Top Education Business Ideas in Hindi. शैक्षणिक बिजनेस आइडियाज।

Education Business एक ऐसा बिजनेस है जिसमें कभी भी मंदी नहीं आती है क्योंकि मनुष्य जीवन से जुड़ा शिक्षा वह हिस्सा है । जिससे मनुष्य का बौद्धिक, सामाजिक एवं आर्थिक विकास संभव हो पाता है। इसलिए भारत में ही नहीं अपितु दुनिया के हर एक माँ बाप अपने बच्चों को शिक्षा प्रदान करने के लिए प्रयासरत रहते हैं ।  चूँकि भारत में बढती जनसँख्या, लोगों की बढती आमदनी एवं शिक्षा के प्रति जागरूकता के कारण इस क्षेत्र में कभी भी मंदी आने के आसार नजर नहीं आ रहे हैं। यही कारण है की शिक्षा के औद्योगिक क्षेत्र में भी नए नए उद्यमियों के लिए नए नए अवसर निकलते रहते हैं। इसलिए आज हम हमारे इस लेख के माध्यम से कुछ ऐसे Education Business Ideas के बारे में जानने का प्रयत्न करेंगे। जिन्हें बेहद कम निवेश के साथ आसानी से शुरू किया जा सकता है। यानिकी यहाँ पर हम सिर्फ उन शिक्षा से जुड़े बिजनेस के बारे में बात करेंगे जिन्हें कम निवेश के साथ शुरू किया जा सकता है।

Top education business ideas in hindi
  • घर बैठे ट्यूशन देने का काम:

Education Business से जुड़ा यह एक ऐसा व्यापार है जिसे बेहद कम निवेश के साथ यहाँ तक की बिना निवेश के साथ भी शुरू किया जा सकता है। इस तरह के व्यापार को शुरू करने के लिए व्यक्ति को उस विषय में विशेषज्ञता या निपुण होने की आवश्यकता होती है जिस विषय को वह अपने विद्यार्थियों को पढ़ाना चाहता हो। व्यक्तिगत व्यक्तियों के लिए यह एक बेहद ही लाभकारी बिजनेस आईडिया है जिसे बेहद कम निवेश या फिर बिना किसी निवेश के भी शुरू किया जा सकता है। बशर्ते व्यक्ति में उस विषय विशेष को पढ़ाने की निपुणता होनी चाहिए।

  • कोचिंग क्लास (Coaching Classes)

Education Business की लिस्ट में यह भी एक ऐसा बिजनेस है जिसे कम निवेश के साथ तो शुरू किया जा सकता है लेकिन इसमें लगने वाला निवेश इस बात पर निर्भर करेगा की उद्यमी के बिजनेस का आकार कितना है। अर्थात कम कक्षाओं के लिए तो बहुत बड़े हॉल या बहुत सारे कमरों की आवश्यकता नहीं होती है। वही यदि उद्यमी कक्षा 1 से कक्षा 12 तक के विद्यार्थियों को ट्यूशन देना चाहता है तो उसे अलग अलग विषय एवं कक्षा के मुताबिक अलग अलग टीचर एवं कक्षों की भी आवश्यकता होगी। जिनमें बेंच, टेबल, ब्लैकबोर्ड, व्हाइटबोर्ड इत्यादि खरीदने की आवश्यकता हो सकती है जिससे इस बिजनेस में आने वाली लागत बढ़ जाती है। इसलिए शुरूआती दौर में उद्यमी को छोटे स्तर पर ही इस बिजनेस की शुरुआत करनी चाहिए और धीरे धीरे इसे बढ़ाना चाहिए।

  • प्ले स्कूल खोलना

प्ले स्कूल भी एक अच्छा बिजनेस विकल्प है लेकिन इसके लिए उद्यमी को स्कूल खोलने का लाइसेंस लेने की आवश्यकता होती है। चूँकि इसमें उद्यमी को बेहद छोटे छोटे बच्चों को सिखाना होता है इसलिए उद्यमी को ऐसे खेल, खिलौने, उपकरण खरीदने की आवश्यकता होती है जिनका उपयोग वह बच्चों को रचनात्मक तरीके से सिखाने में कर सके। हालांकि इस तरह का यह Education Business शुरू करने के लिए उद्यमी चाहे तो खुद का प्ले स्कूल खोल सकता है या फिर कोई फ्रैंचाइज़ी भी ले सकता है।

भारत में नर्सरी स्कूल कैसे खोलें?

  • स्कूल बैग बनाने का काम

वर्तमान में शिक्षा पद्यति में काफी परिवर्तन हो गया है और यह परिवर्तन सिर्फ शहरों में ही नहीं अपितु ग्रामीण भारत में भी हो रहा है। इसलिए वर्तमान में प्ले स्कूल से लेकर कक्षा बारहवीं और कॉलेज में भी विद्यार्थी स्कूल बैग लेकर पहुँचते हैं। इसलिए Education Business की लिस्ट में यह बिजनेस भी एक लाभकारी एवं माध्यम निवेश के साथ शुरू किया जाने वाला बिजनेस है। इस बिजनेस को शुरू करने से पहले उद्यमी को पहले स्कूल बैग बनाने की प्रक्रिया को समझने की आवश्यकता होती है और इसके उत्पादन में लगने वाले कच्चे माल की भी आवश्यकता को समझने की भी जरुरत होती है।

  • स्कूल की वर्दी बनाने का बिजनेस

जैसा की हम सबको विदित है की वर्तमान में हर स्कूल चाहे वह निजी विद्यालय हो या सरकारी सबका अपना अपना एक यूनिफार्म कोड होता है। जिसका अनुसरण करना प्रत्येक विद्यार्थी के लिए अनिवार्य होता है इसलिए स्कूल की यूनिफार्म बनाने का यह Education Business भी लाभकारी बिजनेस है। यदि किसी पुरुष या महिला को सिलाई आती है तो वह यह बिजनेस अपने घर से भी आसानी से शुरू कर सकता/सकती है। और अधिक जानकारी के लिए नीचे लिंक पर क्लिक करें।

स्कूल की वर्दी बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें?    

  • स्टेशनरी की दुकान

आज हम हर छोटे बड़े स्थानीय बाजार में कोई न कोई स्टेशनरी की दुकान अवश्य देखते हैं वह इसलिए क्योंकि हर छोटे बड़े बाजार में इनकी आवश्यकता है। इसके अलावा ऐसा बिलकुल भी नहीं है की किसी एक बच्चे ने एक बार कापी, किताबें, पेन्सिल, पेन इत्यादि खरीद लिए तो दुबारा उसे वे चीजें फिर से खरीदने की आवश्यकता नहीं होगी। बल्कि सच्चाई यह है की स्टेशनरी आइटम की माँग स्थानीय बाज़ारों में हमेशा ही व्याप्त रहती है। इसलिए इस तरह के बिजनेस को भी कम निवेश के साथ शुरू किया जा सकता है।

स्टेशनरी बिजनेस कैसे शुरू करें?

  • इंग्लिश स्पीकिंग स्कूल

 जैसा की हम सबको ज्ञात है की वर्तमान में अंग्रेजी सिर्फ अंग्रेजों की भाषा बनकर नहीं रह गई है बल्कि यह एक ऑफिसियल भाषा बन चुकी है और अधिकतर निजी एवं सरकारी कार्यालयों में इसी भाषा में सारे काम होते हैं। इसलिए इस भाषा को सीखने के लिए विद्यार्थी लालायित रहते हैं यदि आपको अंग्रेजी भाषा का अच्छा ज्ञान है तो Education Business से जुड़ा या आईडिया आपके लिए है। कहने का अभिप्राय यह है की ऐसा व्यक्ति जिसे अंग्रेजी भाषा का अच्छा ज्ञान हो वह इस तरह का कार्य अपने घर से भी शुरू कर सकता है। हालांकि इस बिजनेस में सफलता एवं असफलता आपकी योग्यता एवं मार्केटिंग कौशल पर निर्भर करती है।

  • कंप्यूटर क्लास:

भारत सरकार के डिजिटल इंडिया अभियान के तहत सभी सरकारी प्रक्रियाओं को डिजिटलाइज करने का प्रावधान किया गया है और वर्तमान में सभी सरकारी गैर सरकारी कार्यालयों में कंप्यूटर के माध्यम से ही कार्य किये जाते हैं। इसलिए वर्तमान में कंप्यूटर शिक्षा की महत्वता बढ़ गई है हर माता पिता एवं बच्चे चाहते हैं की उन्हें कंप्यूटर चलाना आये।  ताकि वह अपने जीवन में आगे बढ़ते रहें इसलिए यदि आप कंप्यूटर चलाने में पारंगत हैं तो आप कंप्यूटर क्लास का बिजनेस शुरू कर सकते हैं। हालांकि इस तरह का बिजनेस शुरू करने के लिए उद्यमी को माध्यम कैपिटल निवेश करने की आवश्यकता होती है।

  • ऑनलाइन ई लाइब्रेरी

यह बिजनेस वर्तमान परिस्थति के अनुकूल है और इन्टरनेट के बढ़ते इस्तेमाल के चलते इसकी उत्पति हुई है। चूँकि इस बिजनेस में उद्यमी को सभी प्रकार की किताबों का इलेक्ट्रॉनिक फॉर्मेट रखने की आवश्यकता होती है इसलिए उद्यमी को कंप्यूटर इत्यादि का ज्ञान होना अति आवश्यक है। जहाँ तक इस Education Business से कमाई करने का सवाल है इसमें उद्यमी सब्सक्रिप्शन अमाउंट के माध्यम से कमाई कर सकता है।

  • यूट्यूब चैनल

यदि आपको किसी विषय की गहरी जानकारी है और आप उससे जुड़ी जानकारी को लोगों को समझाने में माहिर हैं तो आप एजुकेशन इंस्ट्रक्टर के तौर पर कार्य कर सकते हैं। इसके लिए व्यक्ति यूट्यूब पर स्वयं का चैनल बनाकर लोगों को उस विषय सम्बन्धी जानकारी दे सकता है जिसके बारे में वह स्वयं जानता हो। व्यक्ति ऐसी विडियो बना सकता है जिससे विद्यार्थी को समझने में आसानी हो जब व्यक्ति का चैनल पोपुलर हो जायेगा तो वह यूट्यूब पार्टनर प्रोग्राम के तहत एडवरटाईज्मेंट के लिए आवेदन कर सकता है। इसके अलावा उद्यमी कुछ प्रायोजित प्रोग्राम भी अपने चैनल के माध्यम से पोस्ट करके कमाई कर सकता है।   

  •  टीचर ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट

Education Business की लिस्ट में टीचर ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट खोलना भी एक लाभकारी बिजनेस हो सकता है क्योंकि वर्तमान में लोग या विद्यार्थी ऐसे अध्यापकों या टीचर को पसंद करते हैं जिनके पास पढ़ाने एवं समझाने की नई नई तकनीक हो। इसके अलावा बेहद छोटे बच्चों को समझाने एवं पढ़ाने के लिए नए नए तकनीक एवं रचनात्मकता की आवश्यकता होती है। इसलिए समय समय पर अध्यापकों की ट्रेनिंग होना भी नितांत आवश्यक है।    

  • स्किल डेवलपमेंट सेण्टर

यद्यपि Education Business की लिस्ट में यह एक ऐसा व्यापार है जिसमें उपर्युक्त बताये गए बिजनेस से थोड़े अधिक निवेश की आवश्यकता होती है। क्योंकि इस तरह का व्यापार शुरू करने के लिए उद्यमी को अनुभवी लोग एवं एक बेहतर इंफ्रास्ट्रक्चर की आवश्यकता होती है। इस बिजनेस में निवेश तो अधिक करना पड़ता है लेकिन रिटर्न भी इसमें उच्च हैं। उद्यमी को कुछ अतिरिक्त मैनपावर रखने की भी आवश्यकता हो सकती है लेकिन इस तरह के ये स्किल डेवलपमेंट सेण्टर महिला एवं पुरुष दोनों के लिए होने चाहिए। और इस बिजनेस के माध्यम से उद्यमी अपने प्रशिक्षणार्थियों को मसाले बनाना, पैकिंग करना, कारपेंट्री, प्लंबिंग एवं अन्य कार्य सिखाकर कमाई कर सकता है।

  • ऑनलाइन लर्निंग एप्प

जैसा की हम सबको विदित है की वर्तमान में हम अपने सभी सवालों के जवाब इन्टरनेट या ऑनलाइनएप्प के माध्यम से आसानी से पा सकते हैं। इसलिए विद्यार्थी या कुछ भी कोर्स करने वाले लोग अपने क्षेत्र विशेष या विषय विशेष के मुताबिक ऑनलाइन लर्निंग एप्प का चयन करके उसका इस्तेमाल सवालों के जवाब पाने के लिए करते हैं। इस Education Business Ideas के तहत व्यक्ति को उस विषय विशेष पर एप्प डेवलप करने की आवश्यकता होती है जिसका उसे ज्ञान हो। हालांकि इस तरह का यह बिजनेस तभी सफल हो पायेगा जब व्यक्ति की विडियो की गुणवत्ता एवं उसके समझाने का अंदाज़ लोगों को पसंद आएगा।  एप्प के जरिये उद्यमी एडवरटाईजमेंट एवं स्टूडेंट रजिस्ट्रेशन के माध्यम से पैसे कमा सकता है।   

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *