Sanitary pad business में Sanitary का अर्थ स्वच्छता या साफ़ सफाई से लगाया जा सकता है । जब कोई लड़की किशोरावस्था की दहलीज पर कदम रखती है । तब उसके शरीर में बदलाव होने शुरू हो जाते हैं। और इन्ही बदलावों के मद्देनज़र औरत के शरीर से एक egg destroy होता है । जिसके चलते गर्भाशय से रक्त, कोषाणु एवं आंव प्रवाहित होने लगता है। जो लगभग 4, 5 दिनों तक प्रवाहित होता रहता है। और यह प्रतिक्रिया औरत के शरीर में साधारण परिस्थितियों में हर महीने अर्थात 28 से 40 दिनों के बीच चलती रहती है। इसी प्रवाह को रोकने हेतु औरतों द्वारा Sanitary Pad उपयोग में लाया जाता है। चूँकि एक Sanitary Pad सोखने की शक्ति रखने वाली वस्तु रुई इत्यादि से निर्मित होती है। इसलिए जब यह उपयोग में लाया जाता है, तो वह प्रवाहित रक्त, कोषाणु एवं आंव को सोख लेता है। अच्छी साफ़ सफाई रखने हेतु महिलाएं मासिक धर्म के दौरान एक दिन में तीन से चार Sanitary Pads का उपयोग करती हैं। इसका मतलब हुआ की की एक महिला एक महीने में 15 Pads का उपयोग तो करती ही करती है। इसके अलावा बच्चे को जन्म देने, और गर्भपात के दौरान और बाद में भी, Sanitary Pads का उपयोग किया जाता है । इसलिए यह बताने की बिलकुल आवश्यकता नहीं है की, यह Sanitary pad Business किसी भी व्यक्ति के लिए कितना लाभकारी business हो सकता है ।
Sanitary Pad Business

Business Scope in Sanitary pad business:

जैसा की हम उपर्युक्त वाक्य में बता चुके हैं । Sanitary Pads महिलाओं द्वारा मासिक धर्म के दौरान उपयोग में लाया जाता है। लेकिन इसमें एक तथ्यात्मक बात यह है, की ग्रामीण इलाकों में निवासित महिलाएं sanitary Pads का उपयोग न करके, सूती इत्यादि कपड़े का इस्तेमाल करती हैं । जो यह दर्शाता है की ग्रामीण इलाकों की महिलाओं में अभी Sanitary Pads के प्रति जागरूकता का अभाव है। लेकिन इस दिशा में सरकार और कुछ NGO कार्यशील हैं। जो ग्रामीण महिलाओं के बीच उन्हें मुफ्त में या फिर बहुत ही कम कीमत में Sanitary Pads उपलब्ध करा रहे हैं। ताकि इसको वे अपनी जीवनशैली का हिस्सा बना सकें। कहने का अभिप्राय यह है की sanitary pad business के लिए अभी पूरा ग्रामीण भारत एक बहुत बड़ी Market है। तो आइये जानते हैं की India में Sanitary pad Business करने के लिए कौन कौन से मुख्य गतिविधियाँ (Steps) करनी पड़ेंगी।

प्रोडक्ट की व्यवहारिक जानकारी एवं मार्किट रिसर्च करें.

चूँकि अभी आपने अपना business start नहीं किया है, लेकिन आप अपना बिज़नेस स्टार्ट करने जा रहे हैं। इसलिए सर्वप्रथम आपका कर्तव्य बनता है, की आप अपने प्रतियोगियों के उत्पाद के विषय में मजबूती और कमजोरी (pros, cons) पर गौर करें । सिर्फ गौर ही नहीं पूरा व्यवहारिक विश्लेषण करें। तभी तो आपको पता चलेगा की आप अपने ग्राहकों को किस कीमत पर क्या दे पाएंगे। यह तो साफ़ है की Sanitary pad Business की ग्राहक महिलाएं होंगी। इसलिए बेहतर होगा की किसी एक महिला के माध्यम से कुछ महिलाओं को एकत्रित कीजिये। और बाज़ार में उपलब्ध कुछ Sanitary Pads खरीदकर उन महिलाओं से उनके बारे में Feedback लीजिए ।और उनकी कही गई बात का, विश्लेषण कर अपना उत्पाद डिज़ाइन कीजिये।

Get Training for Sanitary Pad Business.

Sanitary pad Business start करने से पहले इसकी ट्रेनिंग अवश्य लें । क्योकि Training लेके ही आपको प्रोडक्शन करने की प्रक्रिया पता चलेगी । और ट्रेनिंग के दौरान आपको बिज़नेस में आने वाली कठिनाइयों से सामना कैसे करना है, का भी प्रशिक्षण दिया जायेगा । और जो सबसे बड़ा फायदा आपको होगा वह यह है, की आपके यहाँ काम करने वाले कर्मचारी आपको प्रोडक्शन सम्बन्धी जटिलताओं में नहीं उलझा पाएंगे ।

Create a Sanitary Pad business Plan:

Sanitary pad business के लिए business plan बनाना अति आवश्यक है। उस plan में खर्चे से लेकर kamai और आने वाले एक साल में आप अपने बिज़नेस को कहाँ देखना चाहते हैं। यदि एक साल में वह लक्ष्य जो आपने निर्धारित किया था। वहां तक नहीं पहुँच पाये तो आगे की क्या रणनीति होगी, इत्यादि tips को लिखित में तैयार कीजिये।

Choose a Location for your business:

Location चयनित करते वक़्त कुछ आधारभूत बातों का ध्यान रखें जो निम्न हैं।

  • आपका ऑफिस या फैक्ट्री ऐसी जगह पर होनी चाहिए। जहाँ परिवहन व्यवस्था, बिजली और पानी उचित मात्रा में उपलब्ध हो। क्योकि आपको आपके द्वारा उत्पादित उत्पाद को परिवहन के माध्यम से एक शहर से दूसरे शहर में भेजना पड़ सकता है।
  • office या फैक्ट्री ऐसी जगह पर होनी चाहिए जहाँ काम करने वाले श्रमिक आसानी से आ जा सके, और उस Location पर आसानी से उपलब्ध हो जाएँ।
  • जगह का चुनाव करते समय यह ध्यान रखें की आपने इस जगह पर ऑफिस भी बनाना है, प्रोडक्शन हाउस भी बनाना है। उत्पादित उत्पाद को स्टोर करने के लिए स्टोर रूम, कच्चे माल को रखने के लिए अलग से स्टोर रूम अकाउंट, मार्केटिंग इत्यादि गतिविधियाँ भी करनी हैं। इसलिए जगह बड़ी होनी चाहिए।

Register your company and check local laws:

यदि उदयमि (Entrepreneur) चाहता है की उसकी कंपनी द्वारा उत्पादित उत्पाद को पहचान मिले । तो उसको अपनी कंपनी का नाम रजिस्टर करा लेना चाहिए। क्योकि रजिस्टर कंपनी को किसी स्वंसेवी संस्था या NGO से भी काम मिलने की सम्भावना रहती है। और अन्य टैक्स रजिस्ट्रेशन भी करवा लेने चाहिए।

Production License :

चूँकि Sanitary pad Business महिलाओं के स्वाथ्य और स्वच्छता से जुड़ा हुआ business है । इसलिए पहली बार अपने उत्पाद का उत्पादन करने के बाद उद्यमी को राज्य के प्राधिकृत विभाग को अपने उत्पाद के सैंपल भेजने पड़ते हैं। यह काम उत्पाद को बाजार में उतारने से पहले करना चाहिए। क्योकि यदि उत्पाद पहले बाजार में पहुँच गया, और सैंपल फेल हो गया, तो business को जबरदस्त नुकसान हो सकता है। इसलिए पहले सैंपल भेजकर उसको Approve करवा के बाद में बाज़ार में उत्पाद उतारने में समझदारी है। क्योकि पहला सैंपल यदि तय मानकों पर खरा नहीं उतरता है, तो Entrepreneur उसमे सुधार करके दुबारा सैंपल के लिए भेज सकता है।

Packaging:

Sanitary pad Business के लिए Packaging बहुत महत्वपूर्ण और ध्यान देने योग्य step है । Packagin आकर्षक एवं व्यवसायिक होनी चाहिए । क्योकि महिलाओं को आकर्षण वाली चीजें अधिक पसंद आती है । सामन्यतया अभी बाजार में जो Sanitary Pads उपलब्ध हैं । उनमे 8 से लेके 12 की Packaging होती है । और यह स्वभाविक है की पैकेजिंग के बाद sanitary pad business में अगला step अपने उत्पाद को बाज़ार में पहचान दिलाने की होती है। जिससे लोग आपके उत्पाद के बारे में जाने, जांचे और उसे परखें।

यह भी पढ़ें

26 Comments

  1. Avatar for Abhishek Zoy Abhishek Zoy
    April 14, 2021
  2. Avatar for Preeti singh Preeti singh
    May 18, 2020
  3. Avatar for Piyush Rathod Piyush Rathod
    April 2, 2019
  4. Avatar for Bhagyashri hawal Bhagyashri hawal
    February 22, 2019
  5. Avatar for Atul Kumar Atul Kumar
    October 2, 2018
  6. Avatar for Shivratan Shivratan
    April 10, 2018
  7. Avatar for Geeta yadav Geeta yadav
    February 13, 2018
  8. Avatar for मूलचंद कुमार मूलचंद कुमार
    February 12, 2018
  9. Avatar for Ramkumar Ramkumar
    January 24, 2018
  10. Avatar for k chetan k chetan
    January 14, 2018
  11. Avatar for Usha Rani Usha Rani
    November 26, 2017
  12. Avatar for Mahendra choudhary Mahendra choudhary
    August 16, 2017
  13. Avatar for rajan rajan
    August 13, 2017
  14. Avatar for Deepanshu Saxena Deepanshu Saxena
    August 7, 2017
  15. Avatar for Ashok shastri Ashok shastri
    August 3, 2017
    • Avatar for RAVI KUMAR RAVI KUMAR
      October 29, 2017
  16. Avatar for aman mastana aman mastana
    June 22, 2017
  17. Avatar for aman aman
    June 1, 2017
  18. Avatar for vijay kumar cholkar vijay kumar cholkar
    January 17, 2017
  19. Avatar for parwez khan parwez khan
    January 6, 2017
  20. Avatar for bhupender kumar bhupender kumar
    November 26, 2016
  21. Avatar for suresh kumar suresh kumar
    September 17, 2016
  22. Avatar for SHUBHAM SHUBHAM
    July 11, 2016
  23. Avatar for ujwala gawande ujwala gawande
    July 9, 2016
  24. Avatar for Mangesh Dhillod Mangesh Dhillod
    July 7, 2016

Leave a Reply

Your email address will not be published

error: