सोडा की दुकान कैसे खोलें? How to Start Soda Shop Business in India.

वैसे देखा जाय तो Soda Shop किसी भीड़ भाड़ वाले इलाके में वर्ष के बारह महीने निरंतर चल सकती है। लेकिन गर्मियों में लोगों द्वारा ठंडे पेय का अधिक इस्तेमाल किये जाता है इसलिए सोडा की बिक्री की संभावना भी गर्मियों में अधिक है। चूँकि अपने देश भारत में बहुत सारे ऐसे व्यापार हैं जो मौसमी हैं अर्थात ये व्यापार ठंडे गर्म जलवायु से जुड़े हुए होते हैं । जैसे सर्दियों में मूंगफली, गज्ज़क इत्यादि बेचने का काम एवं गर्मियों में गन्ने का रस इत्यादि बेचने का काम मौसमी व्यापार के ही उदाहरण हैं। इन छोटे बिजनेस का सबसे बड़ा फायदा यह है की इन्हें बेहद कम खर्चे के साथ उद्यमी आसानी से शुरू करके अपनी कमाई करना शुरू कर सकता है। Soda Shop Business भी बेहद कम निवेश के साथ शुरू किया जाने वाला बिजनेस है और चूँकि गर्मीं शुरू हो चुकी है और इस मौसम में लोग बोतल में पैक ठंडे पेयों पर पैसे खर्च करना शुरू कर देते हैं। ऐसे में व्यक्ति सोडा की दुकान खोलकर कोल्ड ड्रिंक इत्यादि बोतल पैकिंग पर पैसे खर्च करने वाले लोगों को अपना उत्पाद बेचने की कोशिश कर सकता है। चूँकि इस तरह के इस बिजनेस को कोई भी व्यक्ति जो लाख दो लाख रूपये खर्च करके बिजनेस शुरू करने का सोच रहा हो वह भी आसानी से शुरू कर सकता है। इसलिए आज हम हमारे इस लेख के माध्यम से इस बिजनेस के बारे में विस्तृत तौर पर जानने का प्रयत्न कर रहे हैं।

Soda Shop Business kaise start kare

क्या होती हैं सोडा शॉप (What is Soda Shop in Hindi):       

Soda Shop की यदि हम बात करें तो इसे एक माल्ट शॉप के तौर पर भी जाना जाता है इसमें एक मशीन जिसे सोडा फाउंटेन कहा जाता है लगी होती है। मशीन के अन्दर अलग अलग फ्लेवर के लिए अलग अलग खांचे एवं निकासी के लिए अलग अलग टैप भी लगी होती हैं। इसलिए इस फाउंटेन मशीन से लोगों की पसंद के मुताबिक अलग अलग फ्लेवर के कार्बोनेटेड ड्रिंक निकालकर बेचे जाते हैं। वैसे देखा जाय तो इस तरह के ये सोडा फाउंटेन रेस्टोरेंट, बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, एअरपोर्ट एवं किसी स्थानीय मार्किट में आसानी से स्थापित किये जा सकते हैं। इस तरह की मशीन में पानी के साथ निर्धारित मात्रा में कच्चा माल इंस्टाल कर देने पर मशीन आटोमेटिक ही कार्बोनेटेड ड्रिंक बनाकर बाहर निकालती है।

सोडा शॉप का बिजनेस कैसे शुरू करें? (How to Start Soda Shop Business)

हालांकि वैसे देखा जाय तो Soda Shop Business शुरू करना बेहद ही आसान प्रक्रिया है क्योंकि इसमें उद्यमी को दुकान किराये पर लेकर एक सोडा फाउंटेन मशीन खरीदनी होती है। जो विभिन्न फ्लेवर के कार्बोनेटेड ड्रिंक ग्राहकों को प्रदान करने में सक्षम हो। लेकिन इस तरह का यह व्यापार उद्यमी सफलतापूर्वक चला पाए उसके लिए अच्छी योजना एवं एरिया का विश्लेषण करने की आवश्यकता होती है। इसलिए उचित ढंग से इस तरह का व्यापार शुरू करने के लिए उद्यमी को निम्नलिखित कदम उठाने की आवश्यकता हो सकती है।

1. लोकेशन का चयन करें

वैसे तो देखा जाय तो हर बिजनेस की सफलता एवं असफलता में लोकेशन का बड़ा महत्व होता है लेकिन Soda Shop Business में लोकेशन की महत्वता और बढ़ जाती है। यद्यपि इस तरह का यह बिजनेस गर्मियों में जब लोग तरह तरह के ठंडे पेय पदार्थों को पीना पसंद करते हैं उस समय अच्छी खासी कमाई करने की क्षमता रखता है। लेकिन जिस प्रकार सर्दियों में भी लोग कोल्ड ड्रिंक पीना पूरी तरह से बंद नहीं करते ठीक उसी प्रकार सर्दियों में भी लोग पूरी तरह से सोडा की दुकान पर जाना नहीं छोड़ते। इसलिए वह कोई भी व्यक्ति जो 1-2 लाख रूपये से बिजनेस शुरू करने की सोच रहा हो वह आसानी से इस व्यापार को शुरू कर सकता है क्योंकि इस तरह के व्यापार के लिए कोई विशेष स्किल एवं अनुभव की भी आवश्यकता नहीं होती है। जो सोडा फाउंटेन मशीन होती है उसे संचालित करना बेहद ही आसान प्रक्रिया है। लोकेशन का चुनाव करते समय उद्यमी को इस बात का ध्यान रखना चाहिए की इस काम के लिए व्यापारिक जगह सड़क के किनारे मौजूद होनी चाहिए। और ग्राहकों को वहां तक पहुँचने में किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए। इसके अलावा जहाँ उद्यमी दुकान खोलना चाहता हो वहां पर प्रतिदिन अच्छी खासी भीड़ भाड़ रहती हो ताकि अधिक से अधिक लोग Soda Shop में सोडा पीने आ सकें।        

2. दुकान किराये पर लें (Rent a Shop)

लोकेशन का चयन कर लेने के बाद उस चयनित लोकेशन पर दुकान किराये पर लेना भी एक आवश्यक कदम है हालंकि इसमें कोई दो राय नहीं है की इस तरह के इस व्यापार को संचालित करने के लिए उद्यमी को बहुत बड़ी जगह की आवश्यकता तो नहीं होती है। लेकिन इतनी जगह अवश्य होनी चाहिए की उद्यमी सोडा फाउंटेन मशीन को आसानी से इंस्टाल कर सके और मशीन के पीछे एक दो व्यक्तियों के खड़े होने की जगह एवं ग्राहकों के बैठने या खड़े होने की जगह भी होनी चाहिए। जहाँ तक दुकान के किराये का सवाल है यह अलग अलग राज्यों, शहरों, क्षेत्रों में अलग अलग हो सकता है । एक औसतन शहर में इस तरह की दुकान खोलने के लिए किराया लगभग 6-8 हज़ार रूपये प्रति महीने पर्याप्त होगा।    

3. वित्त की व्यवस्था करें (Finance Arrangement for Soda Shop )

वैसे देखा जाय तो इस Soda Shop Business को शुरू करने में जो सबसे प्रमुख एवं महत्वपूर्ण खर्चा एवं निवेश होने वाला है वह है सोडा फाउंटेन मशीन खरीदने में।इसलिए यहाँ पर बताना चाहेंगे बाजार में इस तरह की अनेकों मशीन उपलब्ध हैं जिनकी कीमतें इनकी विशेषताओं, क्षमता के आधार पर अलग अलग हैं। आम तौर पर इस तरह की यह मशीन 70000-150000 रूपये तक खर्च करके खरीदी जा सकती है। इसके अलावा उद्यमी को कार्बोनेटेड ड्रिंक बनाने के लिए अनेकों प्रकार का कच्चा माल एवं कांज्युमेबल जैसे पेपर कप इत्यादि भी खरीदने होते हैं। जिस पर भी एक महीने के लिए लगभग 30-40 हज़ार रूपये खर्च हो सकते हैं। हालांकि कच्चा माल खरीदने में आने वाला खर्चा भी इस बात पर निर्भर करेगा की उद्यमी की प्रति दिन की बिक्री कितनी होती है। यदि एक दिन में 300 गिलास से अधिक सोडे की बिक्री होती है तो उद्यमी को एक महीने के कच्चे माल पर और अधिक खर्चा करने की आवश्यकता हो सकती है। इसके अलावा दुकान का किराया, बिजली बिल, मैनपावर इत्यादि सभी खर्चे मिलाने के बाद ही उद्यमी को वित्त की व्यवस्था करनी होगी। चूँकि इस तरह के व्यापार को शुरू करने में उद्यमी को 1.5 -2 लाख रूपये खर्च करने की आवश्यकता होगी जो की एक बहुत बड़ा निवेश नहीं है। इसलिए उद्यमी इसका प्रबंध अपनी व्यक्तिगत बचत, पारिवारिक सदस्यों, नाते रिश्तेदारों के माध्यम से आसानी से कर सकता है ।          

4. सोडा फाउंटेन मशीन एवं कच्चा माल खरीदें

वित्त का प्रबंध करने के बाद Soda Shop Business कर रहे उद्यमी का अगला कदम सोडा फाउंटेन मशीन एवं इसके लिए कच्चा माल खरीदने का होना चाहिए। जैसा की हम उपर्युक्त वाक्य में भी बता चुके हैं की बाजार में क्षमता एवं विशेषताओं के आधार पर इस प्रकार के मशीन की कीमत सत्तर हज़ार से लेकर डेढ़ लाख के बीच कुछ भी हो सकती है। और जहाँ तक कच्चे माल की बात है इस बिजनेस को संचालित करने के लिए उद्यमी को पेपर कप, मिनरल वाटर, फ्लेवर पैकेट, सुगर, सोडा गैस इत्यादि की आवश्यकता हो सकती है। कच्चे माल की जानकारी उद्यमी को मशीन सप्लायर से पूरी तरह से मिल जाएगी । इसलिए उद्यमी चाहे तो इंडियामार्ट, ट्रेडइंडिया जैसे ऑनलाइन प्लेटफोर्म के जरिये भी सप्लायर ढूंढ करके अधिक से अधिक सप्लायर से कोटेशन मंगाकर फिर उनकी तुलना करके सप्लायर का चयन कर सकता है।      

5. शुरू करें और कमाई करें  

अब उद्यमी द्वारा सभी कार्य पूर्ण कर लिय गए हों तो अब उद्यमी को अपनी Soda Shop का नारियल फोड़ देना चाहिए। हालांकि शुरूआती दौर में उद्यमी अकेले भी इस बिजनेस को पूर्ण रूप से संभाल सकता है लेकिन बाद में यदि उसे लगता है की ग्राहक बढ़ गए हैं तो वह किसी सस्ते कर्मचारी को काम पर भी रख सकता है। एक आंकड़े के मुताबिक पेपर कप, मिनरल वाटर एवं अन्य कच्चे माल के तौर पर इस्तेमाल में लायी जाने वाली सामग्री पर प्रति कप खर्चा 3-4  रूपये के बीच आता है जबकि इसी कप को उद्यमी दस रूपये प्रति कप की दर से बेच सकता है। इस आधार पर यदि उद्यमी प्रतिदिन तीन सौ कप बेचता है तो उसे कुल कमाई 3000 रूपये प्राप्त होती है जिसमें लगभग बारह सौ रूपये का कच्चा माल इत्यादि लग जाता है। इस स्थिति में उद्यमी की प्रतिदिन की कमाई 1800 रूपये होती है। जो महीने में 54000 बनती है इसमें से बिजली किराया मैनपावर पर यदि उद्यमी 24000 रूपये खर्च करता है तो इस स्थिति में भी वह महीने में लगभग तीस हज़ार रूपये का लाभ प्राप्त करने में कामयाब हो जाता है।

यह भी पढ़ें

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *