Venture Capital – Definition Risk and Process to get in Hindi

Venture Capital – Definition Risk and Process to get in Hindi

Venture Capital का अर्थ हम इस बात से समझ सकते हैं की स्टार्ट अप कंपनियों या अन्य चालित कंपनियों को अपना बिज़नेस विस्तारित अर्थात बढ़ाने के लिए एक निश्चित मात्रा में फण्ड की आवश्यकता होती है | कंपनी के लाभ कमाने की क्षमता को देखते हुए संपन्न निवेशक अर्थात जिनके पास निवेश करने को पैसा होता है वे उस कंपनी या Venture में लम्बी अवधि के लिए अधिकतम लाभ कमाने के उद्देश्य से पैसा लगाते हैं | हालांकि यहाँ पर यह स्पष्ट कर देना जरुरी है की उपर्युक्त परिभाषा Angel Investors से मिलती होगी लेकिन Angel Investors अधिकतर तौर पर कोई व्यक्तिगत व्यक्ति होता है जो अपना खुद का पैसा किसी स्टार्टअप में या कंपनी में लगा रह होता है, जबकि Venture Capitalist अधिकतर तौर पर कोई फर्म या कंपनी होती है जो किसी स्टार्टअप या कंपनी में दूसरों का पैसा निवेश कर रही होती है | कहने का अभिप्राय यह है की जब किसी फर्म, कंपनी या संस्थान द्वारा किसी स्टार्टअप या पहले से चल रही कंपनी में उसकी वित्त सम्बन्धी आवश्यकता को देखते हुए निवेश किया जाता है तो फर्म या कंपनी द्वारा उस स्टार्टअप या कंपनी को दिया गया पैसा Venture Capital एवं जिसके द्वारा निवेश किया जा रहा है उसको Venture Capitalists कहते हैं |

Venture-Capital-deal

वेंचर कैपिटल क्या है (What is venture Capital in Hindi)?

साधारण शब्दों में यदि हम कहें तो स्टार्टअप कंपनियों या अन्य छोटे उद्यम को विस्तारित या फैलने के लिए एक निश्चित अमाउंट की आवश्यकता होती है इस आवश्यकता की पूर्ति जब किसी फर्म या कंपनी द्वारा की जाती है तो किसी फर्म या कंपनी द्वारा स्टार्टअप फर्म या कंपनी में किया जाने वाला निवेश Venture Capital कहलाता है | यदि हम Angel Investors से इसकी तुलना करेंगे तो हम पाएंगे की चूँकि Angel Investor कोई व्यक्तिगत व्यक्ति होता है इसलिए निवेश करने की क्षमता Angel Investor से Venture Capitalists की अधिक होती है |

वेंचर कैपिटल निवेश में जोखिम (Risk Investing in Venture Capital):

चूँकि Venture Capitalists स्वयं भी कोई कंपनी या फर्म होती है जो दूसरों का पैसा किसी स्टार्टअप या ऐसे वेंचर में जिसमे लाभ कमाई करने की अधिक संभावना हो में निवेश करते हैं इसलिए यह अच्छी तरह जांच पड़ताल राय मशवरा के बावजूद ही किसी स्टार्टअप या इकाई में निवेश करते हैं | लेकिन इस प्रकार का यह निवेश भी जोखिमभरा ही होता है लेकिन यदि जैसी अपेक्षा Venture Capitalists ने उस वेंचर से लगाई होगी यदि वह वेंचर उस अपेक्षा में खरा उतर गया तो लाभ भी बहुत अधिक होने की संभावना होती है | Venture Capital देने वाली फर्म या कंपनी भी उद्यमी से या तो बहुत अधिक रिटर्न की मांग करते हैं या फिर मालिकाना हक़ में हिस्सेदारी चूँकि इस प्रक्रिया में लाभ के साथ जोखिम भी बंट जाता है इसलिए स्टार्टअप जो वित्त की समस्या से जूझ रहे होते हैं उनके लिए यह विकल्प बेहद उपयुक्त रहता है |

वेंचर कैपिटल प्राप्त करने की प्रक्रिया (How to get Venture Capital):

जैसा की हम उपर्युक्त वाक्य में बता चुके हैं की Venture Capitalists firm ऐसे उद्यमी या उद्यम को वेंचर कैपिटल दे सकते हैं जिस उद्यम में उन्हें लगता है की इसमें लाभ कमाने की क्षमता है | क्योंकि किसी का भी उद्देश्य बिज़नेस में नुकसान उठाने का बिलकुल नहीं होता है इसलिए Venture Capitalists एक उद्यम में विभिन्न विशेषताओं का आकलन करते हैं ताकि वे इस नतीजे पर पहुँच पायें की वे उस वेंचर में निवेश करें की नहीं करें | इसलिए ऐसे उद्यमी या उद्यम जो अपने बिज़नेस की लक्ष्यों की पूर्ति हेतु अपने बिज़नेस में निवेश के आकांक्षी हैं उन्हें चाहिए की वह अपना एक प्रभावी बिज़नेस प्लान बनाकर किसी Venture Capitalists firm में जमा कराये | यदि उन्हें उद्यमी द्वारा दिए गए प्रस्ताव में दिलचस्पी लगी तो  Venture Capitalists firm उस बिज़नेस विशेष के बारे में जानकारी जुटाने के लिए और परिश्रम करेंगे जिसमें अन्य बातों के अलावा कंपनी के व्यापार मॉडल, उत्पाद, प्रबंधन और ऑपरेटिंग इतिहास की पूरी तरह से जांच शामिल होगी | चूँकि अधिकतर Venture Capitalists firm चयनित किये हुए प्रोजेक्ट या व्यवसाय में एक बड़ी रकम निवेश करने का सामर्थ्य रखते हैं इसलिए निवेश करने से पहले वह उस बिज़नेस के बारे में अच्छी तरह से जांच पड़ताल करते हैं | Venture Capitalists firm के पास अलग अलग क्षेत्र से जुड़े हुए व्यवसायिक लोग उपलब्ध रहते हैं जो अलग अलग क्षेत्रों से जुड़े बिज़नेस प्लान एवं बिज़नेस का विश्लेषण करने का माद्दा रखते हैं |

बिज़नेस के लिए फण्ड एकत्रित करने का प्रभावी तरीका क्राउड फंडिंग |

कौन होते हैं एंजेल इन्वेस्टर किसी नए उद्यम को कैसे सहायता देते हैं |  

उदाहरणार्थ: यदि कोई ऐसी फर्म जो स्वास्थ्य से समबन्धित उत्पाद बनाती हो को Venture Capital की आवश्यकता है तो ऐसे में Venture Capitalists firm की तरफ से उस स्टार्टअप की जांच पड़ताल के लिए किसी ऐसे व्यक्ति का चयन किया जायेगा जिसे स्वास्थ्य से सम्बन्धित क्षेत्र का पहले से अनुभव हो, ताकि उस उद्यम में निवेश करने के जोखिम को कम किया जा सके |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: