनी details भरके apply करना पड़ता है | यह लाइसेंस पांच सालों के लिए मान्य होता है, और पांच सालों के बाद renewal के लिए Form VI-B भर के apply किया जा सकता है|

2. पेस्ट कण्ट्रोल की ट्रेनिंग अवश्य लें :

चूँकि पेस्ट कण्ट्रोल बिजनेस कीटनाशक दवाओं और chemicals पर आधारित business है | इसलिए इसको बिना training के करना स्वयं या फिर दूसरों के लिए घातक हो सकता है | Training के दौरान उद्यमी chemicals, कीटनाशक दवाओं और इनके छिड़काव करने के उपयोग में लाये जाने वाले यंत्रों के बारे में जानकारी प्राप्त कर पायेगा |

और साथ में यह भी जान पायेगा की कौन सी कीटनाशक दवाई या chemicals कौन से कीट पर असर करती है, training के दौरान ही emergency से निबटने के उपाय बताये जायेंगे | training लेकर ही उद्यमी अपने ग्राहकों की आवश्यकताओं को समझने में कामयाब हो पायेगा, जिससे उसके business grow होने के अधिक विकल्प होंगे |

3. एरिया और कस्टमर टारगेट करें

हालांकि जैसे की हम उपर्युक्त वाक्य में बता चुके हैं, पेस्ट कण्ट्रोल बिजनेस को कहीं भी start किया जा सकता है | इसलिए इसमें Location Selection इतना मायने नहीं रखता है | लेकिन फिर भी यदि उद्यमी अपने इस pest control business को कल को बड़े level पर देखना चाहता है, तो उसको किसी औद्योगिक क्षेत्र का चुनाव करना चाहिए प्रत्येक ऑफिस, फैक्ट्री या अन्य औद्योगिक संस्थान का किसी न किसी Pest control operator से एग्रीमेंट होता है |

इस agreement के मुताबिक पेस्ट कण्ट्रोल provider को महीने में कम से कम दो, और बाकी जब भी customers बुलाये तब अपनी service देनी होती है | इसलिए यदि पेस्ट कण्ट्रोल बिजनेस किसी औद्योगिक क्षेत्र में हुआ तो पहली बात तो यह की कभी भी target customers को service देने में कोई दिक्कत नहीं होगी दूसरा किसी भी मीटिंग के लिए अपने Sales Executive को तुरंत भेजा जा सकता है |

4. बिजनेस प्लान तैयार करें

यदि उद्यमी चाहता है की उसको उसकी कामयाबियों और नाकामयाबियों का समय समय पर पता लगता रहे, ताकि वह उसी प्रकार के निर्णय लेने में समर्थ हो सके | तो इन सबके लिए एक प्रभावी बिज़नेस प्लान बेहद जरुरी है | प्रभावी business plan बनाने से उद्यमी को उसके business में लगने वाली हर छोटी बड़ी वस्तु और उपकरणों की कीमत का पता चल पायेगा |

इसके अलावा कौन सी सामग्री कितनी महत्वपूर्ण है, और अपने target customers को ध्यान में रखते हुए अपने बिज़नेस को एक profitable business कैसे बनायें इत्यादि में भी सहायता मिलेगी | उद्यमी चाहे तो यह काम स्वयं भी कर सकता है, और या किसी Expert को फीस देकर भी यह काम करवा सकता है | Expert सिर्फ उद्यमी को उसके business plan बनाने में मदद करेगा, लेकिन उद्यमी के बिज़नेस का लक्ष्य उद्यमी से अधिक कोई नहीं जान सकता |

5. वित्त का प्रबंध और बजट तैयार करें

पेस्ट कण्ट्रोल बिजनेस के लिए Budgeting करते वक्त business की हर गतिविधि के लिए सालाना अलग अलग बजट का प्रावधान किया जाना जरुरी है | हर गतिविधि से अभिप्राय हर छोटे मोटे क्रियाकलाप जिनमे वित्त खर्च होने की संभावना हो, से है | इसमें office Maintenance से लेकर स्टाफ की चाय काफी तक को सम्मिलित किया जाना जरुरी है | तभी उद्यमी का pest control business निर्धारित खर्चे में चल पायेगा |

6. मशीनरी और उपकरणों का प्रबंध करें

अब अगला process पेस्ट कण्ट्रोल बिजनेस के लिए औजार (Tools) और उपकरण (Equipment) की purchasing का है | इसमें उद्यमी को बहुत सारे equipment जैसे Sprayers, Dusters, bait guns, safety equipment, fogging equipment, chemical gloves, vacuums, Masks, Uniforms इत्यादि Purchase करने पड़ते हैं | इसमें Materials और equipment का price उद्यमी द्वारा चयनित किये गए अलग अलग उपकरणों एवं Materials पर निर्भर करती है | Equipment और Materials स्थानीय बाजारों या Online भी ख़रीदे जा सकते हैं |

7. स्टाफ एवं कर्मचारी नियुक्त करें

पेस्ट कण्ट्रोल बिजनेस में Manpower appointment करते वक्त इस बात का बेहद ध्यान रखना जरुरी है की व्यक्ति को पहले से ही Pesticide एवं equipments का उचित ज्ञान हो | अगर नहीं है तो Manpower’s के लिए In house training आयोजित किया जाना बेहद जरुरी है |

8. पेस्ट कण्ट्रोल बिजनेस की मार्केटिंग करें

उद्यमी को चाहिए की Marketing उसी area में करे जहाँ वह Fast एवं customers के मनमुताबिक Service दे सके | Starting में Pest control business में उद्यमी को चाहिए की वह अपने पूरे Marketing efforts केवल और केवल अपने Targeted area, customers पर लगाये | जिससे उद्यमी को Service सम्बन्धी किसी Problem का सामना न करना पड़े | ध्यान रहे पेस्ट कण्ट्रोल बिजनेस के success की चाबी ही अच्छी सर्विस और उपयुक्त ट्रीटमेंट है |

यह भी पढ़ें

34 Comments

  1. Avatar for Manish Kumar Sharma Manish Kumar Sharma
  2. Avatar for ankur kumar ankur kumar
  3. Avatar for Dhirendra kumar verma Dhirendra kumar verma
  4. Avatar for Ketan mavar Ketan mavar
  5. Avatar for JITENDRA KUMAR JITENDRA KUMAR
  6. Avatar for दिलीप दिलीप
    • Avatar for Amol ghadge Amol ghadge
  7. Avatar for Ramgopal Savita Ramgopal Savita
    • Avatar for Vivek kumar Vivek kumar
  8. Avatar for mahesh mahesh
  9. Avatar for ram kumar ram kumar
  10. Avatar for Mayank Mayank
  11. Avatar for ram mali ram mali
  12. Avatar for Amit Rawat Amit Rawat
  13. Avatar for Devi Prasad Sharma Devi Prasad Sharma
  14. Avatar for Victor khema Victor khema
    • Avatar for Santosh tiwari Santosh tiwari
    • Avatar for Nitin Nitin
  15. Avatar for Amit Kumar Amit Kumar
  16. Avatar for Sanjeev Chandra Sanjeev Chandra
  17. Avatar for Deepesh Chakrawarti Deepesh Chakrawarti
  18. Avatar for मनीष कुमार पाठक मनीष कुमार पाठक
    • Avatar for नारध नारध
  19. Avatar for ram ram
  20. Avatar for harendar jatav harendar jatav
  21. Avatar for sunil sharma sunil sharma
  22. Avatar for Pappu singh Pappu singh
  23. Avatar for ANKUSH ANKUSH
  24. Avatar for Parkash Yadav Parkash Yadav
    • Avatar for I.k.bagha I.k.bagha

Leave a Reply

Your email address will not be published

error: