देश अभी कोविड 19 से पूरी तरह उबरा भी नहीं था की युक्रेन और रूस का युद्ध शुरू हो गया. जिसने केवल भारत में ही नहीं अपितु पूरी दुनिया में महंगाई को चरम सीमा तक पहुँचा दिया। भारत में महंगाई को नियंत्रित करने के लिए रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया ने दो बार रेपो रेट में वृद्धि की। तो दूसरी तरफ कुछ बैंकों ने अपने ग्राहकों को थोड़ा बहुत फायदा पहुँचाने के लिए एफडी पर मिलने वाली ब्याज दरों को बढ़ा दिया।

banks increased interest on FD

जोखिम से कोसों दूर है एफडी में निवेश  

जैसा की हम सब जानते हैं की एफडी में निवेश करना इस बात को सुनिश्चित करता है की एक एक समयावधि के बाद आपको आपके निवेश किये गए पैसे पर फिक्स रिटर्न प्राप्त होगा। इसलिए इस तरह के निवेश में कोई जोखिम नहीं है। और शायद यही कारण है की एफडी अधिकतर लोगों की निवेश करने की पहली पसंद है । कहने का आशय यह है की एफडी को लोग बचत करने का सबसे बेहतरीन उपकरण मानते हैं।

वह इसलिए क्योंकि कोई भी इच्छुक निवेशक एफडी में 7 दिनों से लेकर 10 साल तक निवेश कर सकता है। यदि कोई निवेशक कम से कम पाँच साल के लिए इसमें निवेश करता है तो उसे एक सुनिश्चित की गई राशि रिटर्न में तो मिलती ही है, साथ में वह धारा 80 C के तहत टैक्स में छूट प्राप्त करने के लिए भी पात्र होता है।

वर्तमान में कई बैंक एफडी पर दी जाने वाली ब्याज दरों में वृद्धि कर रहे हैं इनमें पंजाब नेशनल बैंक, आईडीएफसी फर्स्ट बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, केनरा बैंक और देश का सबसे बड़ा बैंक भारतीय स्टेट बैंक के अलावा अन्य बैंक भी शामिल हैं।

पंजाब नेशनल बैंक ने एफडी बायज दरों में कितनी वृद्धि की

पंजाब नेशनल बैंक ने एफडी पर दी जाने वाली ब्याज दरों में जो वृद्धि की है, इनका फायदा उन ग्राहकों को मिलेगा जिन्होंने 2 करोड़ रूपये से कम की एफडी की हो। कहने का आशय यह है की ऐसे लोग जिन्होंने दो करोड़ से अधिक राशि एफडी में निवेश किया हो उन्हें इस वृद्धि का फायदा नहीं मिलेगा। और पंजाब नेशनल बैंक की अधिकारिक वेबसाइट के अनुसार यह बढ़ी हुई नई दरें 4 जुलाई 2022 से लागू होंगी।

यह भी पढ़ें – पंजाब नेशनल बैंक की ऋण योजनाएँ

पंजाब नेशनल बैंक द्वारा बढाई गई ब्याज दरें बहुत अधिक नहीं हैं बल्कि बैंक ने केवल 0.10 % से 0.20% तक की वृद्धि ही एफडी पर दिए जाने वाले ब्याज दरों में की है। नई ब्याज दरों के अनुसार यदि कोई व्यक्ति 7 से 45 दिनों तक के लिए एफडी करता है तो उसे 3% ब्याज दिया जाएगा, 46 से नब्बे दिनों के लिए यह ब्याज दर 3.25% हो जाएगी।

इसी क्रम में 1 से 2 साल की एफडी पर ब्याज दरें 5.20 से बढ़ाकर 5.30 कर दी गई हैं जबकि 5 साल की एफडी कराने पर जहाँ पहले 5.30% ब्याज मिलता था, अब 5.50% ब्याज मिलेगा। और वरिष्ठ नागरिकों को सामान्य नागरिकों की तुलना में 50 BPS अतिरिक्त ब्याज मिलने का प्रावधान है।

भारतीय स्टेट बैंक एफडी पर कितना ब्याज दे रहा है  

भारतीय स्टेट बैंक देश का सबसे बड़ा बैंक है। इसलिए स्वभाविक है की देश में सबसे अधिक ग्राहक इसी बैंक के हैं। इस बैंक ने भी पिछले महीने 14 जून को एफडी पर मिलने वाली ब्याज दरों में वृद्धि की थी।

लेकिन इस वृद्धि का फायदा भी 2 करोड़ रूपये से कम की एफडी करने वाले ग्राहकों को ही मिलेगा। भारतीय स्टेट बैंक ने 1 साल से 2 साल की अवधि के एफडी पर ब्याज दरें 5.30% कर दी हैं, जो पहले 5.10% थी। 2 साल से 3 साल के लिए 5.35% कर दी हैं जो पहले 5.20% थी। यह नई ब्याज दरें 14 जून 2022 से लागू हो गई हैं।

कोटक महिंद्रा बैंक एफडी पर कितना ब्याज दे रहा है  

कोटक महिंद्रा बैंक ने भी 1 जुलाई 2022 से एफडी पर नई ब्याज दरें लागू की हैं। जो इस प्रकार से हैं, ध्यान रहे यह दरें 2 करोड़ से कम की एफडी पर लागू होंगी।

एफडी की अवधिसामान्य निवेशकवरिष्ठ निवेशक
7-14 दिन2.50%3.00%
15-30 दिन2.50%3.00%
31-45 दिन3.00%3.50%
46-90 दिन3.00%3.50%
91-120 दिन3.50%4.00%
121-179 दिन3.50%4.00%
180 दिन4.75%5.25%
181-269 दिन4.75%5.25%
270 दिन4.75%5.25%
271- 363 दिन4.75%5.25%
364 दिन5.25%5.75%
365-389 दिन5.50%6.00%
390 दिन5.75%6.25%
391 दिन5.75%6.25%
23 महीने5.75%6.25%
23 महीने 1 दिन दो साल से कम5.75%6.25%
2 साल 3 साल से कम5.75%6.25%
3 साल 4 साल से कम5.90%6.40%
4 साल 5 साल से कम5.90%6.40%
5 साल और इससे ज्यादा5.90%6.40%

कुछ अन्य बैंकों ने भी बढ़ाई ब्याज दरें

उपर्युक्त बैंकों के अलावा कुछ अन्य बैंकों ने जैसे आईडीएफसी फर्स्ट बैंक, केनरा बैंक इत्यादि ने भी एफडी पर मिलने वाली ब्याज दरों में वृद्धि की है ।

जब से महंगाई को नियंत्रित करने के लिए भारतीय रिज़र्व बैंक ने रेपो रेट में 0.90% की बढ़ोत्तरी की है। बैंकों ने एफडी पर दिए जाने वाले ब्याज दरों को बढ़ा दिया है। IDFC First Bank ने भी दो करोड़ से कम की एफडी पर ब्याज दरें बढाई है, बढाई गई अधिकतम दर 6.50% तक है ।  और यह 1 जुलाई 2022 से लागू भी हो गई हैं।  

यह भी पढ़ें

Leave a Reply

Your email address will not be published